ब्रेकिंग न्यूज़
केंद्र सरकार ने "भीमा कोरेगांव केस" की जाँच महाराष्ट्र सरकार की अनुमति के बगैर "एनआईए" को सौंपा, महाराष्ट्र सरकार नाराज         तेरा तमाशा, शुभान अल्लाह..         आर्यावर्त में बांग्लादेशियों की पहचान...         जंगलों का हत्यारा, धरती का दुश्मन...         लुगू पहाड़ की तलहटी में नक्सलियों ने दी फिर दस्तक         आज संपादक इवेंट मैनेजर है तो तब वो हुआ करता था बनिये का मुनीम या मंत्र पढ़ता पंडत....         किसी को होश नहीं कि वह किसे गाली दे रहा है...          जेवीएम विधायक प्रदीप यादव और बंधु तिर्की ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी से की मुलाकात         नीतीश का दो टूक : प्रशांत किशोर और पवन वर्मा जिस पार्टी में जाना चाहे जाए, मेरी शुभकामना         लोहरदगा में कर्फ्यू :  CAA के समर्थन में निकाले गए जुलूस पर पथराव, कई लोग घायल         पेरियार विवाद : क्या तमिल सुपरस्टार रजनीकांत की बातें सही हैं जो उन्होंने कही थी ?         पत्‍थलगड़ी आंदोलन का विरोध करने पर हुए हत्‍याकांड की होगी एसआईटी जांच, सीएम हेमंत सोरेन दिए आदेश         एक ही रास्ता...         अब तानाजी के वीडियो में छेड़छाड़ कर पीएम मोदी को दिखाया शिवाजी         सरकार का नया दांव : जनसंख्या नियंत्रण कानून...         हम भारत के सामने बहुत छोटे हैं, बदला नहीं ले सकते : महातिर मोहम्मद         तीस साल बीतने के बावजूद कश्मीरी पंडितों की सुध लेने वाला कोई नहीं, सरकार की प्राथमिकता में कश्मीर के अन्य मुद्दे         हेमंत सोरेन को मिला 'चैम्पियन ऑफ चेंज' अवॉर्ड         जेपी नड्डा भाजपा के नए अध्यक्ष, मोदी बोले-स्कूटर पर साथ घूमे         नए दशक में देश के विकास में सबसे ज्यादा 10वीं-12वीं के छात्रों की होगी भूमिका : मोदी         CAA को लेकर केरल में राज्यपाल और राज्य सरकार में ठनी         इतिहास तो पूछेगा...         सेखुलरी माइंड गेम...         अफसरों की करतूत : पत्नियों की पिकनिक के लिए बंद किया पतरातू रिजाॅर्ट         गुरूवर रविंद्रनाथ टैगोर की मशहूर कविता "एकला चलो रे" की राह पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव         पत्रकारिता में पद्मश्रियों और राज्यसभा की सांसदी के कलुष...         विकास का मॉडल देखना हो तो चीन को देखिए...        

कौन है मोदी को "महाविभाजनकारी" कहने वाला

Bhola Tiwari May 12, 2019, 6:27 PM IST टॉप न्यूज़
img

अजय श्रीवास्तव

अमरीका की प्रतिष्ठित पत्रिका "टाइम" के कवर पेज पर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को महाविभाजनकारी कहने वाला लेखक आतिश तासीर जो पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के पूर्व गवर्नर मरहूम सलमान तासीर और भारतीय पत्रकार तवलीन सिंह का पुत्र है।

तवलीन सिंह को तो सभी जानते हैं मगर उसके पिता सलमान तासीर का नाम भारतीयों के लिए नया सा है।सलमान तासीर का जन्म पाकिस्तान के धनाढ्य घराने में हुआ था।ग्रेजुएशन के बाद सलमान पढाई के लिए इंग्लैंड चले गए।वहाँ से उन्होंने चार्टर्ड अकाउंटेंसी की पढाई पूरी की।बहुत साल इंग्लैंड के व्यवसायिक फर्मों में उन्होंने अपनी सेवाएं दी,फिर वे व्यवसाय में उतर गए।सलमान तासीर ने हीं पाकिस्तान के टेलीकॉम व्यवसाय को आसमान में पहुँचाया।टेलीकॉम व्यवसाय में उनकी तूती बोलती थी।अन्य व्यवसायों में भी उन्हें काफी सफलता मिली और कुछ हीं सालों में उनकी गिनती पाकिस्तान के रईस लोगों में होने लगी।

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल मुशर्रफ उनसे बेहद प्रभावित थे और उन्होंने हीं उनको अपना सलाहकार नियुक्त किया।2007 में सलमान तासीर पाकिस्तान के केन्द्रीय मंत्री बने और 2008 में पंजाब प्रांत के गवर्नर।

जब वे पंजाब के गवर्नर थे तभी वहाँ एक महत्वपूर्ण घटना घटी,एक कनवर्टेड ईसाई महिला आसिया बीबी ने कुएँ से पानी निकालने के विवाद में ईश-निंदा कर दी।पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई और पुलिस ने आसिया बीबी को गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया।लोकल कोर्ट ने आसिया बीबी को ईश-निंदा के आरोप में मृत्युदंड की सजा सुनाई।

आसिया बीबी जब जेल में बंद थीं तो उनसे मिलने पंजाब प्रांत के गवर्नर सलमान तासीर आए और उन्होंने कडे शब्दों में उसकी गिरफ्तारी की निंदा की।

पाकिस्तान के कट्टरपंथियों को ये रास नहीं आया और सलमान के दो अंगरक्षकों ने उनके घर पर हीं उन्हें गोलियों से भून दिया।

आतिश तासीर ने ये लेख एक पाकिस्तानी होने के कारण लिखा या उन्होंने कोई शोध किया है ये जानने लायक विषय है।भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने ये आरोप लगाया है कि आतिश एक पाकिस्तानी होने के कारण ऐसा लिखा है।

मेरे ख्याल से आतिश को ये स्पष्ट करना चाहिए कि उसने नरेंद्र मोदी को महाविभाजनकारी क्यों कहा?इतने बड़े आरोप लगाने के पीछे उसके पास क्या क्या प्वाइंट हैं।किस संदर्भ में वे मोदी को विभाजनकारी के रूप में देख रहें हैं?इन सारी बातों को वे स्पष्ट करते तो बेहतर होता।यूँहीं किसी पर आरोप लगा देना कहाँ तक सही है वो भी भारत के प्रधानमंत्री पर।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links