ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : श्रीनगर पुलिस हेडक्वार्टर सील, जम्मू कश्मीर में कुल 10827 कोरोना के मरीज         BIG NEWS : भारत-चीन के बीच चौथे चरण की कोर कमांडर स्तर की बैठक शुरू, कई अहम मुद्दों पर होगी चर्चा         BIG NEWS : सचिन पायलट पर कार्रवाई, उप मुख्यमंत्री के पद से हटाए गए         नेपाल पीएम के बिगड़े बोल, कहा – “नेपाल में हुआ था भगवान राम का जन्म, नेपाली थे भगवान राम”         CBSE 12वीं का रिजल्ट : देश में 88.78% स्टूडेंट पास         BIG NEWS : सेना प्रमुख एमएम नरवणे जम्मू पहुंचे, सुरक्षा स्थिति का लिया जायजा         अनंतनाग एनकाउंटर में 2 आतंकी ढेर         बांदीपोरा में 4 OGWS गिरफ्तार, हथियार बरामद         BIG NEWS : हाफिज सईद समेत 5 आतंकियों के बैंक अकाउंट फिर से बहाल         BIG NEWS : लालू यादव का जेल "दरबार", तस्वीर वायरल         मान लीजिए इंटर में साठ प्रतिशत आए, या कम आए, तो क्या होगा?         BIG NEWS : झारखंड में रविवार को कोरोना संक्रमण से 6 मरीजों की मौत, बंगाल-झारखंड सीमा सील         BIG NEWS : सोपोर में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, अब तक 2 आतंकी ढेर         BIG NEWS : देश में PMAY के क्रियान्वयन में रामगढ़ नंबर वन         BIG NEWS : श्रीनगर में तहरीक-ए-हुर्रियत के चेयरमैन अशरफ सेहराई गिरफ्तार         BIG NEWS : ऐश्वर्या राय बच्चन और आराध्या बच्चन की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव         BIG NEWS : मध्यप्रदेश की राह पर राजस्थान !         अमिताभ बच्चन ने कोरोना के खौफ के बीच सुनाई थी उम्मीद भरी कविता, अब..         .... टिक-टॉक वाले प्रकांड मेधावियों का दस्ता         BIG BRAKING : नक्सलियों नें कोल्हान वन विभाग कार्यालय व गार्ड आवास उड़ाया         BIG NEWS : महानायक अमिताभ बच्चन के बाद अभिषेक बच्चन को भी कोरोना         BIG NEWS : अमिताभ बच्चन करोना पॉजिटिव         BIG NEWS : आतंकियों को घुसपैठ कराने की कोशिश में पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम         अपराधी मारा गया... अपराध जीवित रहा !          BIG NEWS : भारत चीन के बीच बातचीत, सकारात्मक सहमति के कदम आगे बढ़े         BIG NEWS : बारामूला के नौगाम सेक्टर में LOC के पास मुठभेड़, दो आतंकी ढेर         BIG STORY : समरथ को नहिं दोष गोसाईं         शर्मनाक : बाबू दो रुपए दे दो, सुबह से भूखी हूं.. कुछ खा लुंगी         BIG NEWS : वर्चुअल काउंटर टेररिज्म वीक में बोले सिंघवी, कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, था और रहेगा         BIG NEWS : कानपुर से 17 किमी दूर भौती में मारा गया गैंगेस्टर विकास, एसटीएफ के 4 जवान भी घायल         BIG NEWS : झारखंड के स्कूलों पर 31 जुलाई तक टोटल लॉकडाउन         BIG NEWS : चीन के खिलाफ “बायकॉट चाइना” मूवमेंट          पाकिस्तानी सेना ने नौशेरा सेक्टर में की गोलाबारी, 1 जवान शहीद         मुसीबत देश के आम लोगों की है जो बहुत....         BIG NEWS : एनकाउंटर में मारा गया गैंगस्टर विकास दुबे        

कोरोना पर साजिश ! चीन को कटघरे में खड़ा करने के लिए खड़े हैं कई सवाल

Bhola Tiwari Mar 26, 2020, 11:46 AM IST टॉप न्यूज़
img

● जानकारी के बावजूद समय पर चीन ने नहीं दी विश्व के देशों को जानकारी

● सूचना देने वाले कई लोग गायब तो सैकड़ों लोगों पर की कार्रवाई, जिसने भी आवाज उठाई उसे चुप करा दिया गया


मधुकर श्रीवास्तव

कोरोना वायरस से कराह रही पूरी दुनिया में इस वक्त 3 लाख से भी अधिक मामले आ चुके हैं। हजारों लोग अपनी जान गवां चुके हैं और कितने जान गवाने के कगार पर हैं। ऐसे में सवाल उठना लाजमी है कि चीन ने जानकारी होने के बावजूद विश्व के अन्य देशों को समय पर सूचना क्यों नहीं दी। अपने ही देश में सूचना देने वालों के खिलाफ कार्रवाई क्यों की। कई ऐसे सवाल है जो चाइना के चरित्र पर सवालिया निशान खड़ा करते हैं।


1. 10 दिसंबर को चीन में को रोना वायरस का पहला मामला सामने आया।

2. वुहान सेंट्रल हॉस्पिटल के डायरेक्टर ने 30 दिसंबर को इस वायरस के बारे में वीचैट पर सूचना दी। इसके लिए उन्हें जमकर फटकार लगाई गई। आदेश दिया गया कि वह इस वायरस के बारे में किसी को कुछ भी सूचना ना दे।

3. डॉक्टर ली वेलिआंग ने को रोना वायरस के बारे में सोशल मीडिया पर विचार साझा किए उन्हें भी फटकार लगाई गई।


4. 2 जनवरी को चीन के वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस की जेनेटिक इनफॉरमेशन के बारे में सब कुछ पता कर लिया था लेकिन इसे सार्वजनिक नहीं किया गया।

5. 20 जनवरी को दक्षिण कोरिया में कोरोनावायरस का पहला मामला सामने आया। उसी दिन चीन ने घोषणा की कि यह एक ह्यूमन टू ह्यूमन ट्रांसफर होने वाला वायरस है।

6. 21 जनवरी को चीन के सरकारी अखबार ने इस बीमारी को लेकर राष्ट्रपति शी जिनपिंग के एक्शन प्लान के बारे में बताया। इसके 2 दिन बाद वुहान के कुछ शहरों में लॉक डाउन की घोषणा की गई। बावजूद 24 से 30 जनवरी तक चीन में नए साल का जश्न मनाया गया। इसी दरमियान चीन लाक डाउन का क्षेत्र भी बढ़ाता रहा और वहां इस वायरस से लड़ने के लिए एक नया अस्पताल तैयार किया।

7. चीन जो महीनों तक दुनिया की आंखों में धूल झोंकता रहा। चीन के इस करनी से सिर्फ उसे ही नहीं आज विश्व के कई देश की हालत बेहद खराब है।

8. बावजूद उत्सव की अनुमति देकर और जश्न पर रोक ना लगाकर उसने लोगों की आवाजाही जारी रखी जिससे इस वायरस के फैलने की रफ्तार और बढ़ गई। अगर सही समय पर इस पर लगाम लगाया गया होता तो आज पूरी दुनिया में तबाही का यह आलम देखने को नहीं मिलता।


 अब सवाल उठता है कि चीन ने ऐसा क्यों किया और जिन जिन लोगों ने इन सूचनाओं को लीक किया, उन्हें सजा क्यों दी। उन्हें क्यों मना किया। सूचना देने वाले ऐसे सभी लोग चीन से गायब है या तो गायब करा दिए गए। 

चीन में 5 लोग ऐसे हैं जो कोरोना वायरस के बारे में सूचना सार्वजनिक करने और सवाल उठाने के बाद गायब हो गए या कर दिए गए। चीन के प्रोफेसर झू झींगन ने इस बारे में बहुत कुछ बताया था। कुछ दिनों बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया और सारे सोशल मीडिया वेबसाइट से उनके अकाउंट गायब हो गए। ऐसी एक वीडियो ब्लॉगर का कुछ अता पता नहीं चला। इन सभी को कोरोनावायरस के बारे में सवाल पूछना और सूचना देने की सजा मिली। डॉक्टर ली वेलिऑग ने जब स्थानीय पुलिस को कोरोना के बारे में बताया, उल्टा उन्हें चुप करा दिया गया। कोरोना वायरस के कारण ही उनकी मौत हो गई। CNN, The New York Times और ह्यूमन.राइट्स डिफेंडर्स की रिपोर्ट बताती है कि ऐसे करीब 350 लोगों पर कार्रवाई की गई।



 चीन के विभिन्न शहरों में 350 ऐसे लोग हैं जिन्हें कोरोना के बारे में कुछ भी बोलने की सजा दी गई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एक युवक ने कुछ लाशों के बारे में वीडियो बनाया था जिसको लेकर उन्हें गायब कर दिया गया। 

गौरतलब है कि चीन में खबरों का कोई स्वतंत्र स्रोत नहीं है। सबकुछ सरकार के नियंत्रण में है। जब भी कोई ऐसी परिस्थिति आती है कि सरकार को किसी बात को छिपा ना होता हो या सार्वजनिक नहीं करने की मंशा होती है तो चीन सभी सोशल मीडिया साइट और मीडिया की खबरों पर बैन लगा देता है या अपने मुताबिक प्रसारित करवाता है।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links