ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : फोन कंट्रोवर्सी के लपेटे में आए लालू, BJP नेता ने लालू यादव के खिलाफ दायर किया PIL         BIG NEWS : फोन कॉन्ट्रोवर्सी हुई तो 114 दिन से बंगले में रह रहे लालू यादव रिम्स वार्ड में लौटे         एक बड़ी साजिश जो नाकाम हो गई...         BIG NEWS : DDC चुनाव से पहले महबूबा मुफ्ती को बड़ा झटका, PDP के तीन और नेताओं ने एक साथ दिया इस्तीफा         BIG NEWS : पाकिस्तान एक बार फिर हुआ शर्मसार, शाह महमूद कुरैशी की कोशिश के बावजूद OIC में जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर नहीं होगी कोई चर्चा         BIG NEWS : श्रीनगर में सुरक्षाबलों पर आतंकी हमला, दो जवान शहीद         BIG NEWS : चाईबासा के टोंटो जंगल से 5 नर कंकाल          प्रेम में विरक्ति है शिव के भस्म प्रिय होने का कारण, जाने इसके पीछे की कथा         कोरोना पर गाइडलाइन : अब राज्य सरकार को लॉकडाउन लगाने के लिए केंद्र की लेनी होगी मंजूरी          BIG NEWS : लालू का कथित ऑडियो वायरल होते ही बिहार से लेकर रांची तक सियासी हलचल बढ़ी         BIG NEWS : कई दिनों से लापता 3 युवकों की मिली सिर कटी लाश, 6 हिरासत में         BIG NEWS : बिहार में हो हंगामा के बीच NDA के विजय सिन्हा बने स्पीकर         BIG NEWS : NIA ने निलंबित डीएसपी देवेंद्र सिंह केस में पीडीपी नेता वहीद पारा को किया गिरफ्तार         BIG NEWS : गिलगित-बल्तिस्तान चुनाव में इमरान सरकार और सेना पर लगे धांधली के आरोप, उग्र प्रदर्शनकारियों ने की आगजनी         BIG NEWS : कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल का निधन         युधिष्ठिर ने की थी लोधेश्वर महादेव की स्थापना         BIG NEWS : चीन के खिलाफ भारत सरकार की एक और डिजिटल स्ट्राइक, सरकार ने 43 ऐप पर लगाया बैन         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर हाईकोर्ट के आदेश पर रोशनी जमीन घोटाले में शामिल लोगों की पहली सूची जारी, कई बड़े नेताओं के नाम          BIG NEWS : सांबा सेक्टर में सुरक्षाबलों ने आतंकी घुसपैठ की कोशिश को किया नाकाम, एक आतंकी ढेर         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में एससी-एसटी समुदाय को पहली बार मिला राजनीतिक आरक्षण, एसटी समुदाय ने गुपकार गठबंधन के खिलाफ जताई नाराजगी         BIG NEWS : दिल्ली हिंसा में बंगाली बोलने वाली करीब 300 महिलाओं का किया गया था इस्तेमाल         800 साल पुराने इस मंदिर की सीढ़ियों को छूने से निकलती है संगीत की धुन         BIG NEWS : रोशनी जमीन घोटाले में कई बड़े राजनेताओं के नाम का खुलासा, पीडीपी नेता और पूर्व वित्त मंत्री हसीब द्राबू का नाम भी शामिल         BIG NEWS :ड्रग्स पैडलर के घर पर छापा मारने गई NCB की टीम पर हमला, 3 अफसर घायल; 3 गिरफ्तार         BIG NEWS : नहीं रहे तरुण गोगोई         BIG NEWS : झारखंड में दल-बदल मामले में तीन विधायकों को नोटिस...         “गुपकार गठबंधन लाख कोशिश कर ले अब अनुच्छेद 370 की वापसी कभी नहीं करा पाएगा” : केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर         BIG NEWS : इमरान सरकार के खिलाफ प्रदर्शन जारी, रोक के बावजूद विपक्षी दल लरकाना में फिर करेंगे विरोध रैली          कोरोना वैक्सीन : कोरोना की भयावहता और उम्मीद की किरण         भाजपा का बंगाल चुनाव, क्या टूटेगा 'दीदी' का तिलिस्म?         ईवीएम का रोना खराब पिच का रोना है..         इस मंदिर में है पातालपुरी जाने का रास्ता...         BIG NEWS : इमरान खान के खिलाफ विपक्ष का हल्ला-बोल जारी, रोक के बावजूद पेशावर में विपक्षी दलों की विरोध रैली आयोजित         BIG NEWS : सांबा सेक्टर में बॉर्डर के पास BSF को मिली सुरंग, घुसपैठ के लिए आतंकी करते थे इस्तेमाल         BIG NEWS :भारती और पति हर्ष को कोर्ट ने 4 दिसंबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा, जमानत पर कल सुनवाई         BIG NEWS : सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी गिरफ्तार, गोला-बारूद बरामद         BIG NEWS : पुंछ जिले में LOC के पास दिखा ड्रोन, सुरक्षाबलों की टीम अलर्ट         यहां की थी परशुराम ने तपस्या, फरसे के प्रहार से बना दिया शिव मंदिर         BIG NEWS : भारतीय सेना ने पाकिस्तान को दिया करारा जवाब, छह चौकियां तबाह, चार सैनिक ढेर और छह घायल         BIG NEWS : आतंकियों से मिले मोबाइल ने खोले राज, P1 और P55 के नाम से सेव नंबरों से आतंकियों की होती रही लगातार बात         BIG NEWS : ड्रग्स केस में कॉमेडियन भारती सिंह के बाद उनके पति हर्ष भी गिरफ्तार, दोनों ने गांजा लेने की बात कुबूल की         BIG NEWS : नगरोटा एनकाउंटर में मारे गये चारों आतंकियों को पाकिस्तान से मसूद अजहर का भाई दे रहा था निर्देश         BIG NEWS : पाकिस्तानी सेना ने नौशेरा सेक्टर में की गोलाबारी, एक जवान शहीद         BIG NEWS : नगरोटा एनकाउंटर पर भारत सख्त, विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान उच्चायोग के अधिकारी को किया तलब          पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी, जिनके साथ साथ चलता है विवाद         BIG NEWS : चतरा में छठ घाट पर गोली मारकर कोयला कारोबारी की हत्या         महिलाओं के प्रति पुरुष में ऐसी कुंठा कहां से आती है ?         आभामंडल का शक्तिपुंज सूर्य मंदिर         BIG NEWS  : बड़े हमले के फिराक में थे आतंकी, पीएम मोदी ने की शाह, डोभाल संग हाई-लेवल बैठक         BIG NEWS : छपरा में छठ घाट पर चली गोली,महिला समेत 5 घायल         सुन ले अरजिया हमार हे छठी मैया !!         BIG NEWS : नगरोटा एनकाउंटर के बाद कटरा में माता वैष्णो देवी के आसपास बढ़ाई गई सुरक्षा         कांच ही बांस के बहंगियां.... बहंगी लचकत जाए!         लोक आस्था की मासूमियत का आख्यान !         

महिलाओं के प्रति पुरुष में ऐसी कुंठा कहां से आती है ?

Bhola Tiwari Nov 21, 2020, 9:09 AM IST टॉप न्यूज़
img


निशिकांत ठाकुर 

नई दिल्ली : महिलाओं के प्रति हम भारतीयों के मन में इतनी कुंठा , इतना आक्रोश क्यों है ? यह बात समझ में नहीं आती। अभी हम लोग कोरोना से जूझ रहे हैं। श्रद्धा-उल्लास के महापर्व छठ मेें अपनी सहभागिता सुनिश्चित कर रहे थे , समाज महापर्व छठ के गीतों से गुंजायमान था । दिल्ली से सांसद और अभिनेता से नेता बने मनोज तिवारी , जों पूर्वंचलियों के नेता अपने को मानते हैं। इतने बड़े और महान हो जाते हैं कि सोनिया गांधी के प्रति ग्वालियर में अपमानजनक बयान देकर अपनी ओर जनता को आकर्षित करना चाहते हैं। इसी प्रकार छठ महापर्व पर कोवीड से बचाव के लिए जो कानून बनाया जाता है , उस पर टिप्पणी करते हुए कहते है कि दिल्ली सरकार और मुख्यमंत्री नमक हराम है। ऐसा कहकर पूर्वांचलियों को अपनी ओर आकर्षित करने और लोकप्रियता पाने के लिए असंसदीय भाषा का प्रयोग करते हैं। यह तो हुई नेताओं द्वारा नारियों के प्रति अपत्तिजनक बदजुबानीऔर टिप्पणी करने की बात। ऐसे कई और तथाकथित राजनीतिज्ञ हैं, जो मीडिया में प्रचार पाने का कोई ना कोई बहाना ढूंढ़ते रहते हैं और उसमें सफल भी होते हैं।कभी मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रहे कमलनाथ मूर्खतापूर्ण बयान देकर जनता के मन में आक्रोश और घृणा भरते हैं। विवाद के पात्र बनकर कांग्रेस की लुटिया डुबोने में अपना भरपूर सहयोग देते हैं, अपना उपहास उड़बाया करते हैं। 


दरअसल, कमलनाथ और मनोज तिवारी तो मात्र एक उदाहरण हैं। अभी पिछले दिनों मी टू का मुद्दा गरमाया था ,लेकिन ऐसा लगता है कि महिलाओं के प्रति हुए इस नीच कार्य में लिप्त अपनी सिफारिश और पहुंच से इस गंभीर और निर्लज्जता पूर्ण कृत्य को दबा दिया। अब इसकी कोई चर्चा नहीं करता, इस पर कोई बात नहीं होती और कुछ तथाकथित राजनीतिज्ञ तो विधानसभा, राज्यसभा, लोकसभा जैसे सर्वोच्च सदन में पहुंचकर उसकी पवित्रता पर दाग लगा रहे हैं। काश ऐसे शातिर और निर्लज्ज व्यक्तियों को इसकी सजा मिल जाए और वह कुछ दिन के लिए ही सही जेल की हवा खा लें, तो इससे समाज में नारियों के प्रति सम्मान बढ़ेगा और ऐसे लोगों में भय का माहौल बनेगा । कई नेता और अभिनेता तो समाज में अपनी दबंगई से और प्रभाव से मामले को आगे नहीं बढ़ने देते है और अपराध करने के बाद भी अपने रसूख और धनबल , बाहुबल से बच निकलते है । अपने को बेदाग साबित करने के लिए ऐसे दबंग लोग कुछ भी कर सकते हैं। 


हाथरस की घटना को अभी कोई कैसे भूल सकता है, जहां उत्पीड़न के बाद परिवार और समाज को विश्वास में लिए बिना रातों-रात शव का अंतिम संस्कार हिन्दू रीति रिवाज के खिलाफ कर दिया गया। नारी उत्पीड़न का इससे बड़ा अपमानजनक उदाहरण और क्या हो सकता है ? हाथरस का तो हाल यह रहा कि परिवार से मिलने के लिए और उसकी रिपोर्टिंग करने वाले मीडियाकर्मियों को आसपास फटकने भी नहीं दिया और तरह तरह के आरोप लगाकर आखिर में लड़की पक्ष को ही दोषी करार दिया जाता है । यदि कोई भी सुबह सुबह अपनी दिनचर्या शुरू करने के लिए समाचार पत्रों को पढ़ना शुरू करता है, तो उसके लगभग सभी पृष्ठों पर कोई ना कोई ऐसी खबर आपको जरूर मिल जाएगी जिससे मन विचलित हो जाएगा।

अनूपशहर क्षेत्र में बीते दिन गैंग रेप पीड़िता की आत्महत्या के बाद जहांगीराबाद क्षेत्र में एक रेप पीड़िता किशोरी के घर में घुसकर पेट्रोल डालकर जलाने के बाद जो माहौल बना और जिसके बाद पीड़िता ने दिल्ली के एक अस्पताल में दम तोड़ दिया । इस हृदय विदाराक घटना से अपराधियों के दुर्दांत मानसिकता का पता चलता है कि वह अपने समाज या देश दुनिया में नारियों के प्रति कितना असंवेदनशील और कठोर है। ऐसे अपराधी भी पुलिस की पकड़ में आ जाते हैं , लेकिन लचीले कानून और पुलिस की ढिलाई से वह छूट भी जाते है और फिर वह एक तपे हुए अपराधी बनकर किसी भी तरह के अपराध को अंजाम देने में सक्षम हो जाते है । अब प्रश्न यह उठता है कि ऐसे बदजुबान नेताओं और शातिर अपराधियों को सही रास्ते पर कैसे लाया जाए। 

 नेताओं को जानता द्वारा तो काबू किया जा सकता है, क्योंकि ऐसे नेताओं को केवल पुरुष ही वोट देकर चुनाव नहीं जिताते बल्कि आधा समाज अर्थात महिलाओं ने भी उन्हें मत देकर चुनाव जिताया है। ऐसा करने के बावजूद यदि उनका अपमान वह करते है तो फिर किस मुंह को लेकर उस समाज के पास जाते है जिनका अपमान वह बार बार सार्वजनिक रूप से करते है । ऐसे ही नेता अपने ऊपर लगे मी टू के आरोपी अपने को बुद्धिजीवी वर्ग में गिनती कराते हैं , इसलिए वह किसी ना किसी रूप से बच निकलते हैं । हमारे उच्च पदस्थ राजनेताओं को इस पर गंभीरता से विचार करने की जरूरत है । यदि ऐसे तथाकथित बुद्धिजीवियों पर हम काबू पा लेते है तो यह मान लीजिए फिर शातिर अपराधियो के लिए तो सख्त कानून है ही हमारे पास भले ही वह लचीला ही क्यों ना हो । अपराध तो कानून से छिपकर करना होता है क्योंकि अपराधियों को उसके मन में थोड़ा बहुत तो कानून का डर होता ही है । वैसे तो अपराध और अपराधियों का समूल नाश करना तो भारत अथवा विश्व के लिए कठिन है, लेकिन यदि प्रशासन दृढ़ संकल्प ले ले तो निश्चित रूप से उसे कम जरूर किया जा सकता है । यदि अपराध और अपराधियों का समूल नाश हो गया फिर तो यह मान लीजिए देश में राम राज्य आ जाएगा , लेकिन आज की स्थिति में यह संभव है क्या ?

यदि नारी अपमान की बात करें, तो देवराज इन्द्र ने अहिल्या को अपमानित किया उन्हें अपवित्र किया , लेकिन देवराज इन्द्र को भी उसकी सजा भुगतनी पड़ी । सीता और पांचाली को अपमानित किया गया , लेकिन उनमें से कोई भी अपराधिक दंड से बच नहीं पाया । रावण को सीता के अपहरण और अत्याचार के कारण उसके बंश के नाश हुआ । द्रोपदी को भरी सभा में घसीटकर लाना और निर्वस्त्र करने के कारण धृतराष्ट्र को अपने सौ पुत्रों तथा लाखों सैनिकों के जान से हाथ धोना पड़ा । इन बातों के विषय में यदि आप किसी राजनीतिज्ञ से पूछेंगे तो वह इस पर विस्तारपूर्वक अपने ज्ञान से आह्लादित कर देंगे और आप को यह एहसास दिला देंगे की वह कितने ज्ञानी है । अब ऐसे राजनीतिज्ञों या अपराधियो को कितना कठोर दंड देना चाहिए । क्योंकि, जो अपराधी अपराध करने से पहले उसके दंड के प्रावधानों और उसकी सजा को जानता हो उसे कितना कठोर दंड दिया जाना चाहिए ? यह निर्णय तो अदालत को ही करना है , लेकिन आधी आवादी को नेतागण और अपराधी सरेआम यदि इसी तरह अपमानित करते रहे तो इसे समाज अधिक दिनों तक बर्दाश्त नहीं करेगा और हो सकता है कि जनता उग्र होकर विद्रोही हो जाएगी तब इन्हीं नेताओं को इस आधी आबादी को संभालना मुश्किल हो जाएगा । इसलिए जो नारी का अपमान करके अपनी शान बढ़ाते है उन्हें सतर्क और सावधान हो जाने की जरूरत है । यदि ऐसे व्यक्ति फिर भी नहीं सुधरे, तो दुर्गा और काली कब अपना खड्ग धारण कर ले, यह कोई नहीं जानता ।

(लेखक वरिष्ठ पत्रकार और राजनीतिक विश्लेषक है।)

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links