ब्रेकिंग न्यूज़
अब तानाजी के वीडियो में छेड़छाड़ कर पीएम मोदी को दिखाया शिवाजी         सरकार का नया दांव : जनसंख्या नियंत्रण कानून...         हम भारत के सामने बहुत छोटे हैं, बदला नहीं ले सकते : महातिर मोहम्मद         तीस साल बीतने के बावजूद कश्मीरी पंडितों की सुध लेने वाला कोई नहीं, सरकार की प्राथमिकता में कश्मीर के अन्य मुद्दे         हेमंत सोरेन को मिला 'चैम्पियन ऑफ चेंज' अवॉर्ड         जेपी नड्डा भाजपा के नए अध्यक्ष, मोदी बोले-स्कूटर पर साथ घूमे         नए दशक में देश के विकास में सबसे ज्यादा 10वीं-12वीं के छात्रों की होगी भूमिका : मोदी         CAA को लेकर केरल में राज्यपाल और राज्य सरकार में ठनी         इतिहास तो पूछेगा...         सेखुलरी माइंड गेम...         अफसरों की करतूत : पत्नियों की पिकनिक के लिए बंद किया पतरातू रिजाॅर्ट         गुरूवर रविंद्रनाथ टैगोर की मशहूर कविता "एकला चलो रे" की राह पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव         पत्रकारिता में पद्मश्रियों और राज्यसभा की सांसदी के कलुष...         विकास का मॉडल देखना हो तो चीन को देखिए...         फरवरी में भारत आएंगे ट्रंप, अहमदाबाद में होगा 'हाउडी मोदी' जैसा कार्यक्रम         शर्मनाक : सीएम के आदेश के बावजूद सरकारी मदद पहुंचने से पहले मरीज की मौत         झारखण्ड मंत्रिमंडल लगभग तय ! अन्तिम मुहर लगनी बाकी         ऑस्ट्रेलिया का क्या होगा...         क्या चंद्रशेखर आजाद बसपा सुप्रीमो मायावती का विकल्प बन सकते हैं?         सबसे पहले जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग कीजिए...         जनता की सेवा करें विधायक : सोनिया गांधी         झाविमो कार्यसमिति घोषित : विधायक प्रदीप यादव एवं बंधु तिर्की को कमेटी में कोई पद नहीं         रायसीना डायलॉग में सीडीएस विपिन रावत ने तालिबान से सकारात्मक बातचीत की वकालत की         कवि और सामाजिक कार्यकर्ता अंशु मालवीय पर जानलेवा हमला         डॉन करीम लाला से मुंबई में मिलने आती थी इंदिरा गांधी : संजय रावत         भाजपा में विलय की उलटी गिनती शुरू, हेमंत सरकार से समर्थन वापस लेगा जेवीएम         भारत और सऊदी अरब से तनातनी की कीमत चुका रहा है मलेशिया         हिंदी पत्रकारिता का हाल क्रिकेट टीम के बारहवें खिलाड़ी सा...         बड़ी बेशर्मी से शर्मसार होने का रोग लगा देश को...         लाहौर टू शाहीन बाग : पाकिस्तान के लाहौर में बैठकर मणिशंकर अय्यर ने उड़ाया भारत का मजाक         क्यों मनाई जाती है मकर संक्रांति ?         अलोकप्रिय हो चुके नीतीश कुमार को छोडकर अपनी राहें तलाशनी होगी भाजपा को बिहार में        

एक और बलात्कारी बाबा "स्वामी चिन्मयानंद" गिरफ्तार

Bhola Tiwari Sep 20, 2019, 6:11 PM IST टॉप न्यूज़
img


अजय श्रीवास्तव

बलात्कारी बाबाओं की फेरहिस्त में एक और चमकदार नाम जुड गया है।तथाकथित स्वामी चिन्मयानंद राममंदिर आंदोलन से जुडे हुए हैं और राजनीतिक गलियारों में इनकी अच्छी-खासी पैठ है।अटल बिहारी वाजपेयी के मंत्रिमंडल में चिन्मयानंद गृह राज्यमंत्री रह चुके हैं और उन्हें योगी आदित्यनाथ का विशेष स्नेह भी प्राप्त है।इस केस को कमजोर करने की बहुत सी कोशिशें हुईं मगर पीडिता सरकार और चिन्मयानंद दोनों के दवाब में नहीं झुकीं।जब पीडित लड़की ने आत्महत्या करने की धमकी दी तब उ.प्र सरकार को उन्हें एसआईटी के माध्यम से गिरफ्तार करना पडा।

आज सुबह चिन्मयानंद को एसआईटी की टीम ने उनके आश्रम से गिरफ्तार कर लिया और पास के कोतवाली ले आई,वहाँ से मेडिकल जांच के लिए उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया।जिला अस्पताल की जाँच के बाद एसआईटी ने उन्हें मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया, जिसके बाद उन्हें 14 दिन के लिए जेल भेज दिया गया है।चिन्मयानंद पर धारा 376(सी)के तहत मामला दर्ज किया गया है, जिसके मुताबिक किसी शख्स द्वारा अपनी ताकत और पद का इस्तेमाल करते हुए जबरन यौन शोषण किया जाता है।

आपको बता दें शाहजहांपुर स्थित एसएस लाँ काँलेज में पढ़ने वाल एक छात्रा ने उनपर शोषण, अपहरण और धमकाने के आरोप लगाएँ हैं।छात्रा ने पुलिस को पचासों वीडियो सौंपा, जिसमें चिन्मयानंद उससे नंगा होकर मालिश करवा रहा है।लडकी ने यौन उत्पीड़न के भी वीडियो को सार्वजनिक किया और एसआईटी को वीडियो क्लिप सौंपा था।एसआईटी ने लडकी के दोस्तों को भी चिन्मयानंद से ब्लैकमेलिंग के मामले में गिरफ्तार किया है।

आपको बता दें आठ साल पहले शाहजहांपुर की हीं एक महिला ने चिन्मयानंद पर यौन शोषण और उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया था।वो महिला चिन्मयानंद के आश्रम में रहती थी।बीजेपी की सरकार बनने के बाद मामले को रफादफा कर दिया गया था।तीन बार के सांसद रह चुके चिन्मयानंद की शाहजहांपुर में तूती बोलती है।डीएम, एसपी सभी उसके दरबार में सजदा करते थे, किसकी मजाल थी कि वो उनके विरुद्ध कुछ कह पाता मगर जब पाप का घडा भरता है तब बडे से बडे सुरमा धाराशायी हो जाते हैं।आप आशाराम बापू, बाबा राम रहीम,दांती बाबा का उदाहरण देख सकते हैं।जब पाप का घडा भरा तो उन्हें जेल की कोठरी हीं नसीब हुई और यही चिन्मयानंद के साथ भी होगा।

स्पेशल इन्वेस्टिगेशन के प्रमुख नवीन अरोड़ा ने कहा कि स्वामी चिन्मयानंद ने अपने खिलाफ लगे लगभग सभी आरोपों को स्वीकार किया है।उन्होंने कहा कि वह इस बारे में ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहते क्योंकि वह अपने इस कार्यो से शर्मिंदा हैं।

एसआईटी को चाहिए कि वो चिन्मयानंद के साथ उनका सहयोग कर रहे लोगों को भी गिरफ्तार करे।लड़की को गल्स हास्टल से आश्रम लाने वाला शख्स भी उतना हीं दोषी है जितना बलात्कार करनेवाला।अगर एसआईटी सहयोगियों पर कठोर कार्रवाई करेगा तो समाज में ये संदेश जाएगा कि अपराध में सहयोग करनेवाला भी बराबर का दोषी है।

संतों की लिबास में छूपे हुऐ भेडियों पर कठोर से कठोर कार्रवाई होनी चाहिए जिससे एक मिसाल कायम की जा सके।देर से हीं सरकार ने मुनासिब कदम उठाया है।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links