ब्रेकिंग न्यूज़
केंद्र सरकार ने "भीमा कोरेगांव केस" की जाँच महाराष्ट्र सरकार की अनुमति के बगैर "एनआईए" को सौंपा, महाराष्ट्र सरकार नाराज         तेरा तमाशा, शुभान अल्लाह..         आर्यावर्त में बांग्लादेशियों की पहचान...         जंगलों का हत्यारा, धरती का दुश्मन...         लुगू पहाड़ की तलहटी में नक्सलियों ने दी फिर दस्तक         आज संपादक इवेंट मैनेजर है तो तब वो हुआ करता था बनिये का मुनीम या मंत्र पढ़ता पंडत....         किसी को होश नहीं कि वह किसे गाली दे रहा है...          जेवीएम विधायक प्रदीप यादव और बंधु तिर्की ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी से की मुलाकात         नीतीश का दो टूक : प्रशांत किशोर और पवन वर्मा जिस पार्टी में जाना चाहे जाए, मेरी शुभकामना         लोहरदगा में कर्फ्यू :  CAA के समर्थन में निकाले गए जुलूस पर पथराव, कई लोग घायल         पेरियार विवाद : क्या तमिल सुपरस्टार रजनीकांत की बातें सही हैं जो उन्होंने कही थी ?         पत्‍थलगड़ी आंदोलन का विरोध करने पर हुए हत्‍याकांड की होगी एसआईटी जांच, सीएम हेमंत सोरेन दिए आदेश         एक ही रास्ता...         अब तानाजी के वीडियो में छेड़छाड़ कर पीएम मोदी को दिखाया शिवाजी         सरकार का नया दांव : जनसंख्या नियंत्रण कानून...         हम भारत के सामने बहुत छोटे हैं, बदला नहीं ले सकते : महातिर मोहम्मद         तीस साल बीतने के बावजूद कश्मीरी पंडितों की सुध लेने वाला कोई नहीं, सरकार की प्राथमिकता में कश्मीर के अन्य मुद्दे         हेमंत सोरेन को मिला 'चैम्पियन ऑफ चेंज' अवॉर्ड         जेपी नड्डा भाजपा के नए अध्यक्ष, मोदी बोले-स्कूटर पर साथ घूमे         नए दशक में देश के विकास में सबसे ज्यादा 10वीं-12वीं के छात्रों की होगी भूमिका : मोदी         CAA को लेकर केरल में राज्यपाल और राज्य सरकार में ठनी         इतिहास तो पूछेगा...         सेखुलरी माइंड गेम...         अफसरों की करतूत : पत्नियों की पिकनिक के लिए बंद किया पतरातू रिजाॅर्ट         गुरूवर रविंद्रनाथ टैगोर की मशहूर कविता "एकला चलो रे" की राह पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव         पत्रकारिता में पद्मश्रियों और राज्यसभा की सांसदी के कलुष...         विकास का मॉडल देखना हो तो चीन को देखिए...        

इरफान अंसारी के बयान पर विधानसभा में हंगामा, विपक्ष ने कहा- विधायक को बर्खास्त करो

Bhola Tiwari Jan 08, 2020, 1:20 PM IST टॉप न्यूज़
img

● मामला तबरेज अंसारी की मॉब लिंचिंग का

● भाजपा की सरकार और आरएसएस की वजह से हुई तबरेज अंसारी की हत्या : इरफान अंसारी

रांची : विधानसभा सत्र के आखिरी दिन बुधवार को सदन में कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी के बयान पर जमकर हंगामा हुआ। भाजपा के विधायक बेल में चले आए और विधायक को बर्खास्त करने की मांग करने लगे। काफी देर तक हंगामा होता रहा। 

दरअसल आज बुधवार को विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी ने कहा कि तबरेज अंसारी मॉब लिंचिंग के लिए आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ता जिम्मेदार है। विधायक के इस बयान के बाद विधानसभा में विपक्षी सदस्यों ने जमकर हंगामा किया। भाजपा के विधायक वेल में पहुंच गए और कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी को बर्खास्त करने की मांग करने लगे। जब विपक्ष के विधायक वापस सीट पर बैठे तो इरफान ने अपनी बात दोहराई, इसके बाद दोबारा विपक्ष के विधायक वेल में आ पहुंचे और इरफान से माफी मांगने की मांग करने लगे।


विधायक इरफान अंसारी ने कहा कि पूर्व की रघुवर सरकार ने हेमंत सोरेन पर बेबुनियाद कई आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार रघुवर दास के पास रहे सभी विभागों की जांच कराई जाएगी। इरफान अंसारी ने कहा कि जो दोषी होंगे वे जेल जाएंगे। इरफान ने कहा कि सीएनटी-एसपीटी एक्ट में संशोधन कर पूर्व की सरकार जमीन लूट लेती अगर हम लोग उस वक्त विपक्ष में न होते। उन्होंने कहा कि पारा शिक्षकों के लिए हेमंत सरकार न्याय करने का काम करेगी।जामताड़ा विधायक ने कहा कि पूर्व की सरकार ने पूरे राज्य में कमल क्लब बनाकर आदिवासी युवाओं के साथ भेदभाव किया था। हेमंत सरकार में पूरे राज्य में एक भी कमल क्लब नहीं रहेगा। इरफान ने कहा कि तबरेज अंसारी मॉब लिंचिंग केस में हेमंत सरकार कार्रवाई करेगी। उन्होंने कहा कि तबरेज अंसारी कोई आतंकवादी और हत्यारा नहीं था। उन्होंने आरोप लगाया कि आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं ने षड्यंत्र के तहत तबरेंज अंसारी को मार दिया।


चर्चा के दौरान जब इरफान अंसारी तबरेज अंसारी पर बोल रहे थे तभी विपक्ष के विधायक वेल में आ गए और उन्होंने इरफान अंसारी को सदन से बर्खास्त करने की स्पीकर से मांग करने लगे। इस दौरान रांची से भाजपा विधायक सीपी सिंह ने कहा कि क्या इरफान अंसारी के पास इसका प्रमाण है कि तबरेज अंसारी को किसने मारा। उन्होंने स्पीकर रवींद्र नाथ महतो को संबोधित करते हुए इरफान से माफी मांगने की बात कही। इसके बाद विपक्ष के विधायक दूसरी बार वेल मेंआकर हंगामा करने लगे। उन्होंने कहा कि इरफान अंसारी को उनके बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए।

 विधायक मनीष जायसवाल ने कहा कि इरफान की मंशा क्या है, वे स्पष्ट करें। इसके अलावा चर्चा के दौरान सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच स्थानीयता नीति, सीएनटी-एसपीटी एक्ट और रोजगार के मुद्दे पर सदन में सत्ता पक्ष और विपक्ष में जमकर नोकझोक हुई।

झामुमो विधायक लोबिन हेम्ब्रम ने सीएनटी-एसपीटी एक्ट को लेकर कहा कि पूर्व की रघुवर सरकार ने इस एक्ट से छेड़छाड़ की कोशिश की थी। इसके बाद जब सत्ता पक्ष के विधायक ने स्थानीयता नीति को लेकर बोलना शुरू किया और कहा कि पूर्व की रघुवर सरकार ने स्थानीयता नीति को लागू किया जिसके तहत आरा,बलिया, छपरा और दरभंगा समेत झारखंड से आए लोगों को बाहरी बताया। उन्होंने कहा कि बाहर से आए लोगों के बच्चों को नहीं बल्कि यहां के लोगों को प्रमुखता से पहले नौकरी मिलनी चाहिए। इसके बाद विपक्ष के विधायकभानू प्रताप शाही और लोबिन हेम्ब्रम के बीच तू-तू मैं-मैं होने लगी। 


इरफान अंसारी के बयान पर स्पीकर रवींद्र नाथ महतो ने उन्हें खेद व्यक्त करने को कहा। इरफान ने कहा कि इन्होंने (आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं) तबरेज अंसारी और मिराज अंसारी को मारा है। इरफान अंसारी कभी माफी नहीं मांगेगा। उधर, विपक्ष लगातार वेल में इरफान से माफी की मांग करते रहे। इसके बाद स्पीकर ने सदन की कार्रवाई को 12:15 तक के लिए स्थगित कर दिया।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links