ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : झारखंड के लातेहार में 7 लड़कियों समेत 8 की तालाब में डूबने से मौत, पीएम मोदी ने जताया शोक         BIG NEWS : पंजाब कांग्रेस विधायक दल की बैठक खत्म, सोनिया गांधी तय करेंगी अगले CM का नाम         BIG NEWS : कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दिया इस्तीफा, इस्तीफे के बाद बोले कैप्टन- सुबह ही ले लिया था फैसला, अपमान हुआ         प्रियंका चोपड़ा जोनास बनने का मतलब लेखक बनना है का ?@!         BIG NEWS : चीन पाकिस्तान के बीच नया परमाणु समझौता भारत ही नहीं दुनिया के लिए बेहद खतरनाक         BIG NEWS : ऑस्ट्रेलिया की पूरी आबादी के बराबर इंडिया में 1 दिन में वैक्सीनेशन         BIG NEWS : कांग्रेस आलाकमान ने माँगा CM अमरिंदर का इस्तीफा, कैप्टन बोले- पार्टी छोड़ दूंगा..         जम्मू कश्मीर के लाइट इन्फेंट्री में शामिल हुए 460 जवान, ड्रोन हमलों से निपटने के लिए तैयार         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर प्रशासन ने 'राष्ट्र विरोधी गतिविधियों' में शामिल सरकारी कर्मचारियों की जांच के लिए स्क्रीनिंग कमेटी का किया गठन         BIG NEWS : कुलगाम में आतंकियों ने पुलिसकर्मी की गोली मारकर की हत्या, हमलावरों की तलाश जारी         BIG NEWS : तालिबान को लेकर केंद्र सरकार अलर्ट, देश में पहली बार सभी ATS चीफ और खुफिया एजेंसियों की बुलाई बैठक         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर सरकार का आदेश, सरकारी कर्मचारियों को पासपोर्ट आवेदन के लिए एसीबी से मंजूरी लेना अनिवार्य         BIG NEWS : पाकिस्तान में प्रशिक्षण प्राप्त आतंकवादी रच रहे थे बड़ी साजिश, पुल और रेलवे ट्रैक को बनाया था निशाना         BIG NEWS : 'टीम भूपेंद्र' ने ली गोपनीयता की शपथ, पुराने मंत्रियों की जगह सभी नए चेहरों को मंत्रिमंडल में जगह         गुजरात में नए मंत्रिमंडल का गठन आज, पाटीदारों के हावी होने की संभावना, देखें लिस्‍ट         BIG NEWS : अनुच्छेद 370 निरस्त होने के बाद पहली बार जम्मू-कश्मीर जाएंगे मोहन भागवत, जमीनी हालात का लेंगे जायजा         BIG NEWS : अफगानिस्तान के लिए भारत की भूमिका हुई अहम, क्वाड समिट से पहले मोदी से मिल सकते हैं बाइडेन         टाइम मैगजीन के 100 प्रभावशाली लोगों में पीएम मोदी, ममता और पूनावाला का नाम शामिल         BIG NEWS : “श्रीनगर में 4 आतंकियों समेत 15 OGWs मौजूद, सर्च ऑपरेशन जारी”: आईजी विजय कुमार         BIG NEWS : UNHRC में भारत ने पाकिस्तान और OIC को लगाई लताड़, जम्मू-कश्मीर पर कुछ भी बोलने का अधिकार नहीं         BIG NEWS : जम्मू-कश्मीर में महिलाओं को घर पर ही मिलेगी डिजिटल बैंकिंग सुविधा, डिजी सखी योजना शुरू         BIG NEWS : जनजातीय समुदाय को नौकरी और राजनीति में मिलेगा आरक्षण, 20 जिले में जनजातीय छात्रों के लिए बनेंगे छात्रावास         BIG NEWS : पाकिस्तान समर्थित आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़, ट्रेनिंग प्राप्त दो आतंकियों समेत 6 गिरफ्तार         WHO इस हफ्ते भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन को दे सकता है मंज़ूरी         BIG NEWS : देश में टीकाकरण का आंकड़ा 75 करोड़ के पार पहुंचा, WHO ने की तारीफ         BIG NEWS : पाकिस्तान के गृहमंत्री शेख रशीद ने कबूला सच, कहा – “सेना चला रही है इमरान खान की सरकार”         BIG NEWS : श्रीनगर में एक बड़ी आतंकी साजिश नाकाम, पुलिस पब्लिक स्कूल के पास 6 ग्रेनेड बरामद          बिगड़े बोल के कारण ही सरकार में रखे गये हैं रामेश्वर उरांव         BIG NEWS : श्रीनगर में आतंकी ने इंस्पेक्टर अर्शीद अहमद की गोली मारकर की हत्या, सीसीटीवी में कैद हुई वारदात         BIG NEWS : भूपेंद्र पटेल होंगे गुजरात के अगले मुख्यमंत्री, बीजेपी विधायक दल की बैठक में फैसला         BIG NEWS : कौन होगा गुजरात का अगला मुख्यमंत्री, रेस में कितने नाम?          BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में मुंसिफ जज बर्खास्त, एलजी मनोज सिन्हा ने हाईकोर्ट की सिफारिश पर की कार्रवाई         GOOD NEWS : श्रीनगर के प्राचीन गणेश मंदिर में कश्मीरी हिंदूओं ने की पूजा-अर्चना, घाटी में गूंजे गणपति के जयकारे         ध्वस्त मिनारें और बदले के अभियान         कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच PM मोदी ने की समीक्षा बैठक, राज्यों को दवाओं के बफर स्टॉक का निर्देश         BIG NEWS : कश्मीर फाइट ब्लॉग मामला, “कानून की उचित प्रक्रिया का पालन किया जा रहा है” : आईजी विजय कुमार         BIG NEWS : मैं कश्मीरी पंडित हूं, मेरा परिवार कश्मीरी पंडित है', जम्मू में राहुल गांधी का बयान         BIG NEWS : एलजी मनोज सिन्हा ने विश्व भर के निवेशकों को आने का दिया न्योता, कहा- “नया जम्मू कश्मीर कारोबार के लिए खुला”         BIG NEWS : श्रीनगर में आतंकियों ने किया ग्रेनेड हमला, CRPF का एक जवान घायल        

जब "मोसाद" ने चुन चुनकर मारा था "म्यूनिख नरसंहार" के कातिलों को

Bhola Tiwari Sep 15, 2021, 8:40 AM IST कॉलमलिस्ट
img


अजय श्रीवास्तव

नई दिल्ली : अपने 11 खिलाडियों की मौत पर इजरायली बेहद दुखी और खफा थे।हत्या के 48 घंटे के भीतर हीं प्रधानमंत्री गोल्डा मेयर ने एक आपतकालीन बैठक की जिसमें उन्होंने मोसाद को ये आदेश दिया कि हर हाल में अपने खिलाडियों की नृशंस हत्या का बदला लिया जाय।आतंकियों को चुन चुनकर मारने के लिए गुप्त आँपरेशन चलाने का निर्णय किया गया जिसका नाम रखा गया "आँपरेशन ब्रैथ आँफ गाँड"।

सर्वप्रथम मोसाद ने विभिन्न देशों में छूपे म्यूनिख नरसंहार के आरोपियों की पहचान की और उसके बारे में सारी जानकारियां हासिल की।जब सारी फाइलें तैयार हो गई तो मोसाद ने अपने बेहतरीन अफसरों को इस आँपरेशन के लिए तैयार किया।

मोसाद ने कडी मंथन और मशक्कत के बाद 11 लोगों को छांटा जिसकी पूर्ण संलिप्तता म्यूनिख नरसंहार में थी।ये सभी नकली पासपोर्ट बनवाकर विभिन्न देशों में जो फलस्तीन आंदोलन के शुभचिंतक थे वहाँ भी कडी सुरक्षा में छूपे हुऐ थे।मोसाद के एजेंट उन्हें मारने से पहले उनके फैमिली को बडा सा बुके भेजते थे और उसमें लिखा होता था कि हम न भूलते हैं और न हीं माफ करते हैं।हर टारगेट को मरे हुए 11 इजरायली खिलाडियों में से हर एक की तरफ से 11 गोलियां मारी जाती थी।

मिशन "रैथ आँफ गाँड" के शुरू होने के कुछ महीने के अंदर मोसाद के जांबाज एजेंटों ने वेल ज्वेटर और महमूद हमशारी का कत्ल कर सनसनी फैला दिया।दूसरा टारगेट हुसैन अल बशीर जो साइप्रस में "ब्लैक सितंबर" आँपरेशन का प्रमुख था।आपको बता दें फिलिस्तीन समर्थक आतंकियों ने म्यूनिख नरसंहार को "आँपरेशन सितंबर" नाम दिया था।मोसाद के एजेंटों ने होटल में हुसैन अल बशीर के रूम के बगल में हीं रूम बुक करवाया था।मौका देखकर एक छोटे से बम विस्फोट कर उसे मौत के मुँह में ढकेल दिया गया।जब हत्यारों की खोज शुरू की गई तब तक मोसाद के एजेंट उस देश की सरहद से बाहर निकल चुके थे।

फलस्तीनियों को बेरूत के एक प्रोफेसर बासित अल खुबैसी हथियार उपलब्ध कराता था,दरअसल वो फलस्तीन आंदोलन का समर्थक था और यहूदियों से बहुत घृणा करता था।मोसाद के एजेंटों ने खुबैसी को उसके घर में हीं घेरकर 11 गोली उसके शरीर में उतार दी थी।मोसाद के एजेंट खुबैसी की हत्या कर तुरंत बेरूत से निकल गए।

अभी तक मोसाद हर टारगेट्स को आसानी से पा ले रहा था मगर अब उसके लिस्ट में तीन ऐसे लोग थे जो लेबनान में भारी सुरक्षा के बीच छूपे हुऐ थे।उन्हें ये पता चल चुका था कि मोसाद आँपरेशन ब्लैक सितंबर से संबंधित लोगों को चुन चुनकर मार रही है।उनके लिए विशेष आँपरेशन शुरू किया गया, जिसका नाम रखा गया "आँपरेशन स्प्रिंग आँफ यूथ"।09 अप्रैल,1973 को मोसाद के एजेंटों ने आँपरेशन करनेवाले कमांडो को समुद्री वोट से टारगेट के पास पहुँचाया।आँपरेशन शुरू हुआ तो मोसाद के कमांडो के हाथों क्रास फायरिंग में एक इटेलियन नागरिक मारा गया मगर उन्होंने घेरकर तीनों चिन्हित आतंकियों को मार गिराया।फायरिंग में मोसाद का एक एजेंट भी घायल हुआ मगर वे उन्हें लेकर समुद्री मार्ग से लेबनान की सीमा से बहुत दूर चले गए।

साइप्रस में एक आँपरेशन को बखूबी अंजाम दिया गया जिसमें जाइद मूचासी को होटल में हीं मार दिया गया।

28 जून,1973 को ब्लैक सितंबर से जुडे मोहम्मद बउदिया को उनकी हीं कार की सीट में बम लगाकर उडा दिया गया।15 दिसंबर,1979 को दो फलीस्तीनी अली सलेम अहमद और इब्राहिम अब्दुल अजीज की साइप्रस में हत्या कर दी गई।17 जून,1982 को पीएलओ के दो वरिष्ठ सदस्यों को इटली में अलग अलग हमलों में मार दिया गया।23 जुलाई,1982 को पेरिस में पीएलओ के दफ्तर में उप निदेशक फदल वानी को कार बम विस्फोट कर उडा दिया गया।

21 अगस्त,1983 को पीएलओ का सदस्य मनून मोराइश एथेंस में मारा गया।10 जून,1986 को ग्रीस की राजधानी एथेंस में पीएलओ के डीएफएलपी गुट के महासचिव खालिद अहमद नजल को मोसाद ने मार डाला।21 अक्टूबर,1986 को पीएलओ के सदस्य मंजर अबु गजाला को कार बम से उडा दिया गया।

सबसे महत्वपूर्ण हत्या अली हसन सालमेह की हुई,दरअसल वो म्यूनिख कत्ल ए आम का मास्टरमाइंड था।मोसाद दो बार उसकी हत्या की कोशिशें कर चुका था मगर कामयाबी हासिल नहीं हो पाई थी।22 जनवरी,1979 को एक कार धमाके में सालेह को मौत की घाक उतार दिया गया।

मोसाद ने लगातार बीस सालों तक आँपरेशन चलाया और चुन चुनकर म्यूनिख नरसंहार का बदला लिया।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links