ब्रेकिंग न्यूज़
जंगलों का हत्यारा, धरती का दुश्मन...         लुगू पहाड़ की तलहटी में नक्सलियों ने दी फिर दस्तक         आज संपादक इवेंट मैनेजर है तो तब वो हुआ करता था बनिये का मुनीम या मंत्र पढ़ता पंडत....         किसी को होश नहीं कि वह किसे गाली दे रहा है...          जेवीएम विधायक प्रदीप यादव और बंधु तिर्की ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी से की मुलाकात         नीतीश का दो टूक : प्रशांत किशोर और पवन वर्मा जिस पार्टी में जाना चाहे जाए, मेरी शुभकामना         लोहरदगा में कर्फ्यू :  CAA के समर्थन में निकाले गए जुलूस पर पथराव, कई लोग घायल         पेरियार विवाद : क्या तमिल सुपरस्टार रजनीकांत की बातें सही हैं जो उन्होंने कही थी ?         पत्‍थलगड़ी आंदोलन का विरोध करने पर हुए हत्‍याकांड की होगी एसआईटी जांच, सीएम हेमंत सोरेन दिए आदेश         एक ही रास्ता...         अब तानाजी के वीडियो में छेड़छाड़ कर पीएम मोदी को दिखाया शिवाजी         सरकार का नया दांव : जनसंख्या नियंत्रण कानून...         हम भारत के सामने बहुत छोटे हैं, बदला नहीं ले सकते : महातिर मोहम्मद         तीस साल बीतने के बावजूद कश्मीरी पंडितों की सुध लेने वाला कोई नहीं, सरकार की प्राथमिकता में कश्मीर के अन्य मुद्दे         हेमंत सोरेन को मिला 'चैम्पियन ऑफ चेंज' अवॉर्ड         जेपी नड्डा भाजपा के नए अध्यक्ष, मोदी बोले-स्कूटर पर साथ घूमे         नए दशक में देश के विकास में सबसे ज्यादा 10वीं-12वीं के छात्रों की होगी भूमिका : मोदी         CAA को लेकर केरल में राज्यपाल और राज्य सरकार में ठनी         इतिहास तो पूछेगा...         सेखुलरी माइंड गेम...         अफसरों की करतूत : पत्नियों की पिकनिक के लिए बंद किया पतरातू रिजाॅर्ट         गुरूवर रविंद्रनाथ टैगोर की मशहूर कविता "एकला चलो रे" की राह पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव         पत्रकारिता में पद्मश्रियों और राज्यसभा की सांसदी के कलुष...         विकास का मॉडल देखना हो तो चीन को देखिए...         फरवरी में भारत आएंगे ट्रंप, अहमदाबाद में होगा 'हाउडी मोदी' जैसा कार्यक्रम         शर्मनाक : सीएम के आदेश के बावजूद सरकारी मदद पहुंचने से पहले मरीज की मौत         झारखण्ड मंत्रिमंडल लगभग तय ! अन्तिम मुहर लगनी बाकी         ऑस्ट्रेलिया का क्या होगा...         क्या चंद्रशेखर आजाद बसपा सुप्रीमो मायावती का विकल्प बन सकते हैं?         सबसे पहले जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग कीजिए...        

सियासी हलचल : भाजपा और आजसू के गठबंधन पर काले बादल

Bhola Tiwari Nov 05, 2019, 9:08 PM IST टॉप न्यूज़
img

● भाजपा, आजसू का टूट सकता है गठबंधन, रामगढ़ विधानसभा सीट बन रहा कारण

● आजसू के 12 सीटो पर चुनाव लड़ने पर तय हुआ था गठबंधन, लेकिन रामगढ़ विधानसभा सीट को लेकर हो रही कीच कीच

● बगावत के मूड में भाजपा रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र के वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता


जितेन्द्र कुमार

रामगढ़ : भाजपा और आजसू के गठबंधन पर काले बादल मंडराने लगे हैं। विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक कई दौर के मीटिंग के बाद सीट बंटवारे को लेकर मामला तो तय हो गया, मगर रामगढ़ सीट को लेकर भाजपा और आजसू की आंखें टकरा गई। मामला इतना गंभीर है कि कोई भी दल पीछे हटने को अभी तक तैयार नहीं दिखता। लिहाजा आजसू ओर भाजपा का गठबंधन रामगढ़ विधानसभा सीट को लेकर टूट सकता है। इस बात की तस्दीक गोपनीय सूत्र भी कर रहे हैं।

 गोपनीय सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक आजसू भाजपा के गठबंधन को लेकर 31 अक्टूबर को रांची स्थित मुख्यमंत्री कार्यालय में देर रात आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो एव मुख्यमंत्री रघुवर दास के साथ एक बैठक हुई थी। बैठक में आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो ने 16 सीटो की मांग की जिस पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आजसू को 12 सीट देने की बात कही। ता काफी तर्क वितर्क और मंथन के बाद सुदेश महतो इस आंकड़े पर मान गए और आजसू और भाजपा का गठबंधन लगभग तय हो गया। लेकिन गठबंधन सीटो के बटवारे को लेकर मामला फस गया। सूत्रों की माने तो रामगढ़ विधानसभा सीट को लेकर मुख्यमंत्री रघुवर दास और आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो आमने सामने हो गए। आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो का कहना था कि रामगढ़ विधानसभा का सीट आजसू पार्टी का सिटिंग सीट है। यहा से पूर्व मंत्री सह वर्तमान में गिरिडीह के सांसद चंद्र प्रकाश चौधरी ने यहां से तीन बार लगातार जीत दर्ज की है। इसलिए यह सीट आजसू को ही मिलनी चाहिए। इस पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि इस विधानसभा सीट से 5 बार भाजपा ने जीत दर्ज किया है। इसलिए यह भाजपा का भी सिटिंग सीट है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर बात सिटिंग सीट की हो रही है तो गिरिडीह लोकसभा सीट भाजपा की सिटिंग सीट थी, लेकिन हमने गठबंधन धर्म का पालन किया और वह सीट आजसू को दिया, जहा चंद्र प्रकाश चौधरी ने जीत दर्ज किया। अब वह गिरिडीह के सांसद हैं। उनके रामगढ़ विधानसभा से जाने के बाद अब इस सीट पर भाजपा का ही उम्मीदवार चुनाव लड़ेगा। लेकिन रामगढ़ विधानसभा सीट को लेकर आजसू ने साफ कर दिया है कि इस सीट पर आजसू पार्टी से सुनिता चौधरी चुनाव लड़ेगी। इस सीट से रामगढ़ के पूर्व विधायक चंद्र प्रकाश चौधरी की पत्नी सुनिता चौधरी को पार्टी ने अपना उम्मीदवार 3 महीने पहले ही घोषित कर दिया था। वही भाजपा भी इस सीट से अपने उम्मीदवार उतारने की बात कह रही है।


सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उधर रामगढ़ जिले के वरिष्ठ भाजपा नेताओ की एक बैठक मंगलवार को राजधानी के रेडिसन ब्लू में प्रदेश स्तरीय नेताओं के साथ हुई। इस बैठक में रामगढ़ जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर चौधरी, जिला महामंत्री रंजीत पाडेय, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य प्रो संजय सिंह, हजारीबाग के सांसद प्रतिनिधि प्रकाश मिश्रा, रंजीत सिन्हा, रामगढ़ के पूर्व जिलाध्यक्ष अमरेंद्र गुप्ता, पुरुषोत्तम पांडे, करुण सिंह, हुकुम नाथ महतो, राजू कुशवाहा, खुशीलाल, प्रवीण मेहता सहित कई वरिष्ठ नेता शामिल थे। रामगढ़ जिले के सभी वरिष्ठ नेताओं की प्रदेश पदाधिकारियों से मांग थी कि रामगढ़ विधानसभा में भाजपा का ही उम्मीदवार चुनाव लड़ेगा। इससे साफ जाहिर होता है कि अगर रामगढ़ विधानसभा सीट पर भाजपा के उम्मीदवार को टिकट नही मिलता है तो रामगढ़ जिले के सभी नेता व कार्यकर्ता बगावत पर उतर सकते हैं।

खबर है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भी रामगढ़ विधानसभा सीट को लेकर भाजपा के उम्मीदवार को उतारने की मांग मुख्यमंत्री रघुवर दास से की है।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links