ब्रेकिंग न्यूज़
नेपाल पीएम के बिगड़े बोल, कहा – “नेपाल में हुआ था भगवान राम का जन्म, नेपाली थे भगवान राम”         CBSE 12वीं का रिजल्ट : देश में 88.78% स्टूडेंट पास         BIG NEWS : सेना प्रमुख एमएम नरवणे जम्मू पहुंचे, सुरक्षा स्थिति का लिया जायजा         अनंतनाग एनकाउंटर में 2 आतंकी ढेर         बांदीपोरा में 4 OGWS गिरफ्तार, हथियार बरामद         BIG NEWS : हाफिज सईद समेत 5 आतंकियों के बैंक अकाउंट फिर से बहाल         BIG NEWS : लालू यादव का जेल "दरबार", तस्वीर वायरल         मान लीजिए इंटर में साठ प्रतिशत आए, या कम आए, तो क्या होगा?         BIG NEWS : झारखंड में रविवार को कोरोना संक्रमण से 6 मरीजों की मौत, बंगाल-झारखंड सीमा सील         BIG NEWS : सोपोर में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, अब तक 2 आतंकी ढेर         BIG NEWS : देश में PMAY के क्रियान्वयन में रामगढ़ नंबर वन         BIG NEWS : श्रीनगर में तहरीक-ए-हुर्रियत के चेयरमैन अशरफ सेहराई गिरफ्तार         BIG NEWS : ऐश्वर्या राय बच्चन और आराध्या बच्चन की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव         BIG NEWS : मध्यप्रदेश की राह पर राजस्थान !         अमिताभ बच्चन ने कोरोना के खौफ के बीच सुनाई थी उम्मीद भरी कविता, अब..         .... टिक-टॉक वाले प्रकांड मेधावियों का दस्ता         BIG BRAKING : नक्सलियों नें कोल्हान वन विभाग कार्यालय व गार्ड आवास उड़ाया         BIG NEWS : महानायक अमिताभ बच्चन के बाद अभिषेक बच्चन को भी कोरोना         BIG NEWS : अमिताभ बच्चन करोना पॉजिटिव         BIG NEWS : आतंकियों को घुसपैठ कराने की कोशिश में पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम         अपराधी मारा गया... अपराध जीवित रहा !          BIG NEWS : भारत चीन के बीच बातचीत, सकारात्मक सहमति के कदम आगे बढ़े         BIG NEWS : बारामूला के नौगाम सेक्टर में LOC के पास मुठभेड़, दो आतंकी ढेर         BIG STORY : समरथ को नहिं दोष गोसाईं         शर्मनाक : बाबू दो रुपए दे दो, सुबह से भूखी हूं.. कुछ खा लुंगी         BIG NEWS : वर्चुअल काउंटर टेररिज्म वीक में बोले सिंघवी, कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, था और रहेगा         BIG NEWS : कानपुर से 17 किमी दूर भौती में मारा गया गैंगेस्टर विकास, एसटीएफ के 4 जवान भी घायल         BIG NEWS : झारखंड के स्कूलों पर 31 जुलाई तक टोटल लॉकडाउन         BIG NEWS : चीन के खिलाफ “बायकॉट चाइना” मूवमेंट          पाकिस्तानी सेना ने नौशेरा सेक्टर में की गोलाबारी, 1 जवान शहीद         मुसीबत देश के आम लोगों की है जो बहुत....         BIG NEWS : एनकाउंटर में मारा गया गैंगस्टर विकास दुबे         बस नाम रहेगा अल्लाह का...         BIG NEWS : सेना के काफिले पर आतंकी हमला, जवान समेत एक महिला घायल        

प्रजनन के विरोध में खड़े लोग

Bhola Tiwari May 18, 2019, 8:59 PM IST टॉप न्यूज़
img

एस डी ओझा

आजकल कुछ लोगों में मातृत्व व पितृत्व की भावना खत्म होती जा रही है । लोग माँ बाप बनने से कतराने लगे हैं । ऐसा होने का एक प्रमुख कारण देर से विवाह होना भी है । 30-35 साल के भीतर यदि आप माता पिता बन गये तो ठीक अन्यथा कई तरह की दिमागी व जिस्मानी विसंगतियां पैदा हो जाती हैं । हर चीज का समय होता है । आजकल लोगों के कैरियर बनाने में हीं ढेर सारा समय जाया हो जाता है । जब कैरियर इनका बनता है । शादी होती है तो समय निकल जाता है । कुछेक लोग कैरियर बनने से पहले बच्चा नहीं चाहते । ऐसे शादी शुदा लोग गर्भ धारण करने पर भी गर्भपात करा देते हैं । एक दो बार ऐसा हो तो चल सकता है लेकिन बार बार होने लगे तो बच्चेदानी कमजोर पड़ने लगती है । जब आपको बच्चे की जरुरत होती है तो बच्चेदानी काम नहीं करती । कई बार बच्चेदानी के फटने की भी सम्भावना हो जाती है । बार बार के गर्भपात से स्थाई बांझपन का भी खतरा हो जाता है ।

आजकल के युवा बच्चे को एसेट (Asset ) कम बोझ (liabilities ) ज्यादा मानते हैं । वे केवल खाओ पियो और ऐश करो के सिद्धांत को मानते हैं । वे यह मानते हैं कि बच्चे पैदा करना उनकी चाहत हो सकती है लेकिन फर्ज नहीं । पहले यह मानकर चला जाता था कि पितृ ऋण से आप तभी उऋण होंगे जब आप एक बच्चा पैदा कर लेंगे । आजकल लोग ऐसा नहीं सोचते । कुछ पति पत्नी इस तरह से काम में व्यस्त रहते हैं कि उन्हें बच्चे पालने की फुर्सत हीं नहीं है । इनके परिवार या रिश्तेदार भी इन्हें सपोर्ट नहीं करते । फिर ये बिना बच्चे का हीं रहना पसंद करने लगते हैं । कुछ लोग बच्चे पैदा करने की जरुरत हीं नहीं महसूस करते । ये बच्चों के बिना हीं खुश रह लेते हैं । कुछ खुद बच्चे पैदा न कर गोद ले लेते हैं । इस प्रकार ये और जनसंख्या बढ़ाने से बच जाते हैं और उन बच्चों को परवरिश भी मिल जाती है । कुछ आर्थिक रुप से तैयार नहीं होते कि वे बच्चे पालें । उन्हें ये बच्चे आर्थिक बोझ नजर आते हैं ।

तस्लीमा नसरीन कहतीं हैं कि अपने जैसी मजलूम औरतें पैदा करने से बेहतर है बच्चे हीं पैदा न किया जाय । गुडमैन व एड्रेंस का कहना है कि एक बच्चा पैदा कर हम धरती पर एक और बोझ बढ़ाते हैं । इस धरती के सीमित संसाधनों में और कमी करते हैं । इसलिए गुडमैन और एड्रेंस दम्पति ने बच्चा पैदा न करने की सोची है । उनका मानना है कि ऐसा कर वे इस उपग्रह के संरक्षण में महती योगदान कर रहे हैं । बहुत से लोगों ने उनके इस कदम की सराहना की है तो कुछ ने गलत करार दिया है । फेसबुक पर भी Child free पेज खोला गया है , जिसमें बहुत से लोग शिरकत कर रहे हैं । ये सभी लोग प्रजनन के खिलाफ हैं । ये बच्चे नहीं चाहते । ये अपनी हालात से खुश हैं । धरती पर और बच्चे न लाकर ये धरती का बोझ कम करना चाहते हैं । बच्चे को भी जिम्मेदारियों के बोझ से बचाना चाहते हैं । इस क्रिया को Antinatalism (बच्चों की पैदाइश का विरोध करना ) कहते हैं ।

राफेल सैम्युअल भी बच्चों के पैदाइश के खिलाफ हैं । वे अपने माता पिता के खिलाफ मुकदमा करने जा रहे हैं । उनका कहना है कि उनके माता पिता ने उन्हें पैदा किया , ठीक है , पर उनकी मंशा क्यों नहीं पूछी गयी ? इसके लिए वो किसी अच्छे वकील की तलाश कर रहे हैं । भला अजन्मे बच्चे की मंशा कोई कैसे जान सकता है ? अजीब सवाल है , जिसका कोई जवाब नहीं हैं । अब आंखें जो दिखा रही हैं उसे देखना है । दिल की बात तो करनी हीं नहीं है । Antinatalism आने वाले दिनों में और जोर पकड़ेगा । हम मूक दर्शक बने देखते रहेंगे । कोई हमारी सुनेगा भी नहीं । हरिवंश राय बच्चन लिखते हैं- 

ज़िन्दगी और ज़माने की

कशमकश से घबराकर

मेरे बेटे मुझसे पूछते हैं कि

हमें पैदा क्यों किया था?

और मेरे पास इसके सिवाय

कोई जवाब नहीं है कि

मेरे बाप ने मुझसे बिना पूछे

मुझे क्यों पैदा किया था?

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links