ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS कोरोना जैविक हथियार के इस्तेमाल के आरोपों पर तिलमिलाया चीन, बदनाम करने की साजिश         BIG NEWS : अनंतनाग एनकाउंटर में लश्कर-ए-तैयबा के 3 आतंकी ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी         BIG NEWS : भगवान राम को नेपाली बताने वाले पीएम केपी ओली संसद में विश्वास मत हारे, अब PM पद से देना होगा इस्तीफा         BIG NEWS : बिहार वाले पप्पू यादव गिरफ्तार         समुद्र पर दौडता ऐरावत ले आया आठ क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंक: चार हजार सिलेंडर, अस्पतालों ने ली राहत की सांस         BIG NEWS : राहुल के कांग्रेस अध्यक्ष बनने में फिर अड़ंगा; कांग्रेस कार्यसमिति ने टाले चुनाव, सोनिया ने लगाया आरोप         BIG NEWS : बंगाल में शुभेंदु नेता प्रतिपक्ष बने, BJP के 61 विधायकों को दी गई X कैटिगरी की सिक्यॉरिटी, सभी 77 MLA को केंद्रीय सुरक्षा         BIG NEWS : दूसरी लहर में पहली बार कोरोना के नए केस से ज्यादा लोग ठीक हुए, 3.29 लाख नए केस, 3. 55 हजार लोग ठीक हुए         बारामूला-बनिहाल रेल सेवा 16 मई तक बंद, बीते 22 फरवरी को 11 महीनों के बाद शुरू हुई थी सेवा         BIG NEWS : 60 साल के कश्मीरी बुजुर्ग ने तैयार किया ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का प्रोटोटाइप, कहा - कंपनी बनाए सस्ते कंसंट्रेटर         BIG NEWS : बंगाल हिंसा पर राज्यपाल फिर बेहद नाराज, कहा- बंगाल में संविधान खत्म         BIG NEWS : हेमंत बिस्व सरमा ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ         BIG NEWS : कोरोना के कहर के बीच पंचांगों से आई डरावनी खबर, मई अंत तक भारी तबाही की आशंका, आ सकता है तूफान         BIG NEWS : चीन का नाम लिए बगैर इजराइली एम्बेसेडर बोले-कोरोनावायरस बेहद संदिग्ध         BIG NEWS : 5 दिन बाद कोरोना का आंकड़ा नीचे आया, 3.53 लाख लोग हुए ठीक         BIG NEWS : ऑस्ट्रेलिया मीडिया का दावा, कोरोनावायरस चीन का जैविक हथियार         टीकाकरण ही भारत के संकट का इकलौता हल : डॉ. फौसी         BIG NEWS : पत्रिका द लांसेट में भारत के खिलाफ प्रोपेगेंडा         BIG NEWS : लालू प्रसाद यादव की तबीयत अचानक बिगड़ी, ऑक्सीजन लेवल गिरा         BIG NEWS : मदर्स डे के दिन झारखंड में मां की कोख उजड़ी, 7 बच्चों की मौत         BIG NEWS : पुंछ में सुरक्षाबलों ने बड़े आतंकी साजिश को किया नाकाम, ग्रेनेड की बड़ी खेप बरामद         BIG NEWS : हिमंत बिस्वा सरमा होंगे असम के नए मुख्यमंत्री, लगी मुहर         BIG NEWS : उत्तर प्रदेश में 17 मई सुबह 7 बजे तक के लिए बढ़ाया गया लॉकडाउन, आदेश जारी         हेमंत बिस्वा शर्मा असम के नए मुख्यमंत्री होंगे !         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर सरकार का बड़ा फैसला, प्रशासन घरों में इलाज करा रहे मरीजों तक पहुंचाएगी कोविड ट्रीटमेंट किट         BIG NEWS : गायंत्री मंत्र के जाप से कोरोना ठीक करना चाहता है ऋषिकेश एम्स, दस मरीजों पर कर रहा है ट्रॉयल         कोरोना महामारी के बीच कुलांचें भर रहा है चीन का वैश्विक व्यापार         गरीब देशों में ज्यादा जन्म लेते हैं थैलेसीमिया पीड़ित बच्चे क्योंकि…….         BIG NEWS : ढीले हुए वाट्सएप के तेवर, 15 मई को नई नीति स्वीकार नहीं की तो भी डिलीट नहीं होगा वाट्सएप अकाउंट         प्रशांत महासागर में गिरेगा चीन का 21 टन वजनी विशालकाय रॉकेट         BIG NEWS : वैक्सीन पर जीएसटी से भड़के राहुल का तंज,’भले ही जनता के प्राण निकल जाएं लेकिन टैक्स नहीं छोड़ेंगे मोदी’         BIG NEWS : अब देश ने स्वस्थ होने वाले मरीजों का रिकॉर्ड बनाया, देश में पहली बार 3.86 लाख से ज्यादा मरीज हुए ठीक         सप्ताह के सातों दिन के लिए बताए गए हैं अलग-अलग देवता, किस दिन किसकी पूजा करें         इम्युनिटी के लिए किसी वरदान से कम नहीं है तुलसी         BIG NEWS : भारत की मदद के लिए सामने आई थाईलैंड सरकार; कई ऑक्सीजन सिलेंडर और कंसंट्रेटर भेजी दिल्ली         BIG NEWS : रांची में ताबड़तोड़ फायरिंग, 4 को लगी गोली, कई दुकानों और घरों में घुसकर तोड़फोड़, पुलिस लाठीचार्ज          BIG NEWS : कोरोना से संक्रमित मरीजों के शरीर में ही मार डालेगी ये दवा और रोगी हो जाएगा चंगा         BIG NEWS : भारत ने बनाई कोरोना की दवा, सरकार ने दी आपात इस्तेमाल की मंजूरी         BIG NEWS : अस्पताल में इलाज के लिए अब कोरोना टेस्ट जरूरी नहीं         आप विधायक इमरान हुसैन पर ऑक्सीजन जमाखोरी का आरोप, दिल्ली हाईकोर्ट ने किया तलब         कंगना को कोरोना, लेकिन मैं इसको हरा दूंगी'         BIG NEWS : जिन बूढ़ों ने लगवाई फाइजर और मॉडर्ना की वैक्सीन, कोरोना होने पर भी अस्पताल से रहते हैं दूर         अगर आपके घर में कोई कोरोना मरीज हैं तो-          BIG NEWS : रेमडेसिविर इंजेक्शन और 13 ऑक्सीजन प्लांट इंडिया पहुंचे, सरकार बोली- मदद सीधे राज्यों को भेजी जा रही         BIG NEWS : आर्टिकल 370 हटाना भारत का आंतरिक मामला, पाकिस्तान को 35A रद्द होने से परेशानी : शाह महमूद कुरैशी         शनि देव को खुश करने के 5 आसान उपाय, शुरू करें इसी शनिवार से         जानिए क्या हैं ब्लड थिनर्स? खून पतला करने के उपाय         BIG NEWS : कई राज्य के सीएम ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को दी नसीहत, कहा- एकजुटता से ही राह निकलेगी         BIG NEWS : 10,000 ऑक्सीजन जनरेटर्स, 1 करोड़ मास्क... कोरोना की दूसरी लहर में संयुक्त राष्ट्र से भारत को बड़ी मदद         BIG NEWS : शिल्पा शेट्टी की एक साल की बेटी, बेटा, पति, मां और सास-ससुर कोरोना पॉजिटिव, दो स्टाफ मेंबर भी संक्रमित         BIG NEWS : अनुष्का शर्मा और विराट कोहली ने कोरोना से जंग के लिए डोनेट किए 2 करोड़ रुपये, अब इस अभियान में जुटे         रेल से पश्चिम बंगाल जाना है तो जेब में रखनी होगी 72 घंटे पुरानी आरटी-पीसीआर निगेटिव रिपोर्ट         जुड़वां प्रतिमाओं वाले इस हनुमान मंदिर में पूरी होती हैं सभी मनोकामनाएं         सुप्रीम कोर्ट ने माना, कठोर थी चुनाव आयोग पर टिप्पणी फिर भी हटाने से इनकार         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर के नागरिकों से अपील, परेशानी हो तो घबराएं नहीं इन हेल्पलाइन नंबर पर करें कॉल          BIG NEWS : भारत के बिना दुनिया अधूरी, उसने विश्व को बहुत कुछ दिया : निशा देसाई बिस्वाल        

भगवान ‘शिव’ का रहस्य!

Bhola Tiwari Jul 30, 2020, 6:23 AM IST टॉप न्यूज़
img

देवों के देव ‘महादेव’…शिव को महादेव, भोलेनाथ, शंकर, महेश, रुद्र, नीलकंठ के नाम से भी जाना जाता है। तंत्र साधना में इन्हे ‘भैरव’ कहा गया है| भोलेनाथ हिन्दू धर्म की त्रिमूर्ति में से एक हैं। त्रिमूर्ति अर्थात ब्रह्मा, विष्णु एवं महेश (शिव)। वेदों में शिव को रुद्र के नाम से सम्बोधित क्रिया गया तथा इनकी स्तुति में कई ऋचाएं लिखी गई। सामवेद और यजुर्वेद में शिव-स्तुतियां उपलब्ध हैं। उपनिषदों में भी विशेषकर श्वेताश्वतरोपनिषद में शिव-स्तुति है। वेदों और उपनिषदों के अतिरिक्त शिव की कथा अन्य कई ग्रन्थों में मिलती है। यथा शिवपुराण, स्कंदपुराण, लिंगपुराण आदि।

भगवान शिव व्यक्ति की चेतना के अन्तर्यामी हैं। अधिक्तर चित्रों में शिव योगी के रूप में दिखाए गए हैं और उनकी पूजा शिवलिंग तथा मूर्ति दोनों रूपों में की जाती है। शिव के गले में नाग विराजमान हैं, हाथों में डमरू और त्रिशूल लिए हुए हैं। कैलाश में उनका वास है। यह शैव मत के आधार है। इस मत में शिव के साथ शक्ति सर्व रूप में पूजित है।


इनकी अर्धांगिनी (शक्ति) का नाम पार्वती है। इनके पुत्र कार्तिकेय और गणेश हैं। हिंदू धर्म ग्रंथ ‘शिव पुराण’ के अनुसार भगवान शिव ही समस्त सृष्टि के आदि कारण हैं। उन्हीं से ब्रह्मा, विष्णु सहित समस्त सृष्टि का उद्भव होता हैं।

भगवान शिव की महिमा अपरमपार है। जिसका अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि शिव उत्तर में कैलाश से लेकर दक्षिण में रामेश्वरम तक एक जैसे पूजे जाते हैं। उनके व्यक्तित्व में कौन सा चुंबक है, जिस कारण समाज के भद्रलोक से लेकर शोषित, वंचित तक उन्हें अपना मानते हैं। वे सर्वहारा के देवता हैं उनका दायरा कितना व्यापक है, इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है।

शिव असीमित व्यक्तित्व के स्वामी हैं। वो आदि हैं और अंत भी। शायद इसीलिए बाकी सब देव हैं। केवल शिव केवल शिव ही महादेव हैं। वो उत्सव, महोत्सव प्रिय हैं। शोक, अवसाद और अभाव में भी उत्सव मनाने की कला उनके पास है। यही शैव परंपरा है। जर्मन दार्शनिक फ्रेडरिक नीत्शे ने कहा था- ‘उदास परंपरा बीमार समाज बनाती है।’ शिव का नृत्य कैलाश पर भी होता है तो शिव का नृत्य श्मशान में भी होता है। श्मशान में उत्सव मनाने वाले भगवान शिव अकेले देवता है। ‘खेले मसाने में होरी दिगंबर खेले मसाने में होरी. भूत, पिशाच, बटोरी दिगंबर खेले मसाने में होरी।’


भगवान शिव को संहार का देवता कहा जाता है। भगवान शिव सौम्य आकृति एवं रौद्ररूप दोनों के लिए विख्यात हैं। अन्य देवों से शिव को भिन्न माना गया है। सृष्टि की उत्पत्ति, स्थिति एवं संहार के अधिपति शिव हैं। त्रिदेवों में भगवान शिव संहार के देवता माने गए हैं। शिव अनादि तथा सृष्टि प्रक्रिया के आदिस्रोत हैं और यह काल महाकाल ही ज्योतिषशास्त्र के आधार हैं। शिव का अर्थ यद्यपि कल्याणकारी माना गया है, लेकिन वे हमेशा लय एवं प्रलय दोनों को अपने अधीन किए हुए हैं।

शिव प्रेतों व पिशाचों से घिरे रहते हैं। उनका रूप बड़ा सबसे अलग है। अर्धनग्न, शरीर पर भभूत मले, जटाधारी, गले में रुद्राक्ष और सर्प लपेटे, कंठ में विष, जटाओं में जगत-तारिणी पावन गंगा तथा माथे में प्रलयंकारी ज्वाला, मतवाले, नाचते-गाते, भांग-धतूरे का सेवन करते भगवान शंकर को भंगड़, भिक्षुक, भोला भंडारी भी कहते हैं। वास्तव में शिव आम आदमी के देवता हैं। वे समाज के उस तबके के भी देवता हैं जिन्हें समाज ने अलग-थलग कर रखा है। वो हर वक्त समाज की सामाजिक बंदिशों से आजाद होने, खुद की राह बनाने और जीवन के नए अर्थ खोजने की चाह में रहते हैं।

विषम परिस्थितियों में भी अद्भुत सामंजस्य बिठाने वाला उनसे बड़ा कोई दूसरा भगवान नहीं है। वो अर्धनारीश्वर होकर भी काम पर विजय पाते हैं तो गृहस्थ होकर भी परम विरक्त हैं। नीलकंठ होकर भी विष से अलिप्त हैं। उग्र होते हैं तो तांडव, नहीं तो सौम्यता से भरे भोला भंडारी। परम क्रोधी पर परम दयालु भी शिव ही हैं। विषधर नाग और शीतल चंद्रमा दोनों उनके आभूषण हैं। यही शिव का अद्भुत सामंजस्य हैं।

शिव गुट निरपेक्ष हैं। सुर और असुर, देव और दानव दोनों का उनमें विश्वास है। राम और रावण दोनों उनके उपासक हैं। दोनों गुटों पर उनकी समान कृपा है। आपस में युद्ध से पहले दोनों पक्ष उन्हीं को पूजते हैं। लोक कल्याण के लिए वो हलाहल पीते हैं और डमरू बजाएं तो प्रलय होता है। शिव पहले पर्यावरण प्रेमी हैं। शिव पशुपति हैं। शिव ने बैल ‘नंदी’ को अपना वाहन बनाया, सांप ‘वासुकि’ को आश्रय दिया। जिसकों किसी ने गले नहीं लगाया, महादेव ने उन्हें गले लगाया।

शिव का व्यक्तित्व विशाल है। वो काल से परे है वो महाकाल हैं। सिर्फ भक्तों के नहीं देवताओं के भी संकटमोचक हैं। शिव का पक्ष सत्य का पक्ष है। एक लोटा भरे जल स प्रसन्न होने वाले देवता आपको कहां मिलेंगे। यहीं कारण है उत्तर में कैलाश से लेकर दक्षिण में रामेश्वरम तक एक जैसे पूजे जाते हैं।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links