ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : भारत और चीन के बीच आज मेजर जनरल स्तर की वार्ता, डिसएंगेजमेंट पर होगी चर्चा         BIG NEWS : मनोज सिन्हा ने ली जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल पद की शपथ, संभाला पदभार         BIG NEWS : पुंछ में एक और आतंकी ठिकाना ध्वस्त, AK-47 राइफल समेत कई हथियार बरामद         BIG NEWS : सीएम हेमंत सोरेन ने भाजपा सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ किया केस         BIG NEWS : मुंबई में ED के कार्यालय पहुंची रिया चक्रवर्ती          BIG NEWS : शोपियां में मिले अपहृत जवान के कपड़े, सर्च ऑपरेशन जारी         मुंबई में सड़कें नदियों में तब्दील          BIG NEWS : पाकिस्तान आतंकवाद के दम पर जमीन हथियाना चाहता है : विदेश मंत्रालय         BIG NEWS : श्रीनगर पहुंचे जम्मू-कश्मीर के नये उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, आज लेंगे शपथ         सुष्मान्जलि कार्यक्रम में सुषमा स्वराज को प्रकाश जावड़ेकर सहित बॉलीवुड के दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि           BIG NEWS : जीसी मुर्मू होंगे देश के नए नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक          BIG NEWS : सीबीआई ने रिया समेत 6 के खिलाफ केस दर्ज किया         बंद दिमाग के हजार साल           BIG NEWS : कुलगाम में आतंकियों ने की बीजेपी सरपंच की गोली मारकर हत्या         BIG NEWS : अयोध्या में भूमि पूजन! आचार्य गंगाधर पाठक और PM मोदी की मां हीराबेन         मनोज सिन्हा होंगे जम्मू-कश्मीर के नए उपराज्यपाल, जीसी मुर्मू का इस्तीफा स्वीकार         BIG NEWS : सदियों का संकल्प पूरा हुआ : मोदी         BIG NEWS : लालू प्रसाद यादव को रिम्स डायरेक्टर के बंगले में किया गया स्विफ्ट         BIG NEWS : अब पाकिस्तान ने नया मैप जारी कर जम्मू कश्मीर, लद्दाख और जूनागढ़ को घोषित किया अपना हिस्सा         हे राम...         BIG NEWS : सुशांत केस CBI को हुआ ट्रांसफर, केंद्र ने मानी बिहार सरकार की सिफारिश         BIG NEWS : पीएम मोदी ने अयोध्या में की भूमि पूजन, रखी आधारशिला         BIG NEWS : PM मोदी पहुंचे अयोध्या के द्वार, हनुमानगढ़ी के बाद राम लला की पूजा अर्चना की         BIG NEWS : आदित्य ठाकरे से कंगना रनौत ने पूछे 7 सवाल, कहा- जवाब लेकर आओ         रॉकेट स्ट्राइक या विस्फोटक : बेरूत के तट पर खड़े जहाज में ताकतवर ब्लास्ट, 73 की मौत         BIG NEWS : भूमि पूजन को अयोध्या तैयार         रामराज्य बैठे त्रैलोका....         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत की मौत से मेरा कोई संबंध नहीं : आदित्य ठाकरे         BIG NEWS : दीपों से जगमगा उठी भगवान राम की नगरी अयोध्या         BIG NEWS : पूर्व मंत्री राजा पीटर और एनोस एक्का को कोरोना, कार्मिक सचिव भी चपेट में         BIG NEWS : अब नियमित दर्शन के लिए खुलेंगे बाबा बैद्यनाथ व बासुकीनाथ मंदिर          BIG NEWS : श्रीनगर-बारामूला हाइवे पर मिला IED बम, आतंकी हादसा टला         BIG NEWS : सिविल सेवा परीक्षा का फाइनल रिजल्ट जारी, प्रदीप सिंह ने किया टॉप, झारखंड के रवि जैन को 9वां रैंक, दीपांकर चौधरी को 42वां रैंक         सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश ने की CBI जांच की सिफारिश         BIG NEWS : आतंकियों ने सेना के एक जवान को किया अगवा          बिहार DGP का बड़ा बयान, विनय तिवारी को क्वारंटाइन करने के मामले में भेजेंगे प्रोटेस्ट लेटर         BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत केस में बिहार पुलिस के हाथ लगे अहम सुराग !         BIG NEWS : दिशा सालियान...सुशांत सिंह राजपूत मौत प्रकरण की अहम कड़ी...         BIG NEWS : पटना पुलिस ने खोजा रिया का ठिकाना, नोटिस भेज कहा- जांच में मदद करिए         BIG NEWS : छद्मवेशी पुलिस के रूप में घटनास्थल पर कुछ लोगों के पहुंचने के संकेत         लिव-इन माने ट्राउबल बिगिन... .          रक्षाबंधन : इस अशुभ पहर में भाई को ना बांधें राखी, ज्योतिषी की चेतावनी         जब मां गंगा को अपनी जटाओं में शिव ने कैद कर लिया...         आज सावन का आखिरी सोमवार, अद्भुत योग, भगवान शिव की पूजा करने से हर मनोकामना होगी पूरी          अन्नकूट मेले को लेकर सजा केदारनाथ, भगवान भोले को चढ़ाया गया नया अनाज         BIG NEWS :  गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती ने सुशांत सिंह के बैंक अकाउंट से 90 दिनों में 3.24 करोड़ रुपए निकाले         GOOD NEWS : अमिताभ की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव, 22 दिन बाद हॉस्पिटल से डिस्चार्ज         केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह कोरोना पॉजिटिव          BIG NEWS : सुशांत सिंह राजपूत के मित्र सिद्धार्थ पीठानी को पटना पुलिस सम्मन जारी कर करेगी पूछताछ        

आलमगीर औरंगजेब,सहिष्णु या असहिष्णु

Bhola Tiwari Oct 08, 2019, 10:16 AM IST टॉप न्यूज़
img


अजय श्रीवास्तव

मुगल बादशाह औरंगजेब जिसने भारत पर 49 साल तक सफलतापूर्वक शासन किया उसके बारे में विभिन्न इतिहासकारों और लेखकों ने विभिन्न मत व्यक्त किए हैं।कुछ उन्हें क्रूर शासक करार देते हैं और लिखते हैं कि उन्होंने अपने शासनकाल में हिंदुओं पर तरह तरह के अत्याचार किऐ थे तो कुछ उन्हें हिंदुओं को संरक्षण देने वाला बताते हैं।

भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू अपनी किताब "डिस्कवरी आँफ इंडिया" जो साल 1946 में प्रकाशित हुई थी,उसमें लिखते हैं कि औरंगजेब एक धर्मांध और पुरातनपंथी शख्स था।नेहरू ने बहुत से उदाहरण द्वारा इसे सिद्ध करने का प्रयास किया है।औरंगजेब ने अपने सगे भाई दारा शिकोह को सिंघासन के लिए मरवा दिया था, अपने पिता को उसने उनकी मृत्यु तक जेल में बंद रखा।

अमेरिकी इतिहासकार आँडरी ट्रस्चके अपनी किताब "औरंगजेब-द मैन एंड द मिथ" में लिखते हैं कि ये तर्क गलत है कि औरंगजेब ने मंदिरों को इसलिए ध्वंस्त करवाया क्योंकि वो हिंदुओं से नफरत करता था।वे लिखती हैं कि औरंगजेब की छवि के पीछे अंग्रेजों के जमाने के इतिहासकार जिम्मेदार हैं जो अंग्रेजों की फूट डालो और राज करो नीति के तहत हिंदू मुस्लिम वैमनस्य को बढ़ावा देते थे।वे अपनी किताब में ये भी लिखती हैं कि अगर औरंगजेब का शासन बीस साल कम हुआ होता तो उनका आधुनिक इतिहासकारों ने अलग ढ़ंग से आकलन किया होता।वो आलमगीर औरंगजेब के पक्ष में दलील देते हुए लिखती हैं कि ये गलतफहमी है कि औरंगजेब ने हजारों हिंदू मंदिरों को तोडा।ज्यादा से ज्यादा कुछ दर्जन मंदिर हीं उनके सीधे आदेश से तोडे गए।उनके शासनकाल में कहीं हिंदुओं का सामुहिक नरसंहार नहीं हुआ,मैंने तो अपने रिसर्च में कहीं भी ऐसा नहीं पढा।औरंगजेब ने अपने राजदरबार में कई महत्वपूर्ण पदों पर हिंदुओं की नियुक्ति की थी,जो उसकी सहिष्णुता को प्रर्दशित करती है।

आँडरी ट्रस्चके जी आपके अनुसार हीं औरंगजेब ने दो दर्जन हिंदू मंदिरों को तोडा था,क्या ये उसकी धर्मांधता नहीं थी?अगर वो सर्वधर्म समभाव की नीति पर चलता या कट्टर सुन्नी मुस्लिम नहीं होता तो क्या ऐसा काम करता?ये कुछ सवाल हैं जो आलमगीर औरंगजेब की छवि को धर्मांध बनाती है।

ब्रिटिश और भारतीय इतिहासकार ये मानते हैं कि कट्टर औरंगजेब की जगह अगर उदारपंथी दारा शिकोह छठे मुगल सम्राट बनते तो इतिहास कुछ और होता।दारा शिकोह बेहद नर्मदिल तबीयत के थे और वे सभी को साथ लेकर चलने में विश्वास करते थे।इसी वजह से बादशाह शाहजहां का उनपर विशेष अनुराग था।वैसे भी बडा पुत्र हीं राजा होता था मगर औरंगजेब ने दारा शिकोह को राजा मानने से इंकार कर दिया था।

अंग्रेज और भारतीय इतिहासकारों के इतर अमेरिकी इतिहासकार आँडरी ट्रस्चके लिखती हैं कि दारा शिकोह में मुगल बादशाह बनने के कोई भी गुण नहीं थे।वो औरंगजेब की तरह युद्ध कुशल नहीं था,उसमें नेतृत्व करने की वो कला नहीं थी जो औरंगजेब में था।औरंगजेब बेहद बलशाली था जबकि दारा शिकोह औसत व्यक्तित्व के थे।

आँडरी ट्रस्चके के इतर इटालियन इतिहासकार निकोलाई मानुची जो उस समय भारत भ्रमण पर थे अपनी किताब "स्टोरिया दो मोगोर" में लिखते हैं कि दारा की मौत के दिन औरंगजेब ने उनसे पूछा था कि अगर उनकी भूमिकाएं बदल जाएं तो तुम क्या करोगे?बहादुर दारा शिकोह ने उपहासपूर्वक जवाब दिया था कि वो औरंगजेब के शरीर को चार हिस्सों में कटवा कर दिल्ली के चार मुख्य द्वारों पर लटकवा देंगे।

अगर दारा शिकोह बुजदिल होता तो वह औरंगजेब की अधीनता स्वीकार कर लेता मगर दारा शिकोह बहादुर था उसने औरंगजेब की दासता के बदले मौत को चुना था।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links