ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS कोरोना जैविक हथियार के इस्तेमाल के आरोपों पर तिलमिलाया चीन, बदनाम करने की साजिश         BIG NEWS : अनंतनाग एनकाउंटर में लश्कर-ए-तैयबा के 3 आतंकी ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी         BIG NEWS : भगवान राम को नेपाली बताने वाले पीएम केपी ओली संसद में विश्वास मत हारे, अब PM पद से देना होगा इस्तीफा         BIG NEWS : बिहार वाले पप्पू यादव गिरफ्तार         समुद्र पर दौडता ऐरावत ले आया आठ क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंक: चार हजार सिलेंडर, अस्पतालों ने ली राहत की सांस         BIG NEWS : राहुल के कांग्रेस अध्यक्ष बनने में फिर अड़ंगा; कांग्रेस कार्यसमिति ने टाले चुनाव, सोनिया ने लगाया आरोप         BIG NEWS : बंगाल में शुभेंदु नेता प्रतिपक्ष बने, BJP के 61 विधायकों को दी गई X कैटिगरी की सिक्यॉरिटी, सभी 77 MLA को केंद्रीय सुरक्षा         BIG NEWS : दूसरी लहर में पहली बार कोरोना के नए केस से ज्यादा लोग ठीक हुए, 3.29 लाख नए केस, 3. 55 हजार लोग ठीक हुए         बारामूला-बनिहाल रेल सेवा 16 मई तक बंद, बीते 22 फरवरी को 11 महीनों के बाद शुरू हुई थी सेवा         BIG NEWS : 60 साल के कश्मीरी बुजुर्ग ने तैयार किया ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का प्रोटोटाइप, कहा - कंपनी बनाए सस्ते कंसंट्रेटर         BIG NEWS : बंगाल हिंसा पर राज्यपाल फिर बेहद नाराज, कहा- बंगाल में संविधान खत्म         BIG NEWS : हेमंत बिस्व सरमा ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ         BIG NEWS : कोरोना के कहर के बीच पंचांगों से आई डरावनी खबर, मई अंत तक भारी तबाही की आशंका, आ सकता है तूफान         BIG NEWS : चीन का नाम लिए बगैर इजराइली एम्बेसेडर बोले-कोरोनावायरस बेहद संदिग्ध         BIG NEWS : 5 दिन बाद कोरोना का आंकड़ा नीचे आया, 3.53 लाख लोग हुए ठीक         BIG NEWS : ऑस्ट्रेलिया मीडिया का दावा, कोरोनावायरस चीन का जैविक हथियार         टीकाकरण ही भारत के संकट का इकलौता हल : डॉ. फौसी         BIG NEWS : पत्रिका द लांसेट में भारत के खिलाफ प्रोपेगेंडा         BIG NEWS : लालू प्रसाद यादव की तबीयत अचानक बिगड़ी, ऑक्सीजन लेवल गिरा         BIG NEWS : मदर्स डे के दिन झारखंड में मां की कोख उजड़ी, 7 बच्चों की मौत         BIG NEWS : पुंछ में सुरक्षाबलों ने बड़े आतंकी साजिश को किया नाकाम, ग्रेनेड की बड़ी खेप बरामद         BIG NEWS : हिमंत बिस्वा सरमा होंगे असम के नए मुख्यमंत्री, लगी मुहर         BIG NEWS : उत्तर प्रदेश में 17 मई सुबह 7 बजे तक के लिए बढ़ाया गया लॉकडाउन, आदेश जारी         हेमंत बिस्वा शर्मा असम के नए मुख्यमंत्री होंगे !         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर सरकार का बड़ा फैसला, प्रशासन घरों में इलाज करा रहे मरीजों तक पहुंचाएगी कोविड ट्रीटमेंट किट         BIG NEWS : गायंत्री मंत्र के जाप से कोरोना ठीक करना चाहता है ऋषिकेश एम्स, दस मरीजों पर कर रहा है ट्रॉयल         कोरोना महामारी के बीच कुलांचें भर रहा है चीन का वैश्विक व्यापार         गरीब देशों में ज्यादा जन्म लेते हैं थैलेसीमिया पीड़ित बच्चे क्योंकि…….         BIG NEWS : ढीले हुए वाट्सएप के तेवर, 15 मई को नई नीति स्वीकार नहीं की तो भी डिलीट नहीं होगा वाट्सएप अकाउंट         प्रशांत महासागर में गिरेगा चीन का 21 टन वजनी विशालकाय रॉकेट         BIG NEWS : वैक्सीन पर जीएसटी से भड़के राहुल का तंज,’भले ही जनता के प्राण निकल जाएं लेकिन टैक्स नहीं छोड़ेंगे मोदी’         BIG NEWS : अब देश ने स्वस्थ होने वाले मरीजों का रिकॉर्ड बनाया, देश में पहली बार 3.86 लाख से ज्यादा मरीज हुए ठीक         सप्ताह के सातों दिन के लिए बताए गए हैं अलग-अलग देवता, किस दिन किसकी पूजा करें         इम्युनिटी के लिए किसी वरदान से कम नहीं है तुलसी         BIG NEWS : भारत की मदद के लिए सामने आई थाईलैंड सरकार; कई ऑक्सीजन सिलेंडर और कंसंट्रेटर भेजी दिल्ली         BIG NEWS : रांची में ताबड़तोड़ फायरिंग, 4 को लगी गोली, कई दुकानों और घरों में घुसकर तोड़फोड़, पुलिस लाठीचार्ज          BIG NEWS : कोरोना से संक्रमित मरीजों के शरीर में ही मार डालेगी ये दवा और रोगी हो जाएगा चंगा         BIG NEWS : भारत ने बनाई कोरोना की दवा, सरकार ने दी आपात इस्तेमाल की मंजूरी         BIG NEWS : अस्पताल में इलाज के लिए अब कोरोना टेस्ट जरूरी नहीं         आप विधायक इमरान हुसैन पर ऑक्सीजन जमाखोरी का आरोप, दिल्ली हाईकोर्ट ने किया तलब         कंगना को कोरोना, लेकिन मैं इसको हरा दूंगी'         BIG NEWS : जिन बूढ़ों ने लगवाई फाइजर और मॉडर्ना की वैक्सीन, कोरोना होने पर भी अस्पताल से रहते हैं दूर         अगर आपके घर में कोई कोरोना मरीज हैं तो-          BIG NEWS : रेमडेसिविर इंजेक्शन और 13 ऑक्सीजन प्लांट इंडिया पहुंचे, सरकार बोली- मदद सीधे राज्यों को भेजी जा रही         BIG NEWS : आर्टिकल 370 हटाना भारत का आंतरिक मामला, पाकिस्तान को 35A रद्द होने से परेशानी : शाह महमूद कुरैशी         शनि देव को खुश करने के 5 आसान उपाय, शुरू करें इसी शनिवार से         जानिए क्या हैं ब्लड थिनर्स? खून पतला करने के उपाय         BIG NEWS : कई राज्य के सीएम ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को दी नसीहत, कहा- एकजुटता से ही राह निकलेगी         BIG NEWS : 10,000 ऑक्सीजन जनरेटर्स, 1 करोड़ मास्क... कोरोना की दूसरी लहर में संयुक्त राष्ट्र से भारत को बड़ी मदद         BIG NEWS : शिल्पा शेट्टी की एक साल की बेटी, बेटा, पति, मां और सास-ससुर कोरोना पॉजिटिव, दो स्टाफ मेंबर भी संक्रमित         BIG NEWS : अनुष्का शर्मा और विराट कोहली ने कोरोना से जंग के लिए डोनेट किए 2 करोड़ रुपये, अब इस अभियान में जुटे         रेल से पश्चिम बंगाल जाना है तो जेब में रखनी होगी 72 घंटे पुरानी आरटी-पीसीआर निगेटिव रिपोर्ट         जुड़वां प्रतिमाओं वाले इस हनुमान मंदिर में पूरी होती हैं सभी मनोकामनाएं         सुप्रीम कोर्ट ने माना, कठोर थी चुनाव आयोग पर टिप्पणी फिर भी हटाने से इनकार         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर के नागरिकों से अपील, परेशानी हो तो घबराएं नहीं इन हेल्पलाइन नंबर पर करें कॉल          BIG NEWS : भारत के बिना दुनिया अधूरी, उसने विश्व को बहुत कुछ दिया : निशा देसाई बिस्वाल        

"लीडरशिप क्वालिटी" थी इंदिरा गांधी में,जो ठान लिया किसी हद तक जाकर पूरा करती थीं इंदिरा

Bhola Tiwari Nov 01, 2019, 5:57 PM IST टॉप न्यूज़
img


अजय श्रीवास्तव

27 मई 1964 का वो मनहूस दिन,देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू सभी देशवासियों को रूलाकर अनंत में विलीन हो गए।कांग्रेस पार्टी ने लालबहादुर शास्त्री को प्रधानमंत्री बनाया,यद्यपि मोरारजी देसाई प्रधानमंत्री पद के स्वभाविक उम्मीदवार थे और बहुत से वरिष्ठ नेताओं ने उनका समर्थन भी किया मगर मोरारजी देसाई ने दोस्त से अधिक दुश्मन बनाए थे।मोरारजी देसाई पर सर्वसम्मति से फैसला न हो सका और फिर लालबहादुर शास्त्री का चुनाव किया गया।इंदिरा गांधी ने शास्त्रीजी के मंत्रीमंडल में सूचना एंव प्रसारण मंत्री का कामकाज संभाला।

लालबहादुर शास्त्री की मृत्यु के बाद इंदिरा गांधी देश की प्रधानमंत्री बनीं मगर उनका बहुत विरोध था।कांग्रेस के अंदर हीं सिंडिकेट इंदिरा गांधी का विरोध कर रहा था तो समाजवादी नेता राममनोहर लोहिया कांग्रेस की सत्ता को उखाड़ फेंकने का आह्वान कर रहे थे।दरअसल सिंडिकेट रूपये के अवमूल्यन के फैसले को लेकर इंदिरा गांधी से बेहद नाराज था।इंदिरा गांधी ने 06 जून 1966 को रूपये का अवमूल्यन का आदेश जारी किया था।के.कामराज जो सिंडिकेट के नेता थे उन्होंने कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में रूपये का अवमूल्यन वाला आदेश वापस लेने पर दवाब डाला मगर दृढसंकल्पित इंदिरा ने आदेश वापस लेने से इंकार कर दिया।आम चुनाव सर पे था और इंदिरा गांधी ने खूब मेहनत की और उन्होंने फिर से सरकार बना लिया।

इंदिरा गांधी अंदर से कितनी मजबूत थीं ये 1966 में देखने को मिला जब नागा साधुओं ने त्रिशूल लहराते हुए गोहत्या पर तत्काल रोक लगाने की मांग को लेकर संसद में घुसने की कोशिश की।तत्कालीन गृहमंत्री गुलजारी लाल नंदा हिंदू धर्म के कट्टर समर्थक थे और वे गोरक्षा के प्रति प्रतिबद्ध भी थे,वे नागा साधुओं की भीड को रोकने में नाकाम रहे तब प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने सेना को बुला लिया और स्वविवेक से मामले को हैंडल करने की इजाजत दी।लाख कोशिशों के बावजूद नागा साधू संसद भवन में घुसकर उत्पाद करने लगे फिर सेना ने फायरिंग शुरू कर दी।पाँच या सात नागा साधुओं की मौत पुलिस फायरिंग में हो गई मगर स्थिति को काबू में कर लिया गया।आजादी के बाद पहली बार सेना सडक पर उतरी थी।

इंदिरा गांधी किसी भी नीति को लेकर कितनी दृढता से खडी रहती थी ये 1969 में 14 बैंकों का राष्ट्रीयकरण को लेकर देखने को मिला।कांग्रेस पार्टी में सिंडिकेट और इंडिकेट दो गुट बन गए थे।सिंडिकेट ग्रुप की अगवाई के.कामराज कर रहे थे तो इंडिकेट ग्रुप को इंदिरा गांधी लीड कर रहीं थीं।सिंडिकेट बैंकों का राष्ट्रीयकरण नहीं चाहता था, इस वजह से उसने इंदिरा गांधी का खूब विरोध किया।उस समय मोरारजी देसाई वित्त मंत्री थे और बेहद ताकतवर थे।मोरारजी देसाई बैंकों के राष्ट्रीयकरण की खुली खिलाफत कर रहे थे,एकदिन इंदिरा गांधी ने उन्हें वित्तमंत्री के पद से एकाएक हटाकर अर्श से फर्श पर ला दिया।19 जुलाई 1969 को अध्यादेश पारित कर 14 बैंकों का स्वामित्व राज्य के हवाले कर दिया।उस समय इन बैंकों के पास देश का 70% जमापूंजी थी।

बैंकों के राष्ट्रीयकरण के बाद सिंडिकेट पूरी तरह बेअसर हो गया था।

23 जून 1967 में इंदिरा गांधी ने प्रिवीपर्स समाप्त करने की घोषणा कर दी और 1970 में संविधान में चौबीसवाँ संशोधन कर लोकसभा से पारित करा दिया मगर राज्यसभा में यह प्रस्ताव गिर गया तब इंदिरा गांधी ने राष्ट्रपति वीवी गिरी से सारे राजे महाराजाओं की मान्यता समाप्त करने को कहा।राष्ट्रपति ने तत्काल इनकी मान्यता समाप्त कर उन्हें आम इंसान बना दिया।दरअसल इंदिरा गांधी इनसे इसलिए नाराज थीं कि इन्होंने सी.राजगोपालाचारी के नेतृत्व में स्वत्रंत पार्टी का गठन कर लिया था और इस पार्टी में कांग्रेस के बहुत से बागी उम्मीदवार थे जो उन्हें नुकसान पहुंचा रहे थे।हर राजा महाराजाओं को अपनी रियासत का भारत में एकीकरण करने के एवज में उनको सालाना राजस्व की 8.5% राशि भारत सरकार द्वारा हर साल देना बाँध दिया गया था।जब इंदिरा गांधी ने प्रिवीपर्स समाप्त करने की घोषणा की तो सभी रजवाड़े उनके खिलाफ हो गए मगर आयरन लेडी कहाँ झूकने वाली थी।

बांग्लादेश के उदय में भी इंदिरा गांधी की महत्वपूर्ण भूमिका थी।पाकिस्तान के हुक्मरान पूर्वी पाकिस्तान की जनता पर तरह तरह के अत्याचार करते थे।इंदिरा गांधी ने उनकी भावनाओं को समझा और वहाँ सेना भेजकर बांग्लादेश राष्ट्र का उदय करवाया था।इंदिरा गांधी का नाम आज भी बांग्लादेश में बडी इज्जत के साथ लिया जाता है।

अनेकों अच्छाईयां होने के बावजूद इमेरजैंसी उनके दामन पर लगा वो दाग है जिसे आज भी कांग्रेस धुल नहीं पाई है।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links