ब्रेकिंग न्यूज़
ये सब धुआं है कोई आसमान थोड़ी है !         BIG NEWS : जनाज़े पर मेरे लिख देना यारों, मोहब्बत करने वाला जा रहा है...         BIG NEWS : दुनिया का पहला कोरोना वैक्सीन तैयार, पुतिन ने कोरोना वैक्सीन का टीका बेटी को लगवाया         BIG NEWS : मशहूर शायर राहत इंदौरी का निधन         BIG NEWS : प्रवर्तन निदेशालय ने जब्त किए रिया चक्रवर्ती के मोबाइल फोन और लैपटॉप         BIG NEWS : रिया चक्रवर्ती करती थीं सुशांत के वित्तीय और प्रोफेशनल फैसले : श्रुति मोदी         BIG NEWS : राजस्थान की बदली सियासत, पायलट नाराज विधायकों के साथ आज करेंगे "घर" वापसी         BIG NEWS : बेटियों को भी पिता की संपत्ति में बराबरी का हक         BIG NEWS : जम्मू-कश्मीर में 4जी सेवा शुरू करने की तैयारी, 15 अगस्त के बाद दो जिलों में होगा ट्रायल         BIG NEWS : कुपवाड़ा में तीन संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार, हथियार बरामद         BIG NEWS : बीजेपी नेता के घर ग्रेनेड हमला         जिसने अपने कालखंड को अपने इशारों पर नचाया...         जब मोहन ने पहली बार गोपिकाओ को किया परेशान         भगवान कृष्ण के जन्म लेते ही जेल की कोठरी में फैल गया प्रकाश ...         BIG BREAKING : रांची में सरेराह मार्बल दुकान में चली गोली, अपराधियों ने एक व्यक्ति को गोली मारी         BIG NEWS : झारखंड के शिक्षा मंत्री अब करेंगे इंटर की पढ़ाई...          BIG NEWS : सभी मेल, एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेन 30 सितंबर तक रद्द         BIG NEWS : राहुल-प्रियंका से मिले सचिन पायलट, घर वापसी की अटकलें तेज         BIG NEWS : आतंकी हमले में घायल बीजेपी नेता की मौत         आदिवासी विकास का फटा पोस्टर...         BIG NEWS : नक्सली राकेश मुंडा को लाखों का इनाम और पत्तल बेचती अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉलर संगीता सोरेन को दो हजार         पाखंड के सिपाही कम्युनिस्ट लेखक...         BIG NEWS : देवघर में सेप्टिक टैंक में दम घुटने से 6 लोगों की मौत         BIG NEWS : अब भाजपा गुजरात गए विधायकों को वापस बुला रही, सभी विधायक होटल जाएंगे         BIG NEWS : पालतू कुत्ते फज की बेल्ट से गला घोंटकर सुशांत सिंह राजपूत की, की गई थी हत्या : अंकित आचार्य          BIG NEWS : सरकार का 101 रक्षा उपकरणों के आयात पर रोक, इसके पीछे क्या है मकसद?          BIG NEWS : बडगाम में आतंकवादियों ने बीजेपी नेता को गोली मारी          BIG NEWS : कुलगाम में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, 2 से 3 आतंकी घिरे         BIG NEWS : सुशांत सिंह केस का राजदार कौन !         BIG NEWS : फिल्म स्टार संजय दत्त लीलावती हॉस्पिटल में भर्ती          BIG NEWS : दिशा सलियान का निर्वस्त्र शव पोस्टमार्टम के लिए दो दिनों तक करता रहा इंतजार          BIG NEWS : टेरर फंडिंग मॉड्यूल का खुलासा, लश्कर-ए-तैयबा के 6 मददगार गिरफ्तार         BIG NEWS : एलएसी पर सेना और वायु सेना को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश         BIG NEWS : राजस्थान का सियासी जंग : कांग्रेस के बाद अब भाजपा विधायकों की घेराबंदी         BIG NEWS : देवेंद्र सिंह केस ! NIA की टीम ने घाटी में कई जगहों पर की छापेमारी         बाढ़ और संवाद हीनता          BIG NEWS : पटना एसआईटी टीम के साथ मीटिंग कर सबूतों और तथ्यों को खंगाल रही है CBI         BIG NEWS : सुशांत सिंह की मौत के बाद रिया चक्रवर्ती और बांद्रा डीसीपी मे गुफ्तगू         BIG NEWS : भारत और चीन के बीच आज मेजर जनरल स्तर की वार्ता, डिसएंगेजमेंट पर होगी चर्चा         BIG NEWS : मनोज सिन्हा ने ली जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल पद की शपथ, संभाला पदभार         BIG NEWS : पुंछ में एक और आतंकी ठिकाना ध्वस्त, AK-47 राइफल समेत कई हथियार बरामद         BIG NEWS : सीएम हेमंत सोरेन ने भाजपा सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ किया केस         BIG NEWS : मुंबई में ED के कार्यालय पहुंची रिया चक्रवर्ती          BIG NEWS : शोपियां में मिले अपहृत जवान के कपड़े, सर्च ऑपरेशन जारी         मुंबई में सड़कें नदियों में तब्दील          BIG NEWS : पाकिस्तान आतंकवाद के दम पर जमीन हथियाना चाहता है : विदेश मंत्रालय         BIG NEWS : श्रीनगर पहुंचे जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, आज लेंगे शपथ         सुष्मान्जलि कार्यक्रम में सुषमा स्वराज को प्रकाश जावड़ेकर सहित बॉलीवुड के दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि           BIG NEWS : जीसी मुर्मू होंगे देश के नए नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक          BIG NEWS : सीबीआई ने रिया समेत 6 के खिलाफ केस दर्ज किया         बंद दिमाग के हजार साल           BIG NEWS : कुलगाम में आतंकियों ने की बीजेपी सरपंच की गोली मारकर हत्या         BIG NEWS : अयोध्या में भूमि पूजन! आचार्य गंगाधर पाठक और PM मोदी की मां हीराबेन         मनोज सिन्हा होंगे जम्मू-कश्मीर के नए उपराज्यपाल, जीसी मुर्मू का इस्तीफा स्वीकार        

सोशल मी़डिया : बेहतर सूचनाएं, ज्ञान अथवा गल्प नहीं

Bhola Tiwari Jan 24, 2020, 7:05 AM IST टेक नॉलेज
img


दिनेश श्रीनेत

नई दिल्ली : सोशल मी़डिया आहिस्ता आहिस्ता हमारी सोचने समझने की क्षमता पर हावी होता जा रहा है। यह सूचना की विश्वसनीयता को भी धुंधला करता है। 

सोशल मीडिया के जरिए हम तक दो किस्म की सूचनाएं पहुँचती हैं, पहली, जो किसी तंत्र द्वारा एक खास मकसद से छोड़ी गई होती हैं। उन सूचनाओं को इस तरह से तैयार किया जाता है कि वे आपके इमोशन को उकसाएं। क्योंकि यह किसी भी विचार या भाव या सूचना की एक छोटी सी 'बाइट' होती है तो उसका सारा जोर इस बात पर होता है कि आपका दिमाग उसका विश्लेषण न करे बल्कि वह 'बाइट' तय करे कि आपको क्या सोचना है। दूसरे किस्म सूचना वो होती है जो लोगों द्वारा अपने मित्र समूहों या कम्यूनिटी में भेजी जाती है। 

यहां पर भी समस्या है। पहला कि उस व्यक्ति के विचार कितने प्रमाणिक हैं, क्योंकि वह एक माध्यम का इस्तेमाल कर रहा है तो उसकी भाषा मीडिया की भाषा का कलेवर ओढ़कर आती है और विश्वसनीयता का दावा करती है। बहुत से मामलों में यह शत-प्रतिशत वास्तविक हो सकता है और बहुत से मामलों में वास्तविकता का भ्रम रचते हुए एक सफेद झूठ। 

कई बार लोग सिर्फ पहले किस्म की सूचनाओं को संचालित करने का माध्यम बन जाते हैं। क्योंकि सारी सूचनाएं हमारी जेब और हथेली के दरम्यान होती हैं तो हमारा मन भी किसी नशे की तरह थोड़ा शांत या उदासीन होने पर एक वैचारिक या भावनात्मक 'किक' की जरूरत महसूस करता है। 

हम एक कोई वक्तव्य पढ़ते हैं, वीडियो देखते हैं, तस्वीर देखते हैं और तुरंत हमारा दिमाग उस सूचना को ग्रहण करता है। बहुत से मामलों में यदि यह सूचना आपके मनोनुकूल नहीं है तो आप उसका कांउंटर करते हैं। बहुत बार मन ही मन और बहुत बार अभिव्यक्ति या प्रत्युत्तर के जरिये। प्रत्युत्तर हमेशा एक प्रतिक्रिया के रूप में सामने आता है। प्रतिक्रिया तात्कालिक होती है और आपकी पिछली लर्निंग के आधार पर होती है। 

अब जरा गौर करें कि यह सब एक किताब पढ़ने, अखबार पढ़ने या फिर सिनेमा देखने या किसी का वक्तव्य सुनने से कितना अलग है। इन सारी चीजों से उपजा कंटेंट ग्रहण करने के लिए आपको उसके पास जाना पड़ता है और आपका मस्तिष्क सचेत रूप से उसके पूरे नैरेशन को ग्रहण करता है। यहां आपका मस्तिष्क किसी भावनात्मक उद्वेलन की जगह विचारों की एक श्रृंखला भीतर बनाता है। यह उसी तरह है जैसे आपके सामने एक खाली बुकशेल्फ हो और आपको उसमें किताबें करीने से लगानी हों। 

जबकि सोशल मीडिया से आई 'बाइट' एक उत्प्रेरक की तरह काम करती है इसलिए उसकी भाषा भी एक खास तरीके से गढ़ी जाती है। अक्सर उसमें उपहास, आक्रामकता, लांक्षन, आह्वान, धमकी का टोन रहता है। सूचना कैसी भी हो मगर वह एक खास तरह के इमोशन से चार्ज होती। अगर ऐसा नहीं होता है तो सोशल मीडिया की वह 'बाइट' बेकार होती है। कई संजीदा लोग इसे माध्यम की शैली मान बैठते हैं और देखते-देखते उनका टोन भी उसी तरह सेट हो जाता है। 

दूसरी बड़ी समस्या यह है कि इंटरनेट पर जो सूचनाएँ हैं वह मुफ्त में उलब्ध हैं। हमें यह समझना चाहिए कि इन सूचनाओं में बहुत दुहराव है और वह प्रथम स्रोत न होकर तीसरा-चौथा स्रोत होती हैं। उदाहरण के लिए यदि आप किसी बड़े लेखक के जीवन से जुड़े कुछ दिलचस्प प्रसंग खोजेंगे तो आपको लगभग हर जगह एक ही जैसी कहानियां मिलेंगी जो एक-दूसरे की कॉपी करके तैयार की गई होंगी। वहीं पर किताबें या रिपोर्ट अमूमन प्राथमिक श्रोत होती हैं। जैसे कि किसी ने उस लेखक से जुड़े अपने संस्मरण लिखे हों या फिर लंबे शोध के बाद किसी के ऊपर कोई किताब लिखी गई हो। 

इंटरनेट में हाल के दिनों में यह बदलाव आया भी है कि दोयम दर्जे की सूचनाओं के अतिरिक्त यदि वास्तव में कोई मूल्यवान सूचना है तो आपको उसकी कीमत अदा करनी पड़ती है। ऐसा नहीं है कि इंटरनेट के अथाह स्पेस में आपके लिए बेहतर सूचनाएं, ज्ञान अथवा गल्प नहीं है, मगर उसके लिए आपको बहुत ही सेलेक्टिव और सावधान होना पड़ेगा। 

यह सावधान रहना बहुत कठिन है। क्योंकि इंटरनेट अपने नोटिफिकेशन और तमाम दूसरे तरीकों से आपको अन्य सूचनाओं की तरफ बहा ले जाता है जिनकी आपको जरूरत ही नहीं और आपके कुछ मिनट या कई घंटे उसमें खर्च हो जाते हैं जिसकी कोई जरूरत नहीं थी। यह बिल्कुल सुपर मार्केट जैसा है कि आप आटा और चीनी खरीदने जाते हैं मगर आपको डिस्काउंट में रूमाल, हवाई चप्पलें और कुछ और आकर्षक चीजें दिख जाती हैं और आप उन्हें भी खरीद लेते हैं। 

दूसरी तरफ, जब आप एक श्रृंखला में सोचते हैं तो बहुत सी बेकार चीजें आप पर असर नहीं डालतीं और ज्यादा बेहतर ढंग से और दृढ़ता से अपने विचार कायम रख पाते हैं। 

(जारी)

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links