ब्रेकिंग न्यूज़
BIG STORY : अस्तित्व बचाने के लिए कांग्रेस को "कामराज प्लान"लागू करना होगा         BIG NEWS: सीसीएल के सीएमडी को क्या सीवीओ के गाइडलाइन की जानकारी नहीं या फिर उन्हें किसी की परवाह नहीं         BIG NEWS : भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष सौरभ गांगुली बुधवार को होम क्वारंटीन         BIG NEWS : बिहार के रोहतास में धर्मान्तरण का खुल्ला खेल          BIG NEWS : अगर ठोस कदम नहीं उठाया गया तो कोरोना वायरस की महामारी बद से बदतर होती जाएगी : टेड्रोस एडनाँम ग्रेब्रीयेसोस         BIG NEWS : बारामूला से अगवा बीजेपी नेता को सुरक्षाबलों ने कराया मुक्त         BIG NEWS : राज्य में बुधवार को मिले रिकार्ड 316 कोरोना के नए मरीज, दो मरीजों की मौत          BIG NEWS : राहुल बोले - कांग्रेस से जो जाना चाहता है जा सकता है!          BIG NEWS : चीन के हुवावे को भारत का करारा जवाब है Jio5G         BIG NEWS : LOC के पास एक पाकिस्तानी घुसपैठिया गिरफ्तार         BIG NEWS : बारामूला में आतंकियों ने बीजेपी नेता को किया अगवा, तलाश जारी         BIG NEWS : 15 अगस्त को लॉन्च हो सकती है देश की पहली कोरोना वैक्सीन         CBSE 10th Result : लड़कियों का पास प्रतिशत 93.31 फीसदी और लड़कों का 90.14 फीसदी रहा         BIG NEWS : पाकिस्तान आर्मी का नया कारनामा, बकरीद पर जिबह के लिए फौजी कसाई सर्विस लॉन्च         बिहार में बाढ़ की शुरुआत और नेपाल का पानी छोड़ना          BIG NEWS : राज्य में मंगलवार को रिकार्ड 247 कोरोना मरीज, तीन संक्रमितों की हुई मौत          BIG NEWS : अमेरिका के बाद ब्रिटेन ने भी Huawei को किया बैन         BIG NEWS : छवि रंजन बने रांची के नये डीसी, झारखंड में 18 IAS अधिकारियों का तबादला         BIG NEWS : विकास दुबे की तरह मेरा एनकाउंटर करना चाहते थे डीएसपी और इंस्पेक्टर : भोला दांगी         BIG NEWS : श्रीनगर पुलिस हेडक्वार्टर सील, जम्मू कश्मीर में कुल 10827 कोरोना के मरीज         BIG NEWS : भारत-चीन के बीच चौथे चरण की कोर कमांडर स्तर की बैठक शुरू, कई अहम मुद्दों पर होगी चर्चा         BIG NEWS : सचिन पायलट पर कार्रवाई, उप मुख्यमंत्री के पद से हटाए गए         नेपाल पीएम के बिगड़े बोल, कहा – “नेपाल में हुआ था भगवान राम का जन्म, नेपाली थे भगवान राम”         CBSE 12वीं का रिजल्ट : देश में 88.78% स्टूडेंट पास         BIG NEWS : सेना प्रमुख एमएम नरवणे जम्मू पहुंचे, सुरक्षा स्थिति का लिया जायजा         अनंतनाग एनकाउंटर में 2 आतंकी ढेर         बांदीपोरा में 4 OGWS गिरफ्तार, हथियार बरामद         BIG NEWS : हाफिज सईद समेत 5 आतंकियों के बैंक अकाउंट फिर से बहाल         BIG NEWS : लालू यादव का जेल "दरबार", तस्वीर वायरल         मान लीजिए इंटर में साठ प्रतिशत आए, या कम आए, तो क्या होगा?         BIG NEWS : झारखंड में रविवार को कोरोना संक्रमण से 6 मरीजों की मौत, बंगाल-झारखंड सीमा सील         BIG NEWS : सोपोर में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, अब तक 2 आतंकी ढेर         BIG NEWS : देश में PMAY के क्रियान्वयन में रामगढ़ नंबर वन         BIG NEWS : श्रीनगर में तहरीक-ए-हुर्रियत के चेयरमैन अशरफ सेहराई गिरफ्तार         BIG NEWS : ऐश्वर्या राय बच्चन और आराध्या बच्चन की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव         BIG NEWS : मध्यप्रदेश की राह पर राजस्थान !         अमिताभ बच्चन ने कोरोना के खौफ के बीच सुनाई थी उम्मीद भरी कविता, अब..         .... टिक-टॉक वाले प्रकांड मेधावियों का दस्ता         BIG BRAKING : नक्सलियों नें कोल्हान वन विभाग कार्यालय व गार्ड आवास उड़ाया         BIG NEWS : महानायक अमिताभ बच्चन के बाद अभिषेक बच्चन को भी कोरोना         BIG NEWS : अमिताभ बच्चन करोना पॉजिटिव        

श्रीलंका में गोतबाया राजपक्षे का राष्ट्रपति बनना भारत के लिए चिंता का सबब,चीन के करीबी है राजपक्षे परिवार

Bhola Tiwari Nov 19, 2019, 7:16 AM IST टॉप न्यूज़
img


अजय श्रीवास्तव

70 वर्षीय पूर्व रक्षा सचिव गोतबाया राजपक्षे जो पूर्व राष्ट्रपति महिन्द्रा राजपक्षे के छोटे भाई हैं श्रीलंका के राष्ट्रपति होंगे।गोतबाया राजपक्षे ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी सत्तारूढ़ यूनाइटेड नेशनल पार्टी(यूएनपी)के प्रत्याशी सजीत प्रेमदासा पर बडी जीत दर्ज की है।जीत की औपचारिक घोषणा से पहले ही भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें जीत पर बधाई दी।संभवतः आज वो प्राचीन शहर अनुराधापुरा में श्रीलंका के राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे।

आपको याद दिला दें ये वही रक्षा सचिव हैं जिन्होंने लिबरेशन टाइगर्स आँफ तमिल ईलम(लिट्टे)को तीन दशक तक चले गृहयुद्ध में नेस्तनाबूद किया था और लिट्टे प्रमुख प्रभाकरन को मौत के घाट उतार दिया था।पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने श्रीलंका सरकार के विशेष आग्रह पर श्रीलंका में अपनी सेना भेजी थी,जिसका दुखद अंत राजीव गांधी की शहादत से हुआ।श्रीलंका में जब महिन्द्रा राजपक्षे राष्ट्रपति बने तो उन्होंने अपने छोटे भाई और तत्कालीन रक्षा सचिव गोतबाया राजपक्षे को बुलाकर कहा कि किसी भी हालत में लिट्टे का सफाया करो।तुम्हें जो भी हथियार चाहिए सरकार मुहैया कराएगी।गोतबाया ने बहुत से हथियार चीन और पाकिस्तान से मंगवाये और लिट्टे का सफाया किया था।बीबीसी को दिये साक्षात्कार में गोतबाया ने ये स्वीकार किया था कि अगर मेरे भाई राष्ट्रपति न होते तो मुझे इतने अधिकार भी न मिलते और कभी लिट्टे का सफाया न हो पाता, क्योंकि लिट्टे रोज मजबूत और आक्रामक हो रहा था।

आपको मालूम हीं होगा कि श्रीलंका की संविधान के मुताबिक एक व्यक्ति सिर्फ दो बार हीं राष्ट्रपति रह सकता है।लिट्टे पर विजय के बाद महिन्द्रा राजपक्षे ने संविधान में संशोधन कराया था कि कोई भी कितनी हीं बार राष्ट्रपति रह सकता है मगर मैत्रिपाला सिरीसेना ने राष्ट्रपति रहते इस संशोधन को रद्द कर दिया।इस वजह से महिन्द्रा राजपक्षे चुनाव नहीं लड सकें और उन्हें अपने छोटे भाई का समर्थन करना पडा था।

श्रीलंका की खबरों पर नजर रखने वाले बताते हैं कि वहाँ के बहुसंख्यक सिंघली आबादी चाहती थी कि श्रीलंका में अब ऐसा राष्ट्रपति बने जो सिंघलियों के हितों की रक्षा कर सके।गोतबाया के रूप में सिंघलियों को एक मजबूत उम्मीदवार मिल गया, जिसकी छवि मुस्लिम विरोधी है और वे सबसे ज्यादा मुस्लिम चरमपंथियों से हीं डरें हुऐ हैं।गोतबाया ने चुनाव प्रचार में अपनी नीति को स्पष्ट कर दिया है और उसने स्पष्ट कहा है कि जो भी ईलम(अलग देश)की मांग करेगा,उसे मिटा दिया जाएगा जैसे लिट्टे का सफाया हुआ था।

गोतबाया की जीत पर श्रीलंका के मुस्लिम डरें हुऐ हैं,उन्हें अंदेशा है कि सिंहलियों को खुश करने के लिए वे मुसलमानों पर कडे प्रतिबंध लगा सकते हैं।मुस्लिम समुदाय का ये डर इस बात से पुख्ता होता है कि मुसलमान विरोधी विचारों के लिए जाने जाने वाले कट्टर बौद्ध समूह "बोदू बाला सीन" के साथ उनका दोस्ताना रिश्ता है।

गोतबाया का जीतना भारत के लिए भी सुखद नहीं है क्योंकि उनके बडे भाई महिंद्रा राजपक्षे के शासनकाल में श्रीलंका, चीन के बेहद करीब आ गया था।उन दिनो चीन ने श्रीलंका में काफी बडा निवेश किया था, जिससे भारत खुश नहीं था मगर भारत की भावनाओं को दरकिनार कर महिन्द्रा राजपक्षे ने अपने मुख्य बंदरगाह के द्वार चीनी पनडुब्बियों के लिए खोल दिये थे।उन्होंने चीन के साथ मिलकर एक विशाल बंदरगाह का निर्माण किया जिसकी एवज में चीन से अरबों डॉलर उधार लिये थे।अब श्रीलंका उस कर्ज को चुकाने में असमर्थ है और संभवतः आज नहीं तो कल वो बंदरगाह पर चीन का नियंत्रण हो जाएगा।ये स्थिति भारत की सुरक्षा के लिए बेहद गंभीर होगी।जानकारों का कहना है कि गोतबाया भी अपने बडे भाई महिन्द्रा राजपक्षे के पदचिन्हों पर हीं चलेंगे जो भारत के लिए सुखद नहीं है।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links