ब्रेकिंग न्यूज़
बॉलीवुड में ड्रग नहीं, ड्रग में बॉलीवुड...         BIG NEWS : पुलवामा में सुरक्षाबलों ने लश्कर के दो आतंकवादियों को मार गिराया, जवान घायल         संकट में पत्रकार         BIG NEWS : 104 सीट पर जदयू और 100 पर भाजपा लड़ेगी         दुनिया का इकलौता मंदिर, जहां होती है भोलेनाथ के पैर के अंगूठे की पूजा         बाबा रामदेव ने बॉलीवुड में स्वच्छता अभियान को ठहराया सही कदम          बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय जदयू में शामिल         BIG NEWS : पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन         पोस्टर्स पर चमकते नीतीश क्या क्या भूल चुके हैं?         सुंदर वर या वधू चाहिए तो भगवान भूतेश्वर की शरण में आएं         BIG NEWS : कृषि बिलों पर एनडीए में टूट : हरसिमरत के इस्तीफे के 9 दिन बाद पार्टी गठबंधन से अलग हुई         BIG NEWS : पूर्व CM रघुवर दास और कोडरमा सांसद अन्नपूर्णा देवी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष तो समीर उरांव बने अनुसूचित जाति-जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष         BIG NEWS : राम जन्मभूमि विवाद के बाद अब मथुरा का मामला पहुंचा कोर्ट         BIG NEWS : जब भारत मजबूत था तो किसी को सताया नहीं; जब मजबूर था, तब किसी पर बोझ नहीं बना : MODI         BIG NEWS : भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बनाई अपनी नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी, पहली बार होंगे 12 राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और 23 प्रवक्ता         शाहीनबाग की दादी " टाइम" की दरोगा क्यों?         BIG NEWS : संयुक्त राष्ट्र महासभा में इमरान खान के भाषण का भारत ने किया बहिष्कार, भारतीय प्रतिनिधि ने किया वॉकआउट         बिहार विधानसभा चुनाव : आपके जिले में किस दिन पड़ेंगे वोट, जानें किस सीट के लिए कब होगा मतदान         चुनाव की तारीख का ऐलान होते ही लालू ट्विटर पर बोल पड़े "उठो बिहारी, करो तैयारी... अबकी बारी"         यहां अर्धरात्रि में पंचमुखी शिवलिंग के दर्शनों को आते हैं हजारों सांप         रकुलप्रीत और रिया का ड्रग्सवाला दोस्ताना         BIG NEWS :बिहार विधानसभा के बाद विधान परिषद चुनाव की तारीखों का ऐलान         BIG NEWS : अनंतनाग में लश्कर-ए-तैयबा के 2 आतंकी ढेर         BIG NEWS : बिहार विधानसभा चुनाव में ऑनलाइन नॉमिनेशन, ग्लव्स पहनकर वोटिंग...         BIG NEWS : बिहार में 3 फेज में चुनाव का ऐलान,10 नवंबर को नतीजे         BIG NEWS : शिबू सोरेन और उनकी पत्नी को हराया अब उनके बेटे को हराने की इच्छा नहीं : बाबूलाल मरांडी         BIG NEWS : लद्दाख में टेंशन बनाए रखना एक बहाना, मकसद सीपेक बचाने के लिए गिलगित-बल्तिस्तान को पाकिस्तान का 5वां सूबा बनाना         BIG STORY : कपल चैलेंज का "खेला" करने वालों के लिए  ख़ास !         BIG NEWS : टीवी डिबेट्स के चर्चित चेहरे और जम्मू-कश्मीर के एडवोकेट बाबर कादरी की श्रीनगर में आतंकियों ने की गोली मारकर हत्या         यहां मंदिर से आती है देवी प्रतिमाओं के बात करने की आवाज         यहां देवताओं के राजा इंद्र के एरावत ने भगवान शिव की की थी पूजा         अभी तो सिर्फ मछलियां फँसी है, मगरमच्छों का क्या?         बॉम्बे हाईकोर्ट ने बीएमसी को लगाई लताड़         पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर डीन जोंस की हार्ट अटैक से मुंबई में मौत         SAARC मीटिंग में विदेश मंत्री ने कहा- सीमा पार आतंकवाद प्रमुख वैश्विक चुनौती         'नाइट टेस्ट' में भी पास हुई स्वदेशी पृथ्वी-2 मिसाइल, ओडिशा में हुआ परीक्षण, 300 किमी की दूरी तक मार करने में सक्षम         BIG NEWS : पुलवामा में सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को किया ढेर, बडगाम में एक जवान शहीद         BIG NEWS : बडगाम में बीजेपी नेता की गोली मारकर हत्या         BIG NEWS : DRDO ने किया लेजर गाइडेड एंटी टैंक मिसाइल का सफल परीक्षण         BIG NEWS : लॉकडाउन में चर्चित ज्योति पासवान पर बनने वाली फिल्म खटाई में, फिल्म निर्माता पर केस         मशहूर ब्रिटिश कंपनी बेब्ले एंड स्काउट उत्तर प्रदेश में बनाएगी हथियार          BIG NEWS : भारत अमेरिका से खरीदेगा 30 रीपर ड्रोन          शिवलिंग के अंकुर से निकलती हैं अन्‍य देवी-देवताओं की आकृतियां, जिनका रहस्य वैज्ञानिक भी नहीं खोज पाए         गढ़मुक्तेश्वर में हुआ था महाभारत में मारे गए योद्धाओं का पिंडदान         पाकिस्तान ने पुंछ जिले के तीन सेक्टरों में दागे गोले, भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई         BIG NEWS : भारत ने स्वदेशी हाई-स्पीड अभ्यास ड्रोन का सफल परीक्षण किया         BIG NEWS : चीन ने भारत से सटी सीमा के नजदीक 13 नए सैन्य ठिकाने बनाए         

उखड़ती सांस को जरूरत है आक्सीजन की वे तूफान की बात करते हैं...

Bhola Tiwari Dec 02, 2019, 7:05 AM IST टॉप न्यूज़
img


रंजीत कुमार 

कम से कम पांच बच्चे...

प्रथम द्रष्टया आपको मेरा यह कहना हैरत में डाल सकता है। आपको यह उलटबांसी लग सकती है। लेकिन बहुत अध्ययन, शोध और वैज्ञानिक चिंतन के बाद मैं इस नतीजे पर पहुंचा हूं कि अपने अस्तित्व को बचाने और भविष्य की पीढ़ियों को गुलाम बनने से रोकने के लिए अब हिंदुओं के पास एक ही विकल्प है। जब तक जनसंख्या नियंत्रण का कठोर कानून नहीं बन जाता तब तक हर हिंदू को कम से 5 बच्चे पैदा करने चाहिए। सत्ताई राजनीति का कोई भरोसा नहीं। उन्हें सत्ता चाहिए बस। उन्हें दूर तक देखने की न शक्ति है न ही भविष्य की चिंता।

यह हम दो हमारे एक या दो की नीति उसे 40 से 50 वर्षों में ही अल्पसंख्यक बना देगी। और एक बार अगर हिंदू 60 प्रतिशत से कम हुए, बस उसके बाद सारा खेल खत्म। 60 वर्ष में हिंदू 90 प्रतिशत से घटकर 75 प्रतिशत पर आ गए हैं और वे 7 से बढ़कर 20-22 प्रतिशत हो चुके हैं। और अब यह फासले अध्याधिक तेजी से घटेंगे। क्योंकि ज्यामितीय वृद्धि हर अगले स्टेप के बाद विशालतम होती जाती है। मसलन 2 से 4, 4 से 8, 8 से 16, 16 से 32, 32 से 64, 64 से 128, 256, 512, 1024....

और इधर, 1 से 2, 2, 4,6,8,10,12,14,16.... अब फासला का अंदाजा लगाइए। जब तक आप 2 से 16 तब तक वे 2 से 1024! 

फिलहाल, जनसंख्या संतुलन को बनाए रखना ही हिंदुओं के लिए सबसे जरूरी धर्म कार्य बन गया है। मंदिर बनाने, पूजा, अष्टयाम और कीर्तन करने से भी बड़ा...।

मैंने 60-65 वर्ष के करीब दो दर्जन मुसलमानों का सर्वेक्षण किया है- किसी के 35, किसी के 40 तो किसी के 30 बेटे-पोते-पोतियां-परपोते-पोतियां हैंं। जो सबसे कम संतान वाले थे उनके बेटे-पोते-पोतियाेें की संख्या 24 थी। इसमें उनकी विवाहित बेटियों और नातियों, नतिनों की संख्या शामिल नहीं है। यह सर्वेक्षण बिहार-झारखंड के चार-पांच जिलों के मेरे दैनंदिन अनुभव पर आधारित है। लेकिन हिंदुओं में मुझे इसी उम्र समूह का एक भी आदमी नहीं मिला जिसकी संतानों की संख्या 20 भी हो। अब तक सर्वाधिक संतान वाले जो हिंदू वृद्ध मुझे मिले उनकी संतानों की संख्या 16 थी। औसतन वे 8-10 पे अटके हैं। कुछ जातियों में तो यह संख्या महज 4 या 5 तक सीमित है। इस उम्र समूह में परदादा बनने वाले हिंदू दुर्लभ ही मिलते हैं, अब। जागों हिंदुओं, जागो... जो मुद्दे मंदिर से ज्यादा जरूरी है, उस पर आपका ध्यान तक नहीं है।

धर्म गुरुओं के लिए... 

भारत में दर्जनों मंदिर, मठ, न्यास हैं जिनके पास अकूत संपत्ति है। अब समय आ गया है कि इन संपत्ति का उपयोग हिंदू धर्म की रक्षा में किया जाए। क्योंकि अगर भक्त बचेंगे, तो ही भगवान बचेंगे, धर्म बचेगा। मंदिर, मठ और न्यास भी बचेगा। इसलिए हे धर्म गुरुओं, मठपतियों, साधुओं, भक्तों को बचाओ। जब तक ठोस जनसंख्या नियंत्रण कानून नहीं बन जाता (जिसकी संभावना नगण्य है) आप दो से ज्यादा बच्चा पैदा करने वाले हिन्दू माता-पिता को पुरस्कृत करो, बच्चों को गोद लो, उसे मुफ्त शिक्षा दो और उनका पालन-पोषण करो। यह एक बच्चे की संस्कृति हिंदू धर्म को लील जाएगी। एक पुरुष वाला परिवार कभी कोई लड़ाई नहीं लड़ सकता। देश की राजनीति जो शक्ल ले चुकी है, उसमें लड़ाई अवश्यसंभावी प्रतीत हो रही है। अब सरकारों के भरोसे हिंदुओं को नहीं छोड़ा जा सकता। आपने बहुत उपासना कर ली, अब कुछ काम करो। धर्म रक्षा के लिए सामने आओ। धर्म गुरुओं का काम केवल कर्मकांड ही नहीं है, धर्म के सामने मंडराते खतरे से निपटना भी आपका धार्मिक दायित्व है।

आने वाले समय में बुद्ध की तरह अपने ही देश में अगर गांधी जी अप्रासंगिक होंगे तो इसकी वजह गोडसे समर्थक नहीं होंगे। इसकी वजह होगी, कथित श्यूडो सेकुलर राजनीति और पाखंडी बुद्धिजीवी। ऐसा इसलिए कि जैसे-जैसे इस्लामिक जनसंख्या और जिहाद बढ़ता जाएगा हिंदू गांधी जी के सभी महान कर्म भूल कर उसे इस समस्या की जड़ मानने लगेंगे। दूसरी ओर मुसलमान उन्हें इसलिए कभी महान नहीं कहेंगे क्योंकि उनके शब्दकोश में गांधी जी कुछ भी हों मगर एक काफिर है और काफिर कभी महान नहीं हो सकता। अगर यह सच नहीं होता तो पाकिस्तान और बांग्लादेश में भी गांधी जी का उतना ही सम्मान होता जितना भारत में है। इसलिए हे गांधीवादियों, अगर आप गांधी जी को उनकी मातृभूमि में ही अप्रासंगिक होने से बचाना चाहते हैं, तो सच की राह पर चलें। एक सुर से जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग करें। धार्मिक कट्टरता के हर स्रोत से परहेज करें। 

बचा-खुचा भारत एक और प्रत्यक्ष कार्रवाई दिवस का शिकार क्यों हो? अब तो गांधी, पटेल और नेहरु भी नहीं है... तो सीन क्या बनता है? प्रति कार्रवाई दिवस! यही न? दुनिया इसी ताक में है... इसलिए हे भारत पुत्रों, जितना जल्द हो सके जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाओ। यह पॉलिटिकल सेकुलरिज्म, विलासपूर्ण उदारवाद, वित्त पोषित किताबी आदर्शवाद को त्यागो और धार्मिक कट्टरता के हर बीज को ब्रह्मांड के बाहर फेंक दो। एक सुंदर, समृद्ध और सौहार्दपूर्ण भारत के निर्माण के लिए यह फौरी आवश्यकता है। पहल करो...।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links