ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : नए वेरिएंट को लेकर विदेशों से आने वाले यात्रियों के लिए नई गाइडलाइंस जारी, बतानी होगी 14 दिन की ट्रैवल हिस्ट्री, RT-PCR निगेटिव रिपोर्ट भी जरूरी         केन्द्र की राज्यों को नसीहत: ओमिक्राॅन के लिए बुनियादी स्वास्थ्य ढाँचा तैयार करें         मोदी सरकार संसद के शीतकालीन सत्र में सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार         BIG NEWS : केंद्र सरकार सुधर जाए वरना 26 जनवरी दूर नहीं : राकेश टिकैत         BIG NEWS : ओमीक्रोन ने बढ़ाई चिंता, केंद्र ने राज्‍यों को दिए निर्देश, अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानों को लेकर SOP की होगी समीक्ष         BIG NEWS : जिसको मोदी ही नहीं समझा पाये उन्हें मैं कैसे समझाऊं: रामदेव         ममता दीदी ! ऐसी धर्मनिरपेक्षता से बाज आईये         ‘खालिदा जिया को मारना चा​हती है बांग्लादेश सरकार’         BIG NEWS : उत्तर से दक्षिण तक गरीबों को मिलेगा एक जैसा मुफ्त भोजन         BIG NEWS : B.1.1.529: कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर WHO ने की बैठक, जल्द ही देशों के लिए जारी हो सकती हैं गाइडलाइन         चर्च जनविरोध के नियामक हैं !         नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनेगा उत्तरी भारत का लॉजिस्टिक गेटवे : पीएम मोदी         BIG NEWS : चिंता में डूबी भारत में कारोबार कर रही ई-कॉमर्स कंपनियां, जानें वजह         BIG NEWS : बिहार है देश का सबसे गरीब राज्य, आधी से ज्यादी आबादी गरीबी में गुजार रही जिंदगी, झारखंड दूसरे नंबर पर         BIG NEWS : NFHS सर्वे का बड़ा खुलासा, देश में पहली बार पुरुषों के मुकाबले महिलाओं की संख्या ज्यादा         BIG NEWS : लोकतंत्र पर चर्चा को लेकर अमेरिका ने ताइवान को बुलाया तो भड़का चीन, कहा US को होगा भारी नुकसान         BIG NEWS : महबूबा मुफ्ती ने फिर उठाई कश्मीर में 370 बहाल करने की मांग, कहा- हम गोडसे की भारत में नहीं रह सकते         बांग्लादेश के विजय दिवस समारोह में शामिल होंगे राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद         BIG NEWS : मोदी कैबिनेट का बड़ा फैसला.. गरीब कल्याण योजना मार्च तक बढ़ी, गरीबों को मार्च तक मिलेगा मुफ्त अनाज         BIG NEWS : कांग्रेस के सीनियर लीडर मणिशंकर अय्यर के विवादित बोल, कहा- 2014 से देश अमेरिका का गुलाम         GOOD NEWS : अब रेलवे चलाएगा 180 पर्यटन ट्रेन, भारत गौरव ट्रेन को मिलेंगे 3000 कोच         BIG NEWS : केंद्र सरकार लोकसभा के शीतकालीन सत्र के दौरान संसद में पेश करेगी क्रिप्टोकरेंसी सहित 26 बिल         BIG NEWS : हर साल 24,000 गाड़ियां होंगी कबाड़, नितिन गडकरी ने नोएडा में शुरू किया मारुति का पहला वाहन स्क्रैपेज प्लांट         BIG NEWS : मनीष तिवारी ने नई किताब में मुंबई हमले को लेकर मनमोहन सरकार पर उठाए सवाल, मुंबई हमले के बाद पाकिस्तान पर एक्शन न लेना कमजोरी थी         BIG NEWS : गलवान हमले में शहीद कर्नल संतोष बाबू महावीर चक्र से सम्मानित, 4 शहीदों को वीर चक्र         BIG NEWS : पठानकोट ग्रेनेड हमले के बाद जम्मू-कठुआ में हाई अलर्ट, सुरक्षाकर्मी मुस्तैद         BIG NEWS : एयरफोर्स और सीआरपीएफ पर हमले की फिराक में जैश के चार आतंकी, जम्मू कश्मीर में हाई अलर्ट          BIG NEWS : किसान आंदोलन की आड़ में सिखों और हिंदुओं में लड़ाई की चल रही थी साजिश, PM मोदी के फैसले से मंसूबे हुए नाकाम: श्री अकाल तख्त जत्थेदार         BIG NEWS : पठानकोट छावनी पर ग्रेनेड हमला, पूरे जिले में हाईअलर्ट; CCTV खंगाल रही पुलिस         BIG NEWS : महंगाई की एक और मार! नए साल से महंगे होंगे कपड़े और जूते-चप्पल, जानिए क्या है वजह         ......पहले कहा चुल्लूभर पानी में डूब जाएं, फिर दे दिया उत्कृष्ट विधायक का सम्मान         BIG NEWS : राजस्थान के ये विधायक आज लेंगे मंत्री पद की शपथ, 11 कैबिनेट और 4 राज्य मंत्रियों की सूची आई सामने         संयुक्त किसान मोर्चा : जारी रहेगा आंदोलन, किसान नेता दर्शन पाल बोले- 29 नवंबर को संसद तक निकाला जाएगा ट्रैक्टर मार्च         मिथिलाक सामा चकेबा परब         BIG NEWS : लातेहार में माओवादियों में उड़ाया रेलवे ट्रैक, कई ट्रेनों का रूट हुआ डाइवर्ट         देव दीपावली पर चमकी शिव की नगरी काशी, 84 घाटों पर रोशन हुए 15 लाख दीये         BIG NEWS : श्रीनगर में भी कैट की पीठ खुली, करीब 18 हजार मामले होंगे स्थानांतरित         BIG NEWS : मोदी सरकार ने वापस लिए तीनों कृषि कानून, राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम की बड़ी बातें जानिए        

BIG NEWS : LAC पर चर्चा से पहले सेना प्रमुख जनरल नरवणे की दो टूक, अगर पीएलए वहां रहेगी तो इंडियन आर्मी भी

Bhola Tiwari Oct 10, 2021, 8:10 AM IST टॉप न्यूज़
img

नई दिल्ली : भारत-चीन की वास्तविक नियंत्रण रेखा को लेकर जारी विवाद के बीच रविवार को दोनों देशों के बीच सेना को पीछे हटाए जाने पर चर्चा होने वाली है। हालांकि इससे पहले भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने शनिवार को भारत का रुख साफ करते हुए दो टूक कहा कि अगर चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) लद्दाख थिएटर में रहने वाली है, तो भारतीय सेना भी वहीं रहेगी। इस दौरान सेना प्रमुख ने पड़ोसी सेना द्वारा वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पार सैन्य निर्माण और बुनियादी ढांचे के निर्माण से जुड़े विकास का भी जिक्र किया।

उनकी यह तल्ख टिप्पणी एलएसी तनाव को शांत करने के लिए पीएलए के साथ सैन्य वार्ता के 13वें दौर की पूर्व संध्या पर आई है। सेना प्रमुख ने कहा कि यह चिंता का विषय है कि पिछले साल (जब सीमा पर तनाव भड़का था) बड़े पैमाने पर किया गया निर्माण अभी भी वहां जारी है।

जनरल नरवणे ने कहा कि उस तरह के निर्माण को बनाए रखने के लिए, चीन की तरफ बुनियादी ढांचे के विकास की समान मात्रा में वृद्धि हुई है। इसका मतलब है कि वे (पीएलए) वहां रहने के लिए तैयार हैं। हम घटनाक्रम पर पैनी नजर रखे हुए हैं। लेकिन अगर वे वहाँ रहने के लिए हैं, तो हम भी वहां रहने के लिए हैं।

उन्होंने कहा कि भारत ने जवाबी कार्रवाई की और पीएलए की ही तरह काम किया। भारत और चीन 17 महीने से सीमा पर जारी गतिरोध में लगे हुए हैं और इस साल विवाद वाले स्थानों पर सेनाओं को पीछे हटाने के बाद दो दौर के बावजूद, दोनों पक्षों के पास अभी भी लद्दाख थिएटर में 50,000 से 60,000 सैनिक हैं।

नरवणे ने कहा कि अगर वे दूसरी सर्दियों के लिए वहां रहना जारी रखते हैं, तो इसका निश्चित रूप से मतलब होगा कि हम नियंत्रण रेखा (एलओसी) की स्थिति (एलओसी पर भारतीय और पाकिस्तानी तैनाती का जिक्र करते हुए) में होंगे, हालांकि ये सक्रिय एलओसी नहीं है जैसा कि पश्चिमी मोर्चे पर है। हमें यह सुनिश्चित करने के लिए पीएलए की टुकड़ी और तैनाती पर कड़ी नजर रखनी होगी कि वे एक बार फिर कोई दुस्साहस में न करें।

उत्तरी क्षेत्र में पीएलए के आक्रामक कदमों को देखते हुए उसके इरादों पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा कि काश मुझे पता होता। सबसे कठिन काम है अपने विरोधी के मन में उतरना। यह सवाल हम न केवल सेना के भीतर बल्कि अन्य मंचों पर भी पूछते रहे हैं। लेकिन वे जो भी कारण रहे हों, मुझे नहीं लगता कि वे भारतीय सशस्त्र बलों की तीव्र प्रतिक्रिया के कारण अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल रहे हैं।

सेना प्रमुख ने कहा कि फरवरी 2021 में पाकिस्तान के साथ युद्धविराम समझौते के नवीनीकरण के बाद चार महीने की शांति के बाद कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी आतंकवादियों द्वारा नए सिरे से घुसपैठ के प्रयास देखे जा रहे थे। दोनों देश 2003 में पहली बार जम्मू और कश्मीर सीमा पर संघर्ष विराम का पालन करने के लिए सहमत हुए थे।

उन्होंने कहा कि संघर्ष विराम जुलाई तक समग्र रूप से आयोजित किया गया। फिर से घटनाएं होने लगी हैं। उत्तरी कश्मीर में संघर्ष विराम उल्लंघन की तीन घटनाएं हो चुकी हैं। ऐसा लगता है कि यह 2003 के पैटर्न की पुनरावृत्ति है जब यह एक अजीब घटना के साथ शुरू हुआ और फिर बढ़ गया... यानी युद्धविराम न होने के समान।

अफगानिस्तान की स्थिति और कश्मीर पर इसके प्रभाव पर सेना प्रमुख ने कहा कि जब पिछली तालिबान सरकार 20 साल पहले सत्ता में थी; घाटी में अफगान मूल के आतंकवादी सक्रिय थे। उन्होंने बताया कि यह मानने का कारण है कि वही बात एक बार फिर हो सकती है। हम ऐसी किसी भी घटना के लिए तैयार हैं। जिस तरह हमने 2000 के दशक की शुरुआत में उनके साथ व्यवहार किया था, अगर अब वे हमारे आस-पास कहीं भी कुछ करते हैं, तो हम उसी तरह उनसे निपटेंगे।

नरवणे ने कश्मीर में हाल ही में लक्षित हत्याओं के बारे में चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि यह घटनाएं अस्वीकार्य थीं और आतंकवादियों द्वारा "थोड़ा प्रासंगिक" रहने का एक अंतिम प्रयास था।

राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के दरवाजे उनके लिए खोले जाने को देखते हुए महिलाओं को अग्रिम पंक्ति की लड़ाकू भूमिकाएं सौंपे जाने की संभावना पर, उन्होंने कहा कि हमने पैदल सेना, बख़्तरबंद कोर और मशीनीकृत पैदल सेना को छोड़कर, महिलाओं के लिए सेना की 10 शाखाएं खोली हैं। मुझे लगता है कि निकट भविष्य के लिए यह वही रहेगा। मैं कोई झूठे वादे नहीं करूंगा। हमें देखना होगा कि यह कैसे चलता है। हमारे किसी भी पड़ोसी देश ने महिला अधिकारियों के लिए अपने लड़ाकू हथियार नहीं खोले हैं। भविष्य में चीजें बदल सकती हैं। हमें धीरे-धीरे आगे बढ़ना है...बदलाव होगा लेकिन अपनी गति से।

Similar Post You May Like

  • त्रिपुरा : एक नई सुबह

    नई दिल्ली : त्रिपुरा की जीत के पीछे उस भयंकर लूट के खात्मे की कहानी भी है जिसने त्रिपुरा के नौजवानों...

  • BIG NEWS : नए वेरिएंट को लेकर विदेशों से आने वाले ...

    नई दिल्ली : दक्षिण अफ्रीका में पाए गए कोरोना के ओमीक्रॉन वेरिएंट को लेकर दुनियाभर में खौफ है। वहीं अ...

  • जन्मदिन

    प्रशान्त करण(आईपीएस) रांची :जन्मदिन इस धरा पर आत्मा के किसी अधम शरीर में प्रवेश के बाद प्रसव की तिथ...

Recent Post

Popular Links