ब्रेकिंग न्यूज़
WHO की रिपोर्ट में खुलासा : ऐसे फैलता है कोरोना वायरस         पाकिस्तान : नाबालिग को अगवा कर पहले किया रेप, फिर धर्म-परिवर्तन करा रेपिस्ट से कराई शादी         इस दीए की रोशनी         अनलॉक्ड : खुली हवाओं में सांस ले रहे हैं जीव-जन्तु         सीएम योगी का फरमान : नर्सों से अश्लील हरकत करने वाले जमातियों पर NSA, अब पुलिस के पहरे में इलाज         जमात की करतूत : नर्सों के सामने नंगा होने वाले जमात के 6 लोगों पर FIR         आप इन्फेक्टेड हो गए हैं तो काफिरों को इन्फेक्ट कीजिए : आईएसआईएस          मैं, सरकारी सिस्टम के साथ हूँ         तबलीगी जमात से जुड़े 400 लोग कोरोना पॉजिटिव, 9000 क्वारनटीन : स्वास्थ्य मंत्रालय         BIG NEWS : झारखंड में कोरोना का दूसरा मरीज मिला         सेना की बड़ी तैयारी : युद्धपोत, प्लेन अलर्ट, सेना के 8,500 डॉक्टर भी तैयार         पाकिस्तान में ऐलान : तबलीगी जमात के लोगों से नहीं मिले मुल्क के लोग         सबके राम !         तबलीगी जमात का आतंकवादी संगठनों से अप्रत्यक्ष संबंध : तस्लीमा नसरीन         BIG NEWS : झारखंड के मंत्री पुत्र को आइसोलेशन वार्ड, होम क्वारेंटाइन में मंत्री         BIG NEWS : अब 15 वर्षों से राज्य में रहने वाला हर नागरिक जम्मू कश्मीर का स्थायी निवासी         11 जनवरी से 31मार्च- 80 दिन 1920 घंटे..          क्या है तबलीगी जमात और मरकज?         खतरे में प्रिंट मीडिया         तबलीगी जमात में शामिल धार्मिक प्रचारकों को ब्लैक लिस्ट करेगी सरकार         तबलीकी जमात का सालाना कार्यक्रम :  केंद्र सरकार, दिल्ली सरकार और दिल्ली पुलिस का फेल्योर हीं है !         बड़ी खबर : झारखंड में कोरोना का पहला पॉजिटिव केस, हिंदपीढ़ी में मलेसिया की युवती निकली संक्रमित, तब्‍लीगी जमात से जुड़ी है मलेशिया की महिला         क्या है तबलीकी जमात और मरकज?जिनके ऊपर लापरवाही के आरोप लग रहे हैं...         हे राम-भरोसे ! हमसे उम्मीद मत रखना !         होशियार लोगों का वायरल बीहेवियर         लॉक डाउन को मंत्री जी ने किया अनलॉक, डीसी का आदेश पाकर गांव की ओर चल पड़ी बसें         पाकिस्तान में कोरोना : राशन सिर्फ मुसलमानों के लिए है, हिंदूओं को नहीं मिलेगा         चीन को खलनायक बनाकर अमेरिकीपरस्त प्रेस ने निकाली मीडिया की मैयत..         विएतनाम पर बीबीसी की रिपोर्ट : किस पर भरोसा करें!         पाकिस्तान में कोरोना : मास्क और ग्लव्स की जगह पॉलिथीन पहनकर इलाज कर रहे हैं डॉक्टर         राजकुमारी मारिया टेरेसा की कोरोना से मौत         टाटा ग्रुप ने 1500 करोड़,.अक्षय कुमार ने 25 करोड़ सहायता राशि का किया ऐलान, किन-किन हस्तियों ने दिया कितना दान         लॉकडाउन... मौत की राह में पलायन की अंतहीन पीड़ा         कोरोना को ‘इन्फोडेमिक’ बनाने से बचना होगा         कैराना बनता जा रहा है कोरोना          कोरोना से निपटने में PM मोदी ने की दान की अपील, भारी ट्रैफिक से वेबसाइट क्रैश         कोरोना : भारतीय रेल का अनोखा प्रयोग, ट्रेन की बोगियों को बनाया आइसोलेशन वार्ड         “मेड इन चाइना”: चीन के कोरोना टेस्ट किट ने स्पेन को दिया धोखा, सही जानकारी नहीं दे रहा है किट         बुजुर्गों को मौत परोसती पीढियां        

कोरोना पर साजिश ! चीन को कटघरे में खड़ा करने के लिए खड़े हैं कई सवाल

Bhola Tiwari Mar 26, 2020, 11:46 AM IST टॉप न्यूज़
img

● जानकारी के बावजूद समय पर चीन ने नहीं दी विश्व के देशों को जानकारी

● सूचना देने वाले कई लोग गायब तो सैकड़ों लोगों पर की कार्रवाई, जिसने भी आवाज उठाई उसे चुप करा दिया गया


मधुकर श्रीवास्तव

कोरोना वायरस से कराह रही पूरी दुनिया में इस वक्त 3 लाख से भी अधिक मामले आ चुके हैं। हजारों लोग अपनी जान गवां चुके हैं और कितने जान गवाने के कगार पर हैं। ऐसे में सवाल उठना लाजमी है कि चीन ने जानकारी होने के बावजूद विश्व के अन्य देशों को समय पर सूचना क्यों नहीं दी। अपने ही देश में सूचना देने वालों के खिलाफ कार्रवाई क्यों की। कई ऐसे सवाल है जो चाइना के चरित्र पर सवालिया निशान खड़ा करते हैं।


1. 10 दिसंबर को चीन में को रोना वायरस का पहला मामला सामने आया।

2. वुहान सेंट्रल हॉस्पिटल के डायरेक्टर ने 30 दिसंबर को इस वायरस के बारे में वीचैट पर सूचना दी। इसके लिए उन्हें जमकर फटकार लगाई गई। आदेश दिया गया कि वह इस वायरस के बारे में किसी को कुछ भी सूचना ना दे।

3. डॉक्टर ली वेलिआंग ने को रोना वायरस के बारे में सोशल मीडिया पर विचार साझा किए उन्हें भी फटकार लगाई गई।


4. 2 जनवरी को चीन के वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस की जेनेटिक इनफॉरमेशन के बारे में सब कुछ पता कर लिया था लेकिन इसे सार्वजनिक नहीं किया गया।

5. 20 जनवरी को दक्षिण कोरिया में कोरोनावायरस का पहला मामला सामने आया। उसी दिन चीन ने घोषणा की कि यह एक ह्यूमन टू ह्यूमन ट्रांसफर होने वाला वायरस है।

6. 21 जनवरी को चीन के सरकारी अखबार ने इस बीमारी को लेकर राष्ट्रपति शी जिनपिंग के एक्शन प्लान के बारे में बताया। इसके 2 दिन बाद वुहान के कुछ शहरों में लॉक डाउन की घोषणा की गई। बावजूद 24 से 30 जनवरी तक चीन में नए साल का जश्न मनाया गया। इसी दरमियान चीन लाक डाउन का क्षेत्र भी बढ़ाता रहा और वहां इस वायरस से लड़ने के लिए एक नया अस्पताल तैयार किया।

7. चीन जो महीनों तक दुनिया की आंखों में धूल झोंकता रहा। चीन के इस करनी से सिर्फ उसे ही नहीं आज विश्व के कई देश की हालत बेहद खराब है।

8. बावजूद उत्सव की अनुमति देकर और जश्न पर रोक ना लगाकर उसने लोगों की आवाजाही जारी रखी जिससे इस वायरस के फैलने की रफ्तार और बढ़ गई। अगर सही समय पर इस पर लगाम लगाया गया होता तो आज पूरी दुनिया में तबाही का यह आलम देखने को नहीं मिलता।


 अब सवाल उठता है कि चीन ने ऐसा क्यों किया और जिन जिन लोगों ने इन सूचनाओं को लीक किया, उन्हें सजा क्यों दी। उन्हें क्यों मना किया। सूचना देने वाले ऐसे सभी लोग चीन से गायब है या तो गायब करा दिए गए। 

चीन में 5 लोग ऐसे हैं जो कोरोना वायरस के बारे में सूचना सार्वजनिक करने और सवाल उठाने के बाद गायब हो गए या कर दिए गए। चीन के प्रोफेसर झू झींगन ने इस बारे में बहुत कुछ बताया था। कुछ दिनों बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया और सारे सोशल मीडिया वेबसाइट से उनके अकाउंट गायब हो गए। ऐसी एक वीडियो ब्लॉगर का कुछ अता पता नहीं चला। इन सभी को कोरोनावायरस के बारे में सवाल पूछना और सूचना देने की सजा मिली। डॉक्टर ली वेलिऑग ने जब स्थानीय पुलिस को कोरोना के बारे में बताया, उल्टा उन्हें चुप करा दिया गया। कोरोना वायरस के कारण ही उनकी मौत हो गई। CNN, The New York Times और ह्यूमन.राइट्स डिफेंडर्स की रिपोर्ट बताती है कि ऐसे करीब 350 लोगों पर कार्रवाई की गई।



 चीन के विभिन्न शहरों में 350 ऐसे लोग हैं जिन्हें कोरोना के बारे में कुछ भी बोलने की सजा दी गई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एक युवक ने कुछ लाशों के बारे में वीडियो बनाया था जिसको लेकर उन्हें गायब कर दिया गया। 

गौरतलब है कि चीन में खबरों का कोई स्वतंत्र स्रोत नहीं है। सबकुछ सरकार के नियंत्रण में है। जब भी कोई ऐसी परिस्थिति आती है कि सरकार को किसी बात को छिपा ना होता हो या सार्वजनिक नहीं करने की मंशा होती है तो चीन सभी सोशल मीडिया साइट और मीडिया की खबरों पर बैन लगा देता है या अपने मुताबिक प्रसारित करवाता है।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links