ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : कश्मीर के नाम पर पाकिस्तानी ने इंग्लैंड के गुरुद्वारा में किया हमला         BIG NEWS : बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट में किसने लगाई आग! लाखों का नुकसान          BIG NEWS : इंडिया और इज़राइल मिलकर खोजेंगे कोविड-19 का इलाज         CBSE : अपने स्कूल में ही परीक्षा देंगे छात्र, अब देशभर में 15000 केंद्रों पर होगी परीक्षा         BIG NEWS : कुलगाम एनकाउंटर में कमांडर आदिल वानी समेत दो आतंकी ढेर         BIG NEWS : लद्दाख बॉर्डर पर भारत ने तंबू गाड़ा, चीन से भिड़ने को तैयार         ममता बनर्जी को इतना गुस्सा क्यों आता है, कहा आप "मेरा सिर काट लीजिए"         GOOD NEWS ! रांची से घरेलू उड़ानें आज से हुईं शुरू, हवाई यात्रा करने से पहले जान लें नए नियम         .... उनके जड़ों की दुनिया अब भी वही हैं         आतंकियों को बचाने के लिए सुरक्षाबलों पर पत्थरबाज़ी, जवाबी कार्रवाई में कई घायल         BIG NEWS : पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर तौफीक उमर को कोरोना, अब पाकिस्तान में 54 हजार के पार         महाराष्ट्र में खुल सकते है 15 जून से स्कूल , शिक्षा मंत्री ने दिए संकेत         BIG NEWS : सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के टॉप आतंकी सहयोगी वसीम गनी समेत 4 आतंकी को किया गिरफ्तार         आतंकी साजिश नाकाम : सुरक्षाबलों ने पुलवामा में आईईडी बम बरामद         BREAKING: नहीं रहे कांग्रेस के विधायक राजेंद्र सिंह         पानी रे पानी : मंत्री जी, ये आप की राजधानी रांची है..।         BIG NEWS : कल दो महीने बाद नौ फ्लाइट आएंगी रांची, एयरपोर्ट पर हर यात्री का होगा टेस्ट         BIG NEWS : भाजपा के ताइवान प्रेम से चिढ़ा ड्रैगन, चीन ने दर्ज कराई आपत्ति         सिर्फ विरोध से विकास का रास्ता नहीं बनता....         सीमा पर चीन ने बढ़ाई सैन्य ताकत, मशीनें सहित 100 टेंट लगाए, भारतीय सेना ने भी सैनिक बढ़ाए         BIG NEWS : केजरीवाल सरकार ने सिक्किम को बताया अलग राष्ट्र         महिला पर महिलाओं द्वारा हिंसा.... कश्मकश में प्रशासन !         BIG NEWS : वैष्णों देवी धाम में रोज़ाना 500 मुस्लिमों की सहरी-इफ्तारी की व्यवस्था         विस्तारवादी चीन हांगकांग पर फिर से शिकंजा कसने की तैयारी में, विरोध-प्रर्दशन शुरू         BIG NEWS : स्पेशल ट्रेन की चेन पुलिंग कर 17 मजदूर रास्ते में ही उतरे         भक्ति का मोदी काल ---         अम्फान कहर के कई चेहरे, एरियल व्यू देख पीएम मोदी..!         महिला को अर्द्धनग्न कर घुमाया गया !         टिड्डा सारी हरियाली चट कर जाएगा...         'बनिया सामाजिक तस्कर, उस पर वरदहस्त ब्राह्मणों का'         इतिहास जो हमें पढ़ाया नहीं गया...         झारखंड : शुक्रवार को 15 कोरोना         BIG NEWS : जिन्ना गार्डन इलाके में गिरा प्लेन, कई घरों में लगी आग, जीवन बचाने के लिए भागे लोग         BIG NEWS : पाकिस्तान की फ्लाइट क्रैश, विमान में सवार सभी 107 लोगों की मौत         BIG NEWS : मधु कोड़ा के केवल चुनाव लड़ने के लिए दोषी होने पर रोक लगाना ठीक नहीं : दिल्ली हाई कोर्ट         BIG NEWS : तीन और महीने के लिए टली ईएमआई, 31 अगस्त तक बढ़ाया         BIG NEWS : आज से आरक्षित टिकटों की बुकिंग रेलवे काउंटर से शुरू         चीन के बाद अब पाक ने बढ़ाई सीमा पर ताकत, तोपें और अतिरिक्त सैन्य डिवीजन तैनात          BIG STORY : झारखंड के लिए शिक्षा माने भीक्षा....         BIG NEWS : पाकिस्तान ने सरकारी मैप में सुधारी गलती ! गिलगित-बल्तिस्तान और मीरपुर-मुजफ्फराबाद भारत का हिस्सा         BIG NEWS : अम्फान तूफान, तबाही के निशान        

नदी जो कभी बहती थी : नमामि गंगे की हो चुकी है अकाल मौत

Bhola Tiwari Mar 24, 2020, 10:29 AM IST टॉप न्यूज़
img


अमरेंद्र किशोर

पटना  :.हॉलीवुड के फ़िल्म निर्माता रोबर्ट रेडफोर्ड ने एक नदी का मुआयना करते हुए मछुआरों की ज़िन्दगी पर फ़िल्म बनाने का निर्णय लिया। कोई तीन साल बाद जब वह फ़िल्म यूनिट लेकर शूटिंग के लिए उक्त नदी के किनारे पहुंचे तो उन्हें वहां नदी के बदले नाला नहीं पनाला मिला। इस कारण रोबर्ट को नकली सेट लगाकर अपनी फिल्म ' रिवर्स रन थ्रू इंट' का निर्माण पूरा करना पड़ा। फ़िल्म 1992 में आई और खूब चर्चित रही। 


आज पटना के गंगा किनारे जब भी जाता हूँ तो रोबेर्ट रेडफोर्ड की मनःस्थिति में जीने लगता हूँ। हर साल पटना जाता हूँ। हर बार कुछ नए घाट पहुंचता हूँ-- चाहे महेंद्रू घाट हो,अंटा घाट हो,बीएन कॉलेज घाट हो या अदालत घाट हो, गंगा का हाल सदमा देता है। गंगा नदी पटना में बांस घाट से लेकर कृष्णा घाट तक दो से पांच किलोमीटर दूर चली गयी है।जिस महेंद्रू घाट से हम कभी स्टीमर पकड़कर पहलेजा घाट होकर वहाँ से मुजफ्फरपुर अपने गांव जाते थे, उस महेंद्रू घाट के सामने पटना शहर का नाला बह रहा है। इस घाट के किनारे कभी बीस से पच्चीस मीटर की गहराई तक पानी होता था। तभी तो बड़े बड़े यात्रीवाहक स्टीमर यहां लगते थे। लेकिन अब इस नाला को देखकर यकीन ही नहीं होता कि कभी यहां एक संस्कृति बसती थी। सामने सरसों की खेती होती है। 


यही नाला रानी घाट होकर गाय घाट तक बहकर गंगा में गिरता है। उस नाले के पार अवैध तरीके से गेहूं और सरसों की खेती मचल रही है। पता चला कि मलगज निस्तारण संयंत्र दो साल से बेकार पड़े है। गंगा को बर्बाद करने में मानव मन ज्यादा जिम्मेवार है। पटना के हर तबके के लोगों से मिल रहा हूँ। पर्यावरणविद, पत्रकार, रसायन विज्ञानी से लेकर नदियों के स्वभाव और सेहत पर काम करनेवाली विभूतियां। दबे स्वर में सभी दुख जताते हैं। 


पत्रकार Arun Singh, Imran Khan और सीटू तिवारी खुलकर अपनी बात कहते हैं, कोई लाग लपेट नहीं। गंगा कितनी निर्मल रहेगी यह ऊपर की बातों से महसूस होता है। लेकिन अविरल क्यों रहेगी जब शहर का कंक्रीट निर्माण गंगा को लतिया रहा है। गंगा के किनारे 479 ईंट भठ्टे हैं। उनका कचरा गंगा में गिराने का प्रचलन है। इस बात का सही जवाब बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के पास नहीं है। बोर्ड के चेयरमैन साहब से मिलकर लौटा हूँ। महोदय इस बात पर खुलकर कुछ नहीं कहते लेकिन रिवर बेड पर बिछती बस्तियों को लेकर उनका कहना वाजिब है कि एक दिन सबको हटना होगा।

सवाल है कब। जब बर्बादी के रूपक का भरतवाक्य लिखा जाएगा तब?

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links