ब्रेकिंग न्यूज़
भारत का बड़ा कदम : हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन दवा के निर्यात से हटा बैन         POK : गिलगित-बल्तिस्तान में पत्रकारों का पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन, पत्रकारों ने कहा- काम करने की चाहिए आजादी         कोरोना वायरस : अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने भारत से फिर मांगी मदद         संकेत खतरनाक हैं...         धन और जीवन के बीच मांडवली...         झारखंड में तमाशा : कोरोना का मरीज आइसोलेशन वार्ड से निकल शहर में घूमता रहा, लिट्टी खायी, चाय पी         बड़ा फैसला: 1 साल के लिए की गई सांसदों के वेतन में 30% की कटौती         बरेली : लॉकडाउन का पालन कराने गई पुलिस टीम पर भीड़ ने किया हमला, SP घायल         भारतीय सेना की बड़ी कार्रवाई : पाकिस्तानी सेना के अधिकारी समेत 3 जवान घायल, दर्जनों चौकियां तबाह         न्यूयॉर्क के चिड़ियाघर में एक चार वर्षीय बाघ भी कोरोना वायरस का शिकार         बास मारती बेसिक शिक्षा के रुदन में शामिल मिस संता-बंता..         भारतीय सेना ने केरन सेक्टर में 5 आतंकियों को मार गिराया         कोरोना वायरस : अमेरिकी प्रेसिडेंट ट्रंप ने प्राइम मिनिस्टर मोदी से मांगी मदद         झारखंड : बोकारो में मिला कोरोना का तीसरा मामला          पाकिस्तान को चीन ने दिया 'धोखा', भेज दिया अंडरवेयर से बने मास्क         खुशखबरी : नए डोमिसाइल नियम में संशोधन, स्थायी निवासियों के लिए सरकारी नौकरियां आरक्षित         स्वास्थ्य मंत्रालय : कोरोना के 30% मामले तब्लीगी जमात के मरकज की वजह से फैले         प्रार्थना का क्या महत्व है ?         लॉक डाउन : कुछ शर्तों के साथ खुल सकता है लॉकडाउन, जानें क्या है सरकार की तैयारी         WHO की रिपोर्ट में खुलासा : ऐसे फैलता है कोरोना वायरस         पाकिस्तान : नाबालिग को अगवा कर पहले किया रेप, फिर धर्म-परिवर्तन करा रेपिस्ट से कराई शादी         इस दीए की रोशनी         अनलॉक्ड : खुली हवाओं में सांस ले रहे हैं जीव-जन्तु         सीएम योगी का फरमान : नर्सों से अश्लील हरकत करने वाले जमातियों पर NSA, अब पुलिस के पहरे में इलाज         जमात की करतूत : नर्सों के सामने नंगा होने वाले जमात के 6 लोगों पर FIR         आप इन्फेक्टेड हो गए हैं तो काफिरों को इन्फेक्ट कीजिए : आईएसआईएस          मैं, सरकारी सिस्टम के साथ हूँ         तबलीगी जमात से जुड़े 400 लोग कोरोना पॉजिटिव, 9000 क्वारनटीन : स्वास्थ्य मंत्रालय         BIG NEWS : झारखंड में कोरोना का दूसरा मरीज मिला         सेना की बड़ी तैयारी : युद्धपोत, प्लेन अलर्ट, सेना के 8,500 डॉक्टर भी तैयार         पाकिस्तान में ऐलान : तबलीगी जमात के लोगों से नहीं मिले मुल्क के लोग         सबके राम !         तबलीगी जमात का आतंकवादी संगठनों से अप्रत्यक्ष संबंध : तस्लीमा नसरीन         BIG NEWS : झारखंड के मंत्री पुत्र को आइसोलेशन वार्ड, होम क्वारेंटाइन में मंत्री         BIG NEWS : अब 15 वर्षों से राज्य में रहने वाला हर नागरिक जम्मू कश्मीर का स्थायी निवासी         11 जनवरी से 31मार्च- 80 दिन 1920 घंटे..         

व्यंग्य : सफल दांपत्य के सूत्र

Bhola Tiwari Feb 22, 2020, 8:05 AM IST कॉलमलिस्ट
img


ध्रुव गुप्त

पटना : आज महाशिवरात्रि है।भगवान शिव और देवी पार्वती की शादी का उत्सव। हमारे देवताओं में सबसे सफल दांम्पत्य शिव और देवी पार्वती का ही मानते हैं। जब भी अपने घर का वातावरण तनावग्रस्त होता है, मुझे भोले बाबा बेतरह याद आते हैं। अरसे से मन में बात थी कि मरने के बाद अगर बाबा से मिलना हुआ तो उनसे उनके सफल वैवाहिक जीवन का रहस्य अवश्य पूछूंगा। संयोग देखिए कि पिछली रात बीवी की डांट-डपट का दुख लेकर सोया नहीं कि भोले बाबा प्रकट हो गए। मैंने साष्टांग प्रणाम कर उनके आगे सीधे अपना प्रश्न रख दिया -'प्रभु, आपके सफल वैवाहिक जीवन का क्या रहस्य है ?' 

बाबा ने तनिक मुस्कुरा कर पूछा - 'बचवा, तेरा ब्याह हुआ है ?' 

मैंने ब्याह की अपनी भूल स्वीकार करते हुआ कहा - 'बाबा, सुना है कि हमारी जोड़ियां आप देवता लोग स्वर्ग से ही बनाकर भेजते हो। फिर ऐसा क्यों है कि हम मनुष्यों की जोड़ियां सामान्यतः बेमेल ही सिद्ध होती हैं ? मुझे आजतक कोई ऐसा जोड़ा नहीं मिला जो एक दूसरे से संतुष्ट हो। गड़बड़ आप लोगों की तकनीक में है और दंड पृथ्वी के हम निरीह प्राणी भोग रहे हैं।' 

मेरा इतना कहना था कि बाबा कुपित हो गए - दुष्ट मनुष्य, हम देवताओं ने तो स्त्री बनाकर भेजा पृथ्वी पर। तुम्हारी साथी और सहयोगी के रूप में। अपने अहंकार के वशीभूत तुमने उसे संपति बनाया, दासी बनाया, भोग्या बनाया और अंततः पत्नी बना दिया। अनंत काल तक तुमने उसे अपनी इच्छाओं से चलाया। अपनी व्यथाओं का बदला तो उसे देर-सबेर लेना ही था। तुम मनुष्यों ने स्वयं तो ब्याह की संस्था बनाकर अपने पांव पर कुल्हाड़ी मारी ही, मेरा, नारायण का और ब्रह्मदेव का भी ब्याह करवा दिया। तुम्हारी जोड़ियां हम देवताओं ने नहीं, हमारी जोड़ियां तुम मनुष्यों ने बनाई है। तुम तो फंसे ही दुष्चक्र में, हम त्रिदेव को भी फंसा दिया। यह तुम्हारी करनी का फल है जो तुम मनुष्य भी भोग रहे हो और हम देवता भी ।' 

मैंने पैर पकड़ कर बाबा से क्षमा-याचना की - ' क्षमा करें प्रभु, लेकिन अपने पूर्वजों की सहस्त्रों वर्ष पुरानी भूल का दंड यह मनुष्य जाति कब तक भुगतेगी ? इस दुष्चक्र से निकलने का कोई तो रास्ता होगा ?'

बाबा तनिक पसीजे। बोले - 'पगले, तुम्हारी ही रचना है मेरी पत्नी भी। उसके आए दिन की डांट-फटकार से मैं स्वयं भी हताशा और अवसाद में डूब जाता हूं। मैं भला क्या रास्ता बता सकता हूं तुम्हें ?' 

मैंने पूछा - 'प्रभु, अपना दुख भुलाने के लिए आप कुछ तो विधि अपनाते होगे ?' 

उन्होंने किंचित दुखी होकर कहा - 'भंग पी लेता हूं, पुत्र। इस भंग के प्रताप से देवी पार्वती कुछ भी बोलती रहे, मुझे कम ही सुनाई देता है। चेतना लौटने के बाद कुछ स्मरण भी नहीं रहता। आक्रोश अधिक बढ़ने पर जब वह चंडी का रूप धर लेती है तो मैं भंग के साथ अपने ब्रह्मास्त्र योग का प्रयोग कर लेता हूं। समाधि में न कुछ सुनाई देता है और न दिखाई।' 

कुछ पल चुप रहने के बाद बाबा ने पूछा - 'और कोई जिज्ञासा, बालक ?'

मैंने कहा - 'और कुछ नहीं, प्रभु ! मुझे अपनी समस्या का समाधान मिल गया।'

उधर भोलेनाथ अंतर्ध्यान हुए और इधर मेरी दृष्टि खुली। कमरे के बाहर से तीखा स्त्री-स्वर उठा तो मैं समझ गया कि घर में सुबह-सुबह वाकयुद्ध की रणभेरी बज चुकी है। लेकिन मन में आज भय का कहीं नामोनिशान नहीं था। मैं मन ही मन भोले बाबा को हैप्पी एनीवर्सरी बोलकर निश्चिंत हो गया। मेरी आंखों के आगे भंग का गोला घूम रहा था और दिमाग में शिव जी की भूत-प्रेतों वाली बारात ।

(भगवान शिव से क्षमायाचना सहित)

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links