ब्रेकिंग न्यूज़
BIG BREAKING : रांची में सरेराह मार्बल दुकान में चली गोली, अपराधियों ने एक व्यक्ति को गोली मारी         BIG NEWS : झारखंड के शिक्षा मंत्री अब करेंगे इंटर की पढ़ाई...          BIG NEWS : सभी मेल, एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेन 30 सितंबर तक रद्द         BIG NEWS : राहुल-प्रियंका से मिले सचिन पायलट, घर वापसी की अटकलें तेज         BIG NEWS : आतंकी हमले में घायल बीजेपी नेता की मौत         आदिवासी विकास का फटा पोस्टर...         BIG NEWS : नक्सली राकेश मुंडा को लाखों का इनाम और पत्तल बेचती अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉलर संगीता सोरेन को दो हजार         पाखंड के सिपाही कम्युनिस्ट लेखक...         BIG NEWS : देवघर में सेप्टिक टैंक में दम घुटने से 6 लोगों की मौत         BIG NEWS : अब भाजपा गुजरात गए विधायकों को वापस बुला रही, सभी विधायक होटल जाएंगे         BIG NEWS : पालतू कुत्ते फज की बेल्ट से गला घोंटकर सुशांत सिंह राजपूत की, की गई थी हत्या : अंकित आचार्य          BIG NEWS : सरकार का 101 रक्षा उपकरणों के आयात पर रोक, इसके पीछे क्या है मकसद?          BIG NEWS : बडगाम में आतंकवादियों ने बीजेपी नेता को गोली मारी          BIG NEWS : कुलगाम में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, 2 से 3 आतंकी घिरे         BIG NEWS : सुशांत सिंह केस का राजदार कौन !         BIG NEWS : फिल्म स्टार संजय दत्त लीलावती हॉस्पिटल में भर्ती          BIG NEWS : दिशा सलियान का निर्वस्त्र शव पोस्टमार्टम के लिए दो दिनों तक करता रहा इंतजार          BIG NEWS : टेरर फंडिंग मॉड्यूल का खुलासा, लश्कर-ए-तैयबा के 6 मददगार गिरफ्तार         BIG NEWS : एलएसी पर सेना और वायु सेना को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश         BIG NEWS : राजस्थान का सियासी जंग : कांग्रेस के बाद अब भाजपा विधायकों की घेराबंदी         BIG NEWS : देवेंद्र सिंह केस ! NIA की टीम ने घाटी में कई जगहों पर की छापेमारी         बाढ़ और संवाद हीनता          BIG NEWS : पटना एसआईटी टीम के साथ मीटिंग कर सबूतों और तथ्यों को खंगाल रही है CBI         BIG NEWS : सुशांत सिंह की मौत के बाद रिया चक्रवर्ती और बांद्रा डीसीपी मे गुफ्तगू         BIG NEWS : भारत और चीन के बीच आज मेजर जनरल स्तर की वार्ता, डिसएंगेजमेंट पर होगी चर्चा         BIG NEWS : मनोज सिन्हा ने ली जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल पद की शपथ, संभाला पदभार         BIG NEWS : पुंछ में एक और आतंकी ठिकाना ध्वस्त, AK-47 राइफल समेत कई हथियार बरामद         BIG NEWS : सीएम हेमंत सोरेन ने भाजपा सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ किया केस         BIG NEWS : मुंबई में ED के कार्यालय पहुंची रिया चक्रवर्ती          BIG NEWS : शोपियां में मिले अपहृत जवान के कपड़े, सर्च ऑपरेशन जारी         मुंबई में सड़कें नदियों में तब्दील          BIG NEWS : पाकिस्तान आतंकवाद के दम पर जमीन हथियाना चाहता है : विदेश मंत्रालय         BIG NEWS : श्रीनगर पहुंचे जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, आज लेंगे शपथ         सुष्मान्जलि कार्यक्रम में सुषमा स्वराज को प्रकाश जावड़ेकर सहित बॉलीवुड के दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि           BIG NEWS : जीसी मुर्मू होंगे देश के नए नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक          BIG NEWS : सीबीआई ने रिया समेत 6 के खिलाफ केस दर्ज किया         बंद दिमाग के हजार साल           BIG NEWS : कुलगाम में आतंकियों ने की बीजेपी सरपंच की गोली मारकर हत्या         BIG NEWS : अयोध्या में भूमि पूजन! आचार्य गंगाधर पाठक और PM मोदी की मां हीराबेन         मनोज सिन्हा होंगे जम्मू-कश्मीर के नए उपराज्यपाल, जीसी मुर्मू का इस्तीफा स्वीकार         BIG NEWS : सदियों का संकल्प पूरा हुआ : मोदी         BIG NEWS : लालू प्रसाद यादव को रिम्स डायरेक्टर के बंगले में किया गया स्विफ्ट         BIG NEWS : अब पाकिस्तान ने नया मैप जारी कर जम्मू कश्मीर, लद्दाख और जूनागढ़ को घोषित किया अपना हिस्सा         हे राम...         BIG NEWS : सुशांत केस CBI को हुआ ट्रांसफर, केंद्र ने मानी बिहार सरकार की सिफारिश         BIG NEWS : पीएम मोदी ने अयोध्या में की भूमि पूजन, रखी आधारशिला         BIG NEWS : PM मोदी पहुंचे अयोध्या के द्वार, हनुमानगढ़ी के बाद राम लला की पूजा अर्चना की         BIG NEWS : आदित्य ठाकरे से कंगना रनौत ने पूछे 7 सवाल, कहा- जवाब लेकर आओ         रॉकेट स्ट्राइक या विस्फोटक : बेरूत के तट पर खड़े जहाज में ताकतवर ब्लास्ट, 73 की मौत         BIG NEWS : भूमि पूजन को अयोध्या तैयार         रामराज्य बैठे त्रैलोका....         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत की मौत से मेरा कोई संबंध नहीं : आदित्य ठाकरे         BIG NEWS : दीपों से जगमगा उठी भगवान राम की नगरी अयोध्या         BIG NEWS : पूर्व मंत्री राजा पीटर और एनोस एक्का को कोरोना, कार्मिक सचिव भी चपेट में        

दिल्ली-एनसीआर में बार-बार क्यों कांप रही धरती...

Bhola Tiwari Jul 05, 2020, 7:04 AM IST टॉप न्यूज़
img


कबीर संजय

नई दिल्ली  : कल शाम मैं अपने घर से वर्क फ्राम होम कर रहा था। तभी अचानक लगा कि पूरी इमारत कांप गई हो। सिर्फ एक पल के लिए। सबकुछ हिल गया। पिछले तीन महीनों में दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में लगातार ही भूकंप आ रहे हैं। इसके चलते तुरंत ही भूकंप का अहसास हो गया। इस बार का भूकंप पिछले तीन महीनों में आए भूकंपों में सबसे ज्यादा तीव्र था। इसकी तीव्रता 4.7 थी और इसका केन्द्र जिला अलवर में जमीन से 35 किलोमीटर नीचे था। 

आखिर ये भूकंप बार-बार क्यों आ रहे हैं। दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र को आसानी से देश की सबसे ज्यादा घनी आबादी वाला हिस्सा कहा जा सकता है। यहां पर करोड़ों लोग रहते हैं। बहुमंजिला इमारतें हैं। लाखों लोग ऐसे घरों में रहते हैं, जिन्हें बनाने से पहले भूकंप से सुरक्षा के बारे में जरा भी नहीं सोचा गया। उन्होंने इस बारे में सोचा भी नहीं कि भूकंप से सुरक्षित मकान कैसे बनाए जाएं। उन्हें यह भी पता नहीं कि भूकंप के आने पर क्या किया जाना चाहिए और क्या नहीं किया जाना चाहिए। हालांकि, भूकंप शायद बहुत कम ही कुछ करने का मौका भी देता है। 

स्थिति की गंभीरता को ऐसे समझ सकते हैं कि पिछले जून के केवल एक महीने में रोहतक में 11 बार भूकंप के झटके महसूस किए गए। जिस जगह पर भूकंप के झटके महसूस किए जा रहे हैं वो रोहतक शहर से दिल्ली की ओर पड़ता है। दिल्ली से इसकी दूरी महज पचास किलोमीटर के लगभग होगी। यहां पर 29 मई को 4.5 तीव्रता का भूकंप आया था। इस भूकंप को भी दिल्ली-एनसीआर के एक बड़े हिस्से में लोगों ने महसूस किया था। 

भूकंप बार-बार क्यों आ रहे हैं। राष्ट्रीय भूकंप केन्द्र के भूविज्ञानी बताते हैं कि दिल्ली एनसीआर क्षेत्र से पांच फाल्ट लाइन गुजरती हैं। इनमें से तीन फाल्ट लाइन पर ज्यादा हलचल देखने को मिल रही है। अभी तक दिल्ली में महसूस किए गए भूकंप के झटके दिल्ली-हरिद्वार रिज के आसपास की फाल्ट लाइन पर हैं। तो रोहतक में जिन भूकंपों का केन्द्र रहा है वे महेन्द्रगढ़-देहरादून फाल्ट लाइन पर मौजूद हैं। जबकि, दिल्ली-मथुरा फाल्टलाइन की भूगर्भीय हलचलों के चलते भूकंप आए जिनका केन्द्र फरीदाबाद रहा है। इसके अलावा, दिल्ली एनसीआर क्षेत्र से दिल्ली-सरगोदा फाल्ट और मुरादाबाद फाल्ट लाइन भी गुजरती है। लेकिन, फिलहाल इन दोनों में सक्रियता देखने को नहीं मिली है। दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र सिसमिक जोन चार में मौजूद है। इसलिए यहां पर भूकंपों का आना बहुत आश्चर्यजनक नहीं है।

भूकंप आते ही आमतौर पर अफरा-तफरी मच जाती है। लेकिन, अगर हम गौर से देखें तो पता चलता है कि आमतौर पर भूकंप किसी की जान नहीं लेता है। ये तो इमारतें हैं जिसके नीचे दबने से हजारों लोगों की मौत हो जाती है। इमारतों के ढांचे इस तरह से बनाई जानी चाहिए कि वे भूकंप के झटकों को सह सकें। लेकिन, इसकी परवाह किसे है। इसके चलते लाखों-करोड़ों लोग दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में भूकंप के खतरे के बीच रह रहे हैं। 

जैसे किसी बड़ी दुर्घटना का इंतजार हो रहा है। 

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links