ब्रेकिंग न्यूज़
POK : गिलगित-बल्तिस्तान में पत्रकारों का पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन, पत्रकारों ने कहा- काम करने की चाहिए आजादी         कोरोना वायरस : अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने भारत से फिर मांगी मदद         संकेत खतरनाक हैं...         धन और जीवन के बीच मांडवली...         झारखंड में तमाशा : कोरोना का मरीज आइसोलेशन वार्ड से निकल शहर में घूमता रहा, लिट्टी खायी, चाय पी         बड़ा फैसला: 1 साल के लिए की गई सांसदों के वेतन में 30% की कटौती         बरेली : लॉकडाउन का पालन कराने गई पुलिस टीम पर भीड़ ने किया हमला, SP घायल         भारतीय सेना की बड़ी कार्रवाई : पाकिस्तानी सेना के अधिकारी समेत 3 जवान घायल, दर्जनों चौकियां तबाह         न्यूयॉर्क के चिड़ियाघर में एक चार वर्षीय बाघ भी कोरोना वायरस का शिकार         बास मारती बेसिक शिक्षा के रुदन में शामिल मिस संता-बंता..         भारतीय सेना ने केरन सेक्टर में 5 आतंकियों को मार गिराया         कोरोना वायरस : अमेरिकी प्रेसिडेंट ट्रंप ने प्राइम मिनिस्टर मोदी से मांगी मदद         झारखंड : बोकारो में मिला कोरोना का तीसरा मामला          पाकिस्तान को चीन ने दिया 'धोखा', भेज दिया अंडरवेयर से बने मास्क         खुशखबरी : नए डोमिसाइल नियम में संशोधन, स्थायी निवासियों के लिए सरकारी नौकरियां आरक्षित         स्वास्थ्य मंत्रालय : कोरोना के 30% मामले तब्लीगी जमात के मरकज की वजह से फैले         प्रार्थना का क्या महत्व है ?         लॉक डाउन : कुछ शर्तों के साथ खुल सकता है लॉकडाउन, जानें क्या है सरकार की तैयारी         WHO की रिपोर्ट में खुलासा : ऐसे फैलता है कोरोना वायरस         पाकिस्तान : नाबालिग को अगवा कर पहले किया रेप, फिर धर्म-परिवर्तन करा रेपिस्ट से कराई शादी         इस दीए की रोशनी         अनलॉक्ड : खुली हवाओं में सांस ले रहे हैं जीव-जन्तु         सीएम योगी का फरमान : नर्सों से अश्लील हरकत करने वाले जमातियों पर NSA, अब पुलिस के पहरे में इलाज         जमात की करतूत : नर्सों के सामने नंगा होने वाले जमात के 6 लोगों पर FIR         आप इन्फेक्टेड हो गए हैं तो काफिरों को इन्फेक्ट कीजिए : आईएसआईएस          मैं, सरकारी सिस्टम के साथ हूँ         तबलीगी जमात से जुड़े 400 लोग कोरोना पॉजिटिव, 9000 क्वारनटीन : स्वास्थ्य मंत्रालय         BIG NEWS : झारखंड में कोरोना का दूसरा मरीज मिला         सेना की बड़ी तैयारी : युद्धपोत, प्लेन अलर्ट, सेना के 8,500 डॉक्टर भी तैयार         पाकिस्तान में ऐलान : तबलीगी जमात के लोगों से नहीं मिले मुल्क के लोग         सबके राम !         तबलीगी जमात का आतंकवादी संगठनों से अप्रत्यक्ष संबंध : तस्लीमा नसरीन         BIG NEWS : झारखंड के मंत्री पुत्र को आइसोलेशन वार्ड, होम क्वारेंटाइन में मंत्री         BIG NEWS : अब 15 वर्षों से राज्य में रहने वाला हर नागरिक जम्मू कश्मीर का स्थायी निवासी         11 जनवरी से 31मार्च- 80 दिन 1920 घंटे..         

चमन लूट गया है , बहारों से कह दो

Bhola Tiwari May 17, 2019, 8:22 AM IST टॉप न्यूज़
img

एस डी ओझा

पाकिस्तान के बलूचिस्तान इलाके का एक जिला है अब्दुल्लाह। अब्दुल्लाह की राजधानी चमन है । चमन अफगानिस्तान के बहुत करीब है । यहां से रेल द्वारा अफगानिस्तान के कंदहार जाया जा सकता है । चमन की कुल आबादी 20 हजार से ऊपर है । यहां तकरीबन एक हजार से ऊपर हिंदू बसते हैं । कभी चमन की मण्डी उत्तर भारत की सबसे बड़ी मण्डी हुआ करती थी । यहां से हींग , खुबानी और चेरी पूरे उत्तर भारत को निर्यात की जाती थी । देश के बंटवारे के बाद इस मण्डी की चमक फीकी पड़ गयी । अफगानिस्तान से भी पाकिस्तान के सम्बंध अच्छे नहीं हैं । इसलिए चमन की यह मण्डी अब उजड़ गयी है । चमन का चमन लूट गया है ।

चमन लूट गया है बहारों से कह दो ।

घटा छा गयी है सितारों से कह दो ।  

कल और आज के कश्मीर में जमीन आसमान का फर्क आ गया है । पहले लोग कश्मीर घूमने जाते थे । यहां हिंदी फिल्मों की शूटिंग हुआ करती थी । खेतों में जाफरान की खेती होती थी । यहां के लजीज भोजन कुस्ताबा और चमन पनीर का स्वाद लोगों की जिह्वा पर हमेशा के लिए बस जाता था । लेकिन आज यहां आतंकवादियों की खेती होती है । पत्थर बाजों का अड्डा बन गया है कश्मीर । काश्मीरी पण्डित और उदारवादी मुसलमानों को यहां से भागना पड़ रहा है । जिस कश्मीर को कभी जहांगीर ने " अगर दुनियां में कहीं स्वर्ग है तो यहीं है , यहीं है , यहीं है " कहा था ; आज वही स्वर्ग अब नरक बन गया है । अब यहाँ सैलानी घूमने नहीं आते । आते हैं तो वे पत्थर खाते हैं । यहां के चिनार के पेड़ खामोश हैं । देवदार के पेड़ सैलानियों की राह तकते तकते बूढ़े हो चले हैं ।

न आएंगे वो लौट के वादियों में ,

मेरे राजदां देवदारों से कह दो ।  

अभी एक हीं परिवार के ग्यारह व्यक्तियों ने अंधविश्वास के चलते मौत को गले लगाया है । ऐसा कहा जाता है कि परिवार का मुखिया मरने के बाद सपने में अपने छोटे बेटे को निर्देश देता था । बेटा उस निर्देश को कागज पर उतार लेता था । पूरा परिवार उस निर्देश को पत्थर की लकीर समझता था । सभी उस निर्देश को आंख बंद कर मानते थे । ऐसे में एक दिन सपने में निर्देश मिला कि सब फांसी के फंदे पर लटक जाओ । किसी को कुछ नहीं होगा । स्वर्गीय आत्मा सबको बचा लेगी । सबने मिल जुलकर आदेश माना । सब फांसी पर लटक गये । कोई नहीं बचा । आत्मा किसी को बचाने नहीं आयी । वह परिवार का चमन लूटता देखती रही । ग्यारह जिंदगियां मौत के आगोश में सो गयीं । छोटा बेटा साइकिक था । उसका इलाज न करवा के सबने उस पर विश्वास किया और धोखा खाया ।

अभी हाल हीं में उत्तर प्रदेश के एक जेल में एक शातिर मारा गया । मारने वाला भी अपराधी था । जेल में एक अपराधी मारा जाय तो अंगुली प्रशासन की तरफ हीं उठेगी । फेस बुक पर पक्ष विपक्ष का खेल खेला जा रहा है । लोग आनंद का स्वाद ले रहे हैं । इसी तरह से पुलिस हिरासत में भी मौंते होतीं हैं । पोस्ट मार्टम होता है । जांच चलती है । खाना पूर्ति होती है । उसके बाद फिर मौत होती है । फिर वही क्रिया दुहरायी जाती है । इस तरह से पुलिस हिरासतों में मौतों का सिलसिला नहीं थमता । यह अनवरत चलता रहता है । दिल्ली हाई कोर्ट ने इस बात को संज्ञान में लिया है । पुलिस प्रशासन को लताड़ लगायी है । 21 अक्टूबर 2015 को विद्वान जज ने एक शेर पढ़ा था -

मेरा अज्म इतना बुलंद है कि मुझे पराए शोलों का डर नहीं ,

मुझे खौफ आतिश ए गुल से है , ये कहीं चमन को जला न दे ।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links