ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : पटना एसआईटी टीम के साथ मीटिंग कर सबूतों और तथ्यों को खंगाल रही है CBI         BIG NEWS : सुशांत सिंह की मौत के बाद रिया चक्रवर्ती और बांद्रा डीसीपी मे गुफ्तगू         BIG NEWS : भारत और चीन के बीच आज मेजर जनरल स्तर की वार्ता, डिसएंगेजमेंट पर होगी चर्चा         BIG NEWS : मनोज सिन्हा ने ली जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल पद की शपथ, संभाला पदभार         BIG NEWS : पुंछ में एक और आतंकी ठिकाना ध्वस्त, AK-47 राइफल समेत कई हथियार बरामद         BIG NEWS : सीएम हेमंत सोरेन ने भाजपा सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ किया केस         BIG NEWS : मुंबई में ED के कार्यालय पहुंची रिया चक्रवर्ती          BIG NEWS : शोपियां में मिले अपहृत जवान के कपड़े, सर्च ऑपरेशन जारी         मुंबई में सड़कें नदियों में तब्दील          BIG NEWS : पाकिस्तान आतंकवाद के दम पर जमीन हथियाना चाहता है : विदेश मंत्रालय         BIG NEWS : श्रीनगर पहुंचे जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, आज लेंगे शपथ         सुष्मान्जलि कार्यक्रम में सुषमा स्वराज को प्रकाश जावड़ेकर सहित बॉलीवुड के दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि           BIG NEWS : जीसी मुर्मू होंगे देश के नए नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक          BIG NEWS : सीबीआई ने रिया समेत 6 के खिलाफ केस दर्ज किया         बंद दिमाग के हजार साल           BIG NEWS : कुलगाम में आतंकियों ने की बीजेपी सरपंच की गोली मारकर हत्या         BIG NEWS : अयोध्या में भूमि पूजन! आचार्य गंगाधर पाठक और PM मोदी की मां हीराबेन         मनोज सिन्हा होंगे जम्मू-कश्मीर के नए उपराज्यपाल, जीसी मुर्मू का इस्तीफा स्वीकार         BIG NEWS : सदियों का संकल्प पूरा हुआ : मोदी         BIG NEWS : लालू प्रसाद यादव को रिम्स डायरेक्टर के बंगले में किया गया स्विफ्ट         BIG NEWS : अब पाकिस्तान ने नया मैप जारी कर जम्मू कश्मीर, लद्दाख और जूनागढ़ को घोषित किया अपना हिस्सा         हे राम...         BIG NEWS : सुशांत केस CBI को हुआ ट्रांसफर, केंद्र ने मानी बिहार सरकार की सिफारिश         BIG NEWS : पीएम मोदी ने अयोध्या में की भूमि पूजन, रखी आधारशिला         BIG NEWS : PM मोदी पहुंचे अयोध्या के द्वार, हनुमानगढ़ी के बाद राम लला की पूजा अर्चना की         BIG NEWS : आदित्य ठाकरे से कंगना रनौत ने पूछे 7 सवाल, कहा- जवाब लेकर आओ         रॉकेट स्ट्राइक या विस्फोटक : बेरूत के तट पर खड़े जहाज में ताकतवर ब्लास्ट, 73 की मौत         BIG NEWS : भूमि पूजन को अयोध्या तैयार         रामराज्य बैठे त्रैलोका....         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत की मौत से मेरा कोई संबंध नहीं : आदित्य ठाकरे         BIG NEWS : दीपों से जगमगा उठी भगवान राम की नगरी अयोध्या         BIG NEWS : पूर्व मंत्री राजा पीटर और एनोस एक्का को कोरोना, कार्मिक सचिव भी चपेट में         BIG NEWS : अब नियमित दर्शन के लिए खुलेंगे बाबा बैद्यनाथ व बासुकीनाथ मंदिर          BIG NEWS : श्रीनगर-बारामूला हाइवे पर मिला IED बम, आतंकी हादसा टला         BIG NEWS : सिविल सेवा परीक्षा का फाइनल रिजल्ट जारी, प्रदीप सिंह ने किया टॉप, झारखंड के रवि जैन को 9वां रैंक, दीपांकर चौधरी को 42वां रैंक         सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश ने की CBI जांच की सिफारिश         BIG NEWS : आतंकियों ने सेना के एक जवान को किया अगवा          बिहार DGP का बड़ा बयान, विनय तिवारी को क्वारंटाइन करने के मामले में भेजेंगे प्रोटेस्ट लेटर         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत केस में बिहार पुलिस के हाथ लगे अहम सुराग !         BIG NEWS : दिशा सालियान...सुशांत सिंह राजपूत मौत प्रकरण की अहम कड़ी...         BIG NEWS : पटना पुलिस ने खोजा रिया का ठिकाना, नोटिस भेज कहा- जांच में मदद करिए         BIG NEWS : छद्मवेशी पुलिस के रूप में घटनास्थल पर कुछ लोगों के पहुंचने के संकेत         लिव-इन माने ट्राउबल बिगिन... .          रक्षाबंधन : इस अशुभ पहर में भाई को ना बांधें राखी, ज्योतिषी की चेतावनी         जब मां गंगा को अपनी जटाओं में शिव ने कैद कर लिया...         आज सावन का आखिरी सोमवार, अद्भुत योग, भगवान शिव की पूजा करने से हर मनोकामना होगी पूरी          अन्नकूट मेले को लेकर सजा केदारनाथ, भगवान भोले को चढ़ाया गया नया अनाज         BIG NEWS :  गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती ने सुशांत सिंह के बैंक अकाउंट से 90 दिनों में 3.24 करोड़ रुपए निकाले         GOOD NEWS : अमिताभ की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव, 22 दिन बाद हॉस्पिटल से डिस्चार्ज        

कौन कम है यहाँ, सब के सब आदिवासियों से अपना मतलब निकाल रहे हैं...

Bhola Tiwari Feb 11, 2020, 7:35 AM IST टॉप न्यूज़
img


अमरेंद्र किशोर

नई दिल्ली  : राष्ट्रीय स्तर पर इन मिशनरियें का विरोध हिंदूवादी ताकतें करती हैं उनकी दलील है कि इन मिशनरियों ने वनपुत्रों की सामाजिक सांस्कृतिक निरंतरता और उनकी गति की जीवंतता को बेहद नुकसान पहुंचाया है। उन्हें ईसाईयत के रंगों से नहलाकर उनकी प्रतिरोध्-स्वायत्तता और सामुदायिकता के नाम पर हिंसक बनाया है। लिहाजा, आदिवासियों के हिंसाचार ने पूरी राज-व्यवस्था का नुकसान किया है। सच भी है कि विकास ने आदिवासियों से सब कुछ छीना है। उनसे उनका आदिवासीपन भी छीना। अन्यथा इन वनवासियों के पूर्वजों ने धूल की तरह उड़ती जा रही जमीन, परंपरा, संस्कृति एवं विरासत की रक्षा के लिए बलिदान होने की कला एवं चेतना दी। 

लोकमानस की धरणा है कि इन मिशनरियों ने आदिवासियों को देशज जनतंत्रा की अवधरणा देकर जल-जंगल-जमीन के लिए अड़ना और लड़ना सिखाया । इससे आगे सांस्कृतिक चेतना के नाम पर उनमें समानता, सामुदायिकता एवं संपत्ति पर सामूहिक एवं स्त्री -पुरुष समानाध्किार के लिए सजग होने की शैली दी। इसलिए आदिवासी कोयलकारो सिंचाई परियोजना का विरोध् करते हैं। प्रचार है कि यह विरोध् स्वतः स्फूर्त है। मगर सवाल यह भी है कि इन परियोजना के जो डूब क्षेत्र हैं, उन इलाकों के गांवों में कितने मूल वाशिंदे आज आदि धर्मानुरागी हैं। सच देखिये, उन गांवों में प्रभु यीशु के यशोगान गूंजते हैं। कोयल-कारो बांध् बनने से करीब एक सौ गांव डूब जायेंगे। साथ में भयंकर पलायन होगा। उनकी संघनित आबादी विस्थापन की मार में बिखर जायेगी। इस बिखराव में आस्थाएं टूटेंगी। सवाल और शंका लाजिमी है जो वनवासी अपने धर्म के नहीं हुए, अपनी संस्कृति से रूठ गये वे बिखरकर कब तक यीशुवादी रह पायेंगे। यही सवाल मिशनरियों को बेचैन कर देता है।

यह मान्य है कि प्रत्येक पीढ़ी अपनी पूर्ववर्ती पीढ़ी से प्राप्त भौतिक संपदा, पूंजी तथा उत्पादन शत्तिफयों को दोहन करती है। इस तरह एक ओर पूरी तरह बदली परिस्थितियों में परंपरागत क्रियाशीलता जारी रहती है तो दूसरी ओर पूर्णतः परिवर्तित क्रियाशीलता पुरानी परिस्थितियों को संशोध्ति कर देती है। मगर वर्तमान का परिवर्तन कहीं ज्यादा अराजक है। परिस्थितियां अपेक्षाकृत भयावह है। देश भर में मूल वाशिंदों को ईसाइयत में रंगकर उनके धर्म की मूल भावना को सलीब पर लटकाने की साजिश चल रही है। मगर जमीन-जंगल एवं जजबात पर समाजत्व की प्रेरणा बार-बार मूल वाशिंदों की अंर्तआत्मा को झकझोरती है। उनके देशज बोध् से उभरे कई सवाल उन चेहरों को घेर लेते हैं, जो मानवीय होने का दम भरते हैं। अपूर्व मानवीयता के बुर्ज से उभरे सवाल कुनैन-कंबल एवं बाइबल बांटने वाले उन ध्र्माचारियों से ही नहीं है। जिनकी हरकतों पर पादरी से नृविज्ञानी बने बेरियर एलविन ने घोर आपत्ति दर्ज की थी। बल्कि आदिवासियों के पैर धोते उन हिंदूवादियों से भी है, जो घर वापसी की गुहार लगाते हैं। 

मानवाधिकार के संदर्भ में उन मूल वाशिंदों को लाल आतंक के हरकारों का सहयोगी बनाना उतना ही बड़ा गुनाह है कि जितना उनहें संगठित कर झारऽंड के गुमला जिले में मुस्लिमों के खिलाफ हिंसाचारी बनाना। उड़ीसा में दलित आदिवासी टकराव से लेकर गुजरात में विश्व हिंदू परिषद की ईसाई विरोधी हिंसा और उससे भी कहीं ज्यादा आगे बढ़कर आयोध्या में बाबरी मस्जिद गिराने के क्रम में विहिप के प्रदर्शन में मध्य भारत एवं उड़ीसा, झारखंड और आँध्रप्रदेश के आदिवासियों को लामबंद किया जाना। 

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links