ब्रेकिंग न्यूज़
BIG STORY : नदियां गायब हो रहीं या मनुष्यता का डिहाड्रेशन हो रहा...                           BIG NEWS : चीन के प्रति अमेरिका के तेवर सख्त, चीन से आने वाली उडा़नों पर लगाई रोक         BIG NEWS : जैश-ए-मोहम्मद का आईईडी विशेषज्ञ अब्दुल रहमान मारा गया         BIG NEWS : अंकित शर्मा मर्डर केस: ताहिर हुसैन ने रची थी पूरी साजिश, चार्जशीट में पुलिस का दावा         चीनी घुसपैठ: तरीका और पृष्ठभूमि से समझिए मंशा          महबूबा मुफ्ती को राहत नहीं, सरकार ने शाह फैसल समेत 3 नेताओं पर से हटाया PSA          BIG NEWS : मसूद अजहर के रिश्तेदार समेत तीन आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर         जार्ज फ्लाँयड मर्डर         ....खलनायक को पाप से मुक्ति मिले         रामकृपाल कंट्रशन के कार्यालय में एनआईए की छापेमारी         यहाँ से फूटती है उम्मीद की किरण..।         BIG NEWS : पाकिस्तान में 3 और नाबालिग हिंदू लड़कियां अगवा, मौलवियों ने जबरन धर्म परिवर्तन कराकर कराई शादी         ..जब प्रेसिडेंट ट्रंप को बंकर में छिपना पड़ा         त्राल एनकाउंटर में 1 आतंकी ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी          इतिहासकार विजया रामास्वामी का निधन          BIG NEWS  : वैष्णो देवी कटड़ा में 50 घोड़ों और 50 चालकों का कोरोना टेस्ट         झारखंड में कुचल दी गई राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी की संभावनाएं.. अब सब्जी बेचने को हो गई विवश..         शांति-कपोत आत्महत्या कर लेते हैं !          52 years back : गोरे लोग इसके जिम्मेदार हैं तो यह गोरा आपके बीच खड़ा है...         कोरोना काल में हमारे बच्चे !         BIG NEWS : ISI के लिए काम करते थे पाकिस्तानी जासूस, भारत ने देश से बाहर निकाला         BIG NEWS : झारखंड में खुलेगी सभी दुकानें और चलेंगे ऑटो रिक्शा         पाकिस्तान को सिखाया सबक, कई चौकियां तबाह, छह सैनिक घायल         भारतीय सेना ने घुसपैठ कर रहे 3 आतंकियों को मार गिराया, सर्च ऑपरेशन जारी         नेतागिरी चमकाने के लिए बेशर्म होना जरूरी....         BIG NEWS : सिंह मैंशन व रघुकुल समर्थकों में भिड़ंत, लाठी-डंडे व तलवार से हमला, दो की हालत गंभीर          ग्रामीणों और बच्चों को ढाल बनाकर नक्सलियों ने पुलिस पर किया हमला, 2 जवान शहीद         BIG NEWS : जासूसी करते हुए पकड़े गए पाक हाई कमीशन के दो अधिकारी, दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया         POK के सभी टेरर कैंपों में भरे पड़े हैं आतंकवादी : लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू         BIG NEWS : बख्तरबंद वाहन में घुसे चीनी सैनिकों को भारतीय सेना ने घेर कर मारा        

जिंदा हैं अभी टी एन शेषन !

Bhola Tiwari Jul 25, 2019, 6:21 AM IST टॉप न्यूज़
img


 ध्रुव गुप्त

बात इसी वर्ष  8 अप्रैल की है। सुबह से ही सोशल मीडिया पर देश के एक पूर्व और अभूतपूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टी एन शेषन के निधन की अफवाह तैर रही थी। यह झूठ है, लेकिन इस झूठ का एक फायदा यह हुआ कि देश ने एक बार फिर उस व्यक्ति को तब याद किया, रीढविहीन संवैधानिक संस्थाओं और लाचार प्रशासनिक व्यवस्था के इस दौर में जिसे याद करने की ज़रूरत सबसे ज्यादा है। एक नौकरशाह भी देश की सड़ी-गली व्यवस्था की चूलें हिलाकर वास्तविक लोकतंत्र को चर्चा के केंद्र में ला सकता है, इसे शेषन ने साबित किया था। तमिलनाडु काडर के आई.ए.एस टी एन शेषन ने 1990 में जब देश के दसवें मुख्य चुनाव आयुक्त ज़िम्मेदारी संभाली उस समय 'जिसकी लाठी, उसकी भैंस' की तर्ज़ पर लोकतंत्र चल रहा था। चुनाव दर चुनाव बूथ लूट, हत्या और हिंसक घटनाओं की संख्या बढ़ रही थी। प्रशासन और पुलिस का राजनीतिक इस्तेमाल स्वीकृत तथ्य था। आम लोगों को शायद ही यह पता था कि देश में चुनाव आयोग जैसी कोई संस्था भी है। शेषन ने देश की चुनाव व्यवस्था को गतिशील और पारदर्शी बनाने के लिए कई ऐतिहासिक क़दम उठाए। बूथ कैप्चरिंग रोकने के लिए केन्द्रीय पुलिस बलों के इस्तेमाल की शुरुआत हुई। चुनाव को कई चरणों में बांटा गया। वोटर कार्ड की शुरुआत हुई। हर चुनाव क्षेत्र में पर्यवेक्षक तैनात किए गए। चुनाव से जुड़े अधिकारियों और पुलिस को निष्पक्ष बनाने की कोशिशें हुई। ज़रा भी गड़बड़ी मिलने पर चुनाव रद्द या स्थगित कर देने की वज़ह से सभी राजनीतिक दलों से उनका लगातार टकराव हुआ, लेकिन उन्होंने किसी की भी परवाह न की। उनके बारे में यह कथन बहुत प्रचलित था कि वे नाश्ते में राजनेताओं को खाते थे। लोकतंत्र को पुनर्स्थापित करने की नीयत से लिए गए उनके कुछ अलोकतांत्रिक निर्णयों के बावजूद उनके कार्यकाल में चुनाव व्यवस्था पर लोगों का भरोसा लौटा था।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links