ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : सर्दी के मौसम में लद्दाख में मोर्चाबंदी के लिए सेना पूरी तरह तैयार          “LAC पर चीन को भारत के साथ मिलकर सैनिकों की वापसी प्रक्रिया पर काम करना चाहिए” :  विदेश मंत्रालय प्रवक्ता         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर पहुंचे सेनाध्यक्ष ने सुरक्षा स्थिति का लिया जायजा, उपराज्यपाल से भी की मुलाकात         BIG NEWS : 'मैं भी मारा जाऊंगा'         एक ऐसा मंदिर जहां पार्वतीजी होम क्वारैंटाइन में और महादेव कर रहे हैं इंतजार         अदृश्य भक्त करता है रोज भगवान शिव की आराधना , कौन है वो ?         BIG NEWS : सुरक्षाबलों ने जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी ठिकाना ढूंढ निकाला, भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद         BIG NEWS : “भारत बड़ा और कड़ा क़दम उठाने के लिए तैयार”: राजनाथ सिंह         BIG NEWS : श्रीनगर एनकाउंटर में तीन आतंकियों को मार गिराया         इलाहाबाद में एक मंदिर ऐसा, जहां लेटे हैं हनुमान जी         यहां भगवान शिव के पद चिन्ह है मौजूद         BIG NEWS : दोनों देशों की सेनाओं के बीच 20 दिन में तीन बार हुई फायरिंग         BIG NEWS : मॉस्को में विदेश मंत्रियों की मुलाकात से पहले पैंगोंग सो झील के किनारे चली थी 100-200 राउंड गोलियां- मीडिया रिपोर्ट         BIG NEWS : पाकिस्तानी सेना ने सुंदरबनी सेक्टर में की गोलाबारी, 1 जवान शहीद         CBI को दिशा सलियान की मौत की गुत्थी सुलझाने वाले कड़ी की तलाश !         हर साल बढ़ जाती है इस शिवलिंग की लंबाई, कहते हैं इसके नीचे छिपी है मणि         कलयुग में यहां बसते हैं भगवान विष्णु...         BIG NEWS : देश से बाहर प्याज निर्यात पर प्रतिबंध         BIG NEWS :  LAC पर हालात बिल्कुल अलग, हम हर परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार : राजनाथ सिंह          BIG NEWS : गांदरबल में हिज्बुल मॉड्यूल का पर्दाफाश, हथियारों के साथ 3 हिज्बुल आतंकी गिरफ्तार         भाषा के सवाल को अनाथ छोड़ दिया गया है ...         कैलाश पर्वत श्रृंखला के पहाडि़यों पर कब्जा करने के बाद उमंग में नहा गए सेना के जवान         शिव के डमरू से बंधे हैं स्वरनाद और सारे शब्द          BIG NEWS : कैलाश पर्वत-श्रृंखला पर भारत का कब्जा         BIG NEWS : चीन कर रहा भारत की जासूसी, लिस्ट में पीएम नरेंद्र मोदी समेत कई बड़ी हस्तियों के नाम शामिल         सुरंगों के जरिए आतंकवादी कर रहे हैं घुसपैठ, हथियार सप्लाई के लिए पाकिस्तान कर रहा ड्रोन का इस्तेमाल : डीजीपी दिलबाग सिंह         BIG NEWS : दिल्ली दंगे मामले में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, JNU के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद गिरफ्तार         भगवान शिव के कैलाश पर्वत पर आज भी होती है ॐ’ की प्रतिध्वनि          BIG NEWS : हजारीबाग सेंट्रल जेल से म्यांमार का कैदी मोहम्मद अब्दुल्ला फरार          बस पढ़िए खूब पढ़िए, जहाँ पाइए वहां पढ़िए, अध्ययन का कोई विकल्प नहीं          अफसोस में दम घुट गया एक राजनीति का...         BIG NEWS : रघुवंश प्रसाद की मौत पर लालू दुखी, बोले- "प्रिय रघुवंश बाबू ! ये आपने क्या किया?          BIG NEWS : नहीं रहे रघुवंश प्रसाद सिंह, दिल्‍ली के ऐम्स में ली अंतिम सांस         BIG NEWS : कश्मीर में POK से आतंकी संगठन भेज रहे हैं हथियार, पुंछ में 2 OGWS गिरफ्तार         शिव के पास तीन खास अस्त्र...        

अभी तो दूध के दांत टूटने के दिन हैं

Bhola Tiwari Aug 04, 2020, 8:14 AM IST कॉलमलिस्ट
img

एसडी ओझा

नई दिल्ली  : दूध के दांत एक मुहावरा भी है । यदि किसी को अनुभवहीन कहना हो तो अक्सर यह कह दिया जाता है - अभी तक तो तुम्हारे दूध के दांत नहीं टूटे हैं । दूध के दांत आम तौर पर 6-12 वर्ष की उम्र तक एक एक कर टूटते रहते हैं । इस उम्र के बीच में बच्चों को कम से कम दो बार दंत चिकित्सक को दिखाना चाहिए । लोगों में यह भ्रांति रहती है -

"दूध के दांतों के लिए किसी इलाज की जरुरत नहीं होती है । दूध के दांत अपने आप गिरते हैं और उनकी जगह नए दांत अपने आप उग आते हैं । "

लैकिन इसमें रंच मात्र भी सच्चाई नहीं है । दूध के दांत में केविटी होती है तो उसमें फिलींग करनी होती है । यदि बात फिलींग से नहीं बनती है तो रुट केनाल थेरेपी करनी पड़ेगी । यदि दांत में कीड़े लगे हैं और नये दांत के निकलने में अभी देरी है तो कीड़े लगे दांत को निकालने की आवश्यकता पड़ सकती है । क्योंकि ऐसी हालत में संक्रमण नये दांतों तक पहुँचने का अंदेशा रहता है । लेकिन इसमें एक नुकसान होता है । नया दांत नहीं आता । वह जगह खाली रहता है । ऐसे में आस पास के दांत सहारा न होने के कारण टेढ़े मेढ़े निकलते हैं ।

उपरोक्त परेशानियों से बचने के लिए बच्चों को नियमित रात को सोते समय और सुबह ब्रश करने की आदत डालनी चाहिए । बच्चा यदि मीठा खाने का शौकीन है तो उसे हर बार कुल्ला कराने की आदत डालनी चाहिए । दातों की मजबूती के लिए हरे पत्तेदार सब्जी , फल एवं यथेष्ट मात्रा में दूध दही व पनीर खिलाने चाहिए ताकि बच्चे के शरीर में कैल्शियम वांछित मात्रा में बरकरार रहे । कुछ बच्चों के दूध के दांत गिरने में देर हो जाती है । ऐसे में माता पिता को दंत चिकित्सक से दिखाना चाहिए । चिकित्सक एक्स रे करके पता लगा लेगा कि नये दांतों की क्या स्थिति है ? दंत चिकित्सक तदनुसार हीं इलाज शुरू करता है ।

नए दांत जब मजबूती ले लेते हैं तो वे ऊपर की ओर बढ़ते हैं । ऐसे में दूध के दांत हिलने लगते हैं । जिस तरह से नीचे के जबड़े के आगे के दो दूध के दांत जमते हैं उसी तरह से वे दांत पहले टूटते भी हैं । इसके बाद ऊपर के जबड़े के आगे के दो दांत जमते है और फिर टूटते हैं । प्रकृति पूरी जिंदगी में दांतो के दो सेट हीं तैयार करती है । पहला सेट दूध के दांत का होता है , जो कि केवल 20 होते हैं । फिर दूध के दांत के बाद एक और सेट मुंह में जमता है । इसमें कुल 32 दांत होते हैं । यदि इन दांतों को आप सम्भाल नहीं पाए तो फिर आपका मुंह पोपला हो जाता है । आप पोपले पैदा हुए थे और पोपले होकर हीं मरते हैं ।

हमारे समय में दांत टूटते हीं हम उसे ले जाकर दूब में एड़ी से दबाकर गाड़ देते थे और कहते थे - 

जइसे जइसे दूबिया जामे ।

ओइसे ओइसे दतवा जामे ।

लेकिन दूध के दांत सम्भालकर रखने चाहिए । इससे और भी स्टेम सेल्स बनाए जा सकते हैं । ये स्टेम सेल्स किसी डैमेज सेल्स को रिप्लेस करने के काम आते हैं । ये कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से लड़ने में भी काम आते हैं ।

कई बार दूध के दांत टूट जाते हैं और नये दांत निकलते नहीं है । ऐसा थायराॅयड और ग्रोथ हार्मोन की कमी के कारण होता है । चिकित्सक जांच कर आवश्यक इलाज करता है । बच्चों के दूध के दांत अपने आप टूटते हैं । इसके लिए किसी तरह की जल्दी बाजी नहीं करनी चाहिए । दरअसल हिलते दांत के साथ बच्चे अपने आप को असहज पाते हैं । वे बार बार जीभ से उस दांत को हिलाते रहते हैं । एक दिन दांत टूट जाता है । बच्चा खुद ले जाकर अपनी माँ को दिखाता है । फिर माँ उससे कहती है इसे दूब में गाड़ आओ । जब सारे दूध के दांत टूट जाते हैं तो बच्चा अनुभव हासिल करने वाला मान लिया जाता है । अंत में गीत चतुर्वेदी की कविता की दो पंक्तियाँ पेश कर रहा हूँ- 

मैंने जिन जगहों पर 

गाड़े थे अपने दूध के दांत

वहाँ अब बड़े बड़े 

पेड़ लहलहाते हैं

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links