ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : जवानों ने लद्दाख में पैंगोंग त्सो झील के किनारे 14 हजार फुट की ऊंचाई पर फहराया तिरंगा         PM मोदी ने लाल किले पर फहराया झंडा, कहा- देश की संप्रभुता पर जिसने आंख उठाई, सेना ने उसी भाषा में दिया जवाब         स्वतंत्रता दिवस : आजादी के जश्न....         पटना में फिर बारिश होने की खबर है !         कुलभूषण जाधव केस में आईसीजे के फैसले को नहीं लागू कर रहा है पाकिस्तान : विदेश मंत्रालय         BIG NEWS : पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के 2 आतंकी सहयोगी गिरफ्तार         BIG NEWS : जब जयपुर की सड़कों पर तैरने लगी कारें         BIG NEWS : 15 अगस्त, वीरता पुरस्कारों की घोषणा, जम्मू कश्मीर पुलिस को सबसे ज़्यादा वीरता पदक         BIG NEWS : गैलेंटरी अवॉर्ड का ऐलान, टॉप पर जम्मू-कश्मीर          BIG NEWS : गहलोत सरकार ने विश्वास मत जीता         BIG NEWS : भारत चीन सीमा विवाद के बीच अमेरिका ने तैनात किए सबसे घातक परमाणु बॉम्बर ‍          BIG NEWS : 3.75 लाख कांट्रेक्ट शिक्षकों के लिए स्वतंत्रता दिवस पर सीएम नीतीश करेंगे बड़ा ऐलान         BIG NEWS : श्रीनगर में सुरक्षाबलों पर आतंकी हमला, दो पुलिसकर्मी शहीद         BIG NEWS : अब गहलोत सरकार विश्वास प्रस्ताव लाएगी और भाजपा की अविश्वास प्रस्ताव की तैयारी          BIG BREAKING : अभी-अभी श्रीनगर में आतंकी हमला, दो जवान घायल         BIG NEWS : टेरर फंडिंग केस में NIA ने बारामूला में की छापेमारी, पूछताछ जारी         BIG NEWS : पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से डॉक्टर की डिग्री लेने वाले भारत में नहीं कर सकते प्रैक्टिस : MCI         BIG NEWS : जब बेशरमी का भूत सर "देसाई" चढ़कर बोले         BIG NEWS : एम एस धोनी का कोरोना टेस्ट निगेटिव, 14 अगस्त को चेन्नई के लिए होंगे रवाना         BIG NEWS : बीजेपी कल लाएगी अविश्वास प्रस्ताव, गहलोत सरकार की बढ़ीं मुश्किलें         BIG NEWS : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिलने उनके घर पहुंचे सचिन पायलट, थोड़ी देर में विधायक दल की बैठक         BIG NEWS : अवंतीपोरा में दो सक्रिय आतंकी ठिकाने ध्वस्त, गोलाबारूद बरामद         BIG NEWS : ईमानदार करदाताओं को पीएम मोदी का सौगात : फेसलेस असेसमेंट और टैक्सपेयर्स चार्टर आज से लागू         BIG STORY : राजस्थान में सियासी संकट खत्म, सियासी जमीन बचाने की वजह बनी सचिन पायलट की वापसी         BIG NEWS : चीन ने काम बिगाड़ा, सऊदी अरब ने पाकिस्तान को लताड़ा         BIG NEWS : संदेह के घेरे में रूस की कोरोना वैक्सीन !         BIG NEWS : पुलवामा एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने 1 आतंकी को मार गिराया, 1 जवान शहीद         BIG NEWS : चीन की फर्जी कंपनियों पर आयकर का छापा, 1000 करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग का पर्दाफाश         BIG NEWS : सुशांत के परिवार ने लीगल नोटिस भेज कर कहा, संजय राउत 48 घंटे में माफी मांगें, नहीं तो केस करेंगे         BIG NEWS : AU, HJ और PC कौन ! रिया चक्रवर्ती से क्या है कनेक्शन         श्रीकृष्ण की पीड़ा !!         BIG NEWS : संजय दत्त को हुआ लंग्स कैंसर, इलाज के लिए अमेरिका रवाना         मुझे मत पुकारो !         सुख-समृद्धि और धन प्राप्ति के लिए इस तरह करे भगवान श्री कृष्ण को प्रसन्न         क्यों मोर मुकुट धारण करते हैं श्री कृष्ण?         ये सब धुआं है कोई आसमान थोड़ी है !         BIG NEWS : जनाज़े पर मेरे लिख देना यारों, मोहब्बत करने वाला जा रहा है...         BIG NEWS : दुनिया का पहला कोरोना वैक्सीन तैयार, पुतिन ने कोरोना वैक्सीन का टीका बेटी को लगवाया         BIG NEWS : मशहूर शायर राहत इंदौरी का निधन         BIG NEWS : प्रवर्तन निदेशालय ने जब्त किए रिया चक्रवर्ती के मोबाइल फोन और लैपटॉप         BIG NEWS : रिया चक्रवर्ती करती थीं सुशांत के वित्तीय और प्रोफेशनल फैसले : श्रुति मोदी         BIG NEWS : राजस्थान की बदली सियासत, पायलट नाराज विधायकों के साथ आज करेंगे "घर" वापसी         BIG NEWS : बेटियों को भी पिता की संपत्ति में बराबरी का हक         BIG NEWS : जम्मू-कश्मीर में 4जी सेवा शुरू करने की तैयारी, 15 अगस्त के बाद दो जिलों में होगा ट्रायल         BIG NEWS : कुपवाड़ा में तीन संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार, हथियार बरामद         BIG NEWS : बीजेपी नेता के घर ग्रेनेड हमला         जिसने अपने कालखंड को अपने इशारों पर नचाया...         जब मोहन ने पहली बार गोपिकाओ को किया परेशान         भगवान कृष्ण के जन्म लेते ही जेल की कोठरी में फैल गया प्रकाश ...         BIG BREAKING : रांची में सरेराह मार्बल दुकान में चली गोली, अपराधियों ने एक व्यक्ति को गोली मारी         BIG NEWS : झारखंड के शिक्षा मंत्री अब करेंगे इंटर की पढ़ाई...          BIG NEWS : सभी मेल, एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेन 30 सितंबर तक रद्द         BIG NEWS : राहुल-प्रियंका से मिले सचिन पायलट, घर वापसी की अटकलें तेज         BIG NEWS : आतंकी हमले में घायल बीजेपी नेता की मौत         आदिवासी विकास का फटा पोस्टर...         BIG NEWS : नक्सली राकेश मुंडा को लाखों का इनाम और पत्तल बेचती अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉलर संगीता सोरेन को दो हजार         पाखंड के सिपाही कम्युनिस्ट लेखक...        

BIG NEWS : घर से गायब प्रेमी जोड़े ने स्वयं अपने ठिकाने की सूचना देते हुए परिजनों व प्रशासन की मदद से किया सरेंडर

Bhola Tiwari Jul 02, 2020, 1:25 PM IST राज्य
img

● प्रेमप्रसंग के मामले को अपहरण व धर्मान्तरण का मसला बनाया गया

● प्रशासन द्वारा निरंकुश रुख अपनाया गया


अलका मिश्रा

 बेरमो : घटना 24 जून की है,बेरमो थानाक्षेत्र के सुभाषनगर एरिया में रहनेवाले अब्राहम(काल्पनिक नाम) व सुनिता कुमारी (काल्पनिक नाम), दोनों में काफी समय से अफेयर था और वे शादी भी करना चाहते थे ये वहाँ के कॉलोनीवासियों व घरवालों को भी मालूम था लेकिन अलग-अलग घर्म के होने के कारण दोनों के परिवारवालों को ये रिश्ता मंजूर नहीं था,नतीजा दोनों प्रेमी अपने-अपने घर से फरार हो गए।


   ध्यानयोग्य तथ्य है कि लड़का अनुसूचित जनजाति का है और दोनों अलग-अलग धर्मों के मानने वाले हैं। इसी को आधार बना कर समाज के कथित ठेकेदारों ने लड़की पक्ष से लड़के पक्ष पर अपहरण कर धर्मान्तरण करवाने का फर्जी मसला बना कर बेरमो थाना में कांड संख्या 120/20 के अंतर्गत एक प्राथमिकी दर्ज करवा दी और थानेदार महोदय ने भी आनन-फानन में घारा 366/34 दर्ज कर लड़के की माँ मिसेज एलिस,बहन जुली और भाई बेंजामिन को 26 जून को सुबह तकरीबन 7 बजे उनके घर से उठा लिया, काफी मिन्नतों के बाद और उम्र को देखते हुए उसकी विधवा माँ को घर जाने दिया लेकिन भाई-बहन को नहीं छोड़ा, 27 जून को एडवोकेट रोहित के सहारे रजिस्ट्रार के कार्यालय से उन प्रेमियों के शादी से संबंधित आवेदन का कॉपी निकाला गया और इस बाबत जब एसडीपीओ बेरमो से बात की गई तो उनके कहने पर शाम तकरीबन 3 बजे उन्हें हिरासत से छोड़ा गया यानि करीब 33 घंटे तक उन्हें हिरासत में रखा गया।

प्रशासन द्वारा निरंकुश रुख अपनाया गया

 यही नहीं बेरमो पुलिस द्वारा बिना किसी महिला पुलिस के और बिना किसी सर्च वारंट के लड़के के घर में जब सिर्फ उसकी भाभी गुड़िया, बहन मरियम, माँ मिसेज एलिस और एक बच्ची एंजेल घर में थी क्योंकि घर का एकमात्र मर्द सदस्य बेंजामिन पुलिस कस्टडी में था,जबरन घुसकर पुरे घर की तलाशी ली गई।


यही नहीं जब इस संवाददाता ने थानेदार सुधीर सूरीन से इस बाबत जानना चाहा तो उन्होंने स्पष्ट कहा कि मैडम आप अभियुक्त पक्ष से हैं इसलिए हम आपको कोई जानकारी नहीं दे सकते क्योंकि हमपर ऊपर के अधिकारियों का इस केस को लेकर काफी दबाव है। यहाँ ध्यानयोग्य तथ्य है कि बिना किसी कानूनी सुनवाई के थानेदार द्वारा ही आरोपी को अभियुक्त भी करार दे दिया गया।

1 जुलाई की सुबह अचानक लड़के के परिजन इस संवाददाता के घर आए और बोले कि फरार प्रेमी ने मोबाईल से उन्हें फोन किया और वे काफी डरे हुए हैं और मदद मांग रहे हैं, वो लोग बोकारो थर्मल में बीटीपीएस थाना के नजदीक वर्मा लॉज के आसपास छुपे हुए हैं।इतना सुनते ही तत्काल बेरमो थानाप्रभारी को फोन लगाया उनके द्वारा फोन रीसीव नहीं करने पर एसडीपीओ, बेरमो को फोन किया गया, उन्होंने तत्काल बीटीपीएस थाना को बताए गए स्थान पर जाने को कहा।जबतक लड़के के परिजन वहाँ पहूँचे तो देखा कि बीटीपीएस थानेदार वर्मा लॉज से खाली हाथ बाहर निकल कर अपने फोर्स के साथ गाड़ी पर बैठ रहे थे,उन्होंने कहा कि यहाँ कोई नहीं है।इस पर संवाददाता जो कि स्वयं भी लड़के के परिजनों के साथ वहाँ मौजूद थी,ने उनको रोका और बताया कि कृपया आप अच्छे से खोजें क्योंकि वह लड़का उसवक्त अपने परिजनों के साथ फोनलाईन पर ही था और काफी डरा हुआ था संभवतः वो प्रेमी जोड़ा कुछ असमाजिक लोगों के गिरफ्त में था और अपना लोकेशन वही आसपास ही बता रहा था।उसी वक्त एसडीपीओ ,बेरमो का फोन इस संवाददाता के फोन पर आ गया जो कि घटनाक्रम की जानकारी माँग रहे थे।खैर कुछ मश्क्कत के बाद लड़के के परिजनो ने वर्मा लॉज के पास ही बने एक मकान,जिसके मालिक विजय गुप्ता है,से खोज निकाला उसके बाद पुलिस ने उक्त प्रेमी जोड़े को अपनी कस्टडी में ले लिया।एक बात तो स्पष्ट थी कि लड़के के परिजनों ने अपनी तत्परता का परिचय दिखाते हुए उन्हें पुलिस के हवाले किया।यदि लड़के के परिजन वहाँ नहीं पहूँचते तो पुलिस खाली हाथ लौटनेवाली थी। यहाँ से शुरुआत होती है पुलिसिया हेकड़ी व हथकंडे की..सबसे पहले तो उनके परिजनों को उनसे बात तक नहीं करने दिया गया और उसके बाद बेरमो थाना की पुलिस आई ,उन्होंने कागजी औपचारिकता कर उक्त जोड़े को अपनी कस्टडी में ले लिया। इस बीच लड़के के परिजनों ने काफी कोशिश की लेकिन उन्हें मिलने नहीं दिया गया। शाम को तकरीबन 7 बजे जब लड़के का रिश्तेदार(बहनोई) राजा मराण्डी ने बेरमो थानाप्रभारी सुधीर सूरीन को फोन कर अपने परिजनों के साथ उस लड़के से मिलने की इच्छा जाहिर की तो उन्होंने कहा कि 'रात में आ जाना' लेकिन राजा मराण्डी ने एक वकील और इस संवाददाता से भी थाना साथ चलने का आग्रह किया क्योंकि वो अबतक थानेदार के रवैये से आशंकित था इसलिए थाना अकेले नहीं जाना चाहता था।उसके आग्रह से मजबूर होकर इस संवाददाता और वकील को भी उनके साथ जाना पड़ा।थानेदार वहाँ उनके साथ वकील और खासकर इस संवाददाता को देखकर गुस्से से बिफर पड़े और राजा मराण्डी को भला-बुरा कहने लगे।साथ ही,कहा कि मैंने तुम्हें अकेले बुलाया था ये हुजूम लेकर आने की क्या जरुरत थी! इस संबंध में जानकारी देने के लिए इस संवाददाता द्वारा बोकारो पुलिस अधिक्षक के ऑफिसियल नम्बर पर संपर्क करने की कोशिश की गई लेकिन फोन रीसीव नहीं हुआ और न ही रिंगबैक आया।

    बहरहाल, तमाम प्रकरण में एक बात स्पष्ट दृष्टिगत होती है कि इस पुरे मामले में प्रशासन का रवैया लड़के के परिजनों के प्रति काफी निरंकुश व दमनकारी रहा।ऐसे में पुलिस-पब्लिक सामंजस्य के जो दावे किए जाते हैं वो खोखले होते हैं और इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं कि पुलिस थाना शरीफों के जाने की जगह नहीं, यदि आप माफिया हों व काफी उच्चस्तरीय रसूखवाले हों तभी थाना जाएँ तो आपकी आवभगत होगी वरना आप ऐसे थानेदारों के किसी काम के नहीं।

             रह गई भूमिका पत्रकारों की तो उन्हें प्रशासनिक महकमे द्वारा सिर्फ अपने यशोगान के लिए बुलाया जाता है,अपनी महानता का व्याख्यान लिखवा कर उन्हें महान पत्रकार से विभूषित कर दिया जाता है।यदि किसी पत्रकार ने अपने कलम की गरीमा दिखाने का दुस्साहस किया तो फिर वो उनके टारगेट में रहेंगे और जब भी मौका मिले ये उन्हें नाप देंगे।अतः कोई पत्रकार ये जोखिम क्यों ले..उन्हें तो कोई सरकारी मानदेय मिलना नहीं है इसलिए प्रशासन के जी-हुजूरी से ही कुछ बन पड़ता है तो और क्या चाहिए।

   अब बेरमो थाना के इसी मामले में सारे पत्रकारों ने सूर-में-सूर मिलाते हुए बीटीपीएस थानाध्यक्ष का यशोगान लिख डाला कि गुप्त सूचना के आधार पर बीटीपीएस थानाप्रभारी ने गायब युवा प्रेमी को किया बरामद।जबकि सच्चाई इससे इतर थी,दरअसल,युवा प्रेमियों के लोकेशन का क्लू मिलते ही इस संवाददाता द्वारा एसडीपीओ, बेरमो को इसकी सूचना दी गई फिर बेरमो एसडीपीओ अंजनी अंजन द्वारा बीटीपीएस थाना को कहा गया बीटीपीएस थानेदार अपनी पुलिसिया औपचारिकता पुरी कर वर्मा लॉज से खाली हाथ लौट रहे थे क्योंकि उन्हें वहाँ कोई मिला नहीं। तबतक लड़के के परिजन वहाँ पहूँच कर थानेदार को रुकने का अनुरोध किया और स्वयं सरगर्मी से उन्हें तलाशने लगे और मिलते ही उन्हें स्वयं थाने के सुपूर्द किया। बहरहाल, सच लिखने का जोखिम कौन उठाए!

          ये तो हुई देश के घोषित संवैधानिक ढ़ाँचों से परे पुलिस-प्रशासन बनाई हुई निरंकुश व्यवस्था की एक झलक.. विशेष अगले किस्त में....

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links