ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : आतंकी संगठन अल-कायदा मॉड्यूल का  भंडाफोड़, 9 आतंकी गिरफ्तार         BIG NEWS : पश्चिम बंगाल और केरल में एनआईए की छापेमारी, अल-कायदा के नौ आतंकी गिरफ्तार         BIG NEWS : दिशा सालियान के साथ चार लोगों ने कियारेप !         अनिल धस्माना को NTRO का बनाया गया अध्यक्ष         जहां शिवलिंग पर हर बारह साल में गिरती है बिजली         BIG NEWS : पाकिस्तान की नई चाल, गिलगित-बल्तिस्तान को प्रांत का दर्जा देकर चुनाव कराने की तैयारी         BIG NEWS : सहायक पुलिस कर्मियों पर लाठीचार्ज, कई घायल, आंसू गैस के गोले छोड़े         BIG NEWS : सर्दी के मौसम में लद्दाख में मोर्चाबंदी के लिए सेना पूरी तरह तैयार          “LAC पर चीन को भारत के साथ मिलकर सैनिकों की वापसी प्रक्रिया पर काम करना चाहिए” :  विदेश मंत्रालय प्रवक्ता         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर पहुंचे सेनाध्यक्ष ने सुरक्षा स्थिति का लिया जायजा, उपराज्यपाल से भी की मुलाकात         BIG NEWS : 'मैं भी मारा जाऊंगा'         एक ऐसा मंदिर जहां पार्वतीजी होम क्वारैंटाइन में और महादेव कर रहे हैं इंतजार         अदृश्य भक्त करता है रोज भगवान शिव की आराधना , कौन है वो ?         BIG NEWS : सुरक्षाबलों ने जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी ठिकाना ढूंढ निकाला, भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद         BIG NEWS : “भारत बड़ा और कड़ा क़दम उठाने के लिए तैयार”: राजनाथ सिंह         BIG NEWS : श्रीनगर एनकाउंटर में तीन आतंकियों को मार गिराया         इलाहाबाद में एक मंदिर ऐसा, जहां लेटे हैं हनुमान जी         यहां भगवान शिव के पद चिन्ह है मौजूद         BIG NEWS : दोनों देशों की सेनाओं के बीच 20 दिन में तीन बार हुई फायरिंग         BIG NEWS : मॉस्को में विदेश मंत्रियों की मुलाकात से पहले पैंगोंग सो झील के किनारे चली थी 100-200 राउंड गोलियां- मीडिया रिपोर्ट         BIG NEWS : पाकिस्तानी सेना ने सुंदरबनी सेक्टर में की गोलाबारी, 1 जवान शहीद         CBI को दिशा सलियान की मौत की गुत्थी सुलझाने वाले कड़ी की तलाश !         हर साल बढ़ जाती है इस शिवलिंग की लंबाई, कहते हैं इसके नीचे छिपी है मणि         कलयुग में यहां बसते हैं भगवान विष्णु...         BIG NEWS : देश से बाहर प्याज निर्यात पर प्रतिबंध         BIG NEWS :  LAC पर हालात बिल्कुल अलग, हम हर परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार : राजनाथ सिंह          BIG NEWS : गांदरबल में हिज्बुल मॉड्यूल का पर्दाफाश, हथियारों के साथ 3 हिज्बुल आतंकी गिरफ्तार         भाषा के सवाल को अनाथ छोड़ दिया गया है ...         कैलाश पर्वत श्रृंखला के पहाडि़यों पर कब्जा करने के बाद उमंग में नहा गए सेना के जवान         शिव के डमरू से बंधे हैं स्वरनाद और सारे शब्द          BIG NEWS : कैलाश पर्वत-श्रृंखला पर भारत का कब्जा         BIG NEWS : चीन कर रहा भारत की जासूसी, लिस्ट में पीएम नरेंद्र मोदी समेत कई बड़ी हस्तियों के नाम शामिल         सुरंगों के जरिए आतंकवादी कर रहे हैं घुसपैठ, हथियार सप्लाई के लिए पाकिस्तान कर रहा ड्रोन का इस्तेमाल : डीजीपी दिलबाग सिंह         BIG NEWS : दिल्ली दंगे मामले में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, JNU के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद गिरफ्तार        

शट डाउन के बाद भी मौत

Bhola Tiwari Aug 05, 2020, 7:26 AM IST राज्य
img

एसडी ओझा

नई दिल्ली  : पंथाचौक, श्रीनगर में आई टी बी पी की एक बटालियन नयी नयी स्थापित हुई थी । हमारे कैम्प के ऊपर की तरफ बी एस एफ का कैम्प था । किसी फाल्ट को दूर करने के लिए इलेक्ट्रिसियन पोल पर चढ़ा था । तभी उसे करंट लगा और वह पोल पर लटक गया । गौरतलब है कि उसने बाकायदा शट डाउन लिया था , लेकिन करंट लीक करने का खतरा रहता है। यथोचित अर्थिंग होना बहुत जरुरी है । काफी देर तक उसका शव पोल से लटकता रहा । आखिर वहाँ एक्सपर्ट आए । उन्होंने जरुरी एहतियात बरता । फिर उसका शव उतारा गया ।

इस तरह के वारदात अक्सर होते रहते। हैं । शव लेकर परिजन सड़क जाम करते हैं । पुलिस आती है। बिजली विभाग के अधिकारी आते हैं । आश्वासन दिए जाते हैं । जांच बिठाई जाती है । दोषी को सजा मिलती है । कभी नहीं भी मिलती है । यह जांच की रिपोर्ट पर निर्भर करता है । मृतक के निकटतम को मुआवजा मिलता है । हो सकता है किसी आश्रित को नौकरी भी मिल जाए, पर इन सबसे एक मौत की भरपाई नहीं होती । एक हंसता खेलता आदमी दुनियां से कूच कर जाए , एक सिद्धहस्त तकनीकी कर्मचारी की मौत हो जाए और हम उसकी तुलना मुआवजे से करें तो यह वाजिब नहीं है । सवाल है कि ऐसी घटना हम होने हीं क्यों देते हैं ?

इस तरह की घटना न होने पाए , इसके लिए सख्त नियम कानून बनाए गये हैं । जब नियमों की अवहेलना होती है तो ऐसी घटनाएँ होतीं हैं । किसी न किसी की गलती तो होतीं हीं है । गलती शट डाउन लेने और शट डाउन देने वाले दोनों की भी हो सकती है । कई बार काम करने वाले तकनिशियनों को सुरक्षा उपकरण दिए नहीं जाते । कई बार सुरक्षा उपकरण होते हुए भी कर्मी उसका इस्तेमाल करना नहीं चाहते । उन्हें इनका इस्तेमाल असहज करता है। यदि कर्मी रबर के दास्ताने , जूते , अर्थिंग चेन व राॅड और वोल्टेज एलर्ट टेस्टर का प्रयोग करे तो कभी भी हादसा नहीं होगा ।

शट डाउन लेने की प्रक्रिया लिखित में होनी चाहिए । रजिस्टर में बिजली बंद करने व करवाने वाले दोनों के हस्ताक्षर होते हैं । फाल्ट ठीक होने के बाद बिजली बंद (शट डाउन ) करवाने वाले कर्मी को काम खतम होने की जानकारी देने के एवज में फिर हस्ताक्षर करने पड़ेंगे । प्राॅपर अर्थिंग न होने से भी खतरा होता है । शट डाउन लेने के बाद भी करंट लिकेज हो सकता है । अर्थिंग समुचित होने पर करंट आने पर भी लाइन ट्रिप होकर बंद हो जाती है । इससे करंट के सम्पर्क में आए कर्मी की जान नहीं जाती ।

सावधानी हटी, दुर्घटना घटी वाली कहावत को चरितार्थ करने में वक्त नहीं लगता । कई बार फोन पर बात करने पर भी " सुना कुछ किया कुछ " वाली बात भी हो जाती है । कई बार फ्यूज जोड़ते समय हीं लाइट आ जाती है । लिहाजा काम करने वाले की मौत हो जाती है । ऐसे कृत्य लापारवाही की श्रेणी में आते हैं । इसके लिए आई पी सी धारा 336 और 304 के तहत मुकदमा दर्ज होता है । सजा भी मिलती है । इसलिए " बचाव में हीं बचाव है " का मंत्र हमेशा याद रखें ।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links