ब्रेकिंग न्यूज़
BIG NEWS : झारखंड के लातेहार में 7 लड़कियों समेत 8 की तालाब में डूबने से मौत, पीएम मोदी ने जताया शोक         BIG NEWS : पंजाब कांग्रेस विधायक दल की बैठक खत्म, सोनिया गांधी तय करेंगी अगले CM का नाम         BIG NEWS : कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दिया इस्तीफा, इस्तीफे के बाद बोले कैप्टन- सुबह ही ले लिया था फैसला, अपमान हुआ         प्रियंका चोपड़ा जोनास बनने का मतलब लेखक बनना है का ?@!         BIG NEWS : चीन पाकिस्तान के बीच नया परमाणु समझौता भारत ही नहीं दुनिया के लिए बेहद खतरनाक         BIG NEWS : ऑस्ट्रेलिया की पूरी आबादी के बराबर इंडिया में 1 दिन में वैक्सीनेशन         BIG NEWS : कांग्रेस आलाकमान ने माँगा CM अमरिंदर का इस्तीफा, कैप्टन बोले- पार्टी छोड़ दूंगा..         जम्मू कश्मीर के लाइट इन्फेंट्री में शामिल हुए 460 जवान, ड्रोन हमलों से निपटने के लिए तैयार         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर प्रशासन ने 'राष्ट्र विरोधी गतिविधियों' में शामिल सरकारी कर्मचारियों की जांच के लिए स्क्रीनिंग कमेटी का किया गठन         BIG NEWS : कुलगाम में आतंकियों ने पुलिसकर्मी की गोली मारकर की हत्या, हमलावरों की तलाश जारी         BIG NEWS : तालिबान को लेकर केंद्र सरकार अलर्ट, देश में पहली बार सभी ATS चीफ और खुफिया एजेंसियों की बुलाई बैठक         BIG NEWS : जम्मू कश्मीर सरकार का आदेश, सरकारी कर्मचारियों को पासपोर्ट आवेदन के लिए एसीबी से मंजूरी लेना अनिवार्य         BIG NEWS : पाकिस्तान में प्रशिक्षण प्राप्त आतंकवादी रच रहे थे बड़ी साजिश, पुल और रेलवे ट्रैक को बनाया था निशाना         BIG NEWS : 'टीम भूपेंद्र' ने ली गोपनीयता की शपथ, पुराने मंत्रियों की जगह सभी नए चेहरों को मंत्रिमंडल में जगह         गुजरात में नए मंत्रिमंडल का गठन आज, पाटीदारों के हावी होने की संभावना, देखें लिस्‍ट         BIG NEWS : अनुच्छेद 370 निरस्त होने के बाद पहली बार जम्मू-कश्मीर जाएंगे मोहन भागवत, जमीनी हालात का लेंगे जायजा         BIG NEWS : अफगानिस्तान के लिए भारत की भूमिका हुई अहम, क्वाड समिट से पहले मोदी से मिल सकते हैं बाइडेन         टाइम मैगजीन के 100 प्रभावशाली लोगों में पीएम मोदी, ममता और पूनावाला का नाम शामिल         BIG NEWS : “श्रीनगर में 4 आतंकियों समेत 15 OGWs मौजूद, सर्च ऑपरेशन जारी”: आईजी विजय कुमार         BIG NEWS : UNHRC में भारत ने पाकिस्तान और OIC को लगाई लताड़, जम्मू-कश्मीर पर कुछ भी बोलने का अधिकार नहीं         BIG NEWS : जम्मू-कश्मीर में महिलाओं को घर पर ही मिलेगी डिजिटल बैंकिंग सुविधा, डिजी सखी योजना शुरू         BIG NEWS : जनजातीय समुदाय को नौकरी और राजनीति में मिलेगा आरक्षण, 20 जिले में जनजातीय छात्रों के लिए बनेंगे छात्रावास         BIG NEWS : पाकिस्तान समर्थित आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़, ट्रेनिंग प्राप्त दो आतंकियों समेत 6 गिरफ्तार         WHO इस हफ्ते भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन को दे सकता है मंज़ूरी         BIG NEWS : देश में टीकाकरण का आंकड़ा 75 करोड़ के पार पहुंचा, WHO ने की तारीफ         BIG NEWS : पाकिस्तान के गृहमंत्री शेख रशीद ने कबूला सच, कहा – “सेना चला रही है इमरान खान की सरकार”         BIG NEWS : श्रीनगर में एक बड़ी आतंकी साजिश नाकाम, पुलिस पब्लिक स्कूल के पास 6 ग्रेनेड बरामद          बिगड़े बोल के कारण ही सरकार में रखे गये हैं रामेश्वर उरांव         BIG NEWS : श्रीनगर में आतंकी ने इंस्पेक्टर अर्शीद अहमद की गोली मारकर की हत्या, सीसीटीवी में कैद हुई वारदात         BIG NEWS : भूपेंद्र पटेल होंगे गुजरात के अगले मुख्यमंत्री, बीजेपी विधायक दल की बैठक में फैसला         BIG NEWS : कौन होगा गुजरात का अगला मुख्यमंत्री, रेस में कितने नाम?          BIG NEWS : जम्मू कश्मीर में मुंसिफ जज बर्खास्त, एलजी मनोज सिन्हा ने हाईकोर्ट की सिफारिश पर की कार्रवाई         GOOD NEWS : श्रीनगर के प्राचीन गणेश मंदिर में कश्मीरी हिंदूओं ने की पूजा-अर्चना, घाटी में गूंजे गणपति के जयकारे         ध्वस्त मिनारें और बदले के अभियान         कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच PM मोदी ने की समीक्षा बैठक, राज्यों को दवाओं के बफर स्टॉक का निर्देश         BIG NEWS : कश्मीर फाइट ब्लॉग मामला, “कानून की उचित प्रक्रिया का पालन किया जा रहा है” : आईजी विजय कुमार         BIG NEWS : मैं कश्मीरी पंडित हूं, मेरा परिवार कश्मीरी पंडित है', जम्मू में राहुल गांधी का बयान         BIG NEWS : एलजी मनोज सिन्हा ने विश्व भर के निवेशकों को आने का दिया न्योता, कहा- “नया जम्मू कश्मीर कारोबार के लिए खुला”         BIG NEWS : श्रीनगर में आतंकियों ने किया ग्रेनेड हमला, CRPF का एक जवान घायल        

12 चमत्कारिक नाम, जिनके स्मरण मात्र से दूर हो जाती हैं बाधाएं

Bhola Tiwari Aug 03, 2021, 7:22 AM IST टॉप न्यूज़
img

नई दिल्ली : शिव समान दाता नहीं, विपत विदारण हार... और भावहिं मेंट सकहि त्रिपुरारी....। इन पंक्तियों से ही स्पष्ट है कि भगवान महादेव आखिर क्यों महादेव हैं...। उनके दर से कभी कोई खाली नहीं जाता..। वे भक्तों की विपत्तियां ही दूर नहीं करते बल्कि भावी दुर्घटनाओं और कुशंकाओं का भी समाधान कर देते हैं। शास्त्रों में लिखा है कि महादेव के नाम की स्मरण में चमत्कारिक रहस्य समाए हैं। यदि द्वादश ज्योतिर्लिंगों के रूप में उनके इन नाम का स्मरण किया जाए, तो क्या कहने। द्वादस ज्योतिर्लिंगों के स्मरण मात्र से सात जन्मों के संताप नष्ट हो जाते हैं। भव-बाधाएं दूर होती हैं और उन्नति व सुख-समृद्धि का मार्ग प्रशस्त होता है। सावन महीने में यह पावन नाम और भी अधिक मंगलकारी है।

द्वादश ज्योतिर्लिंग मन्त्र

शिव ज्योतिर्लिंग मंत्र: सौराष्ट्रे सोमनाथं च श्रीशैले मल्लिकार्जुनम्‌। उज्जयिन्यां महाकालमोंकारं ममलेश्वरम्‌ ॥

परल्यां वैजनाथं च डाकियन्यां भीमशंकरम्‌। सेतुबन्धे तु रामेशं नागेशं दारुकावने ॥

वारणस्यां तु विश्वेशं त्र्यम्बकं गौतमी तटे। हिमालये तु केदारं ध्रुष्णेशं च शिवालये ॥

एतानि ज्योतिर्लिंगानि सायं प्रातः पठेन्नरः। सप्तजन्मकृतं पापं स्मरेण विनश्यति ॥

सोमनाथ


सोमनाथ ज्योतिर्लिंग विश्व का पहला ज्योतिर्लिंग माना जाता है। यह भव्य मंदिर गुजरात राज्य के सौराष्ट्र क्षेत्र में स्थित है। शिवपुराण के अनुसार दक्ष के श्राप से चंद्रमा को इसी स्थान पर तपस्या से मुक्ति मिली थी। बताया जा रहा है कि यहां पर स्वयं चंद्रदेव ने सोमनाथ की स्थापना की है।

मल्लिकार्जुन

शिव के कैलाश पर्वत के समान आन्ध्र प्रदेश में कृष्णा नदी के तट पर शैलनाम के पर्वत पर स्थित मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग। इस मंदिर का महत्व भगवान  कहा गया है। इस ज्योतिर्लिंग के दर्शन मात्र से भक्तों को सभी पापों से मुक्ति मिलती है।

महाकालेश्वर

यह ज्योतिर्लिंग मध्य प्रदेश की धार्मिक राजधानी कही जाने वाली उज्जैन नगरी में स्थित है। महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग की विशेषता है कि ये एकमात्र दक्षिणमुखी ज्योतिर्लिंग है। यहां प्रतिदिन सुबह की जाने वाली भस्मारती विश्व भर में प्रसिद्ध है। महाकालेश्वर की पूजा विशेष रूप से आयु वृद्धि और आयु पर आए हुए संकट को टालने के लिए की जाती है। उज्जैन वासी मानते हैं कि भगवान महाकालेश्वर ही उनके राजा हैं और वे ही उज्जैन की रक्षा कर रहे हैं।

ओंकारेश्वर

ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग मध्य प्रदेश के प्रसिद्ध शहर इंदौर के समीप स्थित है। जिस स्थान पर यह ज्योतिर्लिंग स्थित है, उस स्थान पर नर्मदा नदी बहती है और पहाड़ी के चारों ओर नदी बहने से यहां ऊं का आकार बनता है। ऊं शब्द की उत्पति ब्रह्मा के मुख से हुई है। इसलिए किसी भी धार्मिक शास्त्र या वेदों का पाठ ऊं के साथ ही किया जाता है। यह ज्योतिर्लिंग औंकार अर्थात ऊं का आकार लिए हुए है, इस कारण इसे ओंकारेश्वर नाम से जाना जाता है।

केदारनाथ

केदारनाथ स्थित ज्योतिर्लिंग भी भगवान शिव के 12 प्रमुख ज्योतिर्लिंगों में आता है। यह उत्तराखंड में स्थित है। बाबा केदारनाथ का मंदिर बद्रीनाथ के मार्ग में स्थित है। केदारनाथ समुद्र तल से 3584 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है। केदारनाथ का वर्णन स्कन्द पुराण एवं शिव पुराण में भी मिलता है। यह तीर्थ भगवान शिव को अत्यंत प्रिय है। जिस प्रकार कैलाश का महत्व है उसी प्रकार का महत्व शिव जी ने केदार क्षेत्र को भी दिया है।

भीमाशंकर

भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग महाराष्ट्र के पूणे जिले में सह्याद्रि नामक पर्वत पर स्थित है। भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग को मोटेश्वर महादेव के नाम से भी जाना जाता है। इस मंदिर के विषय में मान्यता है कि जो भक्त श्रृद्धा से इस मंदिर के प्रतिदिन सुबह सूर्य निकलने के बाद दर्शन करता है, उसके सात जन्मों के पाप दूर हो जाते हैं तथा उसके लिए स्वर्ग के मार्ग खुल जाते हैं।

काशी विश्वनाथ

विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग भारत के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। यह उत्तर प्रदेश के काशी नामक स्थान पर स्थित है। काशी सभी धर्म स्थलों में सबसे अधिक महत्व रखती है। इसलिए सभी धर्म स्थलों में काशी का अत्यधिक महत्व कहा गया है। इस स्थान की मान्यता है, कि प्रलय आने पर भी यह स्थान बना रहेगा। इसकी रक्षा के लिए भगवान शिव इस स्थान को अपने त्रिशूल पर धारण कर लेंगे और प्रलय के टल जाने पर काशी को उसके स्थान पर पुन: रख देंगे।


त्र्यंबकेश्वर

यह ज्योतिर्लिंग गोदावरी नदी के करीब महाराष्ट्र राज्य के नासिक जिले में स्थित है। इस ज्योतिर्लिंग के सबसे अधिक निकट ब्रह्मागिरि नाम का पर्वत है। इसी पर्वत से गोदावरी नदी शुरूहोती है। भगवान शिव का एक नाम त्र्यंबकेश्वर भी है। कहा जाता है कि भगवान शिव को गौतम ऋषि और गोदावरी नदी के आग्रह पर यहां ज्योतिर्लिंग रूप में रहना पड़ा।

वैद्यनाथ

श्री वैद्यनाथ शिवलिंग का समस्त ज्योतिर्लिंगों की गणना में नौवां स्थान बताया गया है। भगवान श्री वैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग का मन्दिर जिस स्थान पर अवस्थित है, उसे वैद्यनाथ धाम कहा जाता है। यह स्थान झारखण्ड प्रान्त, पूर्व में बिहार प्रान्त के संथाल परगना के दुमका नामक जनपद में पड़ता है।

नागेश्वर

यह ज्योतिर्लिंग गुजरात के बाहरी क्षेत्र में द्वारिका स्थान में स्थित है। धर्म शास्त्रों में भगवान शिव नागों के देवता है और नागेश्वर का पूर्ण अर्थ नागों का ईश्वर है। भगवान शिव का एक अन्य नाम नागेश्वर भी है। द्वारका पुरी से भी नागेश्वर ज्योतिर्लिंग की दूरी 17 मील की है। इस ज्योतिर्लिंग की महिमा में कहा गया है कि जो व्यक्ति पूर्ण श्रद्धा और विश्वास के साथ यहां दर्शनों के लिए आता है उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं।

रामेश्वरम

यह ज्योतिर्लिंग तमिलनाडु राज्य के रामनाथ पुरं नामक स्थान में स्थित है। भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक होने के साथ-साथ यह स्थान हिंदुओं के चार धामों में से एक भी है। इस ज्योतिर्लिंग के विषय में यह मान्यता है, कि इसकी स्थापना स्वयं भगवान श्रीराम ने की थी। भगवान राम के द्वारा स्थापित होने के कारण ही इस ज्योतिर्लिंग को भगवान राम का नाम रामेश्वरम दिया गया है।

घृष्णेश्वर

घृष्णेश्वर महादेव का प्रसिद्ध मंदिर महाराष्ट्र के संभाजीनगर के समीप दौलताबाद के पास स्थित है। इसे घृसणेश्वर या घुश्मेश्वर के नाम से भी जाना जाता है। दूर-दूर से लोग यहां दर्शन के लिए आते हैं और आत्मिक शांति प्राप्त करते हैं। भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से यह अंतिम ज्योतिर्लिंग है। बौद्ध भिक्षुओं द्वारा निर्मित एलोरा की प्रसिद्ध गुफाएं इस मंदिर के समीप स्थित हैं। यहीं पर श्री एकनाथजी गुरु व श्री जनार्दन महाराज की समाधि भी है।

मिट जाता है सात जन्मो का पाप

इन ज्योतिर्लिंगों के पीछे ऐसी मान्यता है कि जो भी पूर्ण भक्ति भाव से इन स्थलों के दर्शन करता है, उसकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं। अन्य मान्यताओं के अनुसार ऐसा भी कहा जाता है कि जो भी मनुष्य प्रतिदिन प्रात:काल और संध्या के समय इन बारह ज्योतिर्लिंगों का नाम लेता है, या फिर शिव ज्योतिर्लिंग मंत्र की स्तुति करता है, उसके सात जन्मों का किया हुआ पाप मिट जाता है।

Similar Post You May Like

Recent Post

Popular Links