ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : जैश-ए-मोहम्मद का आईईडी विशेषज्ञ अब्दुल रहमान मारा गया         BIG NEWS : अंकित शर्मा मर्डर केस: ताहिर हुसैन ने रची थी पूरी साजिश, चार्जशीट में पुलिस का दावा         चीनी घुसपैठ: तरीका और पृष्ठभूमि से समझिए मंशा          महबूबा मुफ्ती को राहत नहीं, सरकार ने शाह फैसल समेत 3 नेताओं पर से हटाया PSA          BIG NEWS : मसूद अजहर के रिश्तेदार समेत तीन आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर         जार्ज फ्लाँयड मर्डर         ....खलनायक को पाप से मुक्ति मिले         रामकृपाल कंट्रशन के कार्यालय में एनआईए की छापेमारी         यहाँ से फूटती है उम्मीद की किरण..।         BIG NEWS : पाकिस्तान में 3 और नाबालिग हिंदू लड़कियां अगवा, मौलवियों ने जबरन धर्म परिवर्तन कराकर कराई शादी         ..जब प्रेसिडेंट ट्रंप को बंकर में छिपना पड़ा         त्राल एनकाउंटर में 1 आतंकी ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी          इतिहासकार विजया रामास्वामी का निधन          BIG NEWS  : वैष्णो देवी कटड़ा में 50 घोड़ों और 50 चालकों का कोरोना टेस्ट         झारखंड में कुचल दी गई राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी की संभावनाएं.. अब सब्जी बेचने को हो गई विवश..         शांति-कपोत आत्महत्या कर लेते हैं !          52 years back : गोरे लोग इसके जिम्मेदार हैं तो यह गोरा आपके बीच खड़ा है...         कोरोना काल में हमारे बच्चे !         BIG NEWS : ISI के लिए काम करते थे पाकिस्तानी जासूस, भारत ने देश से बाहर निकाला         BIG NEWS : झारखंड में खुलेगी सभी दुकानें और चलेंगे ऑटो रिक्शा         पाकिस्तान को सिखाया सबक, कई चौकियां तबाह, छह सैनिक घायल         भारतीय सेना ने घुसपैठ कर रहे 3 आतंकियों को मार गिराया, सर्च ऑपरेशन जारी         नेतागिरी चमकाने के लिए बेशर्म होना जरूरी....         BIG NEWS : सिंह मैंशन व रघुकुल समर्थकों में भिड़ंत, लाठी-डंडे व तलवार से हमला, दो की हालत गंभीर          ग्रामीणों और बच्चों को ढाल बनाकर नक्सलियों ने पुलिस पर किया हमला, 2 जवान शहीद         BIG NEWS : जासूसी करते हुए पकड़े गए पाक हाई कमीशन के दो अधिकारी, दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया         POK के सभी टेरर कैंपों में भरे पड़े हैं आतंकवादी : लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू         BIG NEWS : बख्तरबंद वाहन में घुसे चीनी सैनिकों को भारतीय सेना ने घेर कर मारा         BIG NEWS : अब 30 जून तक बंद रहेंगे झारखंड के स्कूल ं         BIG BRAKING : पुलिस को घेरकर नक्‍सलियों ने बरसाई गोली, डीएसपी का बॉडीगार्ड शहीद        

शेक्सपियर ने अपनी कब्र को शाप दिया था...

Bhola Tiwari Mar 30, 2020, 7:30 AM IST कॉलमलिस्ट
img

एसडी ओझा

नई दिल्ली  : विलियम शेक्सपियर का जन्म 26 अप्रैल साल 1564 में हुआ था। शेक्सपियर की उम्र जब 18 साल थी तभी उसकी शादी कर दी गयी । उस समय शेक्सपियर की पत्नी की उम्र 26 साल थी। यह एक बेमेल विवाह था । दरअसल शेक्सपियर का नीम ऐनी हैथवे के साथ सम्बंध पहले से था । जब वह शेक्सपीयर के बच्चे की माँ बनने को हुई तब आनन फानन में यह शादी की गयी । कुल ऐनी से 3 बच्चे हुए थे, इनमें से एक बच्चे की मृत्यु ग्यारह साल की उम्र किन्हीं अज्ञात कारणों से हो गयी थी । शेक्सपियर और ऐनी का वैवाहिक जीवन सुखमय नहीं था । इसी वजह से शेक्सपियर ने लिखा था -" छलनामयी तेरा हीं नाम नारी है "।

शेक्सपियर एक कवि, नाटककार और अभिनेता थे । उनका नाम अंग्रेजी भाषा के प्रसिद्ध लेखको में शामिल था । इसी वजह से उन्हें “बार्ड ऑफ़ एवन” कहा जाता है। एवन उनका जन्म स्थल था । बार्ड कवि को कहते हैं । शेक्सपियर के सर्वश्रेष्ठ रचनाओं में 38 नाटक, 154 सॉनेट, 2 लंबी कविताओं के साथ तमाम अन्य रचनाएं भी शामिल हैं । 

शेक्सपियर पहले कॉमेडी वाले लेख और नाटक लिखते थे । इसके बाद साल 1608 तक उन्होंने दुखांत नाटक लिखे । हैमलेट, ऑथेलो, किंग लेअर और मैकबेथ उनके दुःखान्त नाटक थे । अपने अंतिम समय में शेक्सपीयर ने नाटकों का लेखन किया था । इनमें कुछ सुखान्त भी थे ।

विलियम शेक्सपियर हैमलेट लिखते समय हमेशा एक मानव खोपड़ी रखते थे । दरअसल यह एक दुखांत नाटक था । इसमें जिंदगी और मौत के बारे में लिखा गया था । शेक्सपियर अपने साथ एक खोपड़ी इसलिए रखते थे ताकि उनको पता चलता रहे की मृत्यु प्रकृति का शाश्वत नियम है । वही जिंदगी का आखिरी सत्य है ।

मैकवेथ नाटक में चुड़ैलें थीं । कहते हैं कि इन चुड़ैलों का साया नाटक के अभिनेताओं पर पड़ा था । वे इस नाटक में काम करते समय चोटिल होने लगे । मैकवेथ को अभिशप्त करार दिया गया । वैसे सच्चाई कुछ और थी । चुड़ैलों का ठीक तरह से अभिमंचन करने के लिए मंच पर अंधेरा किया जाने लगा था । ऐसे में कुछ अभिनेता चोटिल होने लगे । वे अंधेरे में किसी ठोस चीज जैसै मेज कुर्सी आदि से टकराने लगे थे ।

कब्रगाहों में मुर्दों को दफनाने की तंगी होती थी । जगह कमी के कारण गड़े मुर्दे उखाड़े जाते । उनकी जगह पर नये मुर्दे दफनाए जाते थे । पुराने मुर्दों के अवशेष को खेतों में खाद के तौर पर इस्तेमाल कर लिया जाता था । शेक्सपियर इस सत्य से वाकिफ था। इसलिए उसने मरने से पहले अपनी कब्र को शाप दिया था । जो भी मेरी इस कब्र के पास जाएगा उसका पक्का अनिष्ट होगा । यह शाप चार लाइन की कविता में था । कुछ का कहना था कि यह कविता शेक्सपीयर के घर वालों के दिमाग की उपज थी ताकि कोई कब्र को नुकसान न पहुँचाए ।

विलियम शेक्सपियर की मौत 23 अप्रैल 1616 को हुई थी । वैसे कुछ 24 अप्रैल भी बताते हैं । उनकी पुण्यतिथि को शेक्सपीयर डे के रुप में मनाया जाता है । कहते हैं कि शेक्सपीयर के अभिशाप के बाद भी किसी ने उसकी कब्र खोद दी थी । उसकी लाश से खोपड़ी गायब थी । शायद किसी ने हैमलेट की तरह हीं नाटक रचने की योजना बनाई हो । उसकी योजना सफल नहीं हुई । हैमलेट जैसी कोई कालजयी रचना अब तक सामने नहीं आई ।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links