ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : सर्दी के मौसम में लद्दाख में मोर्चाबंदी के लिए सेना पूरी तरह तैयार          “LAC पर चीन को भारत के साथ मिलकर सैनिकों की वापसी प्रक्रिया पर काम करना चाहिए” :  विदेश मंत्रालय प्रवक्ता         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर पहुंचे सेनाध्यक्ष ने सुरक्षा स्थिति का लिया जायजा, उपराज्यपाल से भी की मुलाकात         BIG NEWS : 'मैं भी मारा जाऊंगा'         एक ऐसा मंदिर जहां पार्वतीजी होम क्वारैंटाइन में और महादेव कर रहे हैं इंतजार         अदृश्य भक्त करता है रोज भगवान शिव की आराधना , कौन है वो ?         BIG NEWS : सुरक्षाबलों ने जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी ठिकाना ढूंढ निकाला, भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद         BIG NEWS : “भारत बड़ा और कड़ा क़दम उठाने के लिए तैयार”: राजनाथ सिंह         BIG NEWS : श्रीनगर एनकाउंटर में तीन आतंकियों को मार गिराया         इलाहाबाद में एक मंदिर ऐसा, जहां लेटे हैं हनुमान जी         यहां भगवान शिव के पद चिन्ह है मौजूद         BIG NEWS : दोनों देशों की सेनाओं के बीच 20 दिन में तीन बार हुई फायरिंग         BIG NEWS : मॉस्को में विदेश मंत्रियों की मुलाकात से पहले पैंगोंग सो झील के किनारे चली थी 100-200 राउंड गोलियां- मीडिया रिपोर्ट         BIG NEWS : पाकिस्तानी सेना ने सुंदरबनी सेक्टर में की गोलाबारी, 1 जवान शहीद         CBI को दिशा सलियान की मौत की गुत्थी सुलझाने वाले कड़ी की तलाश !         हर साल बढ़ जाती है इस शिवलिंग की लंबाई, कहते हैं इसके नीचे छिपी है मणि         कलयुग में यहां बसते हैं भगवान विष्णु...         BIG NEWS : देश से बाहर प्याज निर्यात पर प्रतिबंध         BIG NEWS :  LAC पर हालात बिल्कुल अलग, हम हर परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार : राजनाथ सिंह          BIG NEWS : गांदरबल में हिज्बुल मॉड्यूल का पर्दाफाश, हथियारों के साथ 3 हिज्बुल आतंकी गिरफ्तार         भाषा के सवाल को अनाथ छोड़ दिया गया है ...         कैलाश पर्वत श्रृंखला के पहाडि़यों पर कब्जा करने के बाद उमंग में नहा गए सेना के जवान         शिव के डमरू से बंधे हैं स्वरनाद और सारे शब्द          BIG NEWS : कैलाश पर्वत-श्रृंखला पर भारत का कब्जा         BIG NEWS : चीन कर रहा भारत की जासूसी, लिस्ट में पीएम नरेंद्र मोदी समेत कई बड़ी हस्तियों के नाम शामिल         सुरंगों के जरिए आतंकवादी कर रहे हैं घुसपैठ, हथियार सप्लाई के लिए पाकिस्तान कर रहा ड्रोन का इस्तेमाल : डीजीपी दिलबाग सिंह         BIG NEWS : दिल्ली दंगे मामले में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, JNU के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद गिरफ्तार         भगवान शिव के कैलाश पर्वत पर आज भी होती है ॐ’ की प्रतिध्वनि          BIG NEWS : हजारीबाग सेंट्रल जेल से म्यांमार का कैदी मोहम्मद अब्दुल्ला फरार          बस पढ़िए खूब पढ़िए, जहाँ पाइए वहां पढ़िए, अध्ययन का कोई विकल्प नहीं          अफसोस में दम घुट गया एक राजनीति का...         BIG NEWS : रघुवंश प्रसाद की मौत पर लालू दुखी, बोले- "प्रिय रघुवंश बाबू ! ये आपने क्या किया?          BIG NEWS : नहीं रहे रघुवंश प्रसाद सिंह, दिल्‍ली के ऐम्स में ली अंतिम सांस         BIG NEWS : कश्मीर में POK से आतंकी संगठन भेज रहे हैं हथियार, पुंछ में 2 OGWS गिरफ्तार         शिव के पास तीन खास अस्त्र...         झारखंड में भगवान शिव का एक ऐसा मंदिर जहां 24 घंटे शिव लिंग पर चढ़ता है जल        

BIG NEWS : भारत चीन सीमा विवाद के बीच अमेरिका ने तैनात किए सबसे घातक परमाणु बॉम्बर ‍

Bhola Tiwari Aug 14, 2020, 11:50 AM IST टॉप न्यूज़
img

नई दिल्ली : भारत चीन के बीच सीमा विवाद के दौरान चीन द्वारा अपने इलाकों में की जा रही मिलिट्री तैनाती का करारा जवाब देने के लिए अब अमेरिका ने भारत के बेहद करीब स्थित अपने नौसैनिक अड्डे डियागो गार्सिया पर परमाणु बम गिराने में सक्षम बमवर्षक विमान तैनात कर दिए हैं।

29 घंटे की यात्रा करके पहुंचे B-2 स्प्रिट स्टील्थ बाम्बर ..

अमेरिका के इंडो-पैसफिक कमान की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि तीन B-2 स्प्रिट स्टील्थ बॉम्‍बर डियागो गार्सिया में तैनात किए गए हैं। ये विमान करीब 29 घंटे की यात्रा करके अमेरिका के मिसौरी एयरफोर्स बेस से डियागो गार्सिया पहुंचे हैं। अमेरिका ने कहा कि 29 घंटे की यह यात्रा यह दर्शाती है कि अमेरिका अपने दोस्तों और सहयोगियों की मदद के लिए बेहद घातक और लंबी दूरी तक किसी भी समय और कहीं भी हमला करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। यूएस एयरफोर्स के कमांडर कर्नल क्रिस्टोफर ने कहा, 'हम डियागो गार्सिया जैसी महत्वपूर्ण जगह पर आकर बहुत रोमांचित महसूस कर रहे हैं।

'कोरोना के बाद भी हम दोस्तों की मदद को प्रतिबद्ध'...अमेरिका 



कमांडर क्रिस्टोफर कोनंत ने कहा कि यह बॉम्‍बर टास्क फ़ोर्स हमारी नैशनल डिफेंस स्‍ट्रेटजी का हिस्सा है। हम (हिंद महासागर में) अपने दोस्तों और सहयोगियों के साथ रिश्तो को मजबूत करने के साथ-साथ अपने हमला करने की धार को और जादा तेज कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संकट के बाद भी एयरफोर्स इंडो-पैसफिक इलाके में सहयोग करने और रक्षा मंत्रालय के देश के रणनीतिक लक्ष्यों का हासिल करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। बता दें कि अमेरिका का स्ट्रेटजिक कमान अक्सर B-2 स्प्रिट स्टील्थ बॉम्‍बर को खतरे और जरूरत के हिसाब से दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में तैनात करता रहा है।

इससे पहले जनवरी 2019 में अंतिम बार B-2 स्प्रिट स्टील्थ बॉम्‍बर हिंद महासागर में हवाई द्वीप पर तैनात किए गए थे। इसके साथ करीब 200 एयरमैन हवाई में तैनात किए गए थे। माना जा रहा है कि करीब डेढ़ साल बाद परमाणु बॉम्‍बर की इस तैनाती के जरिए अमेरिका ने चीन और ईरान को बड़ा संदेश दिया है। ये बॉम्‍बर ऐसे समय पर डियागो गार्सिया पहुंचे हैं जब भारत और चीन के बीच लद्दाख में सीमा विवाद चरम पर पहुंच गया है। चीन ने बड़े पैमाने पर अपनी सेना और फाइटर जेट भारत से सटी सीमा पर तैनात किए हैं। लद्दाख में चीन की इस दादागिरी की अमेरिका ने खुलकर आलोचना की है। यही नहीं कुछ दिनों पहले ही अमेरिकी एयरक्राफ्ट करियर ने मलक्का स्‍ट्रेट पार करके भारतीय नौसेना के साथ अंडमान निकोबार के पास सैन्य अभ्यास किया था।  


दुनिया का सबसे घातक बॉम्‍बर है B-2 स्प्रिट....

  B-2 स्प्रिट दुनिया का सबसे घातक बॉम्‍बर है। यह बमवर्षक विमान एक साथ 16 B61-7 परमाणु बम ले जा सकता है। हाल ही में इसके बेड़े में बेहद घातक और सटीक मार करने वाले B61-12 परमाणु बम शामिल किए गए हैं। यह परमाणु रेडार की पकड़ में नहीं आता है और चुपके से हमले को अंजाम देने में सक्षम है। यही नहीं यह दुश्‍मन के हवाई डिफेंस को चकमा देकर आसानी से उसके इलाके में घुस जाता है। इस बॉम्‍बर पर एक हजार किलो के परंपरागत बम भी तैनात किए जा सकते हैं। यह दुश्मन की जमीन पर हमला करने में सबसे कारगर बॉम्‍बर माना जाता है। वर्ष 1997 में एक B-2 स्प्रिट बॉम्‍बर की कीमत करीब 2.1 अरब डॉलर थी। अमेरिका के पास कुल 20 B-2 स्प्रिट स्‍टील्‍थ बॉम्‍बर हैं। यह बॉम्‍बर 50 हजार फुट की ऊंचाई पर उड़ान भरते हुए 11 हजार किलोमीटर तक मार कर सकने में सक्षम है। एक बार रिफ्यूल कर देने पर यह 19 हजार किलोमीटर तक हमला कर सकता है। इस विमान ने कोसोवा, इराक, अफगानिस्तान और लीबिया में अपनी क्षमता साबित की है।


अमेरिका का डियागो गार्सिया नेवल बेस न केवल भारत बल्कि पूरे हिंद महासागर के लिए खास है। डियागो गार्सिया सुदूर, सुरक्षित और हिन्द महासागर के केंद्र में स्थित होने के कारण अमेरिका के लिए रणनीतिक रूप से यह द्वीप काफी महत्वपूर्ण है।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links