ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : सिंघु बॉर्डर पर युवक की हत्या कर शव लटकाया, निहंग बोले-श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी पर मारा         ...तो फिर सर्जिकल स्ट्राइक के लिए तैयार रहे पाकिस्तान : अमित शाह         लद्दाख पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, द्रास में सुरक्षाबलों के साथ मनाएंगे दशहरा         BIG NEWS : पुंछ में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच एनकाउंटर जारी, जेसीओ शहीद          नवरात्रि का नौवां दिन, मां सिद्धदात्री से पाएं रिद्धि-सिद्धि         महानवमी आज, जानें माता के नौवें स्वरूप मां सिद्धिदात्री की महिमा         BIG NEWS : 10 माह में 100 करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन !         कोरोना में वर्ल्ड इकॉनमी : कौन जीतेगा, भारत को सब नंबर वन क्यों मान रहे हैं? क्यों तेजी से बढ़ रही है भारत की अर्थव्यवस्था         BIG NEWS : फर्जी गन लाइसेंस मामले में जम्मू कश्मीर में बसीर खान के आवास समेत 41 स्थानों पर कार्रवाई, जांच जारी         BIG NEWS : सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, त्राल एनकाउंटर में जैश-ए-मोहम्मद का टॉप कमांडर सोफी ढेर         GOOD NEWS : देश में कहां-कहां खुलेंगे 100 सैनिक स्कूल, जानिए कब शुरू होगी पढ़ाई         BIG NEWS : मोदी आज करेंगे ‘गति शक्ति’ योजना की शुरुआत, बढ़ेगी विकास की स्पीड         महाष्टमी आज, जानिए मां महागौरी की संपूर्ण पूजन विधि, भोग, प्रिय पुष्प और रंग         किसान के हितों की परवाह कांग्रेस को है ?         बड़ी खुशखबरी : 'बच्चों के लिए कोवैक्सीन को मिली मंजूरी, 2-18 साल तक के बच्चों को अब जल्द लगेगा टीका         BIG NEWS : झारखंड कैडर के रिटायर्ड आईएएस अमित खरे बने प्रधानमंत्री मोदी के सलाहकार, एजुकेशन पॉलिसी तैयार करने में रहा है अहम रोल         BIG NEWS : सुरक्षाबलों ने 5 जवानों की शहादत का लिया बदला, पिछले 24 घंटों में कुल 5 आतंकी ढेर         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में आतंकी संगठनों के खिलाफ एनआईए की बड़ी कार्रवाई, 16 जगहों पर NIA की छापेमारी         BIG NEWS : शोपियां में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकी किए ढेर, हथियार और गोला बारूद बरामद         BIG NEWS : घाटी में आतंकियों का सफाया तेज, अनंतनाग और बांदीपोरा एनकाउंटर में दो आतंकी ढेर         BIG NEWS : अनंतनाग में मुठभेड़, सेना के जवानों ने एक आतंकी को मार गिराया, अभियान जारी         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर के 16 जगहों पर NIA की छापेमारी, ISIS वॉयस ऑफ हिंद से जुड़ा है मामला         BIG NEWS : NIA करेगी श्रीनगर आतंकी हमले में मारे गए अध्यापकों की जांच, 40 शिक्षकों से होगी पूछताछ         फारूक अब्दुल्ला को लगा एक और बड़ा झटका, वरिष्ठ नेता देवेंद्र राणा और सुरजीत सिंह ने छोड़ी पार्टी         लखीमपुर कांड: केंद्रीय गृह राज्य मंत्री का बेटा आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार         BIG NEWS : लखीमपुर हिंसा में BJP कार्यकर्ताओं की मौत एक्शन का रिएक्शन था : राकेश टिकैत         BIG NEWS : LAC पर चर्चा से पहले सेना प्रमुख जनरल नरवणे की दो टूक, अगर पीएलए वहां रहेगी तो इंडियन आर्मी भी         जम्मू कश्मीर में जारी टारगेट किलिंग को लेकर एक्शन में सरकार, अमित शाह दिल्ली में मनोज सिन्हा से कर सकते हैं मुलाकात         नवरात्रि के तीसरे दिन आज देवी के दो स्वरूपों की पूजा, जानिए मंत्र, पूजा-विधि, आरती और भोग         BIG NEWS : अफगानिस्तान की कुंदुज मस्जिद में आत्मघाती हमला, मारे गए लोगों की संख्या बढ़कर 100 पहुंची         BIG NEWS : श्रीनगर में पुलिस टीम पर आतंकी हमला, मुठभेड़ में एक आतंकवादी हुआ ढेर         BIG NEWS : रंजीत सिंह हत्याकांड में CBI कोर्ट का बड़ा फैसला, गुरमीत राम रहीम दोषी करार         BIG NEWS : ये न ब्राह्मण हितैषी हैं, न हिंदू हितैषी, ये सिर्फ तालिबान के हितैषी हैं : CM योगी         नवरात्र का दूसरा दिन : जानिए मां ब्रह्मचारिणी की पूजा विधि, मंत्र और महत्व         लखीमपुर खीरी हिंसा : पुलिस के सामने आज पेश होंगे केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्र          कोरोना पर केंद्र की चेतावनी : खतरनाक है दिसंबर तक का वक्त         नवरात्र के पहले दिन माता वैष्णो देवी के दरबार में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़, विदेशी फूलों से हुई सजावट         BIG NEWS : भारत के जवाबी कार्रवाई से सुधरा ब्रिटेन, दोनों वैक्सीन ले चुके भारतीयों के लिए क्वारंटीन खत्म         BIG NEWS : श्रीनगर के एक स्कूल में आतंकियो ने पहले चेक की शिक्षकों की आईडी फिर दागी गोलियां, दो शिक्षकों की हुई हत्या         आज से होगी देवी दुर्गा की आराधना, जानिए... किस समय स्‍थापित करें कलश, नवरात्र की पूरी जानकारी यहां         BIG NEWS : पाकिस्तान में भूकंप, कम से कम 20 लोगों के मौत की खबर, 300 लोग घायल         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर प्रशासन का बड़ा फैसला, बसीर अहमद खान को उपराज्यपाल के सलाहकार पद से हटाया         BIG NEWS : कुपवाड़ा में LOC के पास से दो संदिग्ध गिरफ्तार, ग्रेनेड और पिस्टल बरामद         GOOD NEWS : जल्द आ सकती है 12 वर्ष से ऊपर के लिए कोरोना वैक्सीन, DCGI ने दी तीसरे चरण की अनुमति         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में आतंकियों ने डेढ़ घंटे के भीतर 3 लोगों की हत्या, हमलावर आतंकियों की तलाश जारी         BIG NEWS : महबूबा मुफ्ती ने फिर से दिया बेतुका बयान, “2019 के बाद हुए उत्पीड़न की तुलना भी नहीं की जा सकती”         लखीमपुर हिंसा : गोली लगने से किसी भी किसान की नहीं हुई मौत, बाकी चार लोग पिटाई से मरे        

जब मथुरा में अब्दाली ने धमाचौकड़ी मचाई

Bhola Tiwari Sep 16, 2021, 9:01 AM IST राष्ट्रीय
img

अशोक बंसल

नई दिल्ली :  सन 1754 में दिल्ली की गद्दी पर आलमगीर ( द्वतीय ) बैठा जो बेहद डरपोक व् मुर्ख था । उस वक्त अफगानिस्तान का शासक अहमद शाह अब्दाली था। अब्दाली नादिर शाह के बाद गद्दी पर बैठा था। वह कई बार भारत आया और जबरदस्त लूटमार की। अब्दाली ने दिल्ली के शासक आलमगीर से एक संधि की और उसके सामने दिल्ली लूटने का प्रस्ताव रखा। डरपोक आलमगीर ने अनुमति दे दी। 

अब्दाली ने जनवरी 1757 में दिल्ली पर आक्रमण कर दिया। दिल्लीवासियों को उसने जमकर लूटा। लूटमार के बाद उसकी तृष्णा और बढ़ गई। उसने मथुरा की ओर मुंह किया। . दिल्ली मथुरा के रास्ते में बल्लभगढ़ पड़ा तो इस शहर पर भी कहर ढाया।  मथुरा में प्रवेश किया तब होली की खुशियां मनाई जा रही थी। परदेशी भी आये हुए थे . अब्दाली ने हुक्म दिया --'' एक भी इमारत खड़ी दिखाई न दे , सब को नेस्तनाबूत कर दो .''

उस समय ब्रजमंडल में स्वामित्व के लिए जाटों और मराठाओं में कशमकश चल रही थी। इसके कारण मथुरा की सुरक्षा के लिए दोनों लोग हाथ पीछे किये हुए थे। हाँ , बल्ल्भगढ़ में सूरजमल के बेटे जवाहरसिंह ने अब्दाली से जरूर टक्कर ली लेकिन अब्दाली की विशाल सेना को मथुरा जाने से न रोक सका। चौमुंहा पर भी जाटों ने अब्दाली से टक्कर ली। 

 कोई विरोध न देख हज़ारों पठान लुटेरे खुशियां मनाते शहर पर गिध्दों की तरह टूट पड़े। डा ० प्रभुदयाल मित्तल ने अपनी पुस्तक ''ब्रज का सांस्कृतिक इतिहास '' (पेज 571) पर लिखा है ---'' २० हज़ार पठान सैनिकों को मथुरा नगर लूटने के लिए आगे बढ़ा दिया। सैनिकों को हुक्म मिला था ,शहर को नेस्तनाबूत कर दो ,आगरा तक एक भी इमारत कड़ी दिखाई न दे। लूट में जिसको जो मिलेगा ,वह उसी का होगा। सिपाही लोग सर काटकर लाएं और सरदार के खेमे के सामने डालते जाएँ। प्रत्येक सर के लिए पांच रुपया इनाम दिया जायेगा। ''

 लुटेरे सैनिक भरतपुर दरवाज़े , महोली की पौर और छत्ता बाजार की तरफ से चौबिया पाडे में चढ़ गए। होली का त्यौहार था। नर नारी आमोद प्रमोद में मस्त थे। चौबिया पाड़े में चढ़ते सैनिकों को जो मिला उसी का सर कलम किया । बेरहम लूटेरों ने औरतों और बच्चों को भी नहीं बख्शा। लुटेरे दिन में मारकाट मचाते और रात में मकानों में आग लगा देते। चारों तरफ कोहराम और हाहाकार मच गया। कोई बचाने वाला नहीं था। शीतला घाटी की एक गली में 'मथुरा देवी का मंदिर' था (मंदिर आज भी है । इस मंदिर में एक गुफा नुमा स्थान था। अपनी जान बचाते सैंकड़ों मर्द, औरत और बच्चे उस गुफा में जा छुपे । सैनिकों ने इस जान बचाती भीड़ को देख लिया और सब के सब क़त्ल कर दिए। डा ० प्रभुदयाल मित्तल लिखते हैं ---'' उस जनसंहार में बदौआ और जानेमाने आल वाले माथुरों को मारा गया था। उनके वंशज अब तक फाल्गुन शुक्ल ११,१२,१३ को उनकी स्मृति में श्राद्ध करते हैं। 

 इन मारे गए लोगों के वंशज अपने पूर्वजों के श्राध्द आज भी करते हैं।  

मथुरा के छत्ता बाजार में नागर वाली गली के मुहाने पर बड़े चौबेजी का हवेली है। अब्दाली की फौजों ने इस मकान में धावा बोला। सैकड़ों परिवारों ने इस स्थान पर पनाह ले रखी थी । शायद ही कोई बचा हो। सभी की नृशंस ह्त्या कर दी गई। इमारत में आग लगा दी गई। . आज भी इस इमारत में क्षति पहुँचए गए एक बुर्ज का टूटा पत्थर उस दिन की याद दिला रहा है । 

 सैनिक घरों में घुस जाते। अब्दाली के सैनिक घरों में घुस कर पहले गढ़े धन को खोदकर निकालने का आदेश देते और फिर सर धड़ से अलग कर देते। इस पवित्र शहर में तीन दिन तक खून की होली खेली गई। . 

इतिहास की पुस्तकों में कई प्रत्यक्षदार्शियों के विवरण उपलब्ध हैं । नटवर सिंह की पुस्तक '' जाट राजा सूरजमल ''में मथुरा में हुए कत्लेआम का विवरण इस प्रकार है ----'' सड़क और बाजार में चारों ओर हलाल किये गए धड़ पड़े थे। सारा शहर जल रहा था। अनेक इमारते धराशाही कर दी गई। . यमुना का पानी दूर दूर तक लाल दिखाई देता था। " 

अब्दाली की फौजे वृन्दावन भी गई। यहाँ की गई मारकाट का एक प्रत्यक्षदर्शी द्वारा दिया गया विवरण इस प्रकार है ----'' वृंदावन में जिधर भी नज़र जाती मुर्दोंके ढेर दिखाई देते थे। सड़कों से निकलना मुश्किल हो गया था। लाशों से ऐसी दुर्गन्ध आती थी कि सांस लेना दूभर हो गया था। '' 

जिस समय वृंदावन में अब्दाली का कत्लेआम चल रहा था उस वक्त ब्रज के भक्त कवी चाचा वृंदावन दास विद्यमान थे। किसी तरह वे बच गये और एक काव्यकृति '' हरी कला बेली '' कि रचना की। इस काव्य में उन्होंने जिन कवियों के मारे जाने का जिक्र किया है उनमें 

  ब्रजभाषा के कवि घनानंद का नाम शामिल हैं ।  

अब्दाली की सेना ब्रज के धार्मिक स्थलों में कहर बरपाती हुई आगरा गई। आगरे के किले पर आक्रमण किया और नगर में में धमाचौकड़ी मचाई। उसी समय उसकी सेना में हैजा फ़ैल गया। मजेदार बात यह रही कि आगरा के स्थानीय लोगों ने बीमार सिपाहियों को देशी दवाइयाँ दिन और इस एबज में भारी रकम वसूली। बीमारी से घबड़ाकर मरते गिरते लूटेरों ने वापस लूटने में ही अपनी भलाई समझी। एक इतिहासकार के मुताबिक अब्दाली को इस लूट में करीब १२ करोड़ की धनराशि मिली जिसे वः ऊंट और खच्चरों पर लादकर अफगानिस्तान ले गया।  

इस मारकाट से पैदा हुए आतंक से घबड़ाकर अनेक चतुर्वेदी परिवारों ने यमुना में नावों में बैठकर आगरा की ओर कूच किया। कुछ आगरा उतरे , कुछ चंदवार , कुछ इटावा आदि स्थानों पर उतरे और वहीँ बस गए। आगरा से ३० किलोमीटर दूर चंदवार (फीरोजाबाद से लगा हुआ है और इस स्थान पर मोहम्मद गौरी और जयचंद का युध्द हुआ था जिसमें जयचंद मारा गया था। ) बहुत सम्पन्न इलाका था। . आज एक दम उजाड़ है। इस उजाड़ बस्ती में एक मोहल्ला खंडहर की शक्ल में आज भी मौजूद है जिसका नाम '' चौबिया पाड़ा '' है। . 

मथुरा शहर के अतीत का स्मरण कर यदि आप छत्ता बाजार में बड़े चौबेजी की हवेली के पास गुजरें तो आक्रांता अब्दाली के घोड़ों की टॉप और स्त्री , पुरुष और बच्चों का करूण क्रंदन- रुदन कानों में जरूर पड़ेगा। 

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links