ब्रेकिंग न्यूज़
बांदीपोरा में 4 OGWS गिरफ्तार, हथियार बरामद         BIG NEWS : हाफिज सईद समेत 5 आतंकियों के बैंक अकाउंट फिर से बहाल         BIG NEWS : लालू यादव का जेल "दरबार", तस्वीर वायरल         मान लीजिए इंटर में साठ प्रतिशत आए, या कम आए, तो क्या होगा?         BIG NEWS : झारखंड में रविवार को कोरोना संक्रमण से 6 मरीजों की मौत, बंगाल-झारखंड सीमा सील         BIG NEWS : सोपोर में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, अब तक 2 आतंकी ढेर         BIG NEWS : देश में PMAY के क्रियान्वयन में रामगढ़ नंबर वन         BIG NEWS : श्रीनगर में तहरीक-ए-हुर्रियत के चेयरमैन अशरफ सेहराई गिरफ्तार         BIG NEWS : ऐश्वर्या राय बच्चन और आराध्या बच्चन की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव         BIG NEWS : मध्यप्रदेश की राह पर राजस्थान !         अमिताभ बच्चन ने कोरोना के खौफ के बीच सुनाई थी उम्मीद भरी कविता, अब..         .... टिक-टॉक वाले प्रकांड मेधावियों का दस्ता         BIG BRAKING : नक्सलियों नें कोल्हान वन विभाग कार्यालय व गार्ड आवास उड़ाया         BIG NEWS : महानायक अमिताभ बच्चन के बाद अभिषेक बच्चन को भी कोरोना         BIG NEWS : अमिताभ बच्चन करोना पॉजिटिव         BIG NEWS : आतंकियों को घुसपैठ कराने की कोशिश में पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम         अपराधी मारा गया... अपराध जीवित रहा !          BIG NEWS : भारत चीन के बीच बातचीत, सकारात्मक सहमति के कदम आगे बढ़े         BIG NEWS : बारामूला के नौगाम सेक्टर में LOC के पास मुठभेड़, दो आतंकी ढेर         BIG STORY : समरथ को नहिं दोष गोसाईं         शर्मनाक : बाबू दो रुपए दे दो, सुबह से भूखी हूं.. कुछ खा लुंगी         BIG NEWS : वर्चुअल काउंटर टेररिज्म वीक में बोले सिंघवी, कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, था और रहेगा         BIG NEWS : कानपुर से 17 किमी दूर भौती में मारा गया गैंगेस्टर विकास, एसटीएफ के 4 जवान भी घायल         BIG NEWS : झारखंड के स्कूलों पर 31 जुलाई तक टोटल लॉकडाउन         BIG NEWS : चीन के खिलाफ “बायकॉट चाइना” मूवमेंट          पाकिस्तानी सेना ने नौशेरा सेक्टर में की गोलाबारी, 1 जवान शहीद         मुसीबत देश के आम लोगों की है जो बहुत....         BIG NEWS : एनकाउंटर में मारा गया गैंगस्टर विकास दुबे         बस नाम रहेगा अल्लाह का...         BIG NEWS : सेना के काफिले पर आतंकी हमला, जवान समेत एक महिला घायल         BIG NEWS : लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों ने की थी बीजेपी नेता वसीम बारी की हत्या         दुबे के बाद क्या ?         मै हूं कानपुर का विकास...         BIG NEWS : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 6 पुलों का किया ई उद्घाटन, कहा-सेना को आवाजाही में मिलेगी सुविधा         BIG NEWS : कुख्यात अपराधी विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार         BIG MEWS : चुटुपालु घाटी में आर्मी का गाड़ी खाई में गिरा, एक जवान की मौत, दो घायल         BIG NEWS : सेना ने फेसबुक, इंस्टाग्राम समेत 89 एप्स पर लगाया बैन         BIG NEWS : बांदीपोरा में आतंकियों ने बीजेपी नेता वसीम बारी की हत्या, हमले में पिता-भाई की भी मौत         नहीं रहे शोले के ''सूरमा भोपाली'', 81 की उम्र में अभिनेता जगदीप का निधन         गृह मंत्रालय ने IPS अधिकारी बसंत रथ को किया निलंबित, दुर्व्यवहार का आरोप        

नहीं रहे आँपरेशन मेघदूत के नायक लेफ्टिनेंट जनरल प्रेमनाथ हून

Bhola Tiwari Jan 07, 2020, 11:55 AM IST टॉप न्यूज़
img


अजय श्रीवास्तव

नई दिल्ली : रणक्षेत्र में दूनिया की सबसे ऊँची चोटी मानेजाने वाली सियाचिन पर तिरंगा फहराने वाले लेफ्टिनेंट जनरल प्रेमनाथ हून का निधन 91 वर्ष की उम्र में पंचकूला के एक अस्पताल में हो गया।आपके नेतृत्व में हीं भारतीय सेना ने सफलतापूर्वक आँपरेशन मेघदूत का संचालन किया था।आप देश के वास्तविक हीरो थे और आप मरकर भी अमर हैं।

ये बात पाकिस्तान के तानाशाह राष्ट्रपति जनरल जियाउल हक के समय की है।भारतीय गुप्तचर विभाग को ये सूचना मिली कि पाकिस्तान सरकार ने यूरोप में बर्फीले क्षेत्र में पहने जाने वाले खास तरह के कपडों और हथियार का बडा आर्डर दिया।गुप्तचर विभाग को थोडी और मशक्कत के बाद पता चला कि पाकिस्तानी फौज सियाचीन पर कब्जा करना चाहती है, जो सामरिक दृष्टि से बेहद अहम है।पाकिस्तान के सैनिक राष्ट्रपति जनरल जियाउल हक की नजर 33 हजार वर्ग किलोमीटर में फैले इस इलाके पर थी।आपको बता दें जब देश का बंटवारा हो रहा था तब भी इस बंजर क्षेत्र पर किसी का ध्यान नहीं गया।1972 के शिमला समझौते के वक्त भी सियाचिन को बेजान और इंसानों के रहने के लायक नहीं समझा गया था।शिमला समझौता के दस्तावेजों में सियाचिन में भारत-पाक के बीच सरहद कहाँ होगी, इसका जिक्र भी नहीं किया गया।चूँकि जनरल जिया फौजी थे और वे इस जगह के सामरिक महत्व को जानते थे, इस वजह से उन्होंने पर्वातारोही और सैनिकों को वहाँ भेजना शुरू किया।इस बात की खबर भारत को लगी हीं नहीं।

यूरोप के जिस कंपनी को पाकिस्तान ने सैनिकों के ड्रेस का आर्डर किया था वहां से ये बात भारतीय गुप्तचर एजेंसी राँ को पता लगी तब भारत चौकन्ना हुआ।

13 अप्रैल 1984 को भारतीय सेना ने आँपरेशन मेघदूत लांच किया।बताते हैं कि सैनिकों का मनोबल इतना ऊँचा था कि 12 अप्रैल को उन्हें बर्फ में पहने जाने वाले कपड़े और साजोसामान मिले और 13 अप्रैल को आँपरेशन का ऐलान कर दिया गया।दूनिया के सबसे ऊँचे मैदान-ए-जंग में सीधे टकराव की यह एक तरह से पहली घटना थी।इसे आँपरेशन मेघदूत नाम दिया गया और इसने भारत की सामरिक रणनीतिक जीत की नींव रखी।

आपको बता दें पाकिस्तानी सरहद से सियाचिन की ऊँचाई कम है मगर भारतीय की तरफ से ये ऊँचाई बेहद ज्यादा और मुश्किल है।खडी चढाई को पार कर भारत के वीर सैनिकों ने जनरल पीएन हून के नेतृत्व में सफलता प्राप्त की।जब ये आँपरेशन चल रहा था तब वहां का तापमान -60 से -70 डिग्री के पास था।

सियाचिन पर पाकिस्तानी सैनिकों को खदेड़कर भारतीय सैनिकों ने तिरंगा फहराया।दूनिया भर के मुश्किल लडाइयों में आँपरेशन मेघदूत का जिक्र होता है।

ये लडाई लेफ्टिनेंट जनरल पीएन हून के नेतृत्व में लडी गई थी।वीर सैनिक को विनम्र श्रद्धांजलि।आप हमेशा भारतीयों के दिल में बसे रहेंगे।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links