ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : सर्दी के मौसम में लद्दाख में मोर्चाबंदी के लिए सेना पूरी तरह तैयार          “LAC पर चीन को भारत के साथ मिलकर सैनिकों की वापसी प्रक्रिया पर काम करना चाहिए” :  विदेश मंत्रालय प्रवक्ता         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर पहुंचे सेनाध्यक्ष ने सुरक्षा स्थिति का लिया जायजा, उपराज्यपाल से भी की मुलाकात         BIG NEWS : 'मैं भी मारा जाऊंगा'         एक ऐसा मंदिर जहां पार्वतीजी होम क्वारैंटाइन में और महादेव कर रहे हैं इंतजार         अदृश्य भक्त करता है रोज भगवान शिव की आराधना , कौन है वो ?         BIG NEWS : सुरक्षाबलों ने जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी ठिकाना ढूंढ निकाला, भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद         BIG NEWS : “भारत बड़ा और कड़ा क़दम उठाने के लिए तैयार”: राजनाथ सिंह         BIG NEWS : श्रीनगर एनकाउंटर में तीन आतंकियों को मार गिराया         इलाहाबाद में एक मंदिर ऐसा, जहां लेटे हैं हनुमान जी         यहां भगवान शिव के पद चिन्ह है मौजूद         BIG NEWS : दोनों देशों की सेनाओं के बीच 20 दिन में तीन बार हुई फायरिंग         BIG NEWS : मॉस्को में विदेश मंत्रियों की मुलाकात से पहले पैंगोंग सो झील के किनारे चली थी 100-200 राउंड गोलियां- मीडिया रिपोर्ट         BIG NEWS : पाकिस्तानी सेना ने सुंदरबनी सेक्टर में की गोलाबारी, 1 जवान शहीद         CBI को दिशा सलियान की मौत की गुत्थी सुलझाने वाले कड़ी की तलाश !         हर साल बढ़ जाती है इस शिवलिंग की लंबाई, कहते हैं इसके नीचे छिपी है मणि         कलयुग में यहां बसते हैं भगवान विष्णु...         BIG NEWS : देश से बाहर प्याज निर्यात पर प्रतिबंध         BIG NEWS :  LAC पर हालात बिल्कुल अलग, हम हर परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार : राजनाथ सिंह          BIG NEWS : गांदरबल में हिज्बुल मॉड्यूल का पर्दाफाश, हथियारों के साथ 3 हिज्बुल आतंकी गिरफ्तार         भाषा के सवाल को अनाथ छोड़ दिया गया है ...         कैलाश पर्वत श्रृंखला के पहाडि़यों पर कब्जा करने के बाद उमंग में नहा गए सेना के जवान         शिव के डमरू से बंधे हैं स्वरनाद और सारे शब्द          BIG NEWS : कैलाश पर्वत-श्रृंखला पर भारत का कब्जा         BIG NEWS : चीन कर रहा भारत की जासूसी, लिस्ट में पीएम नरेंद्र मोदी समेत कई बड़ी हस्तियों के नाम शामिल         सुरंगों के जरिए आतंकवादी कर रहे हैं घुसपैठ, हथियार सप्लाई के लिए पाकिस्तान कर रहा ड्रोन का इस्तेमाल : डीजीपी दिलबाग सिंह         BIG NEWS : दिल्ली दंगे मामले में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, JNU के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद गिरफ्तार         भगवान शिव के कैलाश पर्वत पर आज भी होती है ॐ’ की प्रतिध्वनि          BIG NEWS : हजारीबाग सेंट्रल जेल से म्यांमार का कैदी मोहम्मद अब्दुल्ला फरार          बस पढ़िए खूब पढ़िए, जहाँ पाइए वहां पढ़िए, अध्ययन का कोई विकल्प नहीं          अफसोस में दम घुट गया एक राजनीति का...         BIG NEWS : रघुवंश प्रसाद की मौत पर लालू दुखी, बोले- "प्रिय रघुवंश बाबू ! ये आपने क्या किया?          BIG NEWS : नहीं रहे रघुवंश प्रसाद सिंह, दिल्‍ली के ऐम्स में ली अंतिम सांस         BIG NEWS : कश्मीर में POK से आतंकी संगठन भेज रहे हैं हथियार, पुंछ में 2 OGWS गिरफ्तार         शिव के पास तीन खास अस्त्र...        

BIG NEWS : चीन ने काम बिगाड़ा, सऊदी अरब ने पाकिस्तान को लताड़ा

Bhola Tiwari Aug 13, 2020, 9:39 AM IST टॉप न्यूज़
img


सिद्धार्थ सौरभ

 नई दिल्ली : भारत चीन सीमा पर टकराव और कोरोनावायरस की साजिश ने चीन के साथ साथ पाकिस्तान को भी कटघरे में खड़ा कर दिया। भारत चीन सीमा पर टकराव और कोरोना को लेकर विश्व बिरादरी में अलग थलग पड़े चीन ने भारत के खिलाफ नई साजिश को अंजाम देना शुरू किया। 

लद्दाख में भारत के साथ सीमा टकराव को लेकर चारों तरफ से गिरे चीन ने आर्टिकल 370 पर भारत को घेरने के लिए भारत की कूटनीतिक धार को कुंद करने की कोशिश की। इसके तहत उसने मुस्लिम राष्ट्रों को अपने में पाले में लेने के लिए हर जुगत लगाई। लिहाजा चीन की वजह से पाकिस्तान और सऊदी अरब के बीच दूरियां बढ़ गई और सऊदी के साथ भारत के द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने का काम किया।

दरअसल विवाद की शुरुआत इस्लामिक देशों में चीन की चाल से शुरू हुई। इस्लामिक देशों में प्रभाव बढ़ाने के लिए चीन ने पहले सऊदी अरब को अपने पाले में लेने की कोशिश की। जब दाल नहीं गली तो उसके प्रतिद्वंद्वी ईरान से हाथ मिलाया। चीन यहीं नहीं रुका। इस्लामिक देशों में सऊदी अरब के दबदबा को कम करने के लिए चीन ने मलेशिया और पाकिस्तान का सहयोग लिया। सऊदी अरब का प्रभुत्व कम करने और उसकी जगह पाकिस्तान और मलयेशिया को खड़ा करने की रणनीति के तहत इसी वर्ष चीन ने परोक्ष रूप से मलयेशिया में एक बड़ा इस्लामिक सम्मेलन कराया। इसमें सऊदी अरब की भागीदारी नहीं थी, जबकि पाकिस्तान और मलयेशिया अगुआ की भूमिका में थे। इसके अलावा चीन ने ईरान से कई अहम समझौते किए। दरअसल चीन की योजना आर्टिकल 370 के सवाल पर इस्लामिक देशों में भारत को अलग-थलग करने की थी। उसकी इस योजना को तब सफलता मिली जब इसी साल जून के महीने में ओआईसी के कांट्रेक्ट समूह ने जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकारों की स्थिति पर चिंता जाहिर की।

इसी दरमियान सऊदी अरब को चीन की उस योजना की भनक लगी जिसके तहत चीन ओआईसी में पाकिस्तान और मलयेशिया का प्रभुत्व कायम कराना चाहता था। इसकी भनक लगते ही सऊदी अरब का पाकिस्तान, मलयेशिया और चीन के प्रति रुख बेहद सख्त हो गया।

उधर, ओआईसी में अलग-थलग पड़ा पाक पाकिस्तान की कोशिश ओआईसी के सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक के जरिए कश्मीर मुद्दे पर भारत को घेरने की थी। पाक बीते ढाई महीने से बैठक बुलाने के लिए सऊदी अरब पर दबाव डाल रहा है। विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने इस संदर्भ में सऊदी अरब को ओआईसी के अन्य सदस्य देशों की बैठक बुलाने की धमकी भी दी। हालांकि उसका यह दांव उल्टा पड़ा। नाराज सऊदी अरब ने न सिर्फ पाकिस्तान को 3.2 अरब डॉलर का कर्ज चुकाने का फरमान सुनाया, बल्कि उसे तेल की आपूर्ति भी बंद कर दी।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links