ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : जासूसी करते हुए पकड़े गए पाक हाई कमीशन के दो अधिकारी, दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया         POK के सभी टेरर कैंपों में भरे पड़े हैं आतंकवादी : लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू         BIG NEWS : बख्तरबंद वाहन में घुसे चीनी सैनिकों को भारतीय सेना ने घेर कर मारा         BIG NEWS : अब 30 जून तक बंद रहेंगे झारखंड के स्कूल ं         BIG BRAKING : पुलिस को घेरकर नक्‍सलियों ने बरसाई गोली, डीएसपी का बॉडीगार्ड शहीद         सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच अनंतनाग में मुठभेड़, 2 से 3 आतंकी घिरे         सोपोर में लश्कर-ए-तैयबा के 3 OGWs गिरफ्तार, हथियार बरामद         ..कृषि के साथ न्याय हुआ होता तो मजदूरों की यह स्थिति नहीं होती         कालापानी' क्या है, जिसे लेकर भारत से नाराज़ हो गया है नेपाल !         BIG NEWS : आंख में आंख डाल कर बात करने वाली रक्षा प्रणाली तैनात         CORONA BURST : झारखंड में 1 दिन में 72 पॉजिटिव, हालात चिंताजनक         जब पाक ने भारत संग रक्षा गुट बनाना चाहा...         UNLOCK : तीन चरणों में खुलेगा लॉकडाउन, 8 जून से खुलेंगे मंदिर, रेस्टोरेंट, मॉल         BIG NEWS : दामोदर नदी पर पुल बना रही कंपनी के दो कर्मचारियों को लेवी के लिए टीपीसी ने किया अगवा         कुलगाम एनकाउंटर में हिज़्बुल मुजाहिदीन के दो आतंकी ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी         BIG NEWS : अमेरिकी ने WHO से तोड़ा रिश्ता; चीन पर लगाई पाबंदियां         TIT FOR TAT : आंखों में आंख डालकर खड़ी है भारतीय सेना         BINDASH EXCLUSIVE : गिलगित-बाल्टिस्तान में बौद्ध स्थलों को मिटाकर इस्लामिक रूप दे रहा है पाकिस्तान         अब पाकिस्तान में भी सही इतिहास पढ़ने की ललक जाग रही है....         BIG NEWS : लेह से 60 मजदूर रांची पहुंचे, एयरपोर्ट पर अभिभावक की भूमिका में नजर आए सीएम हेमंत सोरेन         BIG NEWS : CM हेमंत सोरेन का संकेत, सूबे में बढ़ सकता है लॉकडाउन !         कश्मीर जा रहा एलपीजी सिलेंडर से भरा ट्रक बना आग का गोला, चिंगारी के साथ बम की तरह निकलने लगी आवाजें         BIG NEWS : मशहूर ज्योतिषी बेजन दारूवाला का निधन, कोरोना संक्रमण के बाद अस्पताल में थे भर्ती         नहीं रहे अजीत जोगी          BIG NRWS  : IED से भरी कार के मालिक की हुई शिनाख्त         SARMNAK : कोविड वार्ड में ड्यूटी पर तैनात जूनियर डॉक्टर से रेप की कोशिश         BIG NEWS : चीन बोला, मध्यस्थता की कोई जरूरत नहीं, भारत और चीन भाई भाई         BIG NEWS : लद्दाख पर इंडियन आर्मी की पैनी नजर, पेट्रोलिंग जारी         BIG NEWS : डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा, चीन से सीमा विवाद पर मोदी अच्छे मूड में नहीं         BIG STORY : धरती की बढ़ती उदासी में चमक गये अरबपति         समाजवादी का कम्युनिस्ट होना जरूरी नहीं...         चीन और हम !         BIG NEWS : CRPF जवानों को निशाना बनाने के लिए जैश ने रची थी बारूदी साजिश !         BIG NEWS : अमेरिका का मुस्लिम कार्ड : चीन के खिलाफ बिल पास, अब पाक भी नहीं बचेगा         एयर एशिया की फ्लाइट से रांची उतरते ही श्रमिकों ने कहा थैंक्यू सीएम !         वियतनाम : मंदिर की खुदाई के दौरान 1100 साल पुराना शिवलिंग मिला         BIG NEWS : पुलवामा में एक और बड़े आतंकी हमले की साजिश नाकाम, आईईडी से भरी कार बरामद, निष्क्रिय         झारखंड के चाईबासा में पुलिस और नक्सलियों के बीच भीषण मुठभेड़, 3 उग्रवादी ढेर 1 घायल         भारतीय वायु सेना की बढ़ी ताकत, सियाचिन बॉर्डर इलाके में चिनूक हैलीकॉप्टर किए तैनात          क्या किसी ने ड्रैगन को म्याऊं म्याऊं करते सुना है ?        

काले रंग की महिमा

Bhola Tiwari May 09, 2019, 7:55 AM IST टॉप न्यूज़
img

एस डी ओझा

एक कहावत है - सब रंग कच्चा , सावरिया रंग पक्का । जी हाँ , काला रंग पक्का होता है । इस पर कोई दूसरा रंग नहीं चढ़ सकता । इसीलिए कबीर को भी कहना पड़ा -

"कबीरा काली कामरी , चढ़ें न दूजो रंग । "

यह प्रधान रंग होता है , जो कई रंगों से मिलकर बना है । यह गर्मी का अवशोषक होता है । इसीलिए काले रंग की भैंस को गर्मी ज्यादा लगती है । काली भैंस दोपहर होने से पहले घर वापस आ जाती है । धूप में काले छाते की बजाय दूसरे रंग के छाते इस्तेमाल करने चाहिए । सर्दियों में काले कपड़े पहनना चाहिए ताकि वह गर्मी अवशोषित कर आपको गर्मी प्रदान करे । गाँव के घरों में मिट्टी के बर्तनों के पेंदे में मिट्टी लगा दी जाती है , जो आग पर जल कर काला हो जाता है । इससे गर्मी ज्यादा अवशोषित होती है , खाना जल्दी पकता है ।

काला रंग चूँकि अवशोषक होता है ,अतएव यह कुछ भी परावर्तित नहीं कर सकता है ; जब कि सफेद रंग अपने पास कुछ भी नहीं रखता -परावर्तित हीं करता है । काला रंग अवशोषित करता है तो इससे नकारात्मक ऊर्जा भी आती है और मनुष्य मौन रहना शुरू कर देता है । यह मौन कष्ट देने लगता है । इसलिए हमारे शास्त्रों में शुभ कार्यों में काला कपड़ा पहनना वर्जित है ।

मनुष्य मस्तिष्क लाल , हरा , नीला तीन रंगों को हीं पहचानता है । इन तीन रंगों से हीं बहुत से रंग बनाए जाते हैं । हमारी आँखों के कलर कोन इन तीन रंगों को हीं पहचानते हैं । इन तीन रंगों से बने अन्य रंग भी पहचान में आते हैं । बाकी भी रंग हैं , पर हमें नज़र नहीं आते ।काला रंग भी इन्हीं तीनों रंग के सम्मिश्रण से बना है .

काले खाद्य पदार्थ यथा - काला अंगूर , काला तिल , काली दाल , काली मिर्च , ब्लैक बेरी व ब्लैक डार्क चॉकलेट आदि विटामिन C , K और फाइबर का प्रमुख स्रोत होता है , जो हृदय रोग , कैंसर आदि में लाभदायक होता है ।

काले रंग को लेकर कुछ सामाजिक बुराईयाँ भी आ गईं हैं । काले रंग की वजह से नस्ल भेद व रंग भेद टिप्पणियाँ की जाती हैं । काली बहु जला दी जाती है । सबको गोरी बहु हीं चाहिए । काली बहु का यदि मन सुंदर है तो वह काले मन वाली गोरी बहु से बेहतर है । इतिहास में पद्मिनी और द्रोपदी दो परम सुंदरियाँ हुई हैं , पर इनका रंग काला था । अब तो वैज्ञानिकों ने भी सिद्ध कर दिया है कि काले लोग गोरों की तुलना में काफी सकारत्मक होते हैं। काली चमड़ी वालों को कैंसर भी नहीं होता । काले कपड़े पहन कर आदमी सुंदर दिखता है - इसलिए मुम्बई में देवानंद को काले कपड़े पहनने पर बैन लगा था । काले कपड़े पहनने के बाद देवानंद को देखने भीड़ उमड़ पड़ती थी ।

काला मुर्गा , काली बोतल तांत्रिकों के लिए बहुत हीं प्रिय बस्तुएं रही हैं । हर शनिवार को काले कुत्ते को पेड़ा खिलाना कल्याणकारी माना जाता है । मकर संक्रांति को काला तिल , काली दाल दान करना फलदायक माना जाता है । भादो के महीने के 16 दिन कौवों को जिमाया जाता है । ये पितरों के प्रतीक माने जाते हैं । बच्चों को नज़र गुजर से बचाने के लिए काला टीका माथे पर लगाया जाता है । गोरी औरत काले पति के साथ इसलिए बाहर निकलती है कि उसका पति उसके लिए काले टीके का काम करता है और उसे नज़र नहीं लगती -

काले संग निकली की न लग जाय नज़रिया ।

कृष्ण , राम , शिव व शनि आदि सभी काले थे , पर इन लोगों ने धवल कल्याण कारी कार्य किए थे । इसीलिए राम - मर्यादा पुरषोतम , कृष्ण - 16 कलाओं में माहिर , शिव - नील कंठ तथा शनि - रिपुदमन कहलाए । इतिहास गवाह है कि इन लोगों के अनुगामी आज भी लाखों / करोड़ों में हैं ।

काले रंग का गुण दोष की विवेचना देश काल व परिस्थिति पर निर्भर करती है । नेता को काला झंडा दिखाने पर नेता नाराज़ होते हैं और वही नेता देवी को काला झण्डा चढाते हैं तो देवी खुश होती हैं । काला धन के लिए बाबा रामदेव जी UPA के कार्य काल में बहुत हो हल्ला करते थे , पर बाबा आज मौन हैं । यह भी देश , काल व परिस्थिति की हीं बात है कि वो अब नहीं कहते कि 500 व 1000 के नोट बन्द होने चाहिए । वे कहते थे कि इन नोटों से काले धन को बढ़ावा मिलता है । अब तो उनसे भी बड़े नोट चलन में आ गये हैं । बाबा वहीं हैं , पर परिस्थिति भिन्न हो गयीं हैं ।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links