ब्रेकिंग न्यूज़
बाढ़ और संवाद हीनता          BIG NEWS : पटना एसआईटी टीम के साथ मीटिंग कर सबूतों और तथ्यों को खंगाल रही है CBI         BIG NEWS : सुशांत सिंह की मौत के बाद रिया चक्रवर्ती और बांद्रा डीसीपी मे गुफ्तगू         BIG NEWS : भारत और चीन के बीच आज मेजर जनरल स्तर की वार्ता, डिसएंगेजमेंट पर होगी चर्चा         BIG NEWS : मनोज सिन्हा ने ली जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल पद की शपथ, संभाला पदभार         BIG NEWS : पुंछ में एक और आतंकी ठिकाना ध्वस्त, AK-47 राइफल समेत कई हथियार बरामद         BIG NEWS : सीएम हेमंत सोरेन ने भाजपा सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ किया केस         BIG NEWS : मुंबई में ED के कार्यालय पहुंची रिया चक्रवर्ती          BIG NEWS : शोपियां में मिले अपहृत जवान के कपड़े, सर्च ऑपरेशन जारी         मुंबई में सड़कें नदियों में तब्दील          BIG NEWS : पाकिस्तान आतंकवाद के दम पर जमीन हथियाना चाहता है : विदेश मंत्रालय         BIG NEWS : श्रीनगर पहुंचे जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, आज लेंगे शपथ         सुष्मान्जलि कार्यक्रम में सुषमा स्वराज को प्रकाश जावड़ेकर सहित बॉलीवुड के दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि           BIG NEWS : जीसी मुर्मू होंगे देश के नए नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक          BIG NEWS : सीबीआई ने रिया समेत 6 के खिलाफ केस दर्ज किया         बंद दिमाग के हजार साल           BIG NEWS : कुलगाम में आतंकियों ने की बीजेपी सरपंच की गोली मारकर हत्या         BIG NEWS : अयोध्या में भूमि पूजन! आचार्य गंगाधर पाठक और PM मोदी की मां हीराबेन         मनोज सिन्हा होंगे जम्मू-कश्मीर के नए उपराज्यपाल, जीसी मुर्मू का इस्तीफा स्वीकार         BIG NEWS : सदियों का संकल्प पूरा हुआ : मोदी         BIG NEWS : लालू प्रसाद यादव को रिम्स डायरेक्टर के बंगले में किया गया स्विफ्ट         BIG NEWS : अब पाकिस्तान ने नया मैप जारी कर जम्मू कश्मीर, लद्दाख और जूनागढ़ को घोषित किया अपना हिस्सा         हे राम...         BIG NEWS : सुशांत केस CBI को हुआ ट्रांसफर, केंद्र ने मानी बिहार सरकार की सिफारिश         BIG NEWS : पीएम मोदी ने अयोध्या में की भूमि पूजन, रखी आधारशिला         BIG NEWS : PM मोदी पहुंचे अयोध्या के द्वार, हनुमानगढ़ी के बाद राम लला की पूजा अर्चना की         BIG NEWS : आदित्य ठाकरे से कंगना रनौत ने पूछे 7 सवाल, कहा- जवाब लेकर आओ         रॉकेट स्ट्राइक या विस्फोटक : बेरूत के तट पर खड़े जहाज में ताकतवर ब्लास्ट, 73 की मौत         BIG NEWS : भूमि पूजन को अयोध्या तैयार         रामराज्य बैठे त्रैलोका....         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत की मौत से मेरा कोई संबंध नहीं : आदित्य ठाकरे         BIG NEWS : दीपों से जगमगा उठी भगवान राम की नगरी अयोध्या         BIG NEWS : पूर्व मंत्री राजा पीटर और एनोस एक्का को कोरोना, कार्मिक सचिव भी चपेट में         BIG NEWS : अब नियमित दर्शन के लिए खुलेंगे बाबा बैद्यनाथ व बासुकीनाथ मंदिर          BIG NEWS : श्रीनगर-बारामूला हाइवे पर मिला IED बम, आतंकी हादसा टला         BIG NEWS : सिविल सेवा परीक्षा का फाइनल रिजल्ट जारी, प्रदीप सिंह ने किया टॉप, झारखंड के रवि जैन को 9वां रैंक, दीपांकर चौधरी को 42वां रैंक         सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश ने की CBI जांच की सिफारिश         BIG NEWS : आतंकियों ने सेना के एक जवान को किया अगवा          बिहार DGP का बड़ा बयान, विनय तिवारी को क्वारंटाइन करने के मामले में भेजेंगे प्रोटेस्ट लेटर         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत केस में बिहार पुलिस के हाथ लगे अहम सुराग !         BIG NEWS : दिशा सालियान...सुशांत सिंह राजपूत मौत प्रकरण की अहम कड़ी...         BIG NEWS : पटना पुलिस ने खोजा रिया का ठिकाना, नोटिस भेज कहा- जांच में मदद करिए         BIG NEWS : छद्मवेशी पुलिस के रूप में घटनास्थल पर कुछ लोगों के पहुंचने के संकेत         लिव-इन माने ट्राउबल बिगिन... .          रक्षाबंधन : इस अशुभ पहर में भाई को ना बांधें राखी, ज्योतिषी की चेतावनी         जब मां गंगा को अपनी जटाओं में शिव ने कैद कर लिया...         आज सावन का आखिरी सोमवार, अद्भुत योग, भगवान शिव की पूजा करने से हर मनोकामना होगी पूरी          अन्नकूट मेले को लेकर सजा केदारनाथ, भगवान भोले को चढ़ाया गया नया अनाज         BIG NEWS :  गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती ने सुशांत सिंह के बैंक अकाउंट से 90 दिनों में 3.24 करोड़ रुपए निकाले        

चुनावी रणनीति के शहंशाह हैं शाह

Bhola Tiwari Feb 09, 2020, 9:21 AM IST टॉप न्यूज़
img


अजय श्रीवास्तव

नई दिल्ली : चुनाव कैसे लड़ा जाता है और माहौल कैसे बनाया जाता है ये सीखना हो तो आप अमित शाह से सीख सकते हैं।यूँहीं नहीं नरेंद्र मोदी अपने सबसे विश्वस्त सिपहसालार पर आँख मुंद कर विश्वास करते हैं।चुनावी रणनीति बनाने से लेकर बूथ मैनेजमेंट तक में वे माहिर खिलाड़ी हैं ये सभी ने अच्छी तरह देख लिया है।दरअसल उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत पोस्टर चिपकाने और बांटने से की है।थोड़ा वरिष्ठ होने पर वे बूथ कार्यकर्ता बन गए उसके बाद उन्होंने छात्रसंघ की राजनीति में कदम रखा।छात्रसंघ के चुनाव में वे भारी मतों से जीते थे।बताते हैं कि यहीं नरेंद्र मोदी की नजर अमित शाह पर पड़ी,फिर क्या था कुछ हीं दिनों में अमित शाह नरेंद्र मोदी के गुडबुक में शामिल हो गए।

प्रधानमंत्री बनने के बाद जब नरेंद्र मोदी ने अमित शाह को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया तो अन्य लोगों के साथ मैं भी थोड़ा हैरान था,लगा कि मोदी ने कुछ जल्दबाजी कर दी है।उसके बाद तो अमित शाह की अगुवाई में भाजपा नित्य नई ऊँचाईयों को हासिल करती गई।आपको याद होगा लोकसभा चुनाव जीतने के बाद भाजपा मुख्यालय पर नरेंद्र मोदी का वो संबोधन, जिसमें नरेंद्र मोदी ने अमित शाह की भूरी भूरी प्रशंसा की थी और जीत का श्रेय जनता के साथ अमित भाई को भी दिया था।

आपको मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भाजपा की हार तो याद हीं होगी।ये हार और हाहाकारी हो सकती थी अगर इसमें अमित शाह कठोर मेहनत नहीं करते तो।राजस्थान में भाजपा की हालत बहुत पतली थी,वसुंधरा राजे सिंधिया अपने आगे किसी को कुछ समझती नहीं थीं।हद तो तब हो गई जब उन्होंने राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का भी विरोध करना शुरू कर दिया था।नरेंद्र मोदी के हस्तक्षेप के बाद अमित शाह राजस्थान गए और बहुत हद तक उन्होंने डैमेज कंट्रोल कर लिया।वसुंधरा राजे से सभी नाराज थे हार तो होनी हीं थी मगर अमित शाह के जुझारू नेतृत्व ने इस हार को काफी हद तक कम कर दिया।मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में हार किसानों के नाराजगी के कारण हुई थी जिसे भांपने में शिवराज सिंह और रमण सिंह बुरी तरह असफल रहे थे,वहाँ भी नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी ने हार के फासले को बेहद कम कर दिया था।

आप छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव को देख लिजिए, रघुवर दास के खिलाफ समाज के सभी वर्ग एकजुट हो गए थे।पाँच वर्षों से रघुवर दास झारखंड को अपने अहंकार और मनमर्जी से चला रहे थे।वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के साथ उनका व्यवहार किसी से छुपा नहीं है।मंच से आईपीएस अधिकारियों को भलाबुरा कहना उनकी आदत सी बन गई थी, आदिवासी उनसे बेहद नाराज थे और उन्होंने भाजपा के खिलाफ मतदान करने का मन बना लिया था।सब कुछ भांपते हुए भी अमित शाह समाज के सभी वर्गों के बीच गए और उन्हें मनाने की कोशिश की।बहुत तो नहीं मगर इतने लोग मान गए कि ये हार हाहाकारी नहीं हुई,नहीं तो भाजपा पाँच सीट के लिए भी तरस जाती ये तो तय था।

चुनाव कैसे लडा जाता है ये अमित शाह से सीखना चाहिए, चाहे वो विरोधी दल के क्यों न हों।रणनीति तो सभी बनाते हैं मगर उसका कार्यान्वयन जमीनी स्तर पर कैसे हो ये वर्तमान लौहपुरुष अमित शाह से सीखना चाहिए।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links