ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : कुलगाम में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, 2 से 3 आतंकी घिरे         BIG NEWS : सुशांत सिंह केस का राजदार कौन !         BIG NEWS : फिल्म स्टार संजय दत्त लीलावती हॉस्पिटल में भर्ती          BIG NEWS : दिशा सलियान का निर्वस्त्र शव पोस्टमार्टम के लिए दो दिनों तक करता रहा इंतजार          BIG NEWS : टेरर फंडिंग मॉड्यूल का खुलासा, लश्कर-ए-तैयबा के 6 मददगार गिरफ्तार         BIG NEWS : एलएसी पर सेना और वायु सेना को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश         BIG NEWS : राजस्थान का सियासी जंग : कांग्रेस के बाद अब भाजपा विधायकों की घेराबंदी         BIG NEWS : देवेंद्र सिंह केस ! NIA की टीम ने घाटी में कई जगहों पर की छापेमारी         बाढ़ और संवाद हीनता          BIG NEWS : पटना एसआईटी टीम के साथ मीटिंग कर सबूतों और तथ्यों को खंगाल रही है CBI         BIG NEWS : सुशांत सिंह की मौत के बाद रिया चक्रवर्ती और बांद्रा डीसीपी मे गुफ्तगू         BIG NEWS : भारत और चीन के बीच आज मेजर जनरल स्तर की वार्ता, डिसएंगेजमेंट पर होगी चर्चा         BIG NEWS : मनोज सिन्हा ने ली जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल पद की शपथ, संभाला पदभार         BIG NEWS : पुंछ में एक और आतंकी ठिकाना ध्वस्त, AK-47 राइफल समेत कई हथियार बरामद         BIG NEWS : सीएम हेमंत सोरेन ने भाजपा सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ किया केस         BIG NEWS : मुंबई में ED के कार्यालय पहुंची रिया चक्रवर्ती          BIG NEWS : शोपियां में मिले अपहृत जवान के कपड़े, सर्च ऑपरेशन जारी         मुंबई में सड़कें नदियों में तब्दील          BIG NEWS : पाकिस्तान आतंकवाद के दम पर जमीन हथियाना चाहता है : विदेश मंत्रालय         BIG NEWS : श्रीनगर पहुंचे जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, आज लेंगे शपथ         सुष्मान्जलि कार्यक्रम में सुषमा स्वराज को प्रकाश जावड़ेकर सहित बॉलीवुड के दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि           BIG NEWS : जीसी मुर्मू होंगे देश के नए नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक          BIG NEWS : सीबीआई ने रिया समेत 6 के खिलाफ केस दर्ज किया         बंद दिमाग के हजार साल           BIG NEWS : कुलगाम में आतंकियों ने की बीजेपी सरपंच की गोली मारकर हत्या         BIG NEWS : अयोध्या में भूमि पूजन! आचार्य गंगाधर पाठक और PM मोदी की मां हीराबेन         मनोज सिन्हा होंगे जम्मू-कश्मीर के नए उपराज्यपाल, जीसी मुर्मू का इस्तीफा स्वीकार         BIG NEWS : सदियों का संकल्प पूरा हुआ : मोदी         BIG NEWS : लालू प्रसाद यादव को रिम्स डायरेक्टर के बंगले में किया गया स्विफ्ट         BIG NEWS : अब पाकिस्तान ने नया मैप जारी कर जम्मू कश्मीर, लद्दाख और जूनागढ़ को घोषित किया अपना हिस्सा         हे राम...         BIG NEWS : सुशांत केस CBI को हुआ ट्रांसफर, केंद्र ने मानी बिहार सरकार की सिफारिश         BIG NEWS : पीएम मोदी ने अयोध्या में की भूमि पूजन, रखी आधारशिला         BIG NEWS : PM मोदी पहुंचे अयोध्या के द्वार, हनुमानगढ़ी के बाद राम लला की पूजा अर्चना की         BIG NEWS : आदित्य ठाकरे से कंगना रनौत ने पूछे 7 सवाल, कहा- जवाब लेकर आओ         रॉकेट स्ट्राइक या विस्फोटक : बेरूत के तट पर खड़े जहाज में ताकतवर ब्लास्ट, 73 की मौत         BIG NEWS : भूमि पूजन को अयोध्या तैयार         रामराज्य बैठे त्रैलोका....         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत की मौत से मेरा कोई संबंध नहीं : आदित्य ठाकरे         BIG NEWS : दीपों से जगमगा उठी भगवान राम की नगरी अयोध्या         BIG NEWS : पूर्व मंत्री राजा पीटर और एनोस एक्का को कोरोना, कार्मिक सचिव भी चपेट में         BIG NEWS : अब नियमित दर्शन के लिए खुलेंगे बाबा बैद्यनाथ व बासुकीनाथ मंदिर          BIG NEWS : श्रीनगर-बारामूला हाइवे पर मिला IED बम, आतंकी हादसा टला         BIG NEWS : सिविल सेवा परीक्षा का फाइनल रिजल्ट जारी, प्रदीप सिंह ने किया टॉप, झारखंड के रवि जैन को 9वां रैंक, दीपांकर चौधरी को 42वां रैंक         सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश ने की CBI जांच की सिफारिश         BIG NEWS : आतंकियों ने सेना के एक जवान को किया अगवा          बिहार DGP का बड़ा बयान, विनय तिवारी को क्वारंटाइन करने के मामले में भेजेंगे प्रोटेस्ट लेटर         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत केस में बिहार पुलिस के हाथ लगे अहम सुराग !         BIG NEWS : दिशा सालियान...सुशांत सिंह राजपूत मौत प्रकरण की अहम कड़ी...         BIG NEWS : पटना पुलिस ने खोजा रिया का ठिकाना, नोटिस भेज कहा- जांच में मदद करिए         BIG NEWS : छद्मवेशी पुलिस के रूप में घटनास्थल पर कुछ लोगों के पहुंचने के संकेत        

कोई सूरत नजर नहीं आती

Bhola Tiwari May 17, 2019, 7:19 AM IST टॉप न्यूज़
img

 एस डी ओझा

 जब गाड़ियों का हुजुम एक साथ खड़ा हो जाता है जो हरकत करने में असमर्थ होता है या मंथर गति से रेंगता है तो इस क्रिया को जाम लगना कहा जाता है । जाम दिन प्रतिदिन लगता है । आज की तारीख में कोई भी शहर इससे अछूता नहीं है । किसी भी शहर में अब कोई ऐसी सड़क नहीं बची है जिस पर गाड़ियां फर्राटे से दौड़ सकें । घर से निकलने के बाद हर किसी को जाम में फंसना हीं होता है । बल्कि यूं कहें कि जाम सड़क पर निकलने की पहली शर्त होती है । सड़क पर जब वी आई पी गाड़ियां फर्र फर्र उड़ती हैं तो उन गाड़ियों में बैठने वालों के भाग्य से ईर्ष्या होती है । इन वी आई पी गाड़ियों से भी जाम लगते हैं । परेशानी तो तब होती है जब बगैर सूचना के इन गाड़ियों का रुट बदल दिया जाता है । ऐसा बेशक सुरक्षा कारणों से किया जाता होगा , लेकिन इसकी कीमत आम जनता को चुकानी पड़ती है ।

जी हां ! जाम की कीमत आम जनता चुकाती है । जाम के कारण गर्भवती स्त्री को वाध्यता मूलक जाम में हीं बच्चे को जनम देना पड़ता है । एम्बुलेंस में रोगी तड़प तड़प कर अपनी जान दे देता है । परीक्षार्थी समय से परीक्षा भवन नहीं पहुंच पाता । जाम के कारण उसकी परीक्षा नहीं हो पाती । हवाई या रेल की यात्रा निरापद करने के बाद लोग सड़क मार्ग के जाम में फंस जाते हैं । जाम ऐसा कि गाड़ियां चींटी के समान रेंगती हैं । ऐसे समय में पैदल चलने वाले बाजी मार ले जाते हैं । चार पहिए वाले वाहन टुकुर टुकुर देखते रह जाते हैं । दो पहिया वाले वाहन भी आड़े तिरक्षे होकर निकल लेते हैं । हमारे यहां एक कहावत है चार पैर वाले को बांधा जा सकता है , पर दो पैर वाले को नहीं । इसलिए दो पैर वाले और दुपहिया वाले आसानी से निकल लेते हैं । चार पहिया वाले अपनी बारी का इंतजार करते रह जाते हैं ।

अब सभी जाम के आदी हो गये हैं । वे जाम का आनंद लेने लगे हैं । वे एफ एम का मजा लेते हैं । वे गजल , गीत और गवनई सुनते हैं । जाम में फंसे लोग घंटों अपने प्रिय जनों से मोबाइल पर बतिआते हैं । कुछ रियर मिरर में पीछे वाली कार की रुपसी को देखते हैं । पर इसमें भी हाई रिस्क है । रुपसी के साथ कोई मुस्टंडा हुआ तो आपकी कूटाई भी हो सकती है । इसलिए जो भी करना है देख सुन के देख भाल के करना है । बगल में किसी मोहतरमा की गाड़ी खड़ी है तो उन्हें कनखियों से देखना है । घूरना तो बिल्कुल भी नहीं चलेगा । यह अपराध की श्रेणी में आता है । आपको सजा भी हो सकती है । ज्यादा देर तक खड़े रहने से नुकसान भी होता है । पर्यावरणविदों का कहना है कि यदि आप आधा घंटा भी जाम में फंसते हैं तो 15 सिग्रेट पीने के बराबर आपका फेफड़ा संक्रमित हो जाएगा । पर क्या करें इसके सिवा कोई चारा भी नहीं है ।

जाम में कांवड़िए भी फंसते हैं । उन्हें जाम से कोई फर्क नहीं पड़ता । वे नाचते कूदते अपने लिए जगह बना लेते हैं , "हम वो दरिया हैं हमें अपना हुनर मालूम है , चल पड़ेंगे जिस तरफ वो रास्ता हो जाएगा " की तर्ज पर । पैदल चलने वाले को कोई कार वाला रास्ता नहीं देता , पर वह कांवड़ियों को रास्ता जरुर देता है । हम ट्राफिक जाम को लेकर सहनशील हैं , पर कांवड़िए असहिष्णु होते हैं । उनका भोले बुलाता है और वे चल पड़ते हैं । मार्ग की दुश्वारियां उनका कुछ बिगाड़ नहीं पातीं । वे विघ्न बाधाओं को पार करते हुए गाजे बाजे के साथ चल पड़ते हैं । जाम धरा का धरा रह जाता है ।

कार खरीदना सबकी हाॅबी बनती जा रही है । एक घर में अगर तीन सदस्य कमा रहे हैं तो उस घर को तीन हीं कार चाहिए । एक घर के अंदर तो दो गली में । ऐसे में गली के दोनों साइड में कारें खड़ी हो जाती हैं । आपको बीच से कार निकालनी होती है । आप कार निकालने में माहिर हैं तो ठीक , बर्ना एक खरोच तो लाजिमी हीं है । फिर तो लड़ाई अवश्यम्भावी हो जाती है । मरने मारने की नौबत आ जाती है । जो समझदार हैं, वे पीछे हट जाते हैं । यदि दोनों की कैटगरी मरने मारने की हुई तो लड़ाई होती है और जम के होती है । दोनों तरफ से बीच बचाव करने वाले भी होते हैं । लेकिन कुछ तमाशा देखने वाले भी होते हैं । झगड़ा बढ़ता है । झगड़ा शांत भी होता है । बातों बातों में बात तय होती है या बातों से बात और बढ़ती है । जाम बना रहता है । लेकिन जाम को तो खुलना हीं है । जाम खुलता है लेकिन कई तरह के अप्रिय प्रसंगों के घटने के बाद ।

एम्बुलेंस हो या अफसर की गाड़ी सबको जाम में फंसना होता है । आम जनता भी जाम में फंसती है । उसका सुबह शाम जाम में फंसना प्रभात वंदन और सांध्य वंदन की तरह होता है । ट्राफिक पुलिस दावा करती है कि उसके पास जाम समस्या का समाधान है । वह जाम मुक्त शहर को करेगी । वह अलग अलग ढंग से योजना बनाती है । या तो धरातल पर उनका क्रियान्यवन नहीं हो पाता या होता भी है तो वह सफलीभूत नहीं होता । क्या किया जाय ? कुछ भी समझ से परे है । जाम जाम ही है । कल भी था । आज भी है । कल रहे या ना रहे हम कह नहीं सकते । फिलहाल तो गालिब का एक शे'र यहां के लिए बहुत प्रासांगिक लगता है -

कोई उम्मीद बर नहीं आती ।

कोई सूरत नजर नहीं आती ।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links