ब्रेकिंग न्यूज़
लुगू पहाड़ की तलहटी में नक्सलियों ने दी फिर दस्तक         आज संपादक इवेंट मैनेजर है तो तब वो हुआ करता था बनिये का मुनीम या मंत्र पढ़ता पंडत....         किसी को होश नहीं कि वह किसे गाली दे रहा है...          जेवीएम विधायक प्रदीप यादव और बंधु तिर्की ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी से की मुलाकात         नीतीश का दो टूक : प्रशांत किशोर और पवन वर्मा जिस पार्टी में जाना चाहे जाए, मेरी शुभकामना         लोहरदगा में कर्फ्यू :  CAA के समर्थन में निकाले गए जुलूस पर पथराव, कई लोग घायल         पेरियार विवाद : क्या तमिल सुपरस्टार रजनीकांत की बातें सही हैं जो उन्होंने कही थी ?         पत्‍थलगड़ी आंदोलन का विरोध करने पर हुए हत्‍याकांड की होगी एसआईटी जांच, सीएम हेमंत सोरेन दिए आदेश         एक ही रास्ता...         अब तानाजी के वीडियो में छेड़छाड़ कर पीएम मोदी को दिखाया शिवाजी         सरकार का नया दांव : जनसंख्या नियंत्रण कानून...         हम भारत के सामने बहुत छोटे हैं, बदला नहीं ले सकते : महातिर मोहम्मद         तीस साल बीतने के बावजूद कश्मीरी पंडितों की सुध लेने वाला कोई नहीं, सरकार की प्राथमिकता में कश्मीर के अन्य मुद्दे         हेमंत सोरेन को मिला 'चैम्पियन ऑफ चेंज' अवॉर्ड         जेपी नड्डा भाजपा के नए अध्यक्ष, मोदी बोले-स्कूटर पर साथ घूमे         नए दशक में देश के विकास में सबसे ज्यादा 10वीं-12वीं के छात्रों की होगी भूमिका : मोदी         CAA को लेकर केरल में राज्यपाल और राज्य सरकार में ठनी         इतिहास तो पूछेगा...         सेखुलरी माइंड गेम...         अफसरों की करतूत : पत्नियों की पिकनिक के लिए बंद किया पतरातू रिजाॅर्ट         गुरूवर रविंद्रनाथ टैगोर की मशहूर कविता "एकला चलो रे" की राह पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव         पत्रकारिता में पद्मश्रियों और राज्यसभा की सांसदी के कलुष...         विकास का मॉडल देखना हो तो चीन को देखिए...         फरवरी में भारत आएंगे ट्रंप, अहमदाबाद में होगा 'हाउडी मोदी' जैसा कार्यक्रम         शर्मनाक : सीएम के आदेश के बावजूद सरकारी मदद पहुंचने से पहले मरीज की मौत         झारखण्ड मंत्रिमंडल लगभग तय ! अन्तिम मुहर लगनी बाकी         ऑस्ट्रेलिया का क्या होगा...         क्या चंद्रशेखर आजाद बसपा सुप्रीमो मायावती का विकल्प बन सकते हैं?         सबसे पहले जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग कीजिए...         जनता की सेवा करें विधायक : सोनिया गांधी         झाविमो कार्यसमिति घोषित : विधायक प्रदीप यादव एवं बंधु तिर्की को कमेटी में कोई पद नहीं        

मायावती की बौखलाहट, धर्म परिवर्तन की चेतावनी

Bhola Tiwari Oct 25, 2019, 3:24 PM IST टॉप न्यूज़
img


अजय श्रीवास्तव

लगातार हार और पूराने साथियों द्वारा साथ छोडकर जाने से बौखलाए मयावती ने आजमगढ़ की एक सभा में कहा कि अगर हिंदू धर्म के ठेकेदारों ने दलितों, आदिवासियों और पिछडों के प्रति अपना नजरिया नहीं बदला तो वह अपने लाखों अनुयायियों के साथ बाबा साहब अंबेडकर की तरह बौद्ध धर्म अपना लेंगी।

उन्होंने कहा कि बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने हिंदूत्व वर्ण व्यवस्था में भेदभाव देखा तो बदलाव के लिए शंकराचार्यों और अन्य धर्म गुरूओं आह्वान किया लेकिन जब इसपर अमल नहीं किया गया तो उन्होंने नागपुर में अपनी पत्नी और अनुयायियों के साथ बौद्ध धर्म अपना लिया।

जहाँ तक मैं मायावती को जानता और समझता हूँ वो कभी अपनी गलती, पैसे की हवस और अपना अहम नहीं त्यागेंगी चाहे पार्टी का अभी और भी सत्यानाश क्यों न हो जाए।एक अहंकारी, दबंग और लोभी महिला ने कांशीराम के मिशन को चौराहे पर नीलाम कर दिया।कांशीराम के साथ के सभी नेताओं को धीरे धीरे बाहर कर दिया वजह सर्फ इतना कि कहीं वे उनके लिए चुनौती न बन जायें।कुछ तो अपमान और क्षुब्ध होकर स्वयं पार्टी छोडकर चले गए।कांशीराम ने बहुत मेहनत और लगन से पार्टी खडी की थी।मैं बसपा के उदय के समय से हीं पार्टी को खूब अच्छी तरह जानता है।मेरे एक मित्र हैं सुनील सिंह जिनके पिता पूर्व विधायक रामलोटन सिंह जो कांशीराम के साथ शुरूआती दिनों से ही जुडे थे उनको बार बार बेइज्जत किया गया अंत में मजबूर होकर उन्होंने पार्टी छोड दी।एक जमाने में कांशीराम को मिर्जापुर लाने वाले और आर्थिक सहयोग करने वाले रामलोटन सिंह कांशीराम के बहुत प्रिय थे।वे उन्हें इंजीनियर साहब कहकर संबोधित करते थे।उस वरिष्ठ नेता को मायावती के सामने दरी पर बैठना पडा इससे ज्यादा ज्यादती और क्या हो सकती है।वो भेदभाव की बात करती हैं उन जैसा जातिवादी मानसिकता का तो लीडर आज तक भारत में नहीं हुआ।उनके हिटलर शाही रवैये से परेशान होकर सभी वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी छोड दी।बौद्ध धर्म में तो टिकट बेचकर पैसा नहीं कमाया जाता और न हीं बौद्ध धर्म के अनुयायी आप जैसे झूठ बोलते हैं।

दूसरों पर आरोप लगाने से पहले अपने गिरेबान में झांक कर देखिए मायावती जी,आप पहले कहा करतीं थीं कि मुझे परिवार से कोई मतलब नहीं है आज उनका भाई पार्टी में मायावती के बाद दो नंबर का नेता बन बैठा है वो अपने भतीजे को प्रमोट कर रहीं हैं।पूरा परिवार पैसे से मालामाल हो गया है।आनंद कुमार के पास न जाने कितने सौ करोड की संपत्ति है जो उसने अवैध रूप से रीयल एस्टेट के कारोबार में लगा रखा है उसकी जाँच भी चल रही है।

कांशीराम के मिशन को बेचनेवाली,दलित वोटों की सौदागर मायावती को दलित समाज कभी माफ नहीं कर पायेगा और इस चुनाव में दलितों ने उन्हें सबक भी सीखा दिया है।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links