ब्रेकिंग न्यूज़
बांदीपोरा में 4 OGWS गिरफ्तार, हथियार बरामद         BIG NEWS : हाफिज सईद समेत 5 आतंकियों के बैंक अकाउंट फिर से बहाल         BIG NEWS : लालू यादव का जेल "दरबार", तस्वीर वायरल         मान लीजिए इंटर में साठ प्रतिशत आए, या कम आए, तो क्या होगा?         BIG NEWS : झारखंड में रविवार को कोरोना संक्रमण से 6 मरीजों की मौत, बंगाल-झारखंड सीमा सील         BIG NEWS : सोपोर में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, अब तक 2 आतंकी ढेर         BIG NEWS : देश में PMAY के क्रियान्वयन में रामगढ़ नंबर वन         BIG NEWS : श्रीनगर में तहरीक-ए-हुर्रियत के चेयरमैन अशरफ सेहराई गिरफ्तार         BIG NEWS : ऐश्वर्या राय बच्चन और आराध्या बच्चन की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव         BIG NEWS : मध्यप्रदेश की राह पर राजस्थान !         अमिताभ बच्चन ने कोरोना के खौफ के बीच सुनाई थी उम्मीद भरी कविता, अब..         .... टिक-टॉक वाले प्रकांड मेधावियों का दस्ता         BIG BRAKING : नक्सलियों नें कोल्हान वन विभाग कार्यालय व गार्ड आवास उड़ाया         BIG NEWS : महानायक अमिताभ बच्चन के बाद अभिषेक बच्चन को भी कोरोना         BIG NEWS : अमिताभ बच्चन करोना पॉजिटिव         BIG NEWS : आतंकियों को घुसपैठ कराने की कोशिश में पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम         अपराधी मारा गया... अपराध जीवित रहा !          BIG NEWS : भारत चीन के बीच बातचीत, सकारात्मक सहमति के कदम आगे बढ़े         BIG NEWS : बारामूला के नौगाम सेक्टर में LOC के पास मुठभेड़, दो आतंकी ढेर         BIG STORY : समरथ को नहिं दोष गोसाईं         शर्मनाक : बाबू दो रुपए दे दो, सुबह से भूखी हूं.. कुछ खा लुंगी         BIG NEWS : वर्चुअल काउंटर टेररिज्म वीक में बोले सिंघवी, कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, था और रहेगा         BIG NEWS : कानपुर से 17 किमी दूर भौती में मारा गया गैंगेस्टर विकास, एसटीएफ के 4 जवान भी घायल         BIG NEWS : झारखंड के स्कूलों पर 31 जुलाई तक टोटल लॉकडाउन         BIG NEWS : चीन के खिलाफ “बायकॉट चाइना” मूवमेंट          पाकिस्तानी सेना ने नौशेरा सेक्टर में की गोलाबारी, 1 जवान शहीद         मुसीबत देश के आम लोगों की है जो बहुत....         BIG NEWS : एनकाउंटर में मारा गया गैंगस्टर विकास दुबे         बस नाम रहेगा अल्लाह का...         BIG NEWS : सेना के काफिले पर आतंकी हमला, जवान समेत एक महिला घायल         BIG NEWS : लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों ने की थी बीजेपी नेता वसीम बारी की हत्या         दुबे के बाद क्या ?         मै हूं कानपुर का विकास...         BIG NEWS : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 6 पुलों का किया ई उद्घाटन, कहा-सेना को आवाजाही में मिलेगी सुविधा         BIG NEWS : कुख्यात अपराधी विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार         BIG MEWS : चुटुपालु घाटी में आर्मी का गाड़ी खाई में गिरा, एक जवान की मौत, दो घायल         BIG NEWS : सेना ने फेसबुक, इंस्टाग्राम समेत 89 एप्स पर लगाया बैन         BIG NEWS : बांदीपोरा में आतंकियों ने बीजेपी नेता वसीम बारी की हत्या, हमले में पिता-भाई की भी मौत        

सोन के मुख्य नहरों में चलते थे स्टीमर

Bhola Tiwari Jul 21, 2019, 11:10 AM IST टॉप न्यूज़
img

स्थानीय जनप्रतिनिधियों से मेरा एक सवाल


अजीत कुमार अजीत

डेहरी आन सोन : केंद्र में बैठी बीजेपी की सरकार इन दिनों परिवहन को लेकर नए नए इनोवेशन और कार्यों को अंजाम दे रही है। उसमें से एक जल परिवहन की बात है, जो लोगों को चौंका रही है। आश्चर्य में डाल रही है कि कैसे पानी के जहाज से एक शहर से दूसरे शहर जाना होगा। और आवागमन का यह सबसे सुलभ और सबसे सस्ता साधन होगा। इस पर तेजी से काम भी चल रहा है। गंगा पर कई स्थानों पर बंदरगाह बनाए जा रहे हैं। काम प्रगति पर है।

 लेकिन इस प्रोजेक्ट से चौकने की बात नहीं है। एक जमाना था, हमारे ही देश में पानी के जहाज चलते थे। एक स्थान से दूसरे स्थान पर लोगों को पहुंचाते थे। उसका गवाह बना था मेरा कस्बा डेहरी आन सोन और उसके किनारे से बहने वाली सोन नदी।

सोन नहर प्रणाली का निर्माण कार्य 1868 में शुरू किया गया था। मगर सोन नदी के ऊपर मध्य प्रदेश में वाणसागर जलाशय और उत्तर प्रदेश में रिहंद जलाशय बनने के बाद इंद्रपुरी बराज में भी पानी की आवक कम हो गई। 180 फीट चौड़ी मुख्य नहर में बहता था नौ फीट गहरा पानी।

सोन नदी का पानी मीठा, पवित्र और स्वास्थ्यवर्धक है। इसके तटों पर अनेक प्राकृतिक दृश्य बहुत ही सुन्दर हैं। फारसी, उर्दू और हिंदी कवियों ने सोन नदी के जल का वर्णन किया है। इस नदी में डिहरी-आन-सोन पर बाँध बाँधकर 296 मील लंबी नहर निकाली गई है, जिसके जल से शाहाबाद, गया और पटना जिलों के लगभग 7 लाख एकड़ जमीन की सिंचाई होती है। यह बाँध 1874 ई. में तैयार हो गया था। सोन नदी पर एक लंबा पुल, लगभग 3 मील लंबा, डिहरी-ऑन-सोन पर बना हुआ है।

 आज पानी के लिए तरस रही सोन नहर प्रणाली की 65 मील लंबी मुख्य डेहरी-आरा नहर में नौ फीट गहरा पानी बहता था, जिसकी चौड़ाई 180 फीट है।इस नहर प्रणाली के दोनों सिरों (पूरब व पश्चिम) से जुड़ी मुख्य नहरों में 218 मील में नौपरिवहन भी होता था, जिसके लिए 4547 माल-वाहक और 530 यात्री-वाहक छोटे जलपोत (वाप्ष चालित स्टीमर) पंजीकृत थे। 20वीं सदी के पूर्वाद्ध तक ये स्टीमर डेहरी-आन-सोन (रोहतास) और बारुन (औरंगाबाद) से सोन नदी से चलकर गंगा नदी में उतरते थे, जहां से यात्री और माल बड़े स्टीमरों के जरिये पूरब में कोलकाता तक और पश्चिम में बनारस होकर इलाहाबाद तक पहुंचते थे।

 क्या भाजपा के स्थानीय जनप्रतिनिधियों को इस बात का ज्ञान है। अगर ऐसा है तो उन्होंने कभी संसद में इस बात को मजबूती से क्यों नहीं उठाया ताकि इस लंबे चौड़े इलाके को भी जल परिवहन की सुविधा भविष्य में मिल सके। हम उनसे यही अपेक्षा रखते हैं।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links