ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : बिहार वाले पप्पू यादव गिरफ्तार         समुद्र पर दौडता ऐरावत ले आया आठ क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंक: चार हजार सिलेंडर, अस्पतालों ने ली राहत की सांस         BIG NEWS : राहुल के कांग्रेस अध्यक्ष बनने में फिर अड़ंगा; कांग्रेस कार्यसमिति ने टाले चुनाव, सोनिया ने लगाया आरोप         BIG NEWS : बंगाल में शुभेंदु नेता प्रतिपक्ष बने, BJP के 61 विधायकों को दी गई X कैटिगरी की सिक्यॉरिटी, सभी 77 MLA को केंद्रीय सुरक्षा         BIG NEWS : दूसरी लहर में पहली बार कोरोना के नए केस से ज्यादा लोग ठीक हुए, 3.29 लाख नए केस, 3. 55 हजार लोग ठीक हुए         बारामूला-बनिहाल रेल सेवा 16 मई तक बंद, बीते 22 फरवरी को 11 महीनों के बाद शुरू हुई थी सेवा         BIG NEWS : 60 साल के कश्मीरी बुजुर्ग ने तैयार किया ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का प्रोटोटाइप, कहा - कंपनी बनाए सस्ते कंसंट्रेटर         BIG NEWS : बंगाल हिंसा पर राज्यपाल फिर बेहद नाराज, कहा- बंगाल में संविधान खत्म         BIG NEWS : हेमंत बिस्व सरमा ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ         BIG NEWS : कोरोना के कहर के बीच पंचांगों से आई डरावनी खबर, मई अंत तक भारी तबाही की आशंका, आ सकता है तूफान         BIG NEWS : चीन का नाम लिए बगैर इजराइली एम्बेसेडर बोले-कोरोनावायरस बेहद संदिग्ध         BIG NEWS : 5 दिन बाद कोरोना का आंकड़ा नीचे आया, 3.53 लाख लोग हुए ठीक         BIG NEWS : ऑस्ट्रेलिया मीडिया का दावा, कोरोनावायरस चीन का जैविक हथियार         टीकाकरण ही भारत के संकट का इकलौता हल : डॉ. फौसी         BIG NEWS : पत्रिका द लांसेट में भारत के खिलाफ प्रोपेगेंडा         BIG NEWS : लालू प्रसाद यादव की तबीयत अचानक बिगड़ी, ऑक्सीजन लेवल गिरा         BIG NEWS : मदर्स डे के दिन झारखंड में मां की कोख उजड़ी, 7 बच्चों की मौत         BIG NEWS : पुंछ में सुरक्षाबलों ने बड़े आतंकी साजिश को किया नाकाम, ग्रेनेड की बड़ी खेप बरामद         BIG NEWS : हिमंत बिस्वा सरमा होंगे असम के नए मुख्यमंत्री, लगी मुहर         BIG NEWS : उत्तर प्रदेश में 17 मई सुबह 7 बजे तक के लिए बढ़ाया गया लॉकडाउन, आदेश जारी         हेमंत बिस्वा शर्मा असम के नए मुख्यमंत्री होंगे !         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर सरकार का बड़ा फैसला, प्रशासन घरों में इलाज करा रहे मरीजों तक पहुंचाएगी कोविड ट्रीटमेंट किट         BIG NEWS : गायंत्री मंत्र के जाप से कोरोना ठीक करना चाहता है ऋषिकेश एम्स, दस मरीजों पर कर रहा है ट्रॉयल         कोरोना महामारी के बीच कुलांचें भर रहा है चीन का वैश्विक व्यापार         गरीब देशों में ज्यादा जन्म लेते हैं थैलेसीमिया पीड़ित बच्चे क्योंकि…….         BIG NEWS : ढीले हुए वाट्सएप के तेवर, 15 मई को नई नीति स्वीकार नहीं की तो भी डिलीट नहीं होगा वाट्सएप अकाउंट         प्रशांत महासागर में गिरेगा चीन का 21 टन वजनी विशालकाय रॉकेट         BIG NEWS : वैक्सीन पर जीएसटी से भड़के राहुल का तंज,’भले ही जनता के प्राण निकल जाएं लेकिन टैक्स नहीं छोड़ेंगे मोदी’         BIG NEWS : अब देश ने स्वस्थ होने वाले मरीजों का रिकॉर्ड बनाया, देश में पहली बार 3.86 लाख से ज्यादा मरीज हुए ठीक         सप्ताह के सातों दिन के लिए बताए गए हैं अलग-अलग देवता, किस दिन किसकी पूजा करें         इम्युनिटी के लिए किसी वरदान से कम नहीं है तुलसी         BIG NEWS : भारत की मदद के लिए सामने आई थाईलैंड सरकार; कई ऑक्सीजन सिलेंडर और कंसंट्रेटर भेजी दिल्ली         BIG NEWS : रांची में ताबड़तोड़ फायरिंग, 4 को लगी गोली, कई दुकानों और घरों में घुसकर तोड़फोड़, पुलिस लाठीचार्ज          BIG NEWS : कोरोना से संक्रमित मरीजों के शरीर में ही मार डालेगी ये दवा और रोगी हो जाएगा चंगा         BIG NEWS : भारत ने बनाई कोरोना की दवा, सरकार ने दी आपात इस्तेमाल की मंजूरी         BIG NEWS : अस्पताल में इलाज के लिए अब कोरोना टेस्ट जरूरी नहीं         आप विधायक इमरान हुसैन पर ऑक्सीजन जमाखोरी का आरोप, दिल्ली हाईकोर्ट ने किया तलब         कंगना को कोरोना, लेकिन मैं इसको हरा दूंगी'         BIG NEWS : जिन बूढ़ों ने लगवाई फाइजर और मॉडर्ना की वैक्सीन, कोरोना होने पर भी अस्पताल से रहते हैं दूर         अगर आपके घर में कोई कोरोना मरीज हैं तो-          BIG NEWS : रेमडेसिविर इंजेक्शन और 13 ऑक्सीजन प्लांट इंडिया पहुंचे, सरकार बोली- मदद सीधे राज्यों को भेजी जा रही         BIG NEWS : आर्टिकल 370 हटाना भारत का आंतरिक मामला, पाकिस्तान को 35A रद्द होने से परेशानी : शाह महमूद कुरैशी         शनि देव को खुश करने के 5 आसान उपाय, शुरू करें इसी शनिवार से         जानिए क्या हैं ब्लड थिनर्स? खून पतला करने के उपाय         BIG NEWS : कई राज्य के सीएम ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को दी नसीहत, कहा- एकजुटता से ही राह निकलेगी         BIG NEWS : 10,000 ऑक्सीजन जनरेटर्स, 1 करोड़ मास्क... कोरोना की दूसरी लहर में संयुक्त राष्ट्र से भारत को बड़ी मदद         BIG NEWS : शिल्पा शेट्टी की एक साल की बेटी, बेटा, पति, मां और सास-ससुर कोरोना पॉजिटिव, दो स्टाफ मेंबर भी संक्रमित         BIG NEWS : अनुष्का शर्मा और विराट कोहली ने कोरोना से जंग के लिए डोनेट किए 2 करोड़ रुपये, अब इस अभियान में जुटे         रेल से पश्चिम बंगाल जाना है तो जेब में रखनी होगी 72 घंटे पुरानी आरटी-पीसीआर निगेटिव रिपोर्ट         जुड़वां प्रतिमाओं वाले इस हनुमान मंदिर में पूरी होती हैं सभी मनोकामनाएं         सुप्रीम कोर्ट ने माना, कठोर थी चुनाव आयोग पर टिप्पणी फिर भी हटाने से इनकार         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर के नागरिकों से अपील, परेशानी हो तो घबराएं नहीं इन हेल्पलाइन नंबर पर करें कॉल          BIG NEWS : भारत के बिना दुनिया अधूरी, उसने विश्व को बहुत कुछ दिया : निशा देसाई बिस्वाल         BIG NEWS : पश्चिम बंगाल में 21 साल की कॉलेज स्टूडेंट का रेप-मर्डर         BIG NEWS : केंद्रीय मंत्री बंगाल में फैला रहे हैं हिंसा, बंगाल में मंत्री भी आते हैं तो उन्हें कोरोना निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी : सीएम ममता बनर्जी         BIG NEWS : आ गया रूस का सिंगल डोज वैक्सीन, एक डोज ही 80% है असरदार        

महिलाओं के प्रति पुरुष में ऐसी कुंठा कहां से आती है ?

Bhola Tiwari Nov 21, 2020, 9:09 AM IST टॉप न्यूज़
img


निशिकांत ठाकुर 

नई दिल्ली : महिलाओं के प्रति हम भारतीयों के मन में इतनी कुंठा , इतना आक्रोश क्यों है ? यह बात समझ में नहीं आती। अभी हम लोग कोरोना से जूझ रहे हैं। श्रद्धा-उल्लास के महापर्व छठ मेें अपनी सहभागिता सुनिश्चित कर रहे थे , समाज महापर्व छठ के गीतों से गुंजायमान था । दिल्ली से सांसद और अभिनेता से नेता बने मनोज तिवारी , जों पूर्वंचलियों के नेता अपने को मानते हैं। इतने बड़े और महान हो जाते हैं कि सोनिया गांधी के प्रति ग्वालियर में अपमानजनक बयान देकर अपनी ओर जनता को आकर्षित करना चाहते हैं। इसी प्रकार छठ महापर्व पर कोवीड से बचाव के लिए जो कानून बनाया जाता है , उस पर टिप्पणी करते हुए कहते है कि दिल्ली सरकार और मुख्यमंत्री नमक हराम है। ऐसा कहकर पूर्वांचलियों को अपनी ओर आकर्षित करने और लोकप्रियता पाने के लिए असंसदीय भाषा का प्रयोग करते हैं। यह तो हुई नेताओं द्वारा नारियों के प्रति अपत्तिजनक बदजुबानीऔर टिप्पणी करने की बात। ऐसे कई और तथाकथित राजनीतिज्ञ हैं, जो मीडिया में प्रचार पाने का कोई ना कोई बहाना ढूंढ़ते रहते हैं और उसमें सफल भी होते हैं।कभी मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रहे कमलनाथ मूर्खतापूर्ण बयान देकर जनता के मन में आक्रोश और घृणा भरते हैं। विवाद के पात्र बनकर कांग्रेस की लुटिया डुबोने में अपना भरपूर सहयोग देते हैं, अपना उपहास उड़बाया करते हैं। 


दरअसल, कमलनाथ और मनोज तिवारी तो मात्र एक उदाहरण हैं। अभी पिछले दिनों मी टू का मुद्दा गरमाया था ,लेकिन ऐसा लगता है कि महिलाओं के प्रति हुए इस नीच कार्य में लिप्त अपनी सिफारिश और पहुंच से इस गंभीर और निर्लज्जता पूर्ण कृत्य को दबा दिया। अब इसकी कोई चर्चा नहीं करता, इस पर कोई बात नहीं होती और कुछ तथाकथित राजनीतिज्ञ तो विधानसभा, राज्यसभा, लोकसभा जैसे सर्वोच्च सदन में पहुंचकर उसकी पवित्रता पर दाग लगा रहे हैं। काश ऐसे शातिर और निर्लज्ज व्यक्तियों को इसकी सजा मिल जाए और वह कुछ दिन के लिए ही सही जेल की हवा खा लें, तो इससे समाज में नारियों के प्रति सम्मान बढ़ेगा और ऐसे लोगों में भय का माहौल बनेगा । कई नेता और अभिनेता तो समाज में अपनी दबंगई से और प्रभाव से मामले को आगे नहीं बढ़ने देते है और अपराध करने के बाद भी अपने रसूख और धनबल , बाहुबल से बच निकलते है । अपने को बेदाग साबित करने के लिए ऐसे दबंग लोग कुछ भी कर सकते हैं। 


हाथरस की घटना को अभी कोई कैसे भूल सकता है, जहां उत्पीड़न के बाद परिवार और समाज को विश्वास में लिए बिना रातों-रात शव का अंतिम संस्कार हिन्दू रीति रिवाज के खिलाफ कर दिया गया। नारी उत्पीड़न का इससे बड़ा अपमानजनक उदाहरण और क्या हो सकता है ? हाथरस का तो हाल यह रहा कि परिवार से मिलने के लिए और उसकी रिपोर्टिंग करने वाले मीडियाकर्मियों को आसपास फटकने भी नहीं दिया और तरह तरह के आरोप लगाकर आखिर में लड़की पक्ष को ही दोषी करार दिया जाता है । यदि कोई भी सुबह सुबह अपनी दिनचर्या शुरू करने के लिए समाचार पत्रों को पढ़ना शुरू करता है, तो उसके लगभग सभी पृष्ठों पर कोई ना कोई ऐसी खबर आपको जरूर मिल जाएगी जिससे मन विचलित हो जाएगा।

अनूपशहर क्षेत्र में बीते दिन गैंग रेप पीड़िता की आत्महत्या के बाद जहांगीराबाद क्षेत्र में एक रेप पीड़िता किशोरी के घर में घुसकर पेट्रोल डालकर जलाने के बाद जो माहौल बना और जिसके बाद पीड़िता ने दिल्ली के एक अस्पताल में दम तोड़ दिया । इस हृदय विदाराक घटना से अपराधियों के दुर्दांत मानसिकता का पता चलता है कि वह अपने समाज या देश दुनिया में नारियों के प्रति कितना असंवेदनशील और कठोर है। ऐसे अपराधी भी पुलिस की पकड़ में आ जाते हैं , लेकिन लचीले कानून और पुलिस की ढिलाई से वह छूट भी जाते है और फिर वह एक तपे हुए अपराधी बनकर किसी भी तरह के अपराध को अंजाम देने में सक्षम हो जाते है । अब प्रश्न यह उठता है कि ऐसे बदजुबान नेताओं और शातिर अपराधियों को सही रास्ते पर कैसे लाया जाए। 

 नेताओं को जानता द्वारा तो काबू किया जा सकता है, क्योंकि ऐसे नेताओं को केवल पुरुष ही वोट देकर चुनाव नहीं जिताते बल्कि आधा समाज अर्थात महिलाओं ने भी उन्हें मत देकर चुनाव जिताया है। ऐसा करने के बावजूद यदि उनका अपमान वह करते है तो फिर किस मुंह को लेकर उस समाज के पास जाते है जिनका अपमान वह बार बार सार्वजनिक रूप से करते है । ऐसे ही नेता अपने ऊपर लगे मी टू के आरोपी अपने को बुद्धिजीवी वर्ग में गिनती कराते हैं , इसलिए वह किसी ना किसी रूप से बच निकलते हैं । हमारे उच्च पदस्थ राजनेताओं को इस पर गंभीरता से विचार करने की जरूरत है । यदि ऐसे तथाकथित बुद्धिजीवियों पर हम काबू पा लेते है तो यह मान लीजिए फिर शातिर अपराधियो के लिए तो सख्त कानून है ही हमारे पास भले ही वह लचीला ही क्यों ना हो । अपराध तो कानून से छिपकर करना होता है क्योंकि अपराधियों को उसके मन में थोड़ा बहुत तो कानून का डर होता ही है । वैसे तो अपराध और अपराधियों का समूल नाश करना तो भारत अथवा विश्व के लिए कठिन है, लेकिन यदि प्रशासन दृढ़ संकल्प ले ले तो निश्चित रूप से उसे कम जरूर किया जा सकता है । यदि अपराध और अपराधियों का समूल नाश हो गया फिर तो यह मान लीजिए देश में राम राज्य आ जाएगा , लेकिन आज की स्थिति में यह संभव है क्या ?

यदि नारी अपमान की बात करें, तो देवराज इन्द्र ने अहिल्या को अपमानित किया उन्हें अपवित्र किया , लेकिन देवराज इन्द्र को भी उसकी सजा भुगतनी पड़ी । सीता और पांचाली को अपमानित किया गया , लेकिन उनमें से कोई भी अपराधिक दंड से बच नहीं पाया । रावण को सीता के अपहरण और अत्याचार के कारण उसके बंश के नाश हुआ । द्रोपदी को भरी सभा में घसीटकर लाना और निर्वस्त्र करने के कारण धृतराष्ट्र को अपने सौ पुत्रों तथा लाखों सैनिकों के जान से हाथ धोना पड़ा । इन बातों के विषय में यदि आप किसी राजनीतिज्ञ से पूछेंगे तो वह इस पर विस्तारपूर्वक अपने ज्ञान से आह्लादित कर देंगे और आप को यह एहसास दिला देंगे की वह कितने ज्ञानी है । अब ऐसे राजनीतिज्ञों या अपराधियो को कितना कठोर दंड देना चाहिए । क्योंकि, जो अपराधी अपराध करने से पहले उसके दंड के प्रावधानों और उसकी सजा को जानता हो उसे कितना कठोर दंड दिया जाना चाहिए ? यह निर्णय तो अदालत को ही करना है , लेकिन आधी आवादी को नेतागण और अपराधी सरेआम यदि इसी तरह अपमानित करते रहे तो इसे समाज अधिक दिनों तक बर्दाश्त नहीं करेगा और हो सकता है कि जनता उग्र होकर विद्रोही हो जाएगी तब इन्हीं नेताओं को इस आधी आबादी को संभालना मुश्किल हो जाएगा । इसलिए जो नारी का अपमान करके अपनी शान बढ़ाते है उन्हें सतर्क और सावधान हो जाने की जरूरत है । यदि ऐसे व्यक्ति फिर भी नहीं सुधरे, तो दुर्गा और काली कब अपना खड्ग धारण कर ले, यह कोई नहीं जानता ।

(लेखक वरिष्ठ पत्रकार और राजनीतिक विश्लेषक है।)

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links