ब्रेकिंग न्यूज़
BIG BREAKING : रांची में सरेराह मार्बल दुकान में चली गोली, अपराधियों ने एक व्यक्ति को गोली मारी         BIG NEWS : झारखंड के शिक्षा मंत्री अब करेंगे इंटर की पढ़ाई...          BIG NEWS : सभी मेल, एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेन 30 सितंबर तक रद्द         BIG NEWS : राहुल-प्रियंका से मिले सचिन पायलट, घर वापसी की अटकलें तेज         BIG NEWS : आतंकी हमले में घायल बीजेपी नेता की मौत         आदिवासी विकास का फटा पोस्टर...         BIG NEWS : नक्सली राकेश मुंडा को लाखों का इनाम और पत्तल बेचती अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉलर संगीता सोरेन को दो हजार         पाखंड के सिपाही कम्युनिस्ट लेखक...         BIG NEWS : देवघर में सेप्टिक टैंक में दम घुटने से 6 लोगों की मौत         BIG NEWS : अब भाजपा गुजरात गए विधायकों को वापस बुला रही, सभी विधायक होटल जाएंगे         BIG NEWS : पालतू कुत्ते फज की बेल्ट से गला घोंटकर सुशांत सिंह राजपूत की, की गई थी हत्या : अंकित आचार्य          BIG NEWS : सरकार का 101 रक्षा उपकरणों के आयात पर रोक, इसके पीछे क्या है मकसद?          BIG NEWS : बडगाम में आतंकवादियों ने बीजेपी नेता को गोली मारी          BIG NEWS : कुलगाम में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, 2 से 3 आतंकी घिरे         BIG NEWS : सुशांत सिंह केस का राजदार कौन !         BIG NEWS : फिल्म स्टार संजय दत्त लीलावती हॉस्पिटल में भर्ती          BIG NEWS : दिशा सलियान का निर्वस्त्र शव पोस्टमार्टम के लिए दो दिनों तक करता रहा इंतजार          BIG NEWS : टेरर फंडिंग मॉड्यूल का खुलासा, लश्कर-ए-तैयबा के 6 मददगार गिरफ्तार         BIG NEWS : एलएसी पर सेना और वायु सेना को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश         BIG NEWS : राजस्थान का सियासी जंग : कांग्रेस के बाद अब भाजपा विधायकों की घेराबंदी         BIG NEWS : देवेंद्र सिंह केस ! NIA की टीम ने घाटी में कई जगहों पर की छापेमारी         बाढ़ और संवाद हीनता          BIG NEWS : पटना एसआईटी टीम के साथ मीटिंग कर सबूतों और तथ्यों को खंगाल रही है CBI         BIG NEWS : सुशांत सिंह की मौत के बाद रिया चक्रवर्ती और बांद्रा डीसीपी मे गुफ्तगू         BIG NEWS : भारत और चीन के बीच आज मेजर जनरल स्तर की वार्ता, डिसएंगेजमेंट पर होगी चर्चा         BIG NEWS : मनोज सिन्हा ने ली जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल पद की शपथ, संभाला पदभार         BIG NEWS : पुंछ में एक और आतंकी ठिकाना ध्वस्त, AK-47 राइफल समेत कई हथियार बरामद         BIG NEWS : सीएम हेमंत सोरेन ने भाजपा सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ किया केस         BIG NEWS : मुंबई में ED के कार्यालय पहुंची रिया चक्रवर्ती          BIG NEWS : शोपियां में मिले अपहृत जवान के कपड़े, सर्च ऑपरेशन जारी         मुंबई में सड़कें नदियों में तब्दील          BIG NEWS : पाकिस्तान आतंकवाद के दम पर जमीन हथियाना चाहता है : विदेश मंत्रालय         BIG NEWS : श्रीनगर पहुंचे जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, आज लेंगे शपथ         सुष्मान्जलि कार्यक्रम में सुषमा स्वराज को प्रकाश जावड़ेकर सहित बॉलीवुड के दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि           BIG NEWS : जीसी मुर्मू होंगे देश के नए नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक          BIG NEWS : सीबीआई ने रिया समेत 6 के खिलाफ केस दर्ज किया         बंद दिमाग के हजार साल           BIG NEWS : कुलगाम में आतंकियों ने की बीजेपी सरपंच की गोली मारकर हत्या         BIG NEWS : अयोध्या में भूमि पूजन! आचार्य गंगाधर पाठक और PM मोदी की मां हीराबेन         मनोज सिन्हा होंगे जम्मू-कश्मीर के नए उपराज्यपाल, जीसी मुर्मू का इस्तीफा स्वीकार         BIG NEWS : सदियों का संकल्प पूरा हुआ : मोदी         BIG NEWS : लालू प्रसाद यादव को रिम्स डायरेक्टर के बंगले में किया गया स्विफ्ट         BIG NEWS : अब पाकिस्तान ने नया मैप जारी कर जम्मू कश्मीर, लद्दाख और जूनागढ़ को घोषित किया अपना हिस्सा         हे राम...         BIG NEWS : सुशांत केस CBI को हुआ ट्रांसफर, केंद्र ने मानी बिहार सरकार की सिफारिश         BIG NEWS : पीएम मोदी ने अयोध्या में की भूमि पूजन, रखी आधारशिला         BIG NEWS : PM मोदी पहुंचे अयोध्या के द्वार, हनुमानगढ़ी के बाद राम लला की पूजा अर्चना की         BIG NEWS : आदित्य ठाकरे से कंगना रनौत ने पूछे 7 सवाल, कहा- जवाब लेकर आओ         रॉकेट स्ट्राइक या विस्फोटक : बेरूत के तट पर खड़े जहाज में ताकतवर ब्लास्ट, 73 की मौत         BIG NEWS : भूमि पूजन को अयोध्या तैयार         रामराज्य बैठे त्रैलोका....         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत की मौत से मेरा कोई संबंध नहीं : आदित्य ठाकरे         BIG NEWS : दीपों से जगमगा उठी भगवान राम की नगरी अयोध्या         BIG NEWS : पूर्व मंत्री राजा पीटर और एनोस एक्का को कोरोना, कार्मिक सचिव भी चपेट में        

और.. उल्लू बना अपना !

Bhola Tiwari Oct 27, 2019, 10:12 AM IST टॉप न्यूज़
img

 

भूपेश पंत

नई दिल्ली :  इसी तरह वो भी दीवाली की एक रात थी। बच्चों के साथ मुहल्ले में ग्रीन पटाखे जला कर पर्यावरण को नुकसान न पहुंचाने की शांति से मन ओत प्रोत था। ज्यादातर पटाखे बच्चों ने मुँह से अजीब अजीब आवाज़ निकाल कर फोड़े। जिस बच्चे ने जितनी अच्छी आवाज़ का प्रदर्शन किया उसे मैंने मन ही मन पुलिस अधिकारी या नेता बनने का आशीर्वाद दिया और घर आ गया। 

घर के चारों ओर रोशनी उतनी ही थी जितनी जेब के लिये मुनासिब थी। लिहाज़ा मालाओं से ज्यादा दीयों और मोमबत्ती की रोशनी पर भरोसा किया गया था। बीबी सज संवर कर तरह तरह के पकवान और फल सजाये लक्ष्मी माता की तस्वीर के आगे बैठी थी। उसे बताया गया था कि पैसा ही पैसे को खींचता है इसलिये खून पसीने की सारी कमाई एक छोटी सी पोटली की शक्ल में सामने धरी थी। चंचल लक्ष्मी को साधने की उसकी इस मासूम सी कोशिश को माता के पांव के पास बैठे उलूक राज घूर रहे थे। बीबी की इस निस्वार्थ पूजा को देख कर मुझे अच्छे दिनों की तरह ही ये यकीन होने लगा था कि आज माता लक्ष्मी मुझ आम इंसान के घर पर जरूर पधारेंगी। 

दिमाग़ में अचानक घुस आये इस वहम पर भरोसा करके मैंने घर की खिड़की खोल दी। ठंडी हवा भीतर तक काटने लगी पर सोचा क्या पता माता लक्ष्मी रात के बारह बजे दरवाज़ा खटखटाने में संकोच करें। मैंने रजाई उठा कर खिड़की के पास पड़े तख्त पर ही उनका इंतज़ार करने का फैसला किया। मेरी आँख कभी खिड़की पर जाती और कभी दीवार घड़ी पर। ये सिलसिला शायद बारह बजने से एक दो मिनट पहले तक चलता रहा। मेरे कान अच्छे दिनों की आहट सुनने को बेताब थे और मन जुमलों से खेल रहा था। 

अचानक खिड़की पर किसी पक्षी के पंख फड़फड़ाने जैसी आहट हुई। मुझे एकबारगी लगा कि कहीं कोई चोर तो नहीं लेकिन जब मैंने अपने सामने रोशनी के एक पुंज को माता लक्ष्मी के वाहन उल्लू में बदलते देखा तो मेरी हैरानी की सीमा ही नहीं रही। उलूक शिरोमणि को साक्षात सामने देख कर मन भाव विभोर होने ही वाला था कि मेरे दिमाग़ ने उसे पॉज कर दिया। अरे ये तो सिर्फ गाड़ी है इसका मालिक कहां है। मतलब लक्ष्मी माता इनके ऊपर बैठी क्यों नहीं हैं ये तो पूछ। 

मैंने उल्लुओं के ह्रदय सम्राट को सादर प्रणाम कर पूछा कि अच्छे दिनों की तरह माता लक्ष्मी भी आपके ऊपर से अंतर्धान क्यों हो गयीं। आपके होते हुए कहीं वो पैदल तो नहीं हो गयीं। उल्लू महाराज ने अपनी चिर परिचित घुर्रन आंखों में वात्सल्य लाने की नाकाम कोशिश करते हुए चोंच खोली। वत्स मैं तो स्वभाव से फकीर हूँ और मुझमें लक्ष्मी को लेकर कोई अनुराग या विराग नहीं है। माता मेरी सवारी करें या न करें पर उन्हें उनकी मंजिल तक मैं ही पहुंचाता हूँ। ये कह कर उल्लू शिरोमणि ने गर्व से अपनी गर्दन तीन सौ साठ डिग्री घुमा दी। उनके पास दिखाने को शायद यही एक डिग्री थी। 

मैंने पूछा, महाराज निश्चित तौर पर आपने जब उड़ान भरी होगी तो माता लक्ष्मी आपके ऊपर ही सवार रही होंगी। लेकिन अब वो वहां नहीं हैं। इसलिये कृपा करके अपनी उड़ान के बाद का पूरा वृत्तांत सुनाने की कृपा करें। 

उलूक महाराज अपनी वाह वाह करने की मुद्रा से बाहर निकले और बोले, वत्स माता लक्ष्मी के कई प्रतिरूप इस वक्त उस जगमगाहट का हिस्सा बन चुके हैं जहां के लिये वो बने थे। 

मैंने कहा, अरे वो माता हैं कोई एनपीए नहीं कि उन्हें किसी के लिये बनाया गया हो। लगता है उन्हें मार्ग से भटकाने में आपका ही हाथ है।

उलूक महाराज ने पहले अपनी प्रकृति प्रदत्त कर्कश आवाज से मुझे मित्रवत संबोधित किया फिर बोले, तुम्हें मालूम है कि माता लक्ष्मी को लोग रोशनी में नहीं रखते इसलिये वो जब भी जगमगाहट देखती हैं उसी में खोकर रह जाती हैं। वैसे जगमगाहट तो तुम्हारे यहां भी है लेकिन कई कोने अभी भी अंधेरे में हैं। और मुझे ये अंधेरे पसंद हैं। मैं अगर माता को तुम्हारे घर में प्रेम, भाईचारा, आपसी विश्वास और ईमानदारी के दीयों की जगमगाहट दिखा देता तो वो यहीं रुक जाती। फिर वो यहां पर अशिक्षा, अज्ञानता, बीमारी, लाचारी, भुखमरी और पिछड़ेपन के अंधेरे कोनों को भी रहने नहीं देतीं। इसलिये मैंने अपनी उड़ान का वही रास्ता चुना जो बड़ी बड़ी आलीशान इमारतों से होकर जाता है। ताकि वहां की शानोशौकत माता लक्ष्मी को वहां ठहरने पर मजबूर कर दे। 

तो क्या माता लक्ष्मी मेरे भाग्य में नहीं, मैं बोल पड़ा।

उलूक राज ने गंभीर होते हुए कहा, देखो वत्स। एक गोपनीय बात बताता हूँ। अव्वल तो इसे किसी से कहना नहीं क्योंकि लोगों में इतनी समझ भी नहीं। फिर भी जरूरी हुआ तो मुझे क्रेडिट देना मत भूलना। बुद्धिमान लोगों को अति बुद्धिमान नेतृत्व मिलता है जबकि मूर्खों को महामूर्ख नेतृत्व मिलता है। तुम्हारे भाग्य में जो तुमने लिखा वही तुमको मिला है, यानी मैं। माता लक्ष्मी को भूल जाओ और वही करो जो एक उल्लू के राज में तुम्हें करना चाहिए।

इतना कह कर उल्लू शिरोमणि एक बार फिर उड़ गये। मैंने पाया कि बीबी इस दीवाली की मेहनत भी बेकार जाने पर फिर से मुझे कोसने लगी थी और मैं हर बार की तरह फिर से उसे काठ के उल्लू की तरह देख रहा था। पार्श्व में कहीं कोई माता गा रही थी।

मैं क्या करूं राम मुझे उल्लू मिल गया...!

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links