ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट में किसने लगाई आग! लाखों का नुकसान          BIG NEWS : इंडिया और इज़राइल मिलकर खोजेंगे कोविड-19 का इलाज         CBSE : अपने स्कूल में ही परीक्षा देंगे छात्र, अब देशभर में 15000 केंद्रों पर होगी परीक्षा         BIG NEWS : कुलगाम एनकाउंटर में कमांडर आदिल वानी समेत दो आतंकी ढेर         BIG NEWS : लद्दाख बॉर्डर पर भारत ने तंबू गाड़ा, चीन से भिड़ने को तैयार         ममता बनर्जी को इतना गुस्सा क्यों आता है, कहा आप "मेरा सिर काट लीजिए"         GOOD NEWS ! रांची से घरेलू उड़ानें आज से हुईं शुरू, हवाई यात्रा करने से पहले जान लें नए नियम         .... उनके जड़ों की दुनिया अब भी वही हैं         आतंकियों को बचाने के लिए सुरक्षाबलों पर पत्थरबाज़ी, जवाबी कार्रवाई में कई घायल         BIG NEWS : पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर तौफीक उमर को कोरोना, अब पाकिस्तान में 54 हजार के पार         महाराष्ट्र में खुल सकते है 15 जून से स्कूल , शिक्षा मंत्री ने दिए संकेत         BIG NEWS : सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के टॉप आतंकी सहयोगी वसीम गनी समेत 4 आतंकी को किया गिरफ्तार         आतंकी साजिश नाकाम : सुरक्षाबलों ने पुलवामा में आईईडी बम बरामद         BREAKING: नहीं रहे कांग्रेस के विधायक राजेंद्र सिंह         पानी रे पानी : मंत्री जी, ये आप की राजधानी रांची है..।         BIG NEWS : कल दो महीने बाद नौ फ्लाइट आएंगी रांची, एयरपोर्ट पर हर यात्री का होगा टेस्ट         BIG NEWS : भाजपा के ताइवान प्रेम से चिढ़ा ड्रैगन, चीन ने दर्ज कराई आपत्ति         सिर्फ विरोध से विकास का रास्ता नहीं बनता....         सीमा पर चीन ने बढ़ाई सैन्य ताकत, मशीनें सहित 100 टेंट लगाए, भारतीय सेना ने भी सैनिक बढ़ाए         BIG NEWS : केजरीवाल सरकार ने सिक्किम को बताया अलग राष्ट्र         महिला पर महिलाओं द्वारा हिंसा.... कश्मकश में प्रशासन !         BIG NEWS : वैष्णों देवी धाम में रोज़ाना 500 मुस्लिमों की सहरी-इफ्तारी की व्यवस्था         विस्तारवादी चीन हांगकांग पर फिर से शिकंजा कसने की तैयारी में, विरोध-प्रर्दशन शुरू         BIG NEWS : स्पेशल ट्रेन की चेन पुलिंग कर 17 मजदूर रास्ते में ही उतरे         भक्ति का मोदी काल ---         अम्फान कहर के कई चेहरे, एरियल व्यू देख पीएम मोदी..!         महिला को अर्द्धनग्न कर घुमाया गया !         टिड्डा सारी हरियाली चट कर जाएगा...         'बनिया सामाजिक तस्कर, उस पर वरदहस्त ब्राह्मणों का'         इतिहास जो हमें पढ़ाया नहीं गया...         झारखंड : शुक्रवार को 15 कोरोना         BIG NEWS : जिन्ना गार्डन इलाके में गिरा प्लेन, कई घरों में लगी आग, जीवन बचाने के लिए भागे लोग         BIG NEWS : पाकिस्तान की फ्लाइट क्रैश, विमान में सवार सभी 107 लोगों की मौत         BIG NEWS : मधु कोड़ा के केवल चुनाव लड़ने के लिए दोषी होने पर रोक लगाना ठीक नहीं : दिल्ली हाई कोर्ट         BIG NEWS : तीन और महीने के लिए टली ईएमआई, 31 अगस्त तक बढ़ाया         BIG NEWS : आज से आरक्षित टिकटों की बुकिंग रेलवे काउंटर से शुरू         चीन के बाद अब पाक ने बढ़ाई सीमा पर ताकत, तोपें और अतिरिक्त सैन्य डिवीजन तैनात          BIG STORY : झारखंड के लिए शिक्षा माने भीक्षा....         BIG NEWS : पाकिस्तान ने सरकारी मैप में सुधारी गलती ! गिलगित-बल्तिस्तान और मीरपुर-मुजफ्फराबाद भारत का हिस्सा         BIG NEWS : अम्फान तूफान, तबाही के निशान        

आज कश्मीर मसले पर "संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद" में "क्लोज डोर" बैठक होगी

Bhola Tiwari Aug 16, 2019, 12:33 PM IST टॉप न्यूज़
img


अजय श्रीवास्तव

पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के चीन यात्रा के तत्काल बाद भारत के विदेश मंत्री एस.जयशंकर ने चीन की यात्रा की थी।वार्ता में चीन ने आश्वासन दिया था कि वह इस मसले पर तटस्थ रहेगा,मगर उसने जैसी उसकी फितरत है संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को पत्र लिखकर कश्मीर मसले पर बातचीत करने का अनुरोध किया है।उसी बाबत आज बैठक होगी जिसमें भारत की ओर से इसी महीने के पहले हफ्ते में अपने संविधान से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने और जम्मू कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिये जाने को लेकर चर्चा की जाएगी।

आपको बता दें कि पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कश्मीर मसले पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष जोआन रेकोनाका को एक पत्र लिखा था,जिसमें उन्होंने कश्मीर मसले पर एक आपातकालीन बैठक बुलाने की मांग की थी,पाकिस्तान के पत्र के बाद पाकिस्तान का मित्र और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थाई सदस्य चीन ने भी पत्र लिखकर पाकिस्तान की माँग का समर्थन किया।चीन के दवाब के आगे झुकते हुए यूएनएससी के अध्यक्ष जोआन रेकोनाका को "क्लोज डोर बैठक" की घोषणा करनी पड़ी।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की ये बैठक भारत की सेहत के लिए ठीक नहीं है।भारत हमेशा से कश्मीर मसले पर द्विपक्षीय वार्ता वो भी शिमला समझौते के तहत करने पर बल देता आया है मगर अब इस मामले का अंतराष्टीयकरण होगा।पाकिस्तान के मित्र देश अब इस मसले पर खुलकर बोलेंगे।

अगर हम अतीत में झांकेंगे तो भारत हीं इस मसले को सन् 1948 में संयुक्त राष्ट्र लेकर गया था और संयुक्त राष्ट्र ने हीं कुछ व्यवस्थाएं दीं थीं।1948 में हीं संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से पहला प्रस्ताव आया और इसे प्रस्ताव नं 38 कहा गया।उसके बाद सन् 1948 में हीं प्रस्ताव 39,47 और 51 आया।

प्रस्ताव 38 में कहा गया था कि दोनों पक्ष हालात को और न बिगड़ने दें।दोनों पक्ष के लोग आपस में इस मसले का समाधान खोजने की पुरजोर कोशिश करें।

प्रस्ताव 47 जो भारत और पाकिस्तान दोनों के लिए महत्वपूर्ण था।21 अप्रैल 1948 को प्रस्ताव संख्या 47 में जनमत संग्रह पर सहमति बनी।प्रस्ताव में कहा गया कि भारत और पाकिस्तान दोनों जम्मू कश्मीर पर नियंत्रण का मुद्दा जनमतसंग्रह के स्वत्रंत और निष्पक्ष लोकत्रांतिक तरीके से तय होना चाहिए।इसके लिए एक शर्त तय की गई थी कि कश्मीर में लड़ने के लिए जो पाकिस्तानी नागरिक या कबायली लोग आए थे,वे वापस पाकिस्तान चले जाएं।

थोडे हीं दिनों में भारतीय हुक्मरानों को ये एहसास हुआ कि अगर कश्मीर में जनमतसंग्रह हो जाए तो कश्मीर की बहुसंख्यक आबादी पाकिस्तान के साथ जाना पसंद करेगी, क्योंकि वहाँ के धार्मिक रिवाज, खानपान और भेषभूषा सभी पाकिस्तान की तरफ हीं चुगली करतीं हैं।1950 के दशक में भारत ने ये कहते हुए जनमतसंग्रह की मांग को ठुकरा दिया कि अभी भी पाकिस्तानी उसके भूभाग को कब्जा किये हुए हैं और तय नियमों के अनुसार वे पाकिस्तान नहीं लौटे।अब भारत जनमतसंग्रह की मांग को ठुकराता है।पाकिस्तान सर पिटता रह गया और भारत जनमतसंग्रह के लिए तैयार नहीं हुआ।

भारत का इस मुद्दे को लेकर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में जाना अगर आज के परिपेक्ष्य में आकलन करेंगे तो शायद गलत था।अब उस समय क्या परिस्थिति रही होगी मैं उसके विषय में नहीं कह सकता।

भारत को मजबूती के साथ सुरक्षा परिषद में लड़ना होगा, नहीं तो चीन की मदद से पाकिस्तान इस द्विपक्षीय मुद्दे का अंतराष्टीयकरण करने में कामयाब होता दिख रहा है।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links