ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : मुंबई में हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, पकड़ी गई अभिनेत्री और मॉडल!         BIG NEWS : भारतीय सेना ने चीन में बने पाकिस्तान आर्मी के क्वाडकॉप्टर को मार गिराया         आज और कल दशहरा, रावण के पुतलों पर भी कोरोना का असर और भाजपा में कोरोना कोरोना         कौन हैं मां सिद्धिदात्री? भगवान शिव क्यों करते हैं इनकी उपासना         नवरात्रि का नौवां दिन, मां सिद्धदात्री से पाएं रिद्धि-सिद्धि         BIG NEWS : भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सैनिकों पर की बड़ी कार्रवाई, 3 जवान ढेर, 2 घायल         BIG NRWS : FATF की ग्रे-लिस्ट में रहेगा पाकिस्तान, आतंकी सरगनाओं पर करनी होगी कार्रवाई         BIG NEWS : भारत की जासूसी के लिए  पाकिस्तान ने मिन्हास एयरफोर्स बेस पर तैनात किये अवाक्स         आखिर किस बात की जल्दी है....         BIG NEWS : पाकिस्तान आतंकियों पर रोक लगा पाने में नाकाम, FATF की बैठक में “ब्लैक लिस्ट” होने की संभावना बढ़ी         पीएम नरेंद्र मोदी का विपक्ष पर वार, कहा – सत्ता में आकर जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 वापस लाना चाहता है विपक्ष         BIG NEWS : महबूबा मुफ्ती का देशद्रोही बयान, कहा- “जब तक जम्मू-कश्मीर का झंडा वापस नहीं मिलता,तिरंगा नहीं उठाएंगे”         नवरात्र का आठवां दिन: जानें मां महागौरी की पूजा विधि, मंत्र, भोग और कथा         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में डीडीसी चुनाव का रास्ता साफ, केंद्रीय मंत्रिमंडल ने जम्मू-कश्मीर पंचायती राज कानून को दी मंजूरी         BIG NEWS : जम्मू-कश्मीर से लेकर POK तक “ब्लैक डे”         BIG NEWS : सोपोर में दो आतंकियों ने किया सरेंडर, हाल ही में अल-बदर आतंकी संगठन में हुये थे शामिल         BIG NEWS : भारत ने किया 'नाग' एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का सफल परीक्षण, DRDO ने किया है तैयार         नवरात्र का सातवां दिन, मां कालरात्रि की उपासना से दूर होंगे जीवन के कष्ट         कहीं भी सुरक्षित नहीं महिलाएं         बिहारी की आंखों ने क्या क्या देखना है ?          सुशासन बाबू का सुत्थर चेहरा और बेवाओं की बेबस मुस्कान         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में पाकिस्तानी हमले की बरसी पर 22 अक्टूबर को मनाया जाएगा “ब्लैक डे”         BIG NEWS : गिलगित-बल्तिस्तान में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन जारी, प्रदर्शकारियों ने कहा – “पाकिस्तान का हिस्सा नहीं है गिलगित-बल्तिस्तान”         BIG NEWS : पूर्व मुख्यमंत्री फारूख अब्दुल्ला को ईडी ने दूसरी बार किया तलब, जम्मू कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन घोटाले मामले में हुई पूछताछ         नवरात्रि के छठे दिन होती है मां कात्‍यायनी की पूजा, जानिए पूजा विधि और मंत्र         बिहार में चुनाव :आरजेडी ने सबसे ज्यादा करोड़पति उम्मीदवारों को दीया टिकट         BIG NEWS : क्या यूपी के सबसे बड़े माफिया मुख्तार अंसारी को बचा रही है पंजाब सरकार?          BIG NEWS : पुलवामा एनकाउंटर में 2 और आतंकी ढेर, बीते 24 घंटों में 4 आतंकियों का सफाया         BIG NEWS : राहुल गांधी के बयान पर अमित शाह ने किया पलटवार, कहा – “1962 में 15 मिनट में चीन को क्यों नहीं बाहर फेंक पाई कांग्रेस"         BIG NEWS : चीन के सामने फिर झुका पाकिस्तान, इमरान सरकार ने 10 दिनों के अंदर टिकटॉक से हटाया बैन         नवरात्र का पांचवा दिन: ऎसे करें स्कंदमाता की पूजा, मिलेगी सुख-शांति         दुमका गैंगरेप मामले में महिलाओं ने रामगढ़ थाना घेरा, निर्दोष को फंसाने का आरोप         चाईबासा में नक्सलियों का तांडव, कंस्ट्रक्शन में लगे 4 पोकलेन और एक बाइक को किया आग के हवाले         सवाल पूछिए कि क्या सोचकर आदिवासी मामलों का मंत्रालय बनाया था !         बेरमो में का बा !          BIG NEWS : रघुवर दास की फिसली जुबान, कहा- तभी 'चोट्टा' लोग राज कर रहे हैं, जेएमएम ने ट्वीट कर पूछे सवाल         कांग्रेस नेता कमलनाथ के बोल, मध्यप्रदेश की मंत्री इमरती देवी "आइटम"         राजनीति के अपराधीकरण और बिहार में चुनाव         जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन में 43 करोड़ रुपये की गड़बड़ी, पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला से ईडी की पूछताछ         BIG NEWS : पाकिस्तान में विपक्षी दलों की विरोध रैली से डरे इमरान खान, पुलिस ने होटल का दरवाजा तोड़कर नवाज शरीफ के दामाद को किया गिरफ्तार         BIG NEWS : लद्दाख में भारतीय सेना ने एक चीनी सैनिक को पकड़ा, कई दस्तावेज बरामद         गुप्त नवरात्र का चौथा दिन, मां कूष्मांडा को ऐसे करें प्रसन्न         BIG NEWS : अनंतनाग में मस्जिद से लौट रहे पुलिस अफसर की गोली मारकर हत्या, शोपियां में सुरक्षाबलों के साथ एनकाउंटर में एक आतंकी ढेर         BIG NEWS : पुलवामा में सुरक्षाबलों पर बीते 24 घंटे में दूसरा आतंकी हमला, दो जवान घायल         BIG NEWS : शिक्षा मंत्री को एयर एंबुलेंस से चेन्नई भेजा, हालत बिगड़ने पर चेन्नई से बुलाई गई थी डॉक्टरों की टीम          ''ए नीतीश! तू थक गईल बाऽडा अब जा आराम करऽअ": लालू यादव         BIG NEWS : हड़िया बेचकर आजीविका चला रही है नेशनल कराटे चैंपियन, मदद को आए CM हेमंत सोरेन, अफसरों को दिया निर्देश         नॉर्वे में एक भारतीय रेस्तरां         अब सियासी आदिवासी नहीं..         दुर्गा को पहचानें !        

इस चमत्कारिक मंदिर में भगवान को क्यों चढ़ती है शराब....

Bhola Tiwari Oct 15, 2020, 11:13 PM IST टॉप न्यूज़
img

भोपाल : तीर्थ नगरी उज्जैन में कालभैरव का अतिप्राचीन और चमत्कारिक मंदिर है, जहां मूर्ति मदिरापान करती है। यहां उनको मदिरा का ही प्रसाद चढ़ता है। ‍यहां आने से शनि की पीड़ा का तुरंत ही निदान हो जाता है।

वाम मार्गी संप्रदाय के इस मंदिर में कालभैरव की मूर्ति को न सिर्फ मदिरा चढ़ाई जाती है, बल्कि बाबा भी मदिरापान करते हैं। यहां देश-विदेश से हजारों श्रद्धालु मन्नत मांगने आते हैं। कालभैरव का यह मंदिर लगभग 6,000 साल पुराना माना जाता है। भगवान और शराब! सुनकर अजीब लगता है ना लेकिन ये सच है. उज्जैन में स्थित काल भैरव मंदिर में प्रसाद के रूप में शराब चढ़ाई जाती है।

हमारे भारत में अनेक ऐसे मंदिर है जिनके रहस्य आज तक अनसुलझे है। इन्हीं में शामिल है महाकाल की नगरी उज्जैन का काल भैरव मंदिर। इसकी सबसे बड़ी विशेषता यह है की यहां पर भगवान काल भैरव साक्षात रूप में मदिरा पान करते है। मंदिर में जैसे ही शराब से भरे प्याले काल भैरव की मूर्ति के मुंह से लगाते है देखते ही देखते शराब के प्याले खाली हो जाते है।


कहां जाती है शराब जानने के लिए अंग्रेज ने किया ये काम

कहा जाता है कि बहुत साल पहले एक अंग्रेज अधिकारी द्वारा इस बात की गहन तहकीकात करवाई गई कि आखिर शराब जाती कहां है। उसने प्रतिमा के आसपास काफी गहराई तक खुदाई करवाई लेकिन जब नतीजा कुछ भी नहीं निकला तो वो अंग्रेज भी काल भैरव का भक्त बन गया। 

प्राचीन समय में सिर्फ आते थे तांत्रिक

कहते हैं प्राचीन समय में यहां सिर्फ तांत्रिको ही आते थे। यहां आकर उनके द्वारा तंत्र क्रियाएं की जाती थी। बाद में ये मंदिर आम लोगों के लिए भी खोल दिया गया। और फिर यहां भीड़ जुटनी शरू हो गई। कुछ साल पहले यहां बलि प्रथा ख़त्म की गई है। अब भगवान भैरव को केवल मदिरा का भोग लगाया जाता है। यूं तो काल भैरव को मदिरा पिलाने का सिलसिला सदियों से चला आ रहा है लेकिन यह कब, कैसे और क्यों शुरू हुआ, इसे कोई नहीं जान पाया।

6000 साल पुराने मंदिर की ये है कहानी 


मध्य प्रदेश के उज्जैन शहर से करीब 8 कि.मी. दूर, क्षिप्रा नदी के तट पर बसा कालभैरव मंदिर 6000 साल पपुराना बताया जाता है। इसे एक वाम मार्गी तांत्रिक मंदिर कहा जाता है। वाम मार्ग के मंदिरों की ये विशेषता होती है कि यहां मंदिरों में मदिरा, मांस, बलि, मुद्रा जैसे प्रसाद चढ़ाए जाते हैं। 

ये कहना है मंदिर के पुजारी का

मंदिर का जीर्णोद्धार परमार वंश के राजाओं ने करवाया था। मंदिर के पुजारी के अनुसार स्कंद पुराण में काल भैरव के जगह के धार्मिक महत्व का जिक्र किया गया है। कहते हैं चारों वेदों के रचियता भगवान ब्रह्मा ने जब पांचवें वेद की रचना करने का फैसला किया तो देवता भगवान शिव की शरण में गए ताकि अब पांचवा वेद न रचा जा सके। लेकिन फिर भी ब्रह्मा जी ने किसी की बात नहीं मानी। इस पर शिवजी को गुस्सा आया और उन्होंने तीसरे नेत्र से बालक बटुक भैरव को प्रकट किया।

 फिर उग्र स्वभाव के इस बालक ने क्रोध में आकर ब्रह्मा जी का पांचवां मस्तक काट दिया। लेकिन बाद में ब्रह्म हत्या के पाप को दूर करने के भैरव कई स्थानों पर गए, लेकिन उन्हें मुक्ति कोई नहीं मिली। अंत में भैरव को वापस भगवान शिव के पास जाना पड़ा। शिव ने भैरव को बताया कि वो उज्जैन में क्षिप्रा नदी के तट पर ओखर श्मशान के पास तपस्या करें। तब जाकर उन्हें इस पाप से मुक्ति मिलेगी। उसी समय से यहां काल भैरव की पूजा हो रही है। बाद में इस जगह पर एक बड़ा मंदिर बनवाया गया।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links