ब्रेकिंग न्यूज़
अनब्याही माताएं : नरमुंड दरवाजे पर टांगकर जश्न मनाया करते थे....         ताकि भाईचार हमेशा बनी रहे!          अब शत्रुघ्न सिन्हा पाकिस्तान के राष्ट्रपति से मिलकर कश्मीर मुद्दे पर सुर में सुर मिलाया         सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकियों को मार गिराया, सर्च ऑपरेशन जारी         खून बेच कर हेरोइन का धुआं उड़ाते हैं गढ़वा के युवा         कब होगी जनादेश से जड़ों की तलाश          'नसबंदी का टारगेट', विवाद के बाद कमलनाथ सरकार ने वापस लिया सर्कुलर         पीढ़ियॉं तो पूछेंगी ही कि गाजी का अर्थ क्या होता है?         मातृ सदन की गंगा !         ओवैसी की सभा में महिला ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए         एक बार फिर चर्चा में हैं सामाजिक कार्यकर्ता "तीस्ता सीतलवाड़",शाहीनबाग में उन्हें औरतों को सिखाते हुए देखा गया         कनपुरिया गंगा, कनपुरिया गुटखा, डबल हाथरस का मिष्ठान और हरजाई माशूका सी साबरमती एक्सप्रेस..         शाहीन बाग में वार्ता विफल : जिस दिन नागरिकता कानून हटाने का एलान होगा, हम उस दिन रास्ता खाली कर देंगे         फ्रांस में विदेशी इमामों और मुस्लिम टीचर्स पर प्रतिबंध         'राष्ट्रवाद' शब्द में हिटलर की झलक, भारत कर सकता है दुनिया की अगुवाई : मोहन भागवत         आतंकवाद के खिलाफ चीन ने पाकिस्तान का साथ छोड़ा         दिमाग में गोबर, देह पर गेरुआ!          त्राल में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया         CAA-NRC-NPR के समर्थन में रिटायर्ड जज और ब्यूरोक्रेट्स ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र         अनब्याही माँ : चपला के बहाने इतिहास को देखा          भारतीय पत्रकारिता को फफूंदी बनाने वाली पत्रकार यूनियनें..         ब्रिटेन और फ्रांस को पीछे छोड़ भारत बना दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था         ..विधायक बंधू तिर्की और प्रदीप यादव आज विधिवत कांग्रेस के हुए         मरता क्या नहीं करता !          14 साल बाद बाबूलाल मरांडी की घर वापसी, जोरदार स्वागत         जेवीएम प्रमुख बाबूलाल मरांडी भाजपा में हुए शामिल, अमित शाह ने माला पहनाकर स्वागत किया         भारत में महिला...भारत की जेलों में महिला....          अनब्याही माताएं : प्राण उसके साथ हर पल है,यादों में, ख्वाबों में         कराची में हिंदू लड़की को इंसाफ दिलाने के लिए सड़कों पर उतरे लोग         बेतला राष्ट्रीय उद्यान में गर्भवती मादा बाघ की मौत !अफसरों में हड़कंप         बिहार की राजनीति में हलचल : शरद यादव की सक्रियता से लालू बेचैन          सीएम गहलोत की इच्छा, प्रियंका की हो राज्यसभा में एंट्री !         अनब्याही माताएं : गीता बिहार नहीं जायेगी          तेंतीस करोड़ देवी-देवताओं के देश में यही होना है...        

फ्रस्ट्रेशन लाजिमी है....

Bhola Tiwari Feb 10, 2020, 8:45 AM IST टॉप न्यूज़
img


रंजीत कुमार

पटना : एक वैज्ञानिक शब्दावली है- जेस्टेशन पीरियड। आमतौर पर इसका उपयोग गर्भाकाल के लिए किया जाता है। मगर इसका वास्तविक अर्थ जीवंत और पल-पल विकसित होने वाली किसी परियोजना के बीजारोपण से लेकर उसके पूर्णाकार लेने की अवधि से है। जेस्टेशन पीरियड में तीन-चार चीजों का होना आवश्यक है। मसलन- सीमलेस प्रोग्रेसिंग साइट यानी बाधाओं से मुक्त प्रगति स्थल, सतत पोषण आपूर्ति और पूर्ण अपारदर्शिता। सेखुलरों के साथ दिक्कत यह हुई कि उनकी गजबा ए हिंद की योजना बीच जेस्टेशन पीरियड में ही पारदर्शी हो गई। हिंदुत्व पुनर्जागरण शुरू हो गया जिसके परिणामस्वरूप प्रगति की राह में अड़चनें आ गईं और 2014 और 2019 ने उनके सतत पोषण आपूर्ति के मार्ग में कुछ बांध खड़े कर दिए। इस जेस्टेशन पीरियड की अवधि करीब 100 साल थी, 70 साल पूरे हो गए थे। सब कुछ ठीक चल रहा था, लेकिन आखिरी के तीस साल में ये विफल हो गए। फ्रस्ट्रेशन लाजिमी है। व्यक्त हो रहा है।

कहानी सेखुलरिज्म की...

कुछ खास नहीं हुआ है। हुआ बस इतना है कि जिस भैया की कमाई और भाभी के चूल्हा-चौकी पर छोटका भर दिन फूटानी झाड़ता था, उसने अपना हाथ खीच लिया है। अब छोटका को सूतल-सूतल भोजन, बैठल-बैठल रोकड़ा, सुबह-शाम के गुलछर्रे पर आफत आ गया है। वह पूरे गांव में हल्ला करता फिर रहा... सेखुलरिज्म की संक्षिप्त कहानी इतनी ही है। जिन हिंदुओं के कंधे पर सेखुलरिज्म का बोझा डालकर 70 वर्षों से इस्लामिक जेहाद किया जा रहा था, उन हिंदुओं ने अपना कंधा झटक दिया है। सारे जेहाद औंधे मुंह गिरने लगे हैं। छटपटाहट लाजिमी है। बस एक बार, हिंदू पूरी तरह मना कर दें। फिर देखिए कैसे जिहाद की फसल मुरझाती है और कैसे सेखुलरिज्म के खेतिहर लापता होते हैं...

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links