ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : रांची के रिम्स में जब पोस्टमार्टम से पहले जिंदा हुआ मुर्दा         अमेरिका ने चीन की 33 कंपनियों को किया ब्लैकलिस्ट, ड्रैगन भी कर सकता है पलटवार         BIG NEWS : भारत अड़ंगा ना डालें, गलवान घाटी चीन का इलाका         BIG NEWS : भारत की आक्रामक नीति से घबराया बाजवा बोल पड़ा "कश्मीर मसले पर पाकिस्तान फेल"         BIG NEWS : डोकलाम के बाद भारत और चीन की सेनाओं के बीच हो सकती है सबसे बड़ी सैन्य तनातनी         BIG NEWS : झारखंड के 23वें जिला खूंटी में पहुंचा कोरोना, सोमवार को राज्य में 28 नए मामले         BIG NEWS : कश्मीर के नाम पर पाकिस्तानी ने इंग्लैंड के गुरुद्वारा में किया हमला         BIG NEWS : बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट में किसने लगाई आग! लाखों का नुकसान          BIG NEWS : इंडिया और इज़राइल मिलकर खोजेंगे कोविड-19 का इलाज         CBSE : अपने स्कूल में ही परीक्षा देंगे छात्र, अब देशभर में 15000 केंद्रों पर होगी परीक्षा         BIG NEWS : कुलगाम एनकाउंटर में कमांडर आदिल वानी समेत दो आतंकी ढेर         BIG NEWS : लद्दाख बॉर्डर पर भारत ने तंबू गाड़ा, चीन से भिड़ने को तैयार         ममता बनर्जी को इतना गुस्सा क्यों आता है, कहा आप "मेरा सिर काट लीजिए"         GOOD NEWS ! रांची से घरेलू उड़ानें आज से हुईं शुरू, हवाई यात्रा करने से पहले जान लें नए नियम         .... उनके जड़ों की दुनिया अब भी वही हैं         आतंकियों को बचाने के लिए सुरक्षाबलों पर पत्थरबाज़ी, जवाबी कार्रवाई में कई घायल         BIG NEWS : पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर तौफीक उमर को कोरोना, अब पाकिस्तान में 54 हजार के पार         महाराष्ट्र में खुल सकते है 15 जून से स्कूल , शिक्षा मंत्री ने दिए संकेत         BIG NEWS : सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के टॉप आतंकी सहयोगी वसीम गनी समेत 4 आतंकी को किया गिरफ्तार         आतंकी साजिश नाकाम : सुरक्षाबलों ने पुलवामा में आईईडी बम बरामद         BREAKING: नहीं रहे कांग्रेस के विधायक राजेंद्र सिंह         पानी रे पानी : मंत्री जी, ये आप की राजधानी रांची है..।         BIG NEWS : कल दो महीने बाद नौ फ्लाइट आएंगी रांची, एयरपोर्ट पर हर यात्री का होगा टेस्ट         BIG NEWS : भाजपा के ताइवान प्रेम से चिढ़ा ड्रैगन, चीन ने दर्ज कराई आपत्ति         सिर्फ विरोध से विकास का रास्ता नहीं बनता....         सीमा पर चीन ने बढ़ाई सैन्य ताकत, मशीनें सहित 100 टेंट लगाए, भारतीय सेना ने भी सैनिक बढ़ाए         BIG NEWS : केजरीवाल सरकार ने सिक्किम को बताया अलग राष्ट्र         महिला पर महिलाओं द्वारा हिंसा.... कश्मकश में प्रशासन !         BIG NEWS : वैष्णों देवी धाम में रोज़ाना 500 मुस्लिमों की सहरी-इफ्तारी की व्यवस्था         विस्तारवादी चीन हांगकांग पर फिर से शिकंजा कसने की तैयारी में, विरोध-प्रर्दशन शुरू         BIG NEWS : स्पेशल ट्रेन की चेन पुलिंग कर 17 मजदूर रास्ते में ही उतरे         भक्ति का मोदी काल ---         अम्फान कहर के कई चेहरे, एरियल व्यू देख पीएम मोदी..!         महिला को अर्द्धनग्न कर घुमाया गया !         टिड्डा सारी हरियाली चट कर जाएगा...         'बनिया सामाजिक तस्कर, उस पर वरदहस्त ब्राह्मणों का'         इतिहास जो हमें पढ़ाया नहीं गया...        

सन् 39 की बंदूक में 1857 के कारतूस

Bhola Tiwari Aug 22, 2019, 10:07 AM IST टॉप न्यूज़
img


राजीव मित्तल

नई दिल्ली : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र को अंतिम सलामी देते हुए 22 रायफलों का न दगना कुछ पुरानी याद दिला गया.. नोश फरमाएं...


बिहार पुलिस इस बार के चुनावों को लेकर बेहद उत्साहित है..कुछ नये हथियार विभाग के खजाना ए असलाह में ऐसे आए हैं, जिन्हें चलाने के लिये विशेष ट्रेनिंग की जरूरत पड़ती है.. थोड़ी देर में उन हथियारों का प्रशिक्षण शुरू होगा.. मुख्यअतिथि की कुर्सी पर गुलाबजल छिड़क दिया गया है..मेज पर गुलदाउदी के फूल एक कुल्हड़ में सजे हैं..सारे जवान जैसे-तैसे वर्दी के अंदर ठुंसे सावधान की मुद्रा में खड़े हैं..कुछेक की बनियान फटी लीची के गूदे की तरह बाहर झांक रही है..पैरों में हर प्राचीन-आधुनिक मॉडल के चप्पल, जूते और सेंडिल हैं.. 

मुख्य अतिथि यानि राज्य के मुख्यमंत्री आ गए हैं..उन्हें बोलने का मौका दिए बिना ही बैंड बजने लगा..फिर भाषण भी हुए और रिवाज के अनुसार मुख्य अतिथि ने सबसे आखिर में अच्छी-अच्छी बातें कीं..अब उन हथियारों पर एक निगाह डालने के लिये कुर्सी वाले उठ खड़े हुए और जो खड़े थे वे और तन गए..

मुख्य अतिथि ने एक बंदूकनुमा हथियार हाथ में उठाया और उसे अपने कंधों पर ले जाते हुए अगल-बगल खड़े अफसरों की तरफ मुस्कुराते हुए कहा-वंडरफुल! ऐसी कितनी बंदूकें मिली हैं? सर, साढ़े नौ हजार लम्बी नाल वाली और सवा 11 हजार छोटी नाल की.. 

ये सब तब की हैं जब नाजी जर्मनी ने सोवियत संघ पर हमला किया था..उसी दौरान हिटलर के एक साथी ने, जो बाद में तस्कर बन गया, काफी माल भारत भिजवाया था..साठ साल पहले जिस जहाज से यह असलाह आया था, उसे पिछले ही महीने विशाखापट्नम में कबाड़ियों को बेच दिया गया, जिन्हें जहाज के तहखाने से यह माल मिला..

जैसे ही इस बारे में पता चला, हमारी सरकार ने बगैर निविदा के ही उन कबाड़ियों से सस्ते में ये सब खरीद लियासर, यह बड़े फ़ख्र की बात है कि अब हमारे किसी जवान के हाथ में लाठी या डंडा नहीं रहेगा..

इन बंदूकों की खासियत है कि हर गोली दागने के बाद इनकी नाल को पांच मिनट के लिये पानी में डुबोना पड़ता है.. बीस हजार फुट की ऊंचाई पर उसकी भी जरूरत नहीं पड़ती..लेकिन सर, कारतूसों की एक सच्चाई के बारे में आपको बताना अपना फर्ज समझता हूं.. हमारे जाबांज सिपाही शायद उन्हें छूने में भी नाक-भौं सिकोड़ें..यह सुन मुख्य अतिथि के चेहरे पर प्रश्नवाचक चिन्ह तैरने लगा..

सर, इम्फाल के एक कबाड़ी ने जो पांच लाख कारतूस हमें बेचे, पता चला है कि ये वही कारतूस हैं, जिनकी वजह से 1857 में अंग्रेजों के शब्दों में गदर और वीर सावरकर जी के शब्दों में पहला स्वतंत्रता संग्राम हुआ था.. मुख्य अतिथि ने फौरन कहा-ओह, हाऊ सैड, यह बंदूक पकड़ो, मैं इस बारे में इंक्वायरी बिठाता हूं..

 काक भुशुण्डि की आंख में सुरमा डाल रहे गरुड ने पूछा- महाशय जी, एके 47 नजर नहीं आ रही किसी के हाथ में? मूरख, लाठी-डंडे वाले हाथों में एके 47 एकदम से नहीं पकड़ायी जाती और जिनके हाथों में वो है वे उन्हें कंधे पर टांगे उनकी कार का दरवाजा, बंगले का फाटक और बोतल का ढक्कन खोल रहे हैं..

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links