ब्रेकिंग न्यूज़
बांदीपोरा में 4 OGWS गिरफ्तार, हथियार बरामद         BIG NEWS : हाफिज सईद समेत 5 आतंकियों के बैंक अकाउंट फिर से बहाल         BIG NEWS : लालू यादव का जेल "दरबार", तस्वीर वायरल         मान लीजिए इंटर में साठ प्रतिशत आए, या कम आए, तो क्या होगा?         BIG NEWS : झारखंड में रविवार को कोरोना संक्रमण से 6 मरीजों की मौत, बंगाल-झारखंड सीमा सील         BIG NEWS : सोपोर में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, अब तक 2 आतंकी ढेर         BIG NEWS : देश में PMAY के क्रियान्वयन में रामगढ़ नंबर वन         BIG NEWS : श्रीनगर में तहरीक-ए-हुर्रियत के चेयरमैन अशरफ सेहराई गिरफ्तार         BIG NEWS : ऐश्वर्या राय बच्चन और आराध्या बच्चन की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव         BIG NEWS : मध्यप्रदेश की राह पर राजस्थान !         अमिताभ बच्चन ने कोरोना के खौफ के बीच सुनाई थी उम्मीद भरी कविता, अब..         .... टिक-टॉक वाले प्रकांड मेधावियों का दस्ता         BIG BRAKING : नक्सलियों नें कोल्हान वन विभाग कार्यालय व गार्ड आवास उड़ाया         BIG NEWS : महानायक अमिताभ बच्चन के बाद अभिषेक बच्चन को भी कोरोना         BIG NEWS : अमिताभ बच्चन करोना पॉजिटिव         BIG NEWS : आतंकियों को घुसपैठ कराने की कोशिश में पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम         अपराधी मारा गया... अपराध जीवित रहा !          BIG NEWS : भारत चीन के बीच बातचीत, सकारात्मक सहमति के कदम आगे बढ़े         BIG NEWS : बारामूला के नौगाम सेक्टर में LOC के पास मुठभेड़, दो आतंकी ढेर         BIG STORY : समरथ को नहिं दोष गोसाईं         शर्मनाक : बाबू दो रुपए दे दो, सुबह से भूखी हूं.. कुछ खा लुंगी         BIG NEWS : वर्चुअल काउंटर टेररिज्म वीक में बोले सिंघवी, कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, था और रहेगा         BIG NEWS : कानपुर से 17 किमी दूर भौती में मारा गया गैंगेस्टर विकास, एसटीएफ के 4 जवान भी घायल         BIG NEWS : झारखंड के स्कूलों पर 31 जुलाई तक टोटल लॉकडाउन         BIG NEWS : चीन के खिलाफ “बायकॉट चाइना” मूवमेंट          पाकिस्तानी सेना ने नौशेरा सेक्टर में की गोलाबारी, 1 जवान शहीद         मुसीबत देश के आम लोगों की है जो बहुत....         BIG NEWS : एनकाउंटर में मारा गया गैंगस्टर विकास दुबे         बस नाम रहेगा अल्लाह का...         BIG NEWS : सेना के काफिले पर आतंकी हमला, जवान समेत एक महिला घायल         BIG NEWS : लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों ने की थी बीजेपी नेता वसीम बारी की हत्या         दुबे के बाद क्या ?         मै हूं कानपुर का विकास...         BIG NEWS : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 6 पुलों का किया ई उद्घाटन, कहा-सेना को आवाजाही में मिलेगी सुविधा         BIG NEWS : कुख्यात अपराधी विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार         BIG MEWS : चुटुपालु घाटी में आर्मी का गाड़ी खाई में गिरा, एक जवान की मौत, दो घायल         BIG NEWS : सेना ने फेसबुक, इंस्टाग्राम समेत 89 एप्स पर लगाया बैन         BIG NEWS : बांदीपोरा में आतंकियों ने बीजेपी नेता वसीम बारी की हत्या, हमले में पिता-भाई की भी मौत        

क्या चांद पर एलियन की बस्तियां हैं ?

Bhola Tiwari Jul 22, 2019, 5:03 AM IST टॉप न्यूज़
img

एसडी ओझा

चांद पर पहला कदम रखने वाले नील आर्मस्ट्रांग ने एक बार एक इंटरव्यू में कहा था कि चांद पर एलियन्स की कालोनियां बसी हुई हैं. चांद पर उनका पहुंचना एलियन्स को बहुत नागवार गुजरा . एलियन्स ने उन्हें वहां से चले जाने का इशारा किया था. जब उनसे इस बावत विस्तार से पूछा गया तो नील आर्मस्ट्रांग ने यह कहकर बात खत्म कर दी कि वे धरती के लोगों में विस्तार से बता कर खौफ नहीं पैदा करना चाहते.

कहा जाता है कि चंद्रमा का दुसरा हिस्सा ,जो पृथ्वी से नजर नहीं आता, एलियंस का आधार शिविर (Base camp) है. नौसेना इंटेलिजेंस आफिसर मिल्टन कूपर के कथनानुसार अमेरिकी नौसेना में एलियंस के इन कालोनियों को लूना कहा जाता है. एलियंस चांद पर व्यापक स्तर पर खनन कार्य करते हैं. वहाँ उनके विशाल यान खड़े रहते हैं. वे छोटी छोटी उड़न तश्तरियों में बैठ पृथ्वी की भी यात्रा करते हैं.

टिमोर्थी गुड की किताब 'Above top secret ' के अनुसार चांद पर मानव कदम पड़ने के कुछ देर बाद हीं उड़न तश्तरियां देखी गयीं थीं. ज्ञातब्य हो कि 21 जुलाई सन् 1969 को अमेरिकी अंतरिक्ष यात्रियों - नील आर्मस्ट्रांग और एडविन बज एल्ड्रिन के कदम चांद की जमीं पर पड़े थे. इस ऐतिहासिक दिन को इन लोगों ने चांद पर एक क्रेटर देखा था, जिसमें से नीली रोशनी आ रही थी. यह बात अंतरिक्ष यात्रियों ने मिशन कंट्रोल को बताई थी.

नासा के पूर्व कर्मचारी आटो बाइंडर ने नासा कंट्रोल से अंतरिक्ष यात्रियों की वार्ता को वी एच एफ रिसिविंग फेसिलिटी में रिकार्ड किया था. नासा ने पूछा, ' वहां क्या है? '

जवाब मिला, ' ये आकृतियां बहुत विशाल हैं. आप विश्वास नहीं करेंगें, लेकिन यहां क्रेटर के पास पक्तिबद्ध और यान खड़े हैं. वे हम पर निगरानी रख रहे हैं. '

कहा जाता है कि चांद पर एलियंस और यानों के बारे में नासा को पहले से पता था ,पर सारे प्रकरण को गोपनीय रखा गया. अंतरिक्ष यात्रियों को भी इस बात को गोपनीय रखने के लिए कह दिया गया था. 1979 में नासा कम्यूनिकेशन के मुखिया चैटलेन ने कन्फर्म किया कि नील आर्मस्ट्रांग ने दो उड़न तश्तरियों के बारे में जानकारी दी थी. किसी को कुछ न बताने की मनाही ने सबका मुंह बंद रखा.

सबसे पहले इस रहस्य से पर्दा उठाने वाले सोवियत वैज्ञानिक थे. रुस की सेंट्रल टी वी चैनल ने यह जानकारी दी कि अपोलो -11के अंतरिक्ष यात्रियों का सामना एलियंस से हुआ था. एलियंस से मिली चेतावनी के बाद चांद पर स्पेश स्टेशन और मून सिटी नहीं बनवाया जा सका. नील आर्मस्ट्रांग का कहना था कि अमेरिकी गुप्तचर एजेन्सी CIA के दबाव की वजह से ये बातें छिपाई गईं. उनका कहना था कि एलियंस के अंतरिक्ष यान हमारे यान से बड़े और तकनिकी दृष्टिकोण से श्रेष्ठ थे.

काफी अंतराष्ट्रीय दबाव पड़ने के बाद भी नासा ने अपोलो -11 के रिकार्ड सार्वजनिक नहीं किए. उसके बाद भी अपोलो के छः अभियान और हुए 1969 -1972 के दरमियां. हर बार एलियंस ने एक निश्चित दूरी पर इन अपोलो यानों का पीछा किया. इन एलियंस से भयभीत और त्रस्त हो नासा ने अपना अपोलो अभियान बंद कर दिया और बहाना बनाया कि उनका मिशन अब पूरा हो गया है.

नासा ने जानकारी दी है कि अपोलो अभियान से सम्बंधित उनकी सारी फाइलें चोरी हो गईं हैं. इन फाइलों में चंद्र यात्रियों के वार्तालाप के टेप भी थे. शायद हीं कोई इस बात पर विश्वास करेगा. नासा के पास अंतरिक्ष से सम्बंधित बहुत सारी सेक्रेट फाइलें होंगीं. उन्हें भी तो चोरी होना चाहिए था. यह तो वही बात हुई कि दीमकों ने कागज का कुछ नहीं बिगाड़ा पर तहरीर मिटा दी.

उलझा दिया दीमक ने, ये कैसी शरारत की.

कागज तो नहीं चाटा, तहरीर हीं मिटा दी है.

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links