ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : जवानों ने लद्दाख में पैंगोंग त्सो झील के किनारे 14 हजार फुट की ऊंचाई पर फहराया तिरंगा         PM मोदी ने लाल किले पर फहराया झंडा, कहा- देश की संप्रभुता पर जिसने आंख उठाई, सेना ने उसी भाषा में दिया जवाब         स्वतंत्रता दिवस : आजादी के जश्न....         पटना में फिर बारिश होने की खबर है !         कुलभूषण जाधव केस में आईसीजे के फैसले को नहीं लागू कर रहा है पाकिस्तान : विदेश मंत्रालय         BIG NEWS : पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के 2 आतंकी सहयोगी गिरफ्तार         BIG NEWS : जब जयपुर की सड़कों पर तैरने लगी कारें         BIG NEWS : 15 अगस्त, वीरता पुरस्कारों की घोषणा, जम्मू कश्मीर पुलिस को सबसे ज़्यादा वीरता पदक         BIG NEWS : गैलेंटरी अवॉर्ड का ऐलान, टॉप पर जम्मू-कश्मीर          BIG NEWS : गहलोत सरकार ने विश्वास मत जीता         BIG NEWS : भारत चीन सीमा विवाद के बीच अमेरिका ने तैनात किए सबसे घातक परमाणु बॉम्बर ‍          BIG NEWS : 3.75 लाख कांट्रेक्ट शिक्षकों के लिए स्वतंत्रता दिवस पर सीएम नीतीश करेंगे बड़ा ऐलान         BIG NEWS : श्रीनगर में सुरक्षाबलों पर आतंकी हमला, दो पुलिसकर्मी शहीद         BIG NEWS : अब गहलोत सरकार विश्वास प्रस्ताव लाएगी और भाजपा की अविश्वास प्रस्ताव की तैयारी          BIG BREAKING : अभी-अभी श्रीनगर में आतंकी हमला, दो जवान घायल         BIG NEWS : टेरर फंडिंग केस में NIA ने बारामूला में की छापेमारी, पूछताछ जारी         BIG NEWS : पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से डॉक्टर की डिग्री लेने वाले भारत में नहीं कर सकते प्रैक्टिस : MCI         BIG NEWS : जब बेशरमी का भूत सर "देसाई" चढ़कर बोले         BIG NEWS : एम एस धोनी का कोरोना टेस्ट निगेटिव, 14 अगस्त को चेन्नई के लिए होंगे रवाना         BIG NEWS : बीजेपी कल लाएगी अविश्वास प्रस्ताव, गहलोत सरकार की बढ़ीं मुश्किलें         BIG NEWS : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिलने उनके घर पहुंचे सचिन पायलट, थोड़ी देर में विधायक दल की बैठक         BIG NEWS : अवंतीपोरा में दो सक्रिय आतंकी ठिकाने ध्वस्त, गोलाबारूद बरामद         BIG NEWS : ईमानदार करदाताओं को पीएम मोदी का सौगात : फेसलेस असेसमेंट और टैक्सपेयर्स चार्टर आज से लागू         BIG STORY : राजस्थान में सियासी संकट खत्म, सियासी जमीन बचाने की वजह बनी सचिन पायलट की वापसी         BIG NEWS : चीन ने काम बिगाड़ा, सऊदी अरब ने पाकिस्तान को लताड़ा         BIG NEWS : संदेह के घेरे में रूस की कोरोना वैक्सीन !         BIG NEWS : पुलवामा एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने 1 आतंकी को मार गिराया, 1 जवान शहीद         BIG NEWS : चीन की फर्जी कंपनियों पर आयकर का छापा, 1000 करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग का पर्दाफाश         BIG NEWS : सुशांत के परिवार ने लीगल नोटिस भेज कर कहा, संजय राउत 48 घंटे में माफी मांगें, नहीं तो केस करेंगे         BIG NEWS : AU, HJ और PC कौन ! रिया चक्रवर्ती से क्या है कनेक्शन         श्रीकृष्ण की पीड़ा !!         BIG NEWS : संजय दत्त को हुआ लंग्स कैंसर, इलाज के लिए अमेरिका रवाना         मुझे मत पुकारो !         सुख-समृद्धि और धन प्राप्ति के लिए इस तरह करे भगवान श्री कृष्ण को प्रसन्न         क्यों मोर मुकुट धारण करते हैं श्री कृष्ण?         ये सब धुआं है कोई आसमान थोड़ी है !         BIG NEWS : जनाज़े पर मेरे लिख देना यारों, मोहब्बत करने वाला जा रहा है...         BIG NEWS : दुनिया का पहला कोरोना वैक्सीन तैयार, पुतिन ने कोरोना वैक्सीन का टीका बेटी को लगवाया         BIG NEWS : मशहूर शायर राहत इंदौरी का निधन         BIG NEWS : प्रवर्तन निदेशालय ने जब्त किए रिया चक्रवर्ती के मोबाइल फोन और लैपटॉप         BIG NEWS : रिया चक्रवर्ती करती थीं सुशांत के वित्तीय और प्रोफेशनल फैसले : श्रुति मोदी         BIG NEWS : राजस्थान की बदली सियासत, पायलट नाराज विधायकों के साथ आज करेंगे "घर" वापसी         BIG NEWS : बेटियों को भी पिता की संपत्ति में बराबरी का हक         BIG NEWS : जम्मू-कश्मीर में 4जी सेवा शुरू करने की तैयारी, 15 अगस्त के बाद दो जिलों में होगा ट्रायल         BIG NEWS : कुपवाड़ा में तीन संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार, हथियार बरामद         BIG NEWS : बीजेपी नेता के घर ग्रेनेड हमला         जिसने अपने कालखंड को अपने इशारों पर नचाया...         जब मोहन ने पहली बार गोपिकाओ को किया परेशान         भगवान कृष्ण के जन्म लेते ही जेल की कोठरी में फैल गया प्रकाश ...         BIG BREAKING : रांची में सरेराह मार्बल दुकान में चली गोली, अपराधियों ने एक व्यक्ति को गोली मारी         BIG NEWS : झारखंड के शिक्षा मंत्री अब करेंगे इंटर की पढ़ाई...          BIG NEWS : सभी मेल, एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेन 30 सितंबर तक रद्द         BIG NEWS : राहुल-प्रियंका से मिले सचिन पायलट, घर वापसी की अटकलें तेज         BIG NEWS : आतंकी हमले में घायल बीजेपी नेता की मौत         आदिवासी विकास का फटा पोस्टर...         BIG NEWS : नक्सली राकेश मुंडा को लाखों का इनाम और पत्तल बेचती अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉलर संगीता सोरेन को दो हजार         पाखंड के सिपाही कम्युनिस्ट लेखक...        

बढ़नी का शक्ल लिए आता है हेली का धूमकेतु

Bhola Tiwari Jul 23, 2019, 5:15 AM IST टेक नॉलेज
img

  एसडी ओझा

बढ़नी पूर्वांचल में झाड़ू को कहते हैं । वैसे अब बढ़नी शब्द का लोप हो गया है । इस शब्द ने आम बोल चाल की भाषा से अलविदा मांग लिया है । अब बढ़नी की जगह झाड़ू, कूची या खरहरी कहा जाता है। वैसे औरतों की बोल चाल में यह नाम अभी भी जिंदा है । मेरे ख्याल से अगली बार जब हेली का धूमकेतु नजर आएगा तब भी बढ़नी उनकी जुबान पर कायम रहेगा । कहते हैं कि हेली का धूमकेतु अगली बार 2061 में नजर आने वाला है । यह हर 75-76 साल में एक बार नजर आता है । पूरे विश्व में यह लगभग 27 दिन तक कहीं न कहीं जरुर नजर आता है । हाँ तो बात चल रही थी औरतों की । औरतों का अब भी दो तकिया कलाम बढ़नी के नाम पर हीं जिंदा है - बढ़नी बहारो ( झाड़ू से बाहर करो) , मार बढ़नी रे ( झाड़ू से मारो) ।

कहते हैं कि यह धूमकेतु ईशा पूर्व 240 से देखा जा रहा है । इसके पहले भी शायद यह देखा जाता होगा, किन्तु इसका कोई अभिलेख उपलब्ध नहीं है । इसकी शक्ल बढ़नी की तरह है । अतः इसे पूर्वांचल में आम बोल चाल की भाषा में बढ़नी हीं कहा जाता है । बढ़नी तब से कहा जाता है जब श्रीमान हैली साहब का जन्म भी नहीं हुआ था । बढ़नी को हेली का नाम तब मिला जब उन्होंने 1705 मे बताया कि यह एक निश्चित अंतराल के बाद दिखाई पड़ता है । उन्होंने यह भविष्यवाणी की थी कि यह बढ़नी अगली बार 1759 में नजर आएगी । इसके पहले यह 1682 में नजर आ चुका था । यह सही में 1759 में नजर आया, पर अफसोस कि अपने इस शोध को प्रमाणित होते हुए हेली देख नहीं पाए । उनका निधन 1742 में हीं हो गया था । श्रद्धांजलि स्वरुप इस बढ़नी का नाम हेली का धूमकेतु रख दिया गया । 

हर आदमी इस बढ़नी को अपने जीवन में अधिकतम दो बार हीं देख सकता है । मैंने भी इसे 1986 में देखा है । 2061 का देखना तो नितांत मुश्किल है । 1986 में इस धूमकेतु की बारीकी से जांच की गयी थी । इसमें पानी, अमोनिया, धूल और कार्बन डाई आक्साइड की मौजूदगी पायी गयी । जब सूरज के नजदीक यह पहुँचता है तो इसमें मौजूद गैसों का वाष्पीकरण होता है । इससे बढ़नी वाला हिस्सा यानी की इसकी पूंछ अरबों मील लम्बी हो जाती है । यह बढ़नी सूरज का चक्कर 200 साल में पूरी करती है । इसके तीन भाग होते हैं- नाभि , कोमा ( चमकदार भाग ) और पूँछ । भारतीय शास्त्रों के अनुसार 33 धूमकेतु हैं । ये सभी के सभी राहु व केतु के पुत्र कहे गये हैं । इसीलिए केतु का नाम इससे जुड़ा है ।

वैसे हजारों धूमकेतु हैं, पर नंगी आंखों से हेली का धूमकेतु हीं नजर आता है । अगर कोई धुमकेतू नजर भी आता होगा तो वह हजारों साल बाद जाकर कहीं अपनी छवि दिखाता होगा । ऐसे धूमकेतु पर शोध कौन करेगा ? इतना इंतजार कौन करेगा ? कहते हैं कि जिस साल हेली का धूमकेतु नजर आता है उस साल कई तरह की हारी बीमारी, आपदाएं आतीं हैं । महान् दार्शनिक अरस्तू का कहना था कि यह पृथ्वी के वायुमण्डल में होने वाले गड़बड़ी का नतीजा है । कुछ का मानना है कि प्लेग, चेचक , ब्लैक डेथ इसी बढ़नी के फलस्वरूप दुनिया में फैलें है । हेली के धूमकेतु की पूंछ में कई तरह के विषाणु होते हैं जो पृथ्वी के नजदीक आने पर गिर जाते हैं । ऐसे धूमकेतु को कोई अपशकुन मानता है तो इसे बढ़नी मारना हीं श्रेयस्कर होगा । मुझे बचपन की सुनी हुई एक बाल गीत की याद आ गई -

अरवा चाऊर पुरान ढकनी, 

आवेली बिलारो देई मार बढ़नी ।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links