ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : अब पाकिस्तान ने नया मैप जारी कर जम्मू कश्मीर, लद्दाख और जूनागढ़ को घोषित किया अपना हिस्सा         हे राम...         BIG NEWS : सुशांत केस CBI को हुआ ट्रांसफर, केंद्र ने मानी बिहार सरकार की सिफारिश         BIG NEWS : पीएम मोदी ने अयोध्या में की भूमि पूजन, रखी आधारशिला         BIG NEWS : PM मोदी पहुंचे अयोध्या के द्वार, हनुमानगढ़ी के बाद राम लला की पूजा अर्चना की         BIG NEWS : आदित्य ठाकरे से कंगना रनौत ने पूछे 7 सवाल, कहा- जवाब लेकर आओ         रॉकेट स्ट्राइक या विस्फोटक : बेरूत के तट पर खड़े जहाज में ताकतवर ब्लास्ट, 73 की मौत         BIG NEWS : भूमि पूजन को अयोध्या तैयार         रामराज्य बैठे त्रैलोका....         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत की मौत से मेरा कोई संबंध नहीं : आदित्य ठाकरे         BIG NEWS : दीपों से जगमगा उठी भगवान राम की नगरी अयोध्या         BIG NEWS : पूर्व मंत्री राजा पीटर और एनोस एक्का को कोरोना, कार्मिक सचिव भी चपेट में         BIG NEWS : अब नियमित दर्शन के लिए खुलेंगे बाबा बैद्यनाथ व बासुकीनाथ मंदिर          BIG NEWS : श्रीनगर-बारामूला हाइवे पर मिला IED बम, आतंकी हादसा टला         BIG NEWS : सिविल सेवा परीक्षा का फाइनल रिजल्ट जारी, प्रदीप सिंह ने किया टॉप, झारखंड के रवि जैन को 9वां रैंक, दीपांकर चौधरी को 42वां रैंक         सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश ने की CBI जांच की सिफारिश         BIG NEWS : आतंकियों ने सेना के एक जवान को किया अगवा          बिहार DGP का बड़ा बयान, विनय तिवारी को क्वारंटाइन करने के मामले में भेजेंगे प्रोटेस्ट लेटर         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत केस में बिहार पुलिस के हाथ लगे अहम सुराग !         BIG NEWS : दिशा सालियान...सुशांत सिंह राजपूत मौत प्रकरण की अहम कड़ी...         BIG NEWS : पटना पुलिस ने खोजा रिया का ठिकाना, नोटिस भेज कहा- जांच में मदद करिए         BIG NEWS : छद्मवेशी पुलिस के रूप में घटनास्थल पर कुछ लोगों के पहुंचने के संकेत         लिव-इन माने ट्राउबल बिगिन... .          रक्षाबंधन : इस अशुभ पहर में भाई को ना बांधें राखी, ज्योतिषी की चेतावनी         जब मां गंगा को अपनी जटाओं में शिव ने कैद कर लिया...         आज सावन का आखिरी सोमवार, अद्भुत योग, भगवान शिव की पूजा करने से हर मनोकामना होगी पूरी          अन्नकूट मेले को लेकर सजा केदारनाथ, भगवान भोले को चढ़ाया गया नया अनाज         BIG NEWS :  गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती ने सुशांत सिंह के बैंक अकाउंट से 90 दिनों में 3.24 करोड़ रुपए निकाले         GOOD NEWS : अमिताभ की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव, 22 दिन बाद हॉस्पिटल से डिस्चार्ज         केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह कोरोना पॉजिटिव          BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत के मित्र सिद्धार्थ पीठानी को पटना पुलिस सम्मन जारी कर करेगी पूछताछ         BIG NEWS : सुशांत केस के मामले में मुंबई पुलिस नहीं कर रही है सहयोग : डीजीपी         भूमि पूजन से पहले दिवाली सी जगमग हुई रामलला की नगरी अयोध्या         भगवान शंकर ने त्रिशूल और डमरु क्यों धारण किया...         इन पांच चीजों से शिव हो जाते हैं क्रोधित, जानिए क्या है राज         BIG NEWS : सुशांत सिंह की मैनेजर नहीं थी दिशा सल्यान, सूरज पंचोली से कनेक्शन !         BIG NEWS : रिया चक्रवर्ती पुलिस की निगरानी में          BIG NEWS : हजारीबाग में सांप्रदायिक हिंसा, आगजनी-तोड़फोड; थाना प्रभारी घायल         BIG NEWS : राज्यसभा सांसद अमर सिंह का 64 साल की उम्र में निधन, सिंगापुर के अस्पताल में ली आखिरी सांस         BIG NEWS : सुशांत सिंह केस में सुब्रमण्यम स्वामी की एंट्री से बॉलीवुड में खलबली         रिया चक्रवर्ती को नहीं जानता : सिद्धार्थ पीठानी         रिम्स डायरेक्टर के बंगले में शिफ्ट होंगे लालू प्रसाद यादव         इसका हल शीघ्र निकल आएगा हर साल सुना जा सकता है...         BIG NEWS : सीएम आवास का ड्राइवर-कर्मचारी कोरोना संक्रमित          अजन्में भगवान शिव के जन्म का रहस्य         देवता और असुर दोनों के प्रिय शिव         BIG NEWS : पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के नेता सज्जाद लोन रिहा          BIG NEWS : रिया चक्रवर्ती के घर से आनंदिनी बैग में भरकर क्या ले गई...         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत की मौत आत्महत्या नहीं : सुब्रमण्यम स्वामी          बिहार चुनाव : पैरोल पर आकर लालू संभालेंगे विपक्ष की कमान !         कोविड से मात खाते भूपेश...         BIG NEWS : फिट इंडिया मूवमेंट, नाम तो नहीं ही सुना होगा !         

राजनीति की बिसात पर मोहरे सजाने में जुटे हैं शरद पवार, बीजेपी के संग जाने की सुगबुगाहट

Bhola Tiwari Oct 31, 2019, 3:26 PM IST टॉप न्यूज़
img

● बीजेपी और शिवसेना के बीच खींचतान के बीच किंग मेकर बनी सरकार


 सिद्धार्थ सौरभ

 मुंबई : राजनीति के विषाद पर मोहरे सजाने और चलने में माहिर एनसीपी के दिग्गज नेता शरद पवार इन दिनों चर्चा में है। पवार का पावर किस राजनीतिक दल के संग हो लेगा, यह भी दिलचस्प है। मगर महाराष्ट्र की राजनीति जिस दोराहे पर खड़ी है, उसके पहरेदार शरद पवार ही बताए जा रहे हैं।

बहरहाल महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर बीजेपी और शिवसेना के बीच जारी खींचतान में जो व्यक्ति सबसे फायदे में है वो राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के अध्यक्ष शरद पवार हैं। पवार और मुलायम सिंह यादव के बारे में कहा जाता है कि राजनीतिक में जब वो मोहरे चलते हैं तो उसका अंदाजा हार-जीत के माह बाद आता है। उत्तर प्रदेश में मुलायम सिंह ने जिस तरह अपने बेटे अखिलेश यादव को राजनीति में स्थापित किया उसका अंदाजा राजनीति में उनके सबसे करीबी और सगे भाई शिवपाल यादव तक नहीं लगा सके। कुछ यही हाल महाराष्ट्र में शरद पवार का है, पवार की चाल का अंदाजा 2014 के विधानसभा चुनाव (Assembly Election) के बाद देखने को मिला था जब उन्होंने अपने एक ही चाल से शिवसेना का चित्त कर दिया था और शिवसेना को मजबूरी में पांच साल तक बीजेपी सरकार का साथ देना पड़ा। इससे पवार की महाराष्ट्र और देश में बीजेपी विरोधी छवि बनी रही। इस बार के विधानसभा चुनाव में शरद पवार की पार्टी एनसीपी ही सरकार विरोधी सबसे बड़े दल के रुप में उभरी है।


इस बार के विधानसभा चुनाव के बाद हालात 2014 जैसे ही दिख रहे हैं। हालांकि इस बार बीजेपी और शिवसेना का आपस में गठबंधन है लेकिन जिस तरह चुनाव परिणाम के बाद शिवसेना बीजेपी पर आक्रामक है, उसे देखते हुए शरद पवार को अपने मोहरे सजाने का मौका मिल गया है।

सूत्रों की माने तो शरद पवार शिवसेना और बीजेपी दोनों दलों के नेताओं के संपर्क में है और फिलाहल बीजेपी के साथ जाने में उन्हें फायदा दिख रहा है। पवार के करीबी सूत्रों का दावा है कि अगर बीजेपी शिवसेना में अगले दो-तीन दिन में सहमति नहीं बनती है तो पवार अपने पत्ते खोल देगें। एनसीपी के एक धड़े का मामना है कि बीजेपी के साथ जाने से पार्टी विश्वास मत में अनुपस्थित रहकर भी बीजेपी सरकार की मदद कर सकती है। ऐसे में केंद्र सरकार में पार्टी की सरकार विरोधी छवि पर असर भी नहीं पड़ेगा और पार्टी अपने कई मुद्दों को लेकर बारगेन भी कर सकती है।

उधर, महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए बीजेपी के पास 9 नवंबर तक का वक्त है। ऐसे में बीजेपी किसी तरह की जल्दबाजी दिखाने के मूड में नहीं है, सरकार के शपथ ग्रहण करने के बाद भी राज्यपाल बहुमत साबित करने के लिए 30 दिनों तक का समय दे सकते हैं। ऐसे में बीजेपी सरकार के पास बहुमत का जुगाड़ करने के लिए करीब 40 दिनों का समय है। ऐसे में मुख्यमंत्री देवेन्द्र एनसीपी से किसी तरह की मदद लेने से पहले शिवसेना से पूरी तरह मोलभाव कर लेना चाहते हैं।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links