ब्रेकिंग न्यूज़
पाकिस्तान में कोरोना : राशन सिर्फ मुसलमानों के लिए है, हिंदूओं को नहीं मिलेगा         चीन को खलनायक बनाकर अमेरिकीपरस्त प्रेस ने निकाली मीडिया की मैयत..         विएतनाम पर बीबीसी की रिपोर्ट : किस पर भरोसा करें!         पाकिस्तान में कोरोना : मास्क और ग्लव्स की जगह पॉलिथीन पहनकर इलाज कर रहे हैं डॉक्टर         राजकुमारी मारिया टेरेसा की कोरोना से मौत         टाटा ग्रुप ने 1500 करोड़,.अक्षय कुमार ने 25 करोड़ सहायता राशि का किया ऐलान, किन-किन हस्तियों ने दिया कितना दान         लॉकडाउन... मौत की राह में पलायन की अंतहीन पीड़ा         कोरोना को ‘इन्फोडेमिक’ बनाने से बचना होगा         कैराना बनता जा रहा है कोरोना          कोरोना से निपटने में PM मोदी ने की दान की अपील, भारी ट्रैफिक से वेबसाइट क्रैश         कोरोना : भारतीय रेल का अनोखा प्रयोग, ट्रेन की बोगियों को बनाया आइसोलेशन वार्ड         “मेड इन चाइना”: चीन के कोरोना टेस्ट किट ने स्पेन को दिया धोखा, सही जानकारी नहीं दे रहा है किट         बुजुर्गों को मौत परोसती पीढियां         पाकिस्तानी आर्मी कोरोना संक्रमित मरीजों को जबरन भेज रही पीओके और गिलगिट- बल्तिस्तान         कोरोना इफेक्ट : सस्ते लोन-EMI पर तीन महीने की छूट : RBI          कोरोना कोलाहल : डीसी आदेश के सामने नृत्य करते सत्ता के पैबंद          बनारस के कोइरीपुर में घास खा रहे मुसहर         चलो कुदरत की ओर...         अब, वतन लौट जाऊंगा...         मक्खियों के जरिए भी फैल सकता है कोरोना वायरसः मेडिकल मैगजीन "द लैंसट"         मोहल्ला क्लीनिक में कोरोना : सऊदी से लौटी तबरेज की बहन से डॉक्टर, उनकी पत्नी और बेटी को कोरोना संक्रमण         केंद्र सरकार का बड़ा ऐलान : 3 महीने तक 5 किलो राशन, 1 किलो दाल और रसोई गैस सिलिंडर फ्री         कोरोना पर साजिश ! चीन को कटघरे में खड़ा करने के लिए खड़े हैं कई सवाल         कब होगी जनादेश से जड़ों की तलाश          कोरोना : मोदी सरकार 80 करोड़ लोगों को देगी ₹2 और ₹3 प्रति किलो गेहूँ-चावल         अंधविश्वास का वायरस..         मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ हुए क्वारंटाइन         "ग्लैमरस गर्ल आँफ पार्लियामेंट" कहा जाता था अद्वितीय सुंदरी तारकेश्वरी सिन्हा को         लॉकडाउन में मेडिकल स्टोर, राशन दुकान, पेट्रोल पंप, एलपीजी, एटीएम खुले रहेंगे         सभी सरकारी व प्राइवेट कंपनियों से कर्मचारियों की नौकरी बहाल रखने और वेतन नहीं घटाने के निर्देश         खुद को बचाने के लिए सूर्य मंदिर ने बदल ली थी दिशा         सभ्यता पर भारी, वामपंथी तानाशाही          "कोरोना वायरस" से भी खतरनाक था 1918 में फैला "स्पेनिश फ्लू",पाँच करोड लोग काल के गाल में समाए थे         21 दिन तक पूरा भारत बंद         आर्थिक इमरजेंसी लागू कर सकते हैं प्राइम मिनिस्टर नरेंद्र मोदी !         कोरोना वायरस का साइड इफेक्ट : राज्य सभा चुनाव स्थगित         नदी जो कभी बहती थी : नमामि गंगे की हो चुकी है अकाल मौत         दिल्ली पुलिस की बड़ी कार्रवाई : शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों को हटाया         शर्म मगर आती नहीं...         कोरोना वायरस और इम्युनिटी         स्थिति एक, एटीच्यूड दो          बड़ी खबर : सुरक्षाबलों ने आतंकी मॉड्यूल का किया खुलासा, हथियारों का जखीरा बरामद         पटना के मस्जिद में 12 विदेशी मुसलमान : घूम-घूम शहर में कर रहे थे इस्लाम का प्रचार        

आप नहीं सुधरेंगे ?

Bhola Tiwari Mar 26, 2020, 8:03 AM IST कॉलमलिस्ट
img


ध्रुव गुप्त

पटना  : कुछ लोग लगता है देश पर उपस्थित बड़े संकट के दौर में भी एक एजेंडे के तहत सोशल मीडिया पर नकारात्मकता और हताशा फैलाने के अभियान में लगे हैं। समूची दुनिया को निगल जाने को आतुर कोरोना से लड़ने के लिए तनिक देर से ही सही, हमारी सरकार ने बहुत सही क़दम उठाए हैं। चिकित्सा सुविधाएं बढ़ाने के लिए राज्यों को पर्याप्त धनराशि मुहैय्या कराई जा रही है। कोविद19 इकनोमिक टास्कफोर्स राज्यों से विमर्श कर ज़रूरी सहायता उपलब्ध करा रहा है। अपने नागरिकों का हित देखने की ज़िम्मेदारी राज्य सरकारों की है। लंबे लॉकडाउन के दौरान ज्यादातर राज्य सरकारों द्वारा निबंधित दैनिक मज़दूरों के खातों में फिलहाल एक से लेकर पांच हज़ार की रकम डाली जा रही है। राशन कार्ड धारकों को एक से डेढ़ महीने का राशन मुफ्त दिया जा रहा है। वृद्धों और विधवाओं का तीन महीने का अग्रिम पेंसन उनके खातों में डाला जा रहा है। आवश्यक वस्तुओं और दवाओं की दुकानें खुली रखी गई हैं। एहतियात बरतते हुए अपने नजदीकी दुकानों से ज़रूरी वस्तुएं खरीदी जा सकती हैं। अभी उत्तर प्रदेश की सरकार ने आवश्यक वस्तुएं अपने नागरिकों के दरवाजे पर पहुंचाने की घोषणा की है। दिल्ली और झारखंड की सरकारें भी ऐसा करने जा रही है। दूसरी राज्य सरकारें भी इसका अनुसरण ज़रूर करेंगी। कई संस्थाएं गरीबों के लिए मुफ्त भोजनालय खोल रही हैं। 

अब इतने बड़े देश में कोई भी व्यवस्था परफेक्ट तो नहीं हो सकती। कुछ तकलीफें हम सबको उठानी ही पड़ेगी। व्यवस्था या वितरण में कोई कमी या जमाखोरी और कालाबाजारी की शिकायत है तो अपने अनुमंडल पदाधिकारी, जिला मजिस्ट्रेट और स्थानीय जनप्रतिनिधियों का ध्यान आकृष्ट करें। तकलीफों के निवारण के लिए हर जिले का एक हेल्पलाइन नंबर सरकार ने जारी किया है। शिकायत वहां भी की जा सकती है। और हां, अपने-अपने टोले-मुहल्ले के कुछ ज़रूरतमंद लोगों की मदद हम और आप भी तो कर ही सकते हैं। बहुत सारे लोग कर भी रहे हैं। कोरोना के वैश्विक आपदा से मुक़ाबले के लिए सरकार और प्रशासन के साथ एकजुटता, आपसी सहयोग और धैर्य की ज़रुरत होगी। अगर हम ऐसा नहीं कर सकते तो कम से कम पहले से डरे लोगों में निराशा और हताशा फैलाने से तो बच ही सकते हैं !

#कोरोनावायरस #Corona #Covid19 #GoCoronaGo

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links