ब्रेकिंग न्यूज़
बॉलीवुड में ड्रग नहीं, ड्रग में बॉलीवुड...         BIG NEWS : पुलवामा में सुरक्षाबलों ने लश्कर के दो आतंकवादियों को मार गिराया, जवान घायल         संकट में पत्रकार         BIG NEWS : 104 सीट पर जदयू और 100 पर भाजपा लड़ेगी         दुनिया का इकलौता मंदिर, जहां होती है भोलेनाथ के पैर के अंगूठे की पूजा         बाबा रामदेव ने बॉलीवुड में स्वच्छता अभियान को ठहराया सही कदम          बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय जदयू में शामिल         BIG NEWS : पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन         पोस्टर्स पर चमकते नीतीश क्या क्या भूल चुके हैं?         सुंदर वर या वधू चाहिए तो भगवान भूतेश्वर की शरण में आएं         BIG NEWS : कृषि बिलों पर एनडीए में टूट : हरसिमरत के इस्तीफे के 9 दिन बाद पार्टी गठबंधन से अलग हुई         BIG NEWS : पूर्व CM रघुवर दास और कोडरमा सांसद अन्नपूर्णा देवी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष तो समीर उरांव बने अनुसूचित जाति-जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष         BIG NEWS : राम जन्मभूमि विवाद के बाद अब मथुरा का मामला पहुंचा कोर्ट         BIG NEWS : जब भारत मजबूत था तो किसी को सताया नहीं; जब मजबूर था, तब किसी पर बोझ नहीं बना : MODI         BIG NEWS : भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बनाई अपनी नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी, पहली बार होंगे 12 राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और 23 प्रवक्ता         शाहीनबाग की दादी " टाइम" की दरोगा क्यों?         BIG NEWS : संयुक्त राष्ट्र महासभा में इमरान खान के भाषण का भारत ने किया बहिष्कार, भारतीय प्रतिनिधि ने किया वॉकआउट         बिहार विधानसभा चुनाव : आपके जिले में किस दिन पड़ेंगे वोट, जानें किस सीट के लिए कब होगा मतदान         चुनाव की तारीख का ऐलान होते ही लालू ट्विटर पर बोल पड़े "उठो बिहारी, करो तैयारी... अबकी बारी"         यहां अर्धरात्रि में पंचमुखी शिवलिंग के दर्शनों को आते हैं हजारों सांप         रकुलप्रीत और रिया का ड्रग्सवाला दोस्ताना         BIG NEWS :बिहार विधानसभा के बाद विधान परिषद चुनाव की तारीखों का ऐलान         BIG NEWS : अनंतनाग में लश्कर-ए-तैयबा के 2 आतंकी ढेर         BIG NEWS : बिहार विधानसभा चुनाव में ऑनलाइन नॉमिनेशन, ग्लव्स पहनकर वोटिंग...         BIG NEWS : बिहार में 3 फेज में चुनाव का ऐलान,10 नवंबर को नतीजे         BIG NEWS : शिबू सोरेन और उनकी पत्नी को हराया अब उनके बेटे को हराने की इच्छा नहीं : बाबूलाल मरांडी         BIG NEWS : लद्दाख में टेंशन बनाए रखना एक बहाना, मकसद सीपेक बचाने के लिए गिलगित-बल्तिस्तान को पाकिस्तान का 5वां सूबा बनाना         BIG STORY : कपल चैलेंज का "खेला" करने वालों के लिए  ख़ास !         BIG NEWS : टीवी डिबेट्स के चर्चित चेहरे और जम्मू-कश्मीर के एडवोकेट बाबर कादरी की श्रीनगर में आतंकियों ने की गोली मारकर हत्या         यहां मंदिर से आती है देवी प्रतिमाओं के बात करने की आवाज         यहां देवताओं के राजा इंद्र के एरावत ने भगवान शिव की की थी पूजा         अभी तो सिर्फ मछलियां फँसी है, मगरमच्छों का क्या?         बॉम्बे हाईकोर्ट ने बीएमसी को लगाई लताड़         पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर डीन जोंस की हार्ट अटैक से मुंबई में मौत         SAARC मीटिंग में विदेश मंत्री ने कहा- सीमा पार आतंकवाद प्रमुख वैश्विक चुनौती         'नाइट टेस्ट' में भी पास हुई स्वदेशी पृथ्वी-2 मिसाइल, ओडिशा में हुआ परीक्षण, 300 किमी की दूरी तक मार करने में सक्षम         BIG NEWS : पुलवामा में सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को किया ढेर, बडगाम में एक जवान शहीद         BIG NEWS : बडगाम में बीजेपी नेता की गोली मारकर हत्या         BIG NEWS : DRDO ने किया लेजर गाइडेड एंटी टैंक मिसाइल का सफल परीक्षण         BIG NEWS : लॉकडाउन में चर्चित ज्योति पासवान पर बनने वाली फिल्म खटाई में, फिल्म निर्माता पर केस         मशहूर ब्रिटिश कंपनी बेब्ले एंड स्काउट उत्तर प्रदेश में बनाएगी हथियार          BIG NEWS : भारत अमेरिका से खरीदेगा 30 रीपर ड्रोन          शिवलिंग के अंकुर से निकलती हैं अन्‍य देवी-देवताओं की आकृतियां, जिनका रहस्य वैज्ञानिक भी नहीं खोज पाए         गढ़मुक्तेश्वर में हुआ था महाभारत में मारे गए योद्धाओं का पिंडदान         पाकिस्तान ने पुंछ जिले के तीन सेक्टरों में दागे गोले, भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई         BIG NEWS : भारत ने स्वदेशी हाई-स्पीड अभ्यास ड्रोन का सफल परीक्षण किया         BIG NEWS : चीन ने भारत से सटी सीमा के नजदीक 13 नए सैन्य ठिकाने बनाए         

जब इक़बाल ने खुद गाया था सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा

Bhola Tiwari Nov 10, 2019, 10:07 AM IST टॉप न्यूज़
img


राजीव मित्तल

यह तस्वीर 1910 की है, जिसमें अल्लामा इक़बाल गवर्नमेंट कॉलेज, लाहौर में अपने साथियों और शागिर्दों के साथ हैं..यही वो जगह है जहाँ इक़बाल ने ग़दर पार्टी के संस्थापक और अपने प्रिय शागिर्द लाला हरदयाल के कहने पर पहली बार अपनी रचना “सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्ताँ हमारा” तरन्नुम में सुनाई थी..

हुआ यूं था कि बचपन से मज़हबी घराने में पले बढ़े लाला हरदयाल भारतीय भूमि से निकले हर धर्म, सम्प्रदाय और महापुरूष में काफ़ी आस्था रखते थे.. उन्हे भारतीय परम्पराओं से ख़ासा लगाव था.. शुरुआती तालीम कैम्ब्रिज मिशन स्कूल से हासिल करने के बाद सेंट स्टीफ़ेंस कालेज, दिल्ली से संस्कृत में स्नातक किया और इसके बाद पंजाब यूनिवर्सटी, लाहौर से संस्कृत में ही एम.ए. करने लगे.. उस समय गवर्नमेंट कॉलेज लाहौर में अल्लामा इक़बाल प्रोफ़ेसर थे, जो वहाँ दर्शनशास्त्र पढ़ाते थे..

उन दिनों लाहौर में नौजवानों के मनोरंजन और तफ़रीह के लिये एक ही क्लब हुआ करता था जिसका नाम था “यंग्समैन क्रिश्चियन ऐसोसिएशन” .. उसे वाई.एम.सी.ए के नाम से भी जाना जाता था..किसी बात को लेकर लाला हरदयाल की क्लब के सचिव से बहस हो गई.. बात देश की इज़्ज़त की थी, लाला जी ने तुरंत ‘वाई एम सी ए’ के समानान्तर “यंग्समैन इण्डिया ऐसोसिएशन” यानी ‘वाई एम आई ए’ की स्थापना कर डाली..

जब लाला जी ने अपने प्रोफ़ेसर इक़बाल को सारा माजरा बताया और उनसे ऐसोसिएशन के उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता करने को कहा तो वोह फ़ौरन तैयार हो गये.. इस समारोह में इक़बाल ने अपनी प्रसिद्ध रचना “सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्ताँ हमारा” सुनाई..एैसा शायद पहली बार हुआ कि किसी समारोह के अध्यक्ष ने अपने अध्यक्षीय भाषण के स्थान पर कोई तराना गाया हो.. इस रचना का श्रोताओं पर इतना गहरा प्रभाव हुआ कि इक़बाल को समारोह के आरम्भ और समापन दोनों ही अवसरों पर ये गीत सुनाना पड़ा..

यह तराना पहली बार मौलाना शरर की हफ़्तावार पत्रिका "इत्तेहाद" में 16 अगस्त 1904 को इस टिप्पणी के साथ प्रकाशित हुआ था की एक क्लब की स्थापना हुई है, जिसका सबसे महत्वपूर्ण कार्य यह है कि हिन्दोस्तान के सभी समुदायों में मेलजोल बढ़ाया जाए ताकि वे सब एकमत से देश के विकास और कल्याण की और आकर्षित हों..इस समारोह में पंजाब के प्रसिद्ध और कोमल विचार वाले शायर मुहम्मद इक़बाल ने एक छोटी और पुरजोश कविता पढ़ी, जिसने श्रोताओं के दिलों को जीत लिया और सबके आग्रह पर इसको समारोह के प्रारंभ और समापन पर भी सुनाया गया। इस कविता से चूंकि एकता के उद्देश्य में सफलता मिली, अतः हम अपने पुराने दोस्त और मौलवी मुहम्मद इक़बाल का शुक्रिया अदा करते हुए 'इत्तेहाद' में इसे प्रकाशित कर रहे हैं…”

15 अगस्त 1947 को जब हिन्दुस्तान आज़ाद हुआ तो मध्यरात्रि के ठीक 12 बजे संसद भवन समारोह में इक़बाल का यह तराना समूह में गाया गया था..आज़ादी की 25वीं वर्षगांठ पर सूचना एंव प्रसारण मंत्रालय ने इसकी वर्तमान धुन तैयार की.. 1950 के दशक में सितारवादक पंडित रविशंकर ने इसे सुर-बद्ध किया..जब इंदिरा गांधी ने भारत के प्रथम अंतरिक्षयात्री राकेश शर्मा से पूछा कि अंतरिक्ष से भारत कैसा दिखता है, तो शर्मा ने कहा था-सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा..

21 अप्रैल, 1938 को अल्‍लामा इक़बाल का इंतक़ाल हो गया..उनकी मौत के बाद दिल्ली की "जौहर" पत्रिका के इक़बाल विशेषांक में महात्मा गांधी का एक लेख छपा था, जिसमें उन्होंने लिखा था-डॉ. इक़बाल मरहूम के बारे में क्या लिखूं, लेकिन मैं इतना तो कह सकता हूं कि जब उनकी मशहूर नज़्म "हिन्दोस्तां हमारा" पढ़ी तो मेरा दिल भर आया और मैंने पूणे की जेल में सैकड़ों बार इस नज़्म को गाया होगा.

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links