ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : झारखंड में मास्क पहनना कंपलसरी, नहीं पहने पर दर्ज होगी FIR         BIG STORY : नदियां गायब हो रहीं या मनुष्यता का डिहाड्रेशन हो रहा...                           BIG NEWS : चीन के प्रति अमेरिका के तेवर सख्त, चीन से आने वाली उडा़नों पर लगाई रोक         BIG NEWS : जैश-ए-मोहम्मद का आईईडी विशेषज्ञ अब्दुल रहमान मारा गया         BIG NEWS : अंकित शर्मा मर्डर केस: ताहिर हुसैन ने रची थी पूरी साजिश, चार्जशीट में पुलिस का दावा         चीनी घुसपैठ: तरीका और पृष्ठभूमि से समझिए मंशा          महबूबा मुफ्ती को राहत नहीं, सरकार ने शाह फैसल समेत 3 नेताओं पर से हटाया PSA          BIG NEWS : मसूद अजहर के रिश्तेदार समेत तीन आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर         जार्ज फ्लाँयड मर्डर         ....खलनायक को पाप से मुक्ति मिले         रामकृपाल कंट्रशन के कार्यालय में एनआईए की छापेमारी         यहाँ से फूटती है उम्मीद की किरण..।         BIG NEWS : पाकिस्तान में 3 और नाबालिग हिंदू लड़कियां अगवा, मौलवियों ने जबरन धर्म परिवर्तन कराकर कराई शादी         ..जब प्रेसिडेंट ट्रंप को बंकर में छिपना पड़ा         त्राल एनकाउंटर में 1 आतंकी ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी          इतिहासकार विजया रामास्वामी का निधन          BIG NEWS  : वैष्णो देवी कटड़ा में 50 घोड़ों और 50 चालकों का कोरोना टेस्ट         झारखंड में कुचल दी गई राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी की संभावनाएं.. अब सब्जी बेचने को हो गई विवश..         शांति-कपोत आत्महत्या कर लेते हैं !          52 years back : गोरे लोग इसके जिम्मेदार हैं तो यह गोरा आपके बीच खड़ा है...         कोरोना काल में हमारे बच्चे !         BIG NEWS : ISI के लिए काम करते थे पाकिस्तानी जासूस, भारत ने देश से बाहर निकाला         BIG NEWS : झारखंड में खुलेगी सभी दुकानें और चलेंगे ऑटो रिक्शा         पाकिस्तान को सिखाया सबक, कई चौकियां तबाह, छह सैनिक घायल         भारतीय सेना ने घुसपैठ कर रहे 3 आतंकियों को मार गिराया, सर्च ऑपरेशन जारी         नेतागिरी चमकाने के लिए बेशर्म होना जरूरी....         BIG NEWS : सिंह मैंशन व रघुकुल समर्थकों में भिड़ंत, लाठी-डंडे व तलवार से हमला, दो की हालत गंभीर          ग्रामीणों और बच्चों को ढाल बनाकर नक्सलियों ने पुलिस पर किया हमला, 2 जवान शहीद         BIG NEWS : जासूसी करते हुए पकड़े गए पाक हाई कमीशन के दो अधिकारी, दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया         POK के सभी टेरर कैंपों में भरे पड़े हैं आतंकवादी : लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू         BIG NEWS : बख्तरबंद वाहन में घुसे चीनी सैनिकों को भारतीय सेना ने घेर कर मारा        

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की खुली दादागिरी

Bhola Tiwari Apr 30, 2019, 7:36 AM IST टॉप न्यूज़
img

अजय श्रीवास्तव

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी वही कर रहीं हैं जो आज से पंद्रह साल पहले सीपीएम के नेता और गुंडे उनके साथ करते थे।मतदान केंद्र पर सीपीएम के गुंडे तृणमूल कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों के वोटरों को पहुँचने नहीं देते थे।खूलेआम बमबाजी होती थी चाहकर भी कोई कुछ नहीं कर सकता था।उन दिनों तृणमूल कांग्रेस अपने शैशवावस्था में थी लेकिन कामरेड ज्योति बसु के बाद कम्युनिस्ट कमजोर होने लगे थे।ज्योति बसु के बाद बुद्धदेव भट्टाचार्य मुख्यमंत्री बने मगर तब तक तृणमूल कांग्रेस ने कम्युनिस्ट के गुंडों को अपने साथ लाना शुरू कर दिया था।बुद्धदेव भट्टाचार्य कामरेड ज्योति बसु की विरासत को संभाल नहीं सके।आपको याद होगा 2005-06 के दौरान ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में दो आंदोलन का नेतृत्व किया जिसमें पहला नंदीग्राम आंदोलन था और दूसरा सिंगूर।26 दिन चले इस आंदोलन ने ममता बनर्जी को कम्युनिस्ट का विकल्प पश्चिम बंगाल में दे दिया।जिस हथियार से कम्युनिस्ट लड़ते थे अब वो ममता बनर्जी के पास आ गया था।अगले विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनीं मगर वो इस बात को समझ गई थीं कि चुनाव को केवल बैलेट से नहीं जीता जा सकता।उसके बाद हर चुनाव में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस हिंसा का सहारा लेने लगीं।कम्युनिस्ट के शासनकाल में भी पत्रकारों पर हमला होता था और आज भी वही हालात हैं।

आज सुबह हीं "आजतक" चैनल की महिला पत्रकार मनोज्ञा लोइवाल पर तृणमूल के गुंडों ने हमला किया और उनके साथ मारपीट की।मनोज्ञा जामुरिया में हिंसा की खबर सुनकर वहाँ रिपोटिंग करने गईं थीं और सबसे दुखद बात तो ये है कि वे केन्द्रीय मंत्री बाबूल सुप्रियो का इंटरव्यू ले रहीं थीं तब उनपर और केन्द्रीय मंत्री पर हमला हुआ।बाबूल सुप्रियो की कार को तोड दिया गया और मनोज्ञा से मारपीट की गई।इस तरह की हिंसा हर फेज में हुई है और होगी ये तो तय मानिए।पत्रकार पर हमले की निंदा ममता बनर्जी ने अभी तक नहीं की है और मुझे नहीं लगता इस विषय पर कोई बयान जारी होगा।

जिद्दी, दंभी ममता बनर्जी ये भूल गईं हैं कि राजनीति में कुछ भी स्थाई नहीं होता, जब तीस साल से काबिज कम्युनिस्ट का किला ध्वस्त हो सकता है तो वो किस खेत की मूली हैं।लोकतंत्र में हिंसा नाकाबिलेबर्दास्त है ये उन्हें सोचना होगा।

भारतीय जनता पार्टी ने जिस प्रकार वहाँ लड़कर अपना जमीन मजबूत की है वो काबिलेतारीफ है।बांग्लादेशी घुसपैठियों का मुद्दा वहाँ सबसे ज्वलनशील मुद्दा बन गया है और जिसप्रकार भाजपा पश्चिम बंगाल में भी नागरिक रजिस्टर बनाने की बात कह रही है वो आम बंगालियों में काफी पसंद की जा रही है।

ममता बनर्जी से पहले कम्युनिस्ट पार्टी बांग्लादेशी घुसपैठियों को राज्य में बसाकर उसका वोट लेती थी वही काम अब तृणमूल कांग्रेस कर रही है।अवैध घुसपैठियों का वोटर आईडी कार्ड और राशनकार्ड बनाकर उन्हें बंगाल का नागरिक बना दिया जाता है जो तृणमूल कांग्रेस के वोटर हो जाते हैं।आम बंगालियों की शिकायत है कि राज्य के संशाधन का बांग्लादेशी घुसपैठिए दोहन कर रहें हैं जो बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

ममता बनर्जी को ये समझना होगा कि चुनावी हिंसा गलत है और इसके परिणाम हमेशा गंभीर हीं होते हैं।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links