ब्रेकिंग न्यूज़
BIG STORY : अस्तित्व बचाने के लिए कांग्रेस को "कामराज प्लान"लागू करना होगा         BIG NEWS: सीसीएल के सीएमडी को क्या सीवीओ के गाइडलाइन की जानकारी नहीं या फिर उन्हें किसी की परवाह नहीं         BIG NEWS : भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष सौरभ गांगुली बुधवार को होम क्वारंटीन         BIG NEWS : बिहार के रोहतास में धर्मान्तरण का खुल्ला खेल          BIG NEWS : अगर ठोस कदम नहीं उठाया गया तो कोरोना वायरस की महामारी बद से बदतर होती जाएगी : टेड्रोस एडनाँम ग्रेब्रीयेसोस         BIG NEWS : बारामूला से अगवा बीजेपी नेता को सुरक्षाबलों ने कराया मुक्त         BIG NEWS : राज्य में बुधवार को मिले रिकार्ड 316 कोरोना के नए मरीज, दो मरीजों की मौत          BIG NEWS : राहुल बोले - कांग्रेस से जो जाना चाहता है जा सकता है!          BIG NEWS : चीन के हुवावे को भारत का करारा जवाब है Jio5G         BIG NEWS : LOC के पास एक पाकिस्तानी घुसपैठिया गिरफ्तार         BIG NEWS : बारामूला में आतंकियों ने बीजेपी नेता को किया अगवा, तलाश जारी         BIG NEWS : 15 अगस्त को लॉन्च हो सकती है देश की पहली कोरोना वैक्सीन         CBSE 10th Result : लड़कियों का पास प्रतिशत 93.31 फीसदी और लड़कों का 90.14 फीसदी रहा         BIG NEWS : पाकिस्तान आर्मी का नया कारनामा, बकरीद पर जिबह के लिए फौजी कसाई सर्विस लॉन्च         बिहार में बाढ़ की शुरुआत और नेपाल का पानी छोड़ना          BIG NEWS : राज्य में मंगलवार को रिकार्ड 247 कोरोना मरीज, तीन संक्रमितों की हुई मौत          BIG NEWS : अमेरिका के बाद ब्रिटेन ने भी Huawei को किया बैन         BIG NEWS : छवि रंजन बने रांची के नये डीसी, झारखंड में 18 IAS अधिकारियों का तबादला         BIG NEWS : विकास दुबे की तरह मेरा एनकाउंटर करना चाहते थे डीएसपी और इंस्पेक्टर : भोला दांगी         BIG NEWS : श्रीनगर पुलिस हेडक्वार्टर सील, जम्मू कश्मीर में कुल 10827 कोरोना के मरीज         BIG NEWS : भारत-चीन के बीच चौथे चरण की कोर कमांडर स्तर की बैठक शुरू, कई अहम मुद्दों पर होगी चर्चा         BIG NEWS : सचिन पायलट पर कार्रवाई, उप मुख्यमंत्री के पद से हटाए गए         नेपाल पीएम के बिगड़े बोल, कहा – “नेपाल में हुआ था भगवान राम का जन्म, नेपाली थे भगवान राम”         CBSE 12वीं का रिजल्ट : देश में 88.78% स्टूडेंट पास         BIG NEWS : सेना प्रमुख एमएम नरवणे जम्मू पहुंचे, सुरक्षा स्थिति का लिया जायजा         अनंतनाग एनकाउंटर में 2 आतंकी ढेर         बांदीपोरा में 4 OGWS गिरफ्तार, हथियार बरामद         BIG NEWS : हाफिज सईद समेत 5 आतंकियों के बैंक अकाउंट फिर से बहाल         BIG NEWS : लालू यादव का जेल "दरबार", तस्वीर वायरल         मान लीजिए इंटर में साठ प्रतिशत आए, या कम आए, तो क्या होगा?         BIG NEWS : झारखंड में रविवार को कोरोना संक्रमण से 6 मरीजों की मौत, बंगाल-झारखंड सीमा सील         BIG NEWS : सोपोर में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, अब तक 2 आतंकी ढेर         BIG NEWS : देश में PMAY के क्रियान्वयन में रामगढ़ नंबर वन         BIG NEWS : श्रीनगर में तहरीक-ए-हुर्रियत के चेयरमैन अशरफ सेहराई गिरफ्तार         BIG NEWS : ऐश्वर्या राय बच्चन और आराध्या बच्चन की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव         BIG NEWS : मध्यप्रदेश की राह पर राजस्थान !         अमिताभ बच्चन ने कोरोना के खौफ के बीच सुनाई थी उम्मीद भरी कविता, अब..         .... टिक-टॉक वाले प्रकांड मेधावियों का दस्ता         BIG BRAKING : नक्सलियों नें कोल्हान वन विभाग कार्यालय व गार्ड आवास उड़ाया         BIG NEWS : महानायक अमिताभ बच्चन के बाद अभिषेक बच्चन को भी कोरोना         BIG NEWS : अमिताभ बच्चन करोना पॉजिटिव        

सुप्रीम फैसला : टेलीकॉम कंपनियों को लगा बड़ा झटका, जा सकती है 40000 नौकरियां

Bhola Tiwari Oct 30, 2019, 5:26 PM IST टॉप न्यूज़
img

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट के फैसले से दूरसंचार क्षेत्र की कंपनियों को बड़ा झटका लगा है। संचार विभाग की तमाम कंपनियां 40000 नौकरियों में कटौती कर सकती हैं। जी हां, भारतीय दूरसंचार क्षेत्र अगले छह महीनों में लगभग 40,000 नौकरियों में कटौती कर सकता है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद टेलीकॉम कंपनियां 92000 करोड़ से ज्यादा के बोझ में दब गईं हैं। ऐसे में इस बोझ को दूर करने के लिए ये कंपनियां अपना वर्कफोर्स कम कर सकती हैं। फैसले के बाद टेलीकॉम कंपनियों को एजीआर (समायोजित सकल राजस्व) विवाद पर दूरसंचार विभाग को 92,641 करोड़ रुपये का भुगतान करना है। ऐसे में इससे उभरने के लिए कंपनियों को लगभग 20 प्रतिशत तक अपना कार्यबल कम करना होगा। आने वाले समय में ये आंकड़े बढ़ भी सकते हैं।

सीआईईएल एचआर सर्विसेज में निदेशक और सीईओ आदित्य नारायण मिश्रा ने कहा “सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद टेलीकॉम कंपनियों लगभग 40,000 नौकरियों में कटौती कर सकता है। सुप्रीम कोर्ट ने कंपनियों को 92,641 रूपय दूरसंचार विभाग को देने को कहा है। ऐसे में अगले छह महीने में भारतीय दूरसंचार क्षेत्र में 40,000 नौकरियों में कटौती हो सकती है। यदि कोई मौजूदा ऑपरेटर दिवालिया घोषित हो जाता है तो यह संख्या और बढ़ सकती है।” टेलीकॉम कंपनियों में लगभग 2 लाख लोग काम करते हैं।

मिश्रा ने आगे कहा “वर्तमान स्थिति को देखते हुए, टेलीकॉम कंपनियां भारी मुसीबत में हैं। यह परेशानी इतनी गंभीर है कि कुछ कंपनियां दिवालिया हो सकती हैं।” एजीआर विवाद एयरटेल और वोडाफोन आइडिया जैसे टेलीकॉम कंपनियों के वित्त को बाधित करने वाला है। एयरटेल को विवादित राशि का लगभग 23.4 प्रतिशत मतलब लगभग 21,682 करोड़ रूपाय देना होगा। वहीं वोडाफोन आइडिया का भुगतान और भी बड़ा है। वोडाफोन आइडिया को 30.55 प्रतिशत मतलब लगभग 28,308 करोड़ रुपये दूरसंचार विभाग को चुकाने होंगे।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भारती एयरटेल ने अपने दूसरी तिमाही के नतीजे 14 नवंबर तक के लिए टाल दिए हैं। साथ ही कंपनी ने इस मसले पर सरकार से सहयोग भी मांगा है। कंपनी के जुलाई-सितंबर तिमाही के नतीजे मंगलवार को जारी होने थे, लेकिन कंपनी ने स्टॉक एक्सचेंजों को दी सूचना में कहा कि नतीजों की घोषणा 14 नवंबर तक के लिए टाल दी गई है।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links