ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : कुलगाम में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, 2 से 3 आतंकी घिरे         BIG NEWS : सुशांत सिंह केस का राजदार कौन !         BIG NEWS : फिल्म स्टार संजय दत्त लीलावती हॉस्पिटल में भर्ती          BIG NEWS : दिशा सलियान का निर्वस्त्र शव पोस्टमार्टम के लिए दो दिनों तक करता रहा इंतजार          BIG NEWS : टेरर फंडिंग मॉड्यूल का खुलासा, लश्कर-ए-तैयबा के 6 मददगार गिरफ्तार         BIG NEWS : एलएसी पर सेना और वायु सेना को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश         BIG NEWS : राजस्थान का सियासी जंग : कांग्रेस के बाद अब भाजपा विधायकों की घेराबंदी         BIG NEWS : देवेंद्र सिंह केस ! NIA की टीम ने घाटी में कई जगहों पर की छापेमारी         बाढ़ और संवाद हीनता          BIG NEWS : पटना एसआईटी टीम के साथ मीटिंग कर सबूतों और तथ्यों को खंगाल रही है CBI         BIG NEWS : सुशांत सिंह की मौत के बाद रिया चक्रवर्ती और बांद्रा डीसीपी मे गुफ्तगू         BIG NEWS : भारत और चीन के बीच आज मेजर जनरल स्तर की वार्ता, डिसएंगेजमेंट पर होगी चर्चा         BIG NEWS : मनोज सिन्हा ने ली जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल पद की शपथ, संभाला पदभार         BIG NEWS : पुंछ में एक और आतंकी ठिकाना ध्वस्त, AK-47 राइफल समेत कई हथियार बरामद         BIG NEWS : सीएम हेमंत सोरेन ने भाजपा सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ किया केस         BIG NEWS : मुंबई में ED के कार्यालय पहुंची रिया चक्रवर्ती          BIG NEWS : शोपियां में मिले अपहृत जवान के कपड़े, सर्च ऑपरेशन जारी         मुंबई में सड़कें नदियों में तब्दील          BIG NEWS : पाकिस्तान आतंकवाद के दम पर जमीन हथियाना चाहता है : विदेश मंत्रालय         BIG NEWS : श्रीनगर पहुंचे जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, आज लेंगे शपथ         सुष्मान्जलि कार्यक्रम में सुषमा स्वराज को प्रकाश जावड़ेकर सहित बॉलीवुड के दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि           BIG NEWS : जीसी मुर्मू होंगे देश के नए नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक          BIG NEWS : सीबीआई ने रिया समेत 6 के खिलाफ केस दर्ज किया         बंद दिमाग के हजार साल           BIG NEWS : कुलगाम में आतंकियों ने की बीजेपी सरपंच की गोली मारकर हत्या         BIG NEWS : अयोध्या में भूमि पूजन! आचार्य गंगाधर पाठक और PM मोदी की मां हीराबेन         मनोज सिन्हा होंगे जम्मू-कश्मीर के नए उपराज्यपाल, जीसी मुर्मू का इस्तीफा स्वीकार         BIG NEWS : सदियों का संकल्प पूरा हुआ : मोदी         BIG NEWS : लालू प्रसाद यादव को रिम्स डायरेक्टर के बंगले में किया गया स्विफ्ट         BIG NEWS : अब पाकिस्तान ने नया मैप जारी कर जम्मू कश्मीर, लद्दाख और जूनागढ़ को घोषित किया अपना हिस्सा         हे राम...         BIG NEWS : सुशांत केस CBI को हुआ ट्रांसफर, केंद्र ने मानी बिहार सरकार की सिफारिश         BIG NEWS : पीएम मोदी ने अयोध्या में की भूमि पूजन, रखी आधारशिला         BIG NEWS : PM मोदी पहुंचे अयोध्या के द्वार, हनुमानगढ़ी के बाद राम लला की पूजा अर्चना की         BIG NEWS : आदित्य ठाकरे से कंगना रनौत ने पूछे 7 सवाल, कहा- जवाब लेकर आओ         रॉकेट स्ट्राइक या विस्फोटक : बेरूत के तट पर खड़े जहाज में ताकतवर ब्लास्ट, 73 की मौत         BIG NEWS : भूमि पूजन को अयोध्या तैयार         रामराज्य बैठे त्रैलोका....         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत की मौत से मेरा कोई संबंध नहीं : आदित्य ठाकरे         BIG NEWS : दीपों से जगमगा उठी भगवान राम की नगरी अयोध्या         BIG NEWS : पूर्व मंत्री राजा पीटर और एनोस एक्का को कोरोना, कार्मिक सचिव भी चपेट में         BIG NEWS : अब नियमित दर्शन के लिए खुलेंगे बाबा बैद्यनाथ व बासुकीनाथ मंदिर          BIG NEWS : श्रीनगर-बारामूला हाइवे पर मिला IED बम, आतंकी हादसा टला         BIG NEWS : सिविल सेवा परीक्षा का फाइनल रिजल्ट जारी, प्रदीप सिंह ने किया टॉप, झारखंड के रवि जैन को 9वां रैंक, दीपांकर चौधरी को 42वां रैंक         सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश ने की CBI जांच की सिफारिश         BIG NEWS : आतंकियों ने सेना के एक जवान को किया अगवा          बिहार DGP का बड़ा बयान, विनय तिवारी को क्वारंटाइन करने के मामले में भेजेंगे प्रोटेस्ट लेटर         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत केस में बिहार पुलिस के हाथ लगे अहम सुराग !         BIG NEWS : दिशा सालियान...सुशांत सिंह राजपूत मौत प्रकरण की अहम कड़ी...         BIG NEWS : पटना पुलिस ने खोजा रिया का ठिकाना, नोटिस भेज कहा- जांच में मदद करिए         BIG NEWS : छद्मवेशी पुलिस के रूप में घटनास्थल पर कुछ लोगों के पहुंचने के संकेत        

आत्ममुग्धता के मारे लोग

Bhola Tiwari May 29, 2019, 7:08 PM IST टॉप न्यूज़
img

एस डी ओझा

नारसिसस की कहानी तो सब जानते हैं । वह पानी में अपनी छवि देखकर इतना मुग्ध हो गया कि वह वहां तब तक पड़ा रहा , जब तक कि उसके प्राण पखेरू उड़ नहीं गये । मरने के बाद वहां एक पौधा उगा । इस पौधे पर जब फूल खिला तो वह भी आत्ममुग्ध निकला । इस फूल की स्थिति भी नारसिसस जैसी थी । वह फूल भी पानी में झांक रहा था । उसे अपनी छवि भी प्यारी लगी थी । इस फूल का नाम नारसिसस के नाम पर नर्गिस रखा गया ।तब से आज तक नर्गिस के फूल तालाब के किनारे निकलते हैं और तालाब में अपना अक्स तब तक निहारते हैं जब तक कि वे मुर्झा न जाएं । आत्ममुग्धता को नारसिसस के नाम पर Narcissism कहा जाने लगा । आत्ममुग्धता एक बीमारी है , जिसे मनोवैज्ञानिकों ने NPD ( Narcissistic personality disorder ) नाम दिया है । आत्ममुग्धता के मारे लोगों को अपनी प्रशस्ति बहुत भाती है । उनकी हां में हां मिलाने वाले लोग बहुत होते हैं । आम तौर पर आत्ममुग्ध लोग बड़े पद पर हीं होते हैं । ऐसे में उनके इर्द गिर्द चाटुकारों की कमी नहीं होती है । 

हमारे महकमे में एक बहुत बड़े अधिकारी थे । वे जब भी कैम्प का मुआइना करने आते तो कमाण्डेट साहब पूरे दल बल के साथ उनका स्वागत करते । उन बड़े अधिकारी का पूरा जोर कैम्प में एक बाग लगाने का था । जब उनका बाग में पदार्पण होता तो सभी अटेंशन की मुद्रा में होते । बाग में पहुँचकर अधिकारी महोदय कहते -"देखो, यह पौधा सूख गया ।" कमाण्डेंट साहब तत्क्षण कहते - "जी सर ! सूख गया है ।" हम सब भी हाँ में हाँ का स्वर मिलाते । तभी उनकी नजर उस पौधे की पत्तियों पर जाती । एकाध पत्तियाँ हरी दिखाई देतीं । अधिकारी कहते -" भई ! पत्तियाँ तो कुछेक हरी हैं, हो सकता है , सरवाइब कर जाए ।" कमाण्डेंट महोदय एकदम से झुक कर उस पौधे को देखने लगते । हम सभी भी उसी तरह की भाव भंगिमा अख्तियार करने को मजबूर हो जाते । उसी समय कमाण्डेंट साहब एड्जुटेंट को आदेश देते , एड्जुटेंट उस आदेश को सुवेदार मेजर को पास करते । इसी तरह के यथोचित माध्यम से होता हुआ वह आदेश माली तक पहुँच जाता । जब वह अधिकारी जाते तब सबको राहत मिलती । जब इस कदर का ट्रीटमेंट उन बड़े अधिकारी को मिलेगा तो उनमें आत्ममुग्धता तो आएगी हीं आएगी । 

आत्ममुग्धता आज समाज के हर तबके में व्याप्त है । नौकरी पेशा , वाणिज्यिक क्षेत्र और आपके घर में बहुत से आत्ममुग्ध लोग भरे पड़े हैं । आत्ममुग्ध लोग अपनी धारणा के खिलाफ कुछ भी सुनने को तैयार नहीं होते । उनके कान " यस सर " सुनने को आदी हो चुके हैं । वैसे अपनी प्रशंसा सुनना सभी को अच्छा लगता है । कई बार सिनियर भी जूनियर की प्रशंसा करते हैं । ऐसी प्रशंसा जूनियर के लिए प्रेरणा का काम करती है । जूनियर मन लगाकर काम करता है । परन्तु जब सिनियर की बात आती है तो वह प्रशंसा अतिशयता से भरी होती है । यह घातक होती है । द्वितीय विश्व युद्ध हिटलर की अतिशय आत्ममुग्धता के कारण हुआ था , जिसमें लाखों लोग मारे गये । सबसे अहम बात यह कि आत्ममुग्ध आदमी कभी नहीं मानता कि उसे कोई रोग हुआ है । 

आत्ममुग्ध लोग अपनी बात पर अड़े रहते हैं । जब आप कोई उस आदेश से इतर सुझाव देना चाहे तो वे बुरी तरह से नाराज हो जाते हैं । वे अपनी बौद्धिकता , समझ और कार्य के क्रियान्वयन के दीवाने होते हैं । वे हर बात पर अड़ियल रवैया अपनाते हैं । वैसे थोड़ी बहुत प्रशंसा सभी को प्यारी लगती है । दूसरे की आलोचना करने में भी आन्नद आता है । लेकिन जब दिन रात अपनी प्रशंसा अच्छी लगने लगे और दूसरों की कमियों को उजागर करने में आन्नद का भान होने लगे तो समझिए कि आप आत्ममुग्धता के शिकार हो गये हैं । कई जाने माने लोगों का कहना है कि आत्ममुग्धता से पीड़ित लोग चुनौतियों का सामना करने वाले होते हैं । उनमें ज्यादा जुझारुपन परिलक्षित होता हैं । उनकी नजर हमेशा टारगेट पर होती है । अमेरिका के कई करिश्माई राष्ट्रपति आत्ममुग्ध थे । जाॅन एफ कैनेडी और रोनाल्ड रीगन इसके प्रमुख उदाहरण हैं । इनके चेहरे से आत्म विश्वास का नूर टपकता था । ऐसै लोगों पर आप इत्मिनान से भरोसा कर सकते हैं ।    

मनोवैज्ञानिक मानते हैं कि आत्ममुग्ध लोगों से नफरत न कर उन पर रहम करनी चाहिए । आत्ममुग्ध लोग डींगे बहुत हांकते हैं, पर अंदर हीं अंदर डरते भी बहुत हैं । इन्हें डर रहता है कि कहीं उनकी कलई खुल न जाए । जब उनकी तारीफ की जाय तो वे बहुत ज्यादा खुश नहीं होते । उनको लगता है कि प्रशंसा करने वाले को उनकी असलियत का पता है । यह प्रशंसा कर मेरे ऊपर तंज कस रहा है । ऐसे लोगों के साथ धीरज से काम लेना चाहिए । हालांकि अपने मन के ये मगन लोग लम्बी रेस के घोड़े नहीं होते । ये जल्दी हांफने लगते हैं । इस तरह के लोगों के साथ सहज और संतुलित रहकर इनके अहम् की तुष्टीकरण करते हुए हीं इनसे निपटा जा सकता है ।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links