ब्रेकिंग न्यूज़
लुगू पहाड़ की तलहटी में नक्सलियों ने दी फिर दस्तक         आज संपादक इवेंट मैनेजर है तो तब वो हुआ करता था बनिये का मुनीम या मंत्र पढ़ता पंडत....         किसी को होश नहीं कि वह किसे गाली दे रहा है...          जेवीएम विधायक प्रदीप यादव और बंधु तिर्की ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी से की मुलाकात         नीतीश का दो टूक : प्रशांत किशोर और पवन वर्मा जिस पार्टी में जाना चाहे जाए, मेरी शुभकामना         लोहरदगा में कर्फ्यू :  CAA के समर्थन में निकाले गए जुलूस पर पथराव, कई लोग घायल         पेरियार विवाद : क्या तमिल सुपरस्टार रजनीकांत की बातें सही हैं जो उन्होंने कही थी ?         पत्‍थलगड़ी आंदोलन का विरोध करने पर हुए हत्‍याकांड की होगी एसआईटी जांच, सीएम हेमंत सोरेन दिए आदेश         एक ही रास्ता...         अब तानाजी के वीडियो में छेड़छाड़ कर पीएम मोदी को दिखाया शिवाजी         सरकार का नया दांव : जनसंख्या नियंत्रण कानून...         हम भारत के सामने बहुत छोटे हैं, बदला नहीं ले सकते : महातिर मोहम्मद         तीस साल बीतने के बावजूद कश्मीरी पंडितों की सुध लेने वाला कोई नहीं, सरकार की प्राथमिकता में कश्मीर के अन्य मुद्दे         हेमंत सोरेन को मिला 'चैम्पियन ऑफ चेंज' अवॉर्ड         जेपी नड्डा भाजपा के नए अध्यक्ष, मोदी बोले-स्कूटर पर साथ घूमे         नए दशक में देश के विकास में सबसे ज्यादा 10वीं-12वीं के छात्रों की होगी भूमिका : मोदी         CAA को लेकर केरल में राज्यपाल और राज्य सरकार में ठनी         इतिहास तो पूछेगा...         सेखुलरी माइंड गेम...         अफसरों की करतूत : पत्नियों की पिकनिक के लिए बंद किया पतरातू रिजाॅर्ट         गुरूवर रविंद्रनाथ टैगोर की मशहूर कविता "एकला चलो रे" की राह पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव         पत्रकारिता में पद्मश्रियों और राज्यसभा की सांसदी के कलुष...         विकास का मॉडल देखना हो तो चीन को देखिए...         फरवरी में भारत आएंगे ट्रंप, अहमदाबाद में होगा 'हाउडी मोदी' जैसा कार्यक्रम         शर्मनाक : सीएम के आदेश के बावजूद सरकारी मदद पहुंचने से पहले मरीज की मौत         झारखण्ड मंत्रिमंडल लगभग तय ! अन्तिम मुहर लगनी बाकी         ऑस्ट्रेलिया का क्या होगा...         क्या चंद्रशेखर आजाद बसपा सुप्रीमो मायावती का विकल्प बन सकते हैं?         सबसे पहले जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग कीजिए...         जनता की सेवा करें विधायक : सोनिया गांधी         झाविमो कार्यसमिति घोषित : विधायक प्रदीप यादव एवं बंधु तिर्की को कमेटी में कोई पद नहीं        

आईएसआई ने हिंसा भड़काने की रची साजिश, मार्च में सैकड़ों आतंकी शामिल

Bhola Tiwari Oct 05, 2019, 4:02 PM IST टॉप न्यूज़
img

● जेकेएलएफ मार्च के बहाने लाइन ऑफ कंट्रोल पर हिंसा भड़काने के लिए आईएसआई ने रची साजिश

टोनी पाधा

श्रीनगर : लाइन ऑफ कंट्रोल पर आईएसआई की हिंसा भड़काने वाली एक और साजिश का जरा मुआयना करिए। आईएसआई ने उल्लू सीधा करने के लिए मार्च में आतंकियों का घालमेल किया है। हुआ यूं कि पाकिस्तान अधिकृत जम्मू कश्मीर में प्रतिबंधित आतंकी संगठन जेकेएलफ के सैंकड़ों कार्यकर्ता ने शनिवार को फिर से लाइन ऑफ कंट्रोल की तरफ अपना मार्च शुरू कर दिया है। यह मार्च करीब 10 बजे लाल चौक, मुजफ्फराबाद से शुरू हुआ और एलओसी के पार चकोठी की तरफ बढ़ रहा है। खुफिया सूचना के मुताबिक इस मार्च की भीड़ में सैंकड़ों लोग पीओके से बाहर से लाये गये हैं। ये भीड़ “भिम्बर टू श्रीनगर वाया चकोठी” प्लान के तहत एलओसी पार करने का दावा कर रही है। चकोठी पीओके में हट्टियां बाला जिले में एलओसी पार एक गांव है, एलओसी के इस पार उड़ी सेक्टर है।

 

दरअसल पाकिस्तान जम्मू कश्मीर में लगातार माहौल भड़काने और उसको इंटरनेशनल मीडिया में उछालने की लगातार कोशिश कर रहा है। पाकिस्तान की नई साजिश के तहत पाकिस्तान खुफिया एजेंसी आईएसआई ने पीओके स्थित प्रतिबंधित आतंकी संगठन जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के जरिये लाइन ऑफ कंट्रोल पर हिंसक हंगामा खड़ा करने की साजिश रची है।

खुफिया विभाग उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक आईएसआई के सैंकड़ों ट्रेंड आतंकियों को इन मार्च में शामिल कर दिया है। जोकि एलओसी पर हिंसक वारदात करने के लिए शामिल किये गये हैं। पाकिस्तान की कोशिश है कि इस हिंसक वारदात के बहाने इंटरनेशनल मीडिया में मामले को किसी तरह लगातार उछाला जाये।

 इधर भारतीय सुरक्षा एजेंसियां किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है। उड़ी सेक्टर में भारतीय सेना ने स्नाइपर दस्ता भी तैनात किया है, जो किसी भी घुसपैठ को नाकाम करने में सक्षम है।

 वहीं पाकिस्तान इस साजिश से पल्ला झाड़ने का नाटक भी कर रहा है। शनिवार सुबह पीएम इमरान खान ने 2 ट्वीट कर इस मार्च पर सवाल उठाये...।


सितंबर महीने में भी पीओके में एलओसी की तरफ मार्च की एक और कोशिश हुई थी, जिसमें बेलगाम घुसपैठिये एलओसी पर पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों के साथ ही भिड़ गये थे, जिसके बाद पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों की गोलीबारी में दर्जनों घुसपैठिये घायल हो गये थे। मार्च के दरमियान इस बात की आशंका है कि इस बार आईएसआई ने ट्रेंड आतंकियों को शामिल कर दिया है, जोकि मार्च की आड़ में घुसपैठ कर सकते हैं।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links