ब्रेकिंग न्यूज़
अनब्याही माँ : चपला के बहाने इतिहास को देखा          भारतीय पत्रकारिता को फफूंदी बनाने वाली पत्रकार यूनियनें..         ब्रिटेन और फ्रांस को पीछे छोड़ भारत बना दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था         ..विधायक बंधू तिर्की और प्रदीप यादव आज विधिवत कांग्रेस के हुए         मरता क्या नहीं करता !          14 साल बाद बाबूलाल मरांडी की घर वापसी, जोरदार स्वागत         जेवीएम प्रमुख बाबूलाल मरांडी भाजपा में हुए शामिल, अमित शाह ने माला पहनाकर स्वागत किया         भारत में महिला...भारत की जेलों में महिला....          अनब्याही माताएं : प्राण उसके साथ हर पल है,यादों में, ख्वाबों में         कराची में हिंदू लड़की को इंसाफ दिलाने के लिए सड़कों पर उतरे लोग         बेतला राष्ट्रीय उद्यान में गर्भवती मादा बाघ की मौत !अफसरों में हड़कंप         बिहार की राजनीति में हलचल : शरद यादव की सक्रियता से लालू बेचैन          सीएम गहलोत की इच्छा, प्रियंका की हो राज्यसभा में एंट्री !         अनब्याही माताएं : गीता बिहार नहीं जायेगी          तेंतीस करोड़ देवी-देवताओं के देश में यही होना है...         केजरीवाल माँडल अपनाकर हीं सफलता प्राप्त कर सकतीं हैं ममता बनर्जी         28 फरवरी को रांची आएंगे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद         सत्ता पर दबदबा रखनेवाले जूना पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर से लेकर तमाम शंकराचार्यों की जमात कहां हैं?          यही प्रथा विदेशों में भी....         इतिहास, शिक्षा, साहित्य और मीडिया..         जालसाजी : विधायक ममता देवी के नाम पर जालसाज व्यक्ति कर रहा था शराब माफिया की पैरवी         वार्ड पार्षदों ने नप अध्यक्ष के द्वारा मनमानी किए जाने की शिकायत उपायुक्त से की         पुलवामा हमले की बरसी पर इमोशनल हुआ बॉलीवुड, सितारों ने ऐसे दी शहीदों को श्रद्धांजलि         बड़ी खबर : प्रदीप यादव के कांग्रेस में शामिल होते ही झारखंड की सरकार गिरा देंगे : निशिकांत         क्या सरदार पटेल को नेहरू ने अपनी मंत्रिमंडल में मंत्री बनाने से मना कर दिया था?एक पड़ताल         वैलेंटाइन गर्ल की याद !         राजनीति में अपराधियों की एंट्री पर सुप्रीमकोर्ट सख्त, चुनाव आयोग और याचिकाकर्ता को दिये जरूरी निर्देश         राजनीतिक पार्टियों को सुप्रीम कोर्ट का.निर्देश : उम्मीदवारों का क्रिमिनल रेकॉर्ड जनता से साझा करें         सभ्य समाज के मुँह पर तमाचा है दिल्ली की "गार्गी काँलेज" और "लेडी श्रीराम काँलेज" जैसी घटनाएं         पूर्वजो के शब्द बनते ये देशज शब्द         हिंदी पत्रकारिता में सॉफ्ट हिंदुत्व और संतों में लीन सम्पादक..         कांग्रेस में घमासान : प्रदेश कांग्रेस कमेटियों को अपनी दुकान बंद कर देना चाहिए : शर्मिष्ठा मुखर्जी          एलपीजी सिलेंडर में बड़ा इजाफा : बिना सब्सिडी वाला एलपीजी सिलेंडर 144.5 रुपए महंगा        

अमेरिका में बड़े निवेश का ऐलान करेंगे मोदी !

Bhola Tiwari Sep 22, 2019, 6:11 PM IST टॉप न्यूज़
img

● पूरे विश्व के हुक्मरानों की नजर Howdy Modi कार्यक्रम पर


सिद्धार्थ सौरभ

नई दिल्ली : अमेरिका का शहर ह्यूस्टन पूरा भारत के रंग में रंग गया है। पीएम मोदी की मेगा शो की तैयारी पूरी हो चुकी है। अब से कुछ ही देर बाद दुनिया के सबसे बड़े मंच पर दुनिया के दो बड़े लोकतंत्र के नेता उपस्थित होंगे। अमेरिका में रहने वाले 50 हजार भारतीय उनके सामने होंगे। जरा सोचिए अमेरिका की भूमि और भारत का मंच। और पहली बार विश्व के दो बड़े लोकतंत्र के नेता एक साथ। एक मंच पर। कुछ समय के लिए पूरी दुनिया ठहर से जाएगी टीवी के सामने। दुनिया के बड़े-बड़े हुक्मरान यह देखेंगे और सुनेंगे कि यह दो महारथी कौन से रोड मैप को लेकर सामने आ रहे हैं।

ह्यूस्टन के इस मंच पर विराजमान पीएम मोदी से अमेरिका में रहने वाले 50 हजार भारतीय पूछेंगे MODI "HOW DO YOU DO"।

 दरअसल ये कूटनीतिक स्ट्राइक है। दुनिया के बड़े-बड़े हुक्मरान बड़े ही गौर से इस डिप्लोमेटिक चेंज को देख रहे हैं। अब भारत के साथ चलने वाली ब्रेन ड्रेन वाली कहावत बहुत पीछे छूट चुकी है। यही नहीं, बहुत सारी चीजें जो भारत के साथ लटके पड़ी रहती थी, वह भी छूट गई। बहुत पीछे जाने की जरूरत नहीं है, जब यह बात सुनने को मिलता था कि अमेरिका भारत को क्या देगा, अमेरिका भारत में कितना इन्वेस्टमेंट करेगा। लेकिन आज न्यू इंडिया की ताकत, शैली और समझ बदल चुकी है। आज अमेरिका कहेगा, मोदी साहब आए हैं। भारत अमेरिका में इन्वेस्टमेंट करेगा।

यह रैली दुनिया के नाम एक संदेश है। भारत तैयार है। अमेरिका और चीन के टकराव के दौर में निर्मला सीतारमण की घोषणा का संदेश यह भी है कि अमेरिकी कंपनियाँ भारत में पूँजी निवेश करें। भारतीय कंपनी कर की दर अब वैश्विक प्रतियोगिता में आ गई है। भारत सरकार अब करों के सरलीकरण की राह में प्रवेश कर रही है। 

 खैर, ह्यूस्टन में हो रहे इस मेगा शो के दूरगामी परिणाम होंगे, जो आने वाले समय में बड़े-बड़े बुद्धिजीवी अपने अपने ढंग से इसकी व्याख्या करते रहेंगे। विदेश मंत्रालय में उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक मोदी के अमेरिकी दौरे के दौरान कुछ बड़े और अहम फैसले होने हैं।

● प्रधानमंत्री मोदी और डोनाल्ड ट्रंप के बीच द्विपक्षीय वार्ता

● अमेरिका में बड़े निवेश का ऐलान कर सकते हैं प्रधानमंत्री मोदी 

● अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत को कारोबारी छूट का ऐलान कर सकते हैं

● अमेरिका ऊर्जा कंपनी टेल्लूरियन और भारतीय कंपनी पेट्रोनेट के बीच एलएनजी का लेकर करार

● आतंकवाद पर ज्वाइंट एक्शन की हो सकती है बात

● डोनाल्ड ट्रंप भारत में इन्वेस्टमेंट की कर सकते हैं घोषणा

● डोनाल्ड ट्रंप के भारतीय दौरे की तिथि की हो सकती है घोषणा

● अमेरिका के 44 सांसदों ने ट्रंप प्रशासन से अनुरोध किया है कि जनरलाइज्ड सिस्टम प्रिफरेंस (जीएसपी) के तहत भारत का दर्जा बहाल किया जाए।

● मोदी की अमेरिकी ऊर्जा कंपनियों से होने वाली मुलाकात में ऊर्जा क्षेत्र में बड़े निवेश का रास्ता खुलेगा


Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links